हिंदी फुल सेक्सी बीएफ वीडियो में

छवि स्रोत,चोदा चोदी सेक्सी वीडियो चोदा चोदी सेक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

तमिलनाडु में बीएफ: हिंदी फुल सेक्सी बीएफ वीडियो में, फिर हमने एक दूसरे को उत्तेजित कामुक नजरों से देखते हुए किस किया और लिपट कर एक दूसरे को गले लगा कर लेट गए.

सेक्सी शॉट सुहागरात

मैंने उसको दोबारा से उसी पोजीशन में बेड पर पटका और उसकी चूत को चाटने लगा. सेक्सी चुदाई कोरोनावो बोलीं- ये क्या कर रहे हो?मैंने अन्जान बनते हुए कहा कि मैं पानी लेने जा रहा था.

उसके लंड का और मेरी चूत के पानी मिला जुला स्वाद बहुत अच्छा लग रहा था. सेक्सी एक्स एक्स एक्स मेंमेरे दिल में बस चरम सुख की एक ही चाहत जग रही थी और मैं मन ही मन में हर धक्के पर बोलने लगी थी कि राज और जोर से … और अन्दर तक … और जोर से … और अन्दर.

उसकी टांगों को मोड़ कर मैंने उसकी चूत की पोजीशन बनाई और उसकी टांगों के बीच में आकर बहू की चूत की चुदाई शुरू कर दी.हिंदी फुल सेक्सी बीएफ वीडियो में: आपके मेल मिलने के बाद मैं आपको अपनी बहन की कुछ और सहेलियों की चुदाई के किस्से लिखूंगा.

मैंने उसका पूरा लंड अपनी चुत में ले लिया और मेरी सिसकारियां निकलने लगी.लेकिन वो अभी शायद किसी असमंजस में थी कि मैंने अचानक इस तरह उसके सामने गाड़ी क्यों लगा दी.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो अच्छे वाले - हिंदी फुल सेक्सी बीएफ वीडियो में

मैंने अपनी जीभ उसके नाभि में डाली और ज़ोर ज़ोर से चाटने लगा, जिसके बाद उसकी सिसकारी और ज़्यादा बढ़ गईं.मैं तीसरी वाली की चोदाई का विशेष इच्छुक नहीं था पर जब सामने से कुंवारी चूत चल कर आये तो …अनचुदी बूर की चोदाई कहानी के पिछले भागकोरोना बाबा का प्रसाद- 2में आपने पढ़ा कि रात में दो बार चुद कर पड़ोस वाली लड़की शैली भोर में ही अपने घर चली गई.

जब सब दूध पी लेंगे तो आधे घंटे के अंदर ही कुंभकर्ण की नींद सो जायेंगे. हिंदी फुल सेक्सी बीएफ वीडियो में दोस्तो, आप मुझे जानते ही होंगे, मैं अन्तर्वासना का पुराना लेखक हूँ.

मैंने देखा कि उनके मम्मे असल में बहुत बड़े थे, जिसके कारण ब्लाउज का एक बटन नहीं लगा था.

हिंदी फुल सेक्सी बीएफ वीडियो में?

मेरी उम्र जब उन्नीस साल की थी, तब मैंने मेरे एक दोस्त के साथ पहली बार सेक्स किया था. मैंने कहा- अच्छा यार, बात तो कर लिया कर फोन पर?वो बोली- मेरे घर में एक ही फोन है. सबको ही सबके ही बारे में पता रहता था कि किसने किस लड़के पर लाइन मारी, किस लड़के ने कौन सी सहेली को कहां पर ले जाकर चोदा, किस सहेली ने नया लड़का पटाया है और कौन सी सहेली दो दो लंड एक साथ ले रही है, कौन सी अपने बॉयफ्रेंड के साथ साथ उसके दोस्तों से भी चुदवा रही है.

मैंने दो धक्के पूरे जोश में लगाये और पचर-पचर करते हुए लंड से वीर्य की पिचकारी उसकी चूत में गिरने लगी. यहां तक कि मैं तो शोभा की चूचियों को चूसने के बारे में भी सोच रहा था. मैं- टीना नींद नहीं आ रही क्या?टीना- हां!मैं- मैं तुमसे कुछ कहना चाहता हूं.

मैंने दरवाजा खोला, तो सुरेश अंदर आकर मुझे किस करने लगा और मेरी चूची को दबाने लगा. प्यासी चूत की चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने पढ़ाई के साथ साथ मैंने एक पार्ट टाइम जॉब कर ली. जब वो मेरी ऊपर के होंठ चूसता, तो मैं उसके नीचे का होंठ चूसती और जब वो मेरा नीचे का होंठ चूसता … तो मैं उसके ऊपर का होंठ चूसने लगती.

एक मिनट बाद जब सैलाब बह गया, तो हम दोनों भाभी देवर सेक्सी बातें करने लगे. रात के 9 बजे का समय हो चुका था और गांव में सब लोग 9 बजे तक सो ही जाते हैं.

मुझे भी मजबूरी में आंटी से अलग होकर अपने घर वापस जाना पड़ा।उसके बाद हम दोनों को मिलने में एक हफ्ते से भी ज्यादा का समय लग गया.

यहां तक कि मैं तो शोभा की चूचियों को चूसने के बारे में भी सोच रहा था.

उसकी चूत ने कुछ देर बाद लंड को झेल लिया और उसके दर्द में कुछ आराम हो गया अब उसकी चीखें निकलना बंद हो गई थीं. मैं अपने हाथ और सिर सोफे पर टिका कर अपना वजन संतुलित करने की कोशिश करने लगी. एक संतुष्टि की कामना जगाते हुए, आनन्द की शुरूआत हुई, तो मैंने पूरी जिम्मेदारी और कामुकता से अपने चूतड़ों को ऊपर नीचे करते हुए संभोग की प्रक्रिया शुरू कर दी.

दूसरे हाथ से राजशेखर का लिंग पकड़ कर उसने मेरी योनि में प्रवेश करा दिया. मुझ से नहीं रहा गया और लाईट ऑफ करके मैंने प्रिया को अपने गोद में बैठा लिया. जीवन में पहली बार मेरे साथ ये अवसर था कि जहां मैं किसी उत्सव में लोगों के साथ न केवल नंगी थी … बल्कि हम सब तो नंगे ही थे और किसी को भी अजीब नहीं लग रहा था.

अभी तक की पब्लिक बीच सेक्स स्टोरी आपको कैसी लगी? आप मुझे मेल करते रहिएगा.

लेकिन बारहवीं तक पहुंचते पहुंचते मुझे सेक्स के बारे काफी जानकारी और रूचि हो गयी थी. मुझे आपकी ईमेल का इंतज़ार रहेगा, मैं कोशिश करूंगा कि जल्द ही अपनी एक और नई व सच्ची सेक्स कहानी लेकर आपके सामने पेश होऊं … तब तक के लिए आप सभी से विदा लेता हूँ. सबको ही सबके ही बारे में पता रहता था कि किसने किस लड़के पर लाइन मारी, किस लड़के ने कौन सी सहेली को कहां पर ले जाकर चोदा, किस सहेली ने नया लड़का पटाया है और कौन सी सहेली दो दो लंड एक साथ ले रही है, कौन सी अपने बॉयफ्रेंड के साथ साथ उसके दोस्तों से भी चुदवा रही है.

मेरा लंड अभी 2 इंच ही अन्दर घुस पाया था कि वो जोर से चीख उठी- आई आई मरी … ऊफ़्फ़ ऊफ़्फ़ … थोड़ा धीरे डालो न … मुझे दर्द हो रहा है. उस दिन उसने भी मेरी छाती से अपनी चूचियां जिस तरह से रगड़ी थीं, उससे मुझे लगने लगा था कि ये चुदने को मचल रही है. फिर तेज़ी से अपनी कमर आगे पीछे करते हुए उसके मुँह में लिंग अन्दर बाहर करने लगा.

मैंने उसके बाद आंटी की सलवार भी निकाल दी और आंटी की जांघों को चाटने लगा.

जब भाई मजे ले रहा है तो मैं क्यूं पीछे रहूं?मैंने कहा- तो मुझमें ऐसा क्या खास लगा तुमको?वो बोली- तुम काफी समझदार लगे मुझे. मैं अपना रजिस्टर टयूशन पर भूल आया था, तो मैं वापिस लेने के लिए इंस्टिट्यूट पर गया.

हिंदी फुल सेक्सी बीएफ वीडियो में मेरा मन कर रहा था कि मैं ऐसे ही उसके लंड को अपनी गांड में लेती रहूं. मैं पूरी तरह गर्म हो चुकी थी … सो मैंने भी उसके बॉक्सर के ऊपर से लंड पड़कर कर बोल दिया- जल्दी करो … निकालो इसे.

हिंदी फुल सेक्सी बीएफ वीडियो में राज मेरे नीचे से बोल रहा था- पारुल जोर से कूद!वो जितना तेज करने को बोलता, मैं उतना ही जोर से उछलने लगती और जोर जोर से मेरी सिसकारियां निकल रही थीं. मुझे जगा देख कर भाभी बोली- राज, मेरे पति का वीर्य कमजोर है और वो बच्चा पैदा नहीं कर सकते हैं.

मैंने छिपी हुई नजरों से देखा कि उसके पैर में हल्के हल्के से बाल थे और पूरा पैर एकदम गोरा दिख रहा था.

नंगी सेक्सी पिक्चर अच्छी वाली

अगर कहानी में कोई गलती हो जाये तो मैं आप लोगों से पहले ही माफी चाहता हूं. पर मैंने अपने होठों से उसकी आवाज को दबा दिया।थोड़ी ही देर में वह मेरे लण्ड को मजे से अपनी चूत के अंदर लेने लग गई और उसका पूरा मजा लेने लगी. जब तक कांतिलाल और कविता ने एक दूसरे को चूमना चाटना शुरू किया, वो कमलनाथ के पास चली गई.

पति पत्नी की नई शादी में जैसे उनकी सुहागरात होती है, हमने वैसे भी चुदाई की. रवि ने उसकी बातें अनसुनी करते हुए अपना लिंग उसकी योनि में प्रवेश करा लिया था और हल्के हल्के धक्के भी मारने लगा था. मैं भी अपना लंड और जोर जोर से हिला कर उन्हें कामुक निगाहों से देखने लगा और वो भी कामुकता से मुझे देखने लगीं.

वो जोर जोर से सिसकारने लगी- आह्ह विक्की … ओह्ह … माय गॉड … आईईस्सस … आह्ह … उम्म … होह्ह … उफ्फ … मत करो ऐसे … आह्ह मैं मर जाऊंगी विक्की … आह्ह आराम से यार प्लीज।अनु की चूत में जीभ दे देकर मैंने उसको इतना तड़पा दिया कि वो मुझे अपने ऊपर खींचने लगी.

वो तो भला हो कि मैं कुर्सी पर मम्मी के स्कूल आफिस में बैठा था तो किसी को दिखा नहीं. मैंने ध्यान से देखा कि सुरेश का लंड 6 इंच का रहा होगा, पर अमन का लंड काफी बड़ा था. मैं अपनी गांड को हरकत देते हुए अपनी बहन के मुँह में अन्दर तक लंड देते हुए लंड चुसवाई का मजा लेने लगा था.

फिर अचानक उसके पति की आवाज आई- कहां हो तुम?तो उसने अन्दर से कहा कि मैं बाथरूम में हूं … नहा रही हूं. मैंने अपने किरदार के मुताबिक उसे खुश करने का प्रयत्न करना शुरू कर दिया था. आंटी ने कहा- क्या हुआ?मैंने कहा- कुछ नहीं!तो आंटी बोलीं- कुछ तो बताओ?मैंने कहा- नहीं आंटी … कुछ नहीं.

यह ट्रेन सेक्स स्टोरी एक जवान लड़की की है जो मुझे दिल्ली से मुंबई राजधानी ट्रेन में मिली. यह मेरी पहली कहानी है, इसलिए कोई गलती दिखे, तो प्लीज़ माफ़ कर दीजिएगा.

लेकिन आज मुझे इतना पता तो चल गया था कि मेरे जीजा जी मेरी दीदी को चोदते नहीं हैं. वो चुप नहीं हो रहा था इसलिए दीदी ने अपना कमीज उठा कर अपनी चूची को बाहर निकाल लिया और बच्चे के मुंह पर अपना निप्पल लगा दिया. वो दरअसल वो एक रिसॉर्ट था और उन्होंने एक अलग तरह का कमरा ले रखा था, जो किसी भी होटल का बहुत महंगा होता है.

उसने मुझे अपना फ़ोन नंबर, अपना नाम पता आदि लिखवा दिया और फिर वो चली गई.

सभी मर्द तैयार हो गए और इसमें हम महिलाएं उनका कोई साथ नहीं देने वाली थीं. हम दोनों करीब एक साल बाद मिले थे और बातें करते करते काफी खुल चुके थे. कोई दस मिनट बाद भाभी फिर से झड़ने लगीं, तो इस बार मेरा भी माल निकलने वाला था.

मैंने मामी की पैंटी को खींच कर नीचे करने की कोशिश की तो मामी ने अपनी गांड को हल्के से उठा लिया और मैं समझ गया कि मामी की तरफ से भी लाइन क्लियर है. मुझे अब अपनी उत्तेजना सहन नहीं हो रही थी, तो मैं झट से बेड से उतर कर जमीन में बिछायी हुई गद्दी पर आ गया.

कुछ देर के बाद देखा, तो कांतिलाल कविता के पास जाकर उसे छूने टटोलने लगा था. इससे डॉली की मादक सिसकारियां अब और तेज हो गई थीं ‘अहहह्ह्ह्ह … स्सीईईई … आहाहा. मैंने भी उसे पकड़ कर चुम्बन में साथ देते हुए उसके होंठों को बारी बारी से चूसने लगी.

सेक्सी चैनल टीवी

तुम बहुत प्यारी हो, बहुत सेक्सी हो … तुम्हारे ये बूब्स बहुत गोल और सुंदर हैं … जी करता है इनका सारा रस पी जाऊं … इनको बिल्कुल भी नहीं छोड़ूँ … हमेशा के लिए है तुझे अपनी बना कर अपने पास ही रख लूं.

पर मुझे भाबी की कहानियां पढ़ने में अलग ही मजा आता हैक्योंकि आप सब को तो पता है कि भाबी के साथ रोमांस करने का मजा ही अलग है. फिर सबने मिल कर फैसला किया कि अपनी चटपटी जिन्दगी को सभी पाठकों के सामने लायेंगे और अन्तर्वासना इसके लिये सबसे बढ़िया मंच हमें मिला. शुरूआत उसने एक खेल से की थी मगर जब कमलनाथ की बारी आई … तो वो पहले ही चरण में विफल हो गया.

मैने भी मौसी की चूत पर हाथ रख दिया और फिर मौसी की चूत को मसलने लगा. पर वो मुझे हिलने तक नहीं दे रहा था और बोला- अच्छा माफ कर दो, अब आराम से करूंगा. डॉग और औरत की सेक्सी मूवीराज- अगर तुम्हार बॉयफ्रेंड भी आता … तो तुम भी अभी उन लोगों जैसी सो रही होतीं.

वो बोलीं- ये क्या कर रहे हो?मैंने अन्जान बनते हुए कहा कि मैं पानी लेने जा रहा था. चूंकि वो लड़का रात को जॉब करने जाता है, इसलिए मैं उससे दोपहर में बात कर लेती हूँ.

इसी बीच कविता ने उसी केक में से थोड़ा क्रीम लेकर रवि के लिंग पर लगाया और उसे चाटकर खा गई. सामान्य डिलीवरी में भी थोड़ी बहुत चीर फाड़ सामान्य बात है, उसमें भी टाँके लगते हैं तो इस केस में भी तीन महीने का समय कम से कम बिना सेक्स के निकालना अनिवार्य है. दोस्तो, मेरा नाम सुमित बिशनोई है। मैं राजस्थान के हनुमानगढ़ का रहने वाला हूं.

फिर मैंने डॉली की चूत के छेद पर अपना रखा हुआ लौड़ा खूब तेज धक्का दे मारा. मैंने पूछा- क्यों अंकल आंटी किधर गए हैं?उसने मुझे बताया- मेरे मम्मी पापा एक शादी में बाहर गए हुए हैं, इसलिए तू हाथ पैर धोकर और खाना खाकर मेरे घर आजा, हम दोनों ताश खेलेंगे. उसके होंठों को चूसते हुए मुझसे रहा न गया और मेरा हाथ उसकी जांघ पर फिरता हुआ उसकी चूत को टटोलता हुआ उसकी पजामी के अंदर घुस गया.

एक औरत को झड़ते देख कर किसी भी मर्द को अपनी मर्दानगी पर गर्व होता है.

मैं धीरे-धीरे किस करते करते हुए मैं निधि के चूचे दबा रहा था और वह मेरे लण्ड को सहला रही थी, हम दोनों बहुत मजे ले रहे थे।निधि के चुचे को दबाते दबाते मैंने उसका टॉप उतार दिया और उसकी मुलायम चूची को चूसने लगा। वो पूरे मस्ती में अपनी कामुक आवाज उम्म्ह … अहह … हय … ओह … निकाल रही थी. तब आंटी ने बताया- तुम्हारे अंकल सेक्स करते ही नहीं हैं, पूरे दिन बस अपने काम में लगे रहते हैं.

वो मेरी सगी मौसी नहीं थी लेकिन रिश्तेदारी में मेरी मौसी ही लगती थी. मेरी सहेली मौलीश्री एकदम खुल कर बात करती थी और उसके साथ रहते रहते मैं भी खुल गयी थी. चूंकि उसका बदन पीछे की तरफ झुका हुआ था तो उसके गोल-गोल बूब्स जो उसके सूट में कैद थे एकदम उभर कर सामने खड़े हुए थे.

भाई ने देखा कि मैं जाग चुकी हूं तो अपने हाथ को हटाने लगा लेकिन मैंने उसका हाथ पकड़ लिया और अपनी चूत पर रखवा लिया. वो मेरे से बात करती है, बूब्स के दर्शन करवा देती है, चुसवा भी लेती है. पर कुछ ही पलों में कमलनाथ की भी सांसें जवाब देने लगी थी, उसके सिर पर चरमसीमा तक पहुंचने की लालसा उसे न ढीला होने दे रही थी, न कमजोर.

हिंदी फुल सेक्सी बीएफ वीडियो में अभी तक इस सेक्स स्टोरी के चौथे भागखेल वही भूमिका नयी-5तक आपने पढ़ा कि मेरी सहेली का पति कांतिलाल मुझे बेतहाशा पेले जा रहा था. नमस्ते दोस्तो, मैं आपका दोस्त आज आपको अपनी ज़िंदगी की उस पहली लड़की के बारे में बताने जा रहा हूँ जिसे मैंने उसकी कमसिन जवानी के पहले दौर में मतलब 19 की कच्ची कली को फूल बनाया था.

जानवर का सेक्सी वीडियो हिंदी

इस वजह उसमें जोश तो भरपूर दिख रहा था, मगर पहले की तरह वो ताकत नहीं लगा पा रहा था. जब दिन में साराह मैम फोन करती थी तो कभी कभी मैं उदास रहता था, तो वो पूछने लगती कि आखिर क्यों दुखी लग रहे हो. दीदी तड़प उठी, बोली- सस्स… चोद ना साले क्यूं खेल कर रहा है?फिर दीदी ने मुझे नीचे पटक दिया और खुद ही मेरे लंड पर आकर बैठने लगी.

मैंने सोचा कि आखिर वो मेरी क्लाइंट है, मैं उसको इस तरह से नाराज नहीं कर सकता. लेकिन मैंने मन ही मन ये सोच लिया था क़ि अपन साली को अब जल्दी ही चोदना है। मुझे मन ही मन अपनी चचेरी साली पर बहुत गुस्सा आ रहा था, अगर आज वो ना होती तो आज ही मैं अपनी साली के साथ चुदाई का मज़ा ले लेता. इंडियन सेक्सी वीडियो बंगालीइसी बीच वो कहने लगी- अब तुम मेरे ऊपर आ जाओ!मैं उनके ऊपर आकर उनकी चूत मारने लगा और मैं भी बोला- भाबी, मुझे भी तुम शुरू से ही बहुत ज्यादा पसंद थी.

मैंने देखा कि उनके मम्मे असल में बहुत बड़े थे, जिसके कारण ब्लाउज का एक बटन नहीं लगा था.

फिर मैंने उसे सोफे पर बैठाया और उसकी नाइटी ऊपर उठा कर उसके पैर को किस करने लगा. बाथरूम में फव्वारे की बौछार के नीचे फिर से एक बार हमने खुल कर चुदाई की और नहा कर अपने अपने कपड़े पहन लिए.

तभी भाभी ने प्यारी सी आवाज़ में कहा- अरे अजय … तुम आ गए मम्मी जी का फ़ोन आया था कि अजय आ रहा है. जब वो पूरी तरह से शांत हो गयी तो मैंने धीरे से प्रिया बहन की चूत में धक्के लगाने शुरू किये. जब दाईं वाली चूसता, तो बाईं वाली को मसलता और जब बाईं वाली को चूसता, तो दाईं वाली को मसलता.

मैंने देखा कि उसने अपने गीले कपड़े एक एक करके अपने बदन से अलग करने शुरू कर दिये.

मुझे इसका ज्ञान ही नहीं था कि लड़के की भी कोई सेक्स की चाहत होती है तो वो हस्तमैथुन कर लेते हैं. पहला लेख मैंने ही लिखा क्योंकि सबका यही विचार था कि सोनम अपने से ही शुरूआत करे. बल्लू ने भाभी की कमर पर अपनी बांहों का घेरा बना दिया और उसको अपने आगोश में जकड़ लिया.

कुत्ता और लड़की की चुदाई सेक्सी वीडियोलेकिन मैं सोचता हूँ कि प्यासे को पानी पिलाना और प्यासी लड़की को चोद कर उसे संतुष्ट करना दोनों ही पुण्य के काम हैं. वो थोड़ा और ऊपर उठा और मुझे मुस्कुराते हुए देख कर बोला- मजा आ गया, आज से पहले ऐसे किसी को नहीं चोदा था … न ही किसी ने मुझसे चुदवाया था.

इंडियन सेक्सी फुल्ल हँड

आज भी उसका लिंग पहले की ही तरह ताकतवर और अच्छे खासे मोटाई और लंबाई में था. अब तक की इस हिंदी चुदाई कहानी के पिछले भागखेल वही भूमिका नयी-7में आपने पढ़ा था कि पूरे कमरे में चार मर्द पांच औरतों की चुदाई में लगे हुए थे. आपको बुआ की बेटी की चुत चुदाई की स्टोरी कैसी लगी, मुझे इस बारे में मेल करें.

उसके मन में पता नहीं क्या चल रहा था लेकिन मेरे मन में उसकी चुदाई के ख्याल आ रहे थे. उन दोनों ने भी मेरे रस को साफ नहीं किया, बल्कि वैसे ही अपने अपने घाघरे नीचे कर लिए और बाथरूम में जाकर फ्रेश हो गईं. मैंने ज़ोर से उसके चूतड़ों पर च्यूंटी काट दी, तो वो चिहुंक उठी- आअहह.

सभी मर्द तैयार हो गए और इसमें हम महिलाएं उनका कोई साथ नहीं देने वाली थीं. उसके कोमल हाथों में जाकर मेरा लंड फिर से तनतना गया और मुझे मजा आने लगा. वो इतना अधिक उत्तेजित था कि उसने एक बार भी मुझे लिंग चूसने को नहीं कहा.

किसी भी योनि को छूने का यह मेरा पहला अहसास था … बहुत ही कामुक और बेहद आनंददायक।मैंने एक दो बार दीदी की योनि को उनकी पजामी के ऊपर से ही मसला और फिर उनकी जांघों से पजामी को नीचे खींचने की कोशिश करने लगा. मैंने दूसरे हाथ से अपनी पैंटी एक किनारे कर उसे अपनी योनि के स्पष्ट स्पर्श दे दिया.

इसलिए जब मैंने पीछे से उसकी चूत में लंड डाला तो मेरा लंड एकदम से अंदर चला गया.

मैंने उससे पूछा कि एक ही कमरे में सब सोयेंगे तो हमारा काम कैसे बनेगा?वो बोली- तुम उसकी चिंता मत करो, वो सब मैं देख लूंगी. सेक्सी पिक्चर पिक्चर व्हिडिओउसके बाद राकेश ने ऑर्डर करने लगा तो उसने मुझसे पूछा, तो मैंने बोला कि जो तुम्हें मन है, ऑर्डर कर दो. आदिवासी सेक्सी 2019 कीउन लोगों ने पैंटी को अगले दो पल में खींच कर भाभी को पूरी नंगी कर दिया. राज- वैसे रुचि ने मुझे बताया था कि तुम्हारा बॉयफ्रेंड भी आने वाला था!मैं- हां यार, लेकिन वो आ नहीं पाया … मेरी किस्मत खराब थी.

मेरा यह पहला ही अनुभव था तो मैं तय समय पर ही उससे मिलने के लिए पहुंच गया.

इससे काजल बुरी तरह तड़फने लगी और बोलने लगी- आई लव यू … प्लीज़ और मत तड़फाओ … आज मुझे लड़की होने का अहसास करवा दो. मैंने उनका नम्बर सेव कर लिया और उनके नम्बर पर व्हाट्सैप चैक करने लगा. अब उस लड़के का सुनो, जिसका लंड अंतरा चूस रही थी, उसके मुँह से एकाएक आह की आवाज निकली और उसने अपना गाढ़ा सफेद वीर्य अंतरा के मुँह में छोड़ दिया.

तब तक आप कमेंट करें और बतावें कि कैसे इस सेक्स कहानी को और रोमांचक बनाना है. और साथ ही कल वाली बातों के कारण वो मेरे साथ बातें करने में भी एकदम खुल गई थी. कुछ देर बाद हम लोग मूवी देख कर बाहर निकले, तो उन दोनों ने अपने नकाब डाल लिए थे.

सेक्सी कहानी नंगी

कांतिलाल ने पहले ही संकेत दे दिया था कि वो शायद ही मुझे आज रात सोने देगा. मेरा नाम विजय है मैं गुरुग्राम (गुड़गांव) का रहने वाला हूं। मैं एक स्नातक बेरोज़गार हूं मुझे गोपनीयता के साथ सेक्स करना मुझे पसंद है. उन्होंने मुझे देखा और पूछा- क्या हुआ राज?मैंने कहा- दीदी एक सवाल का आंसर नहीं आ रहा है.

वो लोग अपनी अपनी बातें जारी रखते हुए मदिरा पीने लगे और इधर नेताजी मेरे बदन को सहलाते और टटोलते हुए आनन्द लेने लगे.

मैंने भी उसके कहने पर अपनी शर्ट निकाल दी और मैं भी पूरा नंगा हो गया.

इतनी बातें जरूर हम दोनों में होती थीं, लेकिन अभी तक किसी ने किसी को प्रपोज नहीं किया था. मुझे भाभी की डीपी देखने की जल्दी थी लेकिन उनकी डीपी में कुछ उर्दू में लिखा हुआ एक धार्मिक सा लगने वाला शब्द लिखा था. सेक्सी पिक्चर आवाजनिर्मला जब उसका लिंग चूसने में व्यस्त हो गई, तो रवि ने मुझे हाथों से पकड़ कर उठने का संकेत दिया और इशारे से मुझे खड़े होकर अपनी योनि उसके मुँह में देने को कहा.

मैंने कई बार देखा था कि घर पर चाहे कोई रिश्तेदार आये या फिर कोई और मर्द आये वो मेरी मां को देखता ही रह जाता था. मेरा घर काफी बड़ा है, जिस वजह से मेरे पति ने चार पोर्शन किराए पर दिए हुए हैं. बेटा मुझे आने में कुछ देर हो जाएगी, तुझे समय हो, तो तू मेरे घर पर रुक जाना.

वैसे दोस्तो, मैं लिखने के मामले में थोड़ा आलसी हूँ इसलिए कोई गलती कहानी में हो जाए तो माफ कर देना. उसने मुझे एक तरफ साइड में लेटाया और मेरे लंड को मुंह में लेकर चूसने लगी.

मैंने उसे देखा बस ही था, अब तक मैं उसके बारे में कुछ भी नहीं जानता था कि वो कौन है, कहां से आई है … उसका नाम क्या है … वो करती क्या है.

मैंने पीछे से उनकी नाइटी उठाई और पेंटी नीचे करके उनकी चूत में लंड पेल दिया. मैंने भाभी को इशारा किया कि अब नहीं रहा जाता, बस जल्दी से चुदवा लो. मेरे अन्दर भी जोश चढ़ गया … मेरा छोटू भी अन्दर से बाहर आने के लिए तड़पने लगा.

भूखी सेक्सी इधर बाकी हम सब भी इतने उत्तेजित हो गए थे कि सबके चेहरे पर पसीना आने लगा था. उसकी कमर से उसके बालों को हटा कर मैंन उसकी ब्रा के सारे हुक खोल दिये.

मैं रमा के दिए हुए वस्त्र पहन तैयार हो गई, हालांकि ऐसे कपड़े मैंने पहले कभी पहने नहीं थे, पर ये मुझ पर जंच रहे थे. वो मेरे ऊपर आ गया और मेरे होंठों को चूमते हुए अपना एक हाथ नीचे ले जाकर अपने लिंग को मेरी योनि के द्वार की दिशा देने लगा. मां को देख कर मेरे मुंह में भी एक बार तो पानी सा आ गया और मेरा लंड भी खड़ा हो गया.

सेक्सी चोदा चोदी पिक्चर दिखाओ

लंड कितना भी बड़ा या मोटा क्यों न हो, अगर किसी को सेक्स करने की कला नहीं आती है तो वह ज्यादा संतुष्टि अपने पार्टनर को नहीं दे पायेगा. तो दोस्तो, यह घटना मेरे साथ मेरी जिंदगी में वास्तविक रूप से हुई थी. मैंने नई जवानी में कदम रखा था लेकिन चूत गांड चुदाई के बारे में मुझे ज्यादा पता नहीं था.

मैं बोला- हां अम्मा आज मैं पूरा लंड तेरी गांड में घुसा कर ही रहूँगा. मैंने कहा- हां अम्मा मैं आज आप का बोर बेल का काम पूरा करके ही रहूँगा.

वो मुस्कुराने लगी और थोड़ा सा मेरी तरफ झुक कर उसने अपना कान मेरी छाती पर रख दिया और मेरी दिल की धड़कन को सुनने लगी.

’दस मिनट तक मैंने अपूर्वा भाभी को घोड़ी बना कर भाभी को चोदा और इसके बाद उसे नीचे सीधा लेटा दिया. राज की आवाज सुनकर मैं चौंका और पूछने पर उसने बताया कि यह उसकी चाची है और कुछ दिनों के लिए आई है. मुझे अंदाज़ा हो चुका था कि वो झड़ने के क्रम में जो धक्के मुझे मारेगा, वो असहनीय होगा … पर मैं उसके वश में थी और मेरे पास बर्दाश्त करने के अलावा कोई विकल्प नहीं था.

मुझे नहीं पता था कि वो मेरा लंड लेने के लिए इतनी बेचैन है और इतने लंबे समय से इसके लिए तड़प रही है. उसने मुझे सोफे पर बैठने को कहा और मुझे जांघें फैला कर योनि खोल देने का निर्देश दिया. उसने बताया कि वो और उसकी बीवी दोनों कुछ हफ्ते बाद पटना कुछ काम से आने वाले हैं.

सोनू अभी बोल ही रही थी कि मेरे लंड ने पिचकारी मार दी और मैंने मेरा सारा माल सोनू की चूत में ही खाली कर दिया।उसके बाद हम दोनों एक दूसरे को अपनी बांहों में लेकर सो गए।अब एक बार जब सोनू मैडम की चूत मार ली तो फिर तो चुदाई का खेल शुरू ही हो गया था.

हिंदी फुल सेक्सी बीएफ वीडियो में: उनकी मुस्कराहट से मुझे समझ में आ गया था कि वो शायद मेरी हालत समझ चुके हैं क्योंकि वो मेरे पापा की उम्र के थे और इन सब चीजों से गुजरे हुए थे. शायद वस्त्रों का एक अलग प्रभाव पड़ता है और इसी वजह से मर्द स्त्रियों को कामुक वस्त्र में देखना पसंद करते हैं.

उस रोशनी में बिल्कुल चमक सी रही थी और मेरा पूरा बदन एकदम चिकना दिख रहा था. मैंने कहा- ठीक है पापा।पापा ने कहा- आज का खाना बाहर से मंगवा लेते हैं. मैंने दीदी के रूम में जाकर दीदी को बड़े प्यार से कहा- दीदी मेरे पास एक रास्ता है … जिसमें आपकी चूत को चुदाई का मजा भी आएगा और हम पैसे भी कमा सकते हैं.

मम्मी ने बताया कि उन्होंने मेरे खाने का इंतज़ाम शीमा के घर पर ही कर दिया है.

मैं जल्दी से तैयार होने लगा और घर पर मैंने बोल दिया कि मैं अपने दोस्त के घर पर जा रहा हूं. अब मैं आंटी की कुर्ते के ऊपर से ही बोबे दबाने लग गया और आंटी आह उम्ह की सीत्कार निकालने लग गई. जांघों में फंसी हुई पैंटी को निकाल कर मैंने उसकी चूत पर नाक लगा कर उसकी चूत को सूंघा तो उसकी चूत से मस्त सी खुशबू आ रही थी.