सेक्सी बीएफ हिंदी में दिखाएं

छवि स्रोत,सुंदर लड़की की फोटो

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्स एक्स एक्स पाकिस्तान: सेक्सी बीएफ हिंदी में दिखाएं, कोई सोच भी नहीं सकता था कि एक लड़का लड़की कॉलेज की पार्किंग में चुदाई का खेल खेल रहे थे.

हॉट बीपी सेक्सी

मैंने कहा- ये मेरा लंड है और तू रात को चार बार चुदने के बाद भी सुबह चली गई, ऐसी हिम्मत तुझमें किधर से आ गई थी?वो हंस कर बोली- भैया मैं अपनी सहेली के घर जाकर सो गई थी और शाम को वापस आ गई हूँ. पाकिस्तान सेक्सी विडियोवो दोनों चुदाई में व्यस्त थे और मैंने धीरे से अपना हाथ अपनी अंडरवियर में डाल कर लंड को मसलना शुरू कर दिया.

फिर मुझसे रुका न गया और मैंने उसकी पैंटी को खींच कर उसकी चूत को पूरी नंगी कर दिया. चाइना सेक्सी मूवीवो बोली- ठीक है आप अंगूठा बाहर निकालिए, तब मैं उठ कर आपको कंडोम देती हूं.

मयंक- क्या करवाने के लिए बोल रही थी!मैं- वो …मयंक- समझ गया … मैं तो जानता ही था कि एक ना एक दिन तेरी सहेली की ये फैंटेसी ज़रूर बाहर आ जाएगी.सेक्सी बीएफ हिंदी में दिखाएं: मुझे कोई दिक्कत नहीं थी बल्कि उसकी नंगी जांघें देख मेरा लंड खड़ा हो जाता था.

मेरा तो दिल कर रहा था कि मैडम के मम्मों बाहर निकाल कर चूसना शुरू कर दूं.मैं उसके सामने घुटनों पर बैठ गया और उसकी पैंटी को जीभ से चाटने लगा.

पापा वाला गाना - सेक्सी बीएफ हिंदी में दिखाएं

अपनी जीभ को फिर से उसकी चूत में अन्दर बाहर अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया.मैंने उससे पूछा क्या हुआ तो वो बोली- मादरचोद, इतना चोदा है कि कल से ढंग से चला भी नहीं जा रहा है.

कोई दो मिनट तक उनके मुँह को चोदने के बाद मेरे मुँह से तेज सिसकारियां निकलने लगीं और मैं लगातार उनके मुँह को चोदते हुए उनके मुँह में झड़ गया. सेक्सी बीएफ हिंदी में दिखाएं ये उन दिनों की बात है जब रवीना का नया नया एडमिशन हुआ था कॉलेज में। मेरा भाई बिजनेस करता है इसलिए वो अधिकतर घर से बाहर ही रहता है.

एक साल बाद तो ये स्थिति हो गई थी कि उससे महीने में एक बार ही सेक्स हो पाता था.

सेक्सी बीएफ हिंदी में दिखाएं?

मैंने उसका हाथ अपने हाथ में पकड़ लिया और बोला- क्या मैं इन्हें गर्म कर दूं?महक मुस्कुराई और बोली- कैसे करोगे?मैंने उसके हाथ को चूम लिया और बोला- ऐसे करूंगा. मैंने जल्दी से अपनी चाय खत्म की और उठ कर जाने लगा तो अंकल ने रोक लिया. वो अपने हाथों से मेरे चेहरे को अपनी चूत में घुसा रही थी और मस्त मस्त आवाज़ निकाल रही थी.

ड्रिंक के साथ उन दोनों की नंगी फोटोज देख कर मेरे निप्पल खड़े हो गए. डॉक्टर ने उन्हें बेड रेस्ट का बोला और दो दिन तक मुझे वहीं पर रहना पड़ा. मेरे लंड को सहलाते हुए भाभी सिसकार कर बोली- उफ्फ … विशु, अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा है, अब अपना लंड मेरी चूत में डाल दे और मेरी चूत को ठंडा कर दे.

मालिनी थोड़ा रेस्ट करना चाहती थी लेकिन साथ ही वो चुदाई के इस खेल से बाहर भी नहीं जाना चाहती थी. मैडम और मैं काफी टाइम साथ में बिताया करते थे … क्योंकि वो भी अकेली थीं … और मैं भी. पंकज- साली कुतिया … तू फार्म हाउस तो चल! तुझे नंगी भगा-भगा कर चोदेंगे.

उसने गुस्से में कहा … या ऐसे ही, पता नहीं … पर वो बोला- भाई क्या हुआ? कोई बात है क्या?मैं जैसे उसके बोलने पर होश में आया. तुम मेरे घर आ जाओ और यह गंदा-वंदा जो कुछ भी चाहो, सब कुछ डर्टी हार्ड सेक्स कर लेना है.

अब वक़्त आ गया था अपनी चाल चलने का।मैं ज़ोर जोर से चीखने लगी- अरे कोई है, मुझे नीचे उतारो, मैं यहां फंस गई हूं, कोई तो आओ मुझे उतार दो।दो सेकंड में अमित भागता हुआ आया।उसने मुझे देखा और पूछा- तुम ऊपर क्या कर रही हो?मैंने बोला- मैं तो आम तोड़ने आई थी.

उसी समय पीछे से मुकेश सर आए और बोले- टीना, सुरजीत आपसे कुछ बात करना चाहते हैं.

तभी शैतानी में भतीजे ने उनके कमरे का दरवाज़ा खोल दिया और भाभी रात के कपड़े बदल रही थीं. दोनों गर्मजोशी में एक दूसरे के बदन पर हाथ फिराने लगे और फिर हमारे होंठ आपस में मिल गये. रात को लगभग 12 बजे जब मेरे घर में सब सो गए, तब चुपचाप मैं छत की दीवार फांद कर उनके घर में आ गया और ऊपर वाले कमरे का दरवाजे को धक्का लगाया तो वो खुल गया.

मगर अब वो क्षण दूर नहीं था जब वस्त्रों का पर्दा हटने वाला था और दोनों एक दूसरे को पहली बार निर्वस्त्र करने वाले थे. मां बोली- अब क्या करोगे?वो बोले- एक बार फिर से तुम्हारी गांड मार लेता हूं. आखिरी दिन जब मैं बाज़ार से सामान लेकर आया तब मैंने अंजू को सूट सलवार में देखा जिसे देखकर मेरी वासना जाग गयी.

पारिज़ा कुछ पल बाद मुझे अपने ऊपर से हटाकर बाथरूम में चली गई और मैंने सीधे लेटते हुए लंड से कंडोम को निकाल कर डस्टबिन में फेंक दिया.

जल्दी ही मैं उसकी चूत मे झड़ गया। उसने फटाफट मेरे रुमाल से अपनी चूत साफ की और मेरे लंड को भी साफ किया और फिर अपने कपड़े ठीक करके हम दोनों झाड़ियों से बाहर आ गए।अब अगली सुबह उसकी ट्रेन थी। अगले दिन वो अपने गांव के लिए निकल गई। फिर 3-4 महीने अपने गांव में ही रही। जिस दिन वो अपने गांव गई उस दिन मेरे पेट में दर्द धीरे धीरे बढ़ने लगा और बहुत दर्द होने लगा. और उसका ये रूप कातिल क्यों लग रहा था, जानते हैं … उसने अपने बदन से सिर्फ साड़ी को ही लपेट रखा था. मलहम का टयूब दिया और रघु से उसकी पत्नी के लिए भी कहा कि तुमको तकलीफ़ हुई है, तो उसको भी हुई होगी.

दीदी की तेज आह निकलती, इससे पहले मैंने अपने हाथ का ढक्कन उनके मुँह पर लगा दिया था. मैंने संजू के होंठों को अपने होंठों में क़ैद किया और एक ही झटके में आधा लंड चूत में डाल दिया. सुरेश ने हाथों में दस्ताने पहने और लंड को पकड़ कर ठीक से देखने लगा.

यदि आप लोगों ने मेरी पहले की सेक्स कहानीचाची को चोदापढ़ी होगी, तो आप सरिता चाची के बारे में आप जानते होंगे.

मैंने पहले भी कई बार उसका स्टेटस देखा था मगर उससे कभी बात नहीं की थी. देसी चुत स्टोरीज में पढ़ें कि कुंवारी कमसिन लड़की के मन में भी सेक्स को लेकर काफी उत्तेजना थी.

सेक्सी बीएफ हिंदी में दिखाएं जब उनकी जकड़ थोड़ी ढीली हुई, तो मैंने उनके होंठों पर होंठ रख दिए और उनको चूमने के लिए आमंत्रित करने लगा. कपड़े सुखाते सुखाते या हो सकता है मेरी स्थिति सोचते सोचते भाभी का टखना मुड़ा और वो घुटने के बल गिर गयीं.

सेक्सी बीएफ हिंदी में दिखाएं एक कुंवारी लड़की की चूत को छूकर पकड़ने का मजा ही कुछ और था दोस्तो।तभी मेरे ऑफिस से किसी के बाहर निकलने की आहट हुई तो मैं जल्दी से ऑफिस की तरफ भागा और वो अपने रूम में घुस गई।उस दिन के बाद ये मेरा रोज का काम हो गया. देसी Xxx चूत की कहानी में पढ़ें कि कैसे गाँव में आये नए डॉक्टर की बीवी को मुखिया जी ने देखा तो वे उसे चोदने के लिए बेताब हो उठे.

मैं- अच्छा … कितनी याद आ रही है और तुमने ही मुझे धोखा दिया … साथ नहीं आए.

चोदा चोदी फुल सेक्सी

रवीना ने मेरे लंड के पानी को पूरा पी लिया और मैं उसकी चूत को चाट चाट कर सारा रस पी गया. मैंने उसको घोड़ी बनाया और पीछे से पूरा लिंग उसकी चिकनी हो चुकी चूत में पेल दिया और तेजी के साथ उसको चोदने लगा. प्रीति ने कविता को गले से लगा लिया। कविता ने मेरी पैन्ट देखी तो पैंट उठी हुई थी.

भाभी की साड़ी का पल्लू उनके ब्लाउज के ऊपर से मैंने हटा दिया और उनके मम्मों को ऊपर से ही पकड़ लिया. इस गांव में बीमारी से कई लोग मर गए थे, इसलिए अब वो डॉक्टर बन रही है. हर धक्के के साथ सीमा जी के मोटे ओर मांसल बोबे बड़ी जोर जोर से हिल रहे थे.

घर जाकर भैया से मैंने पूछा- जी भैया, बताइये क्या काम है?भैया बोले- विशु, जब तक शादी नहीं हो जाती, तू यहीं रहेगा.

मैंने कहा- इतना तो बता दो कि सीधा सीधा सेक्स करना पसंद है या कुछ अलग टाइप का सेक्स करना पसंद है?उसने कहा- मुझे बहुत ही ज्यादा वाइल्ड सेक्स करना पसंद है. इससे आपको कुछ पैसे भी मिल जाएंगे और ये मेरे काम में हाथ भी बंटा देगी. मैंने कहा- अभी तुम हंस रही हो … फिर डंडा जब भीतर जाएगा न, तब कितना रोओगी, देखना.

वो चूमता हुआ नीचे पैरों के पंजों तक गया और फिर वापसी में चूमता हुआ ही मेरी चूत के पास आ गया. स्पीड बढ़ने के साथ ही कमरे में फच … फच … की आवाज़ के साथ मिकी की सिसकारी तेज हो गई और उसकी छटपटाहट बढ़ने लगी. मैं आंख बंद करके अपना ये चेहरा खुद देख रही थी, जिस पर गुलाबीपन खिल कर बिखरा हुआ था.

नंगी गर्ल सेक्स कहानी में पढ़ें कि पड़ोस की एक दीदी मुझे भाई जैसा मानती थी. मैंने कहा- तुली मैं तुझे अपनी बेटी मानता हूं और तुम मेरा लौड़ा लेना चाहती हो.

मैं उसके साथ सेक्स करना चाहती थी, पर अगर वो होश में आया तो शायद ना करे … या मुझे गलत समझ ले. वो बोली- क्या काम?भाभी का हाथ पकड़ कर मैंने कहा- मैं आपकी गांड भी चोदूंगा और आपको बगल वाली लड़कियों की चूत भी दिलवानी होगी. सुरेश- अच्छा तुम्हारी पत्नी की उम्र क्या होगी और ये बताओ कि तुमने आज से पहले कभी किसी के साथ सेक्स नहीं किया था?रघु- मीनू अभी कुछ दिन पहले 18 की हुई है.

मैंने उससे कहा कि मुझे बड़ी ख़ुशी होगी, यदि आप वो मुझे ड्रेस अभी ही पहन कर दिखाएं.

अन्दर आते ही दिशा ने आदी को गले लगा लिया और पूछा- गुरू क्या कर रहा है?‘तुझे याद करते हुए ही अपने रूम में पड़ा होगा … जा चली जा उसके पास. मैं- मैं जानता हूँ तुम्हारी परिस्थिति लेकिन …पारिज़ा- टेल मी फास्ट (जल्दी बताओ). मुझे दर्द हुआ, तो मैंने ज़ोर का झटका मार दिया और पूरा लंड उसकी चूत में घुसेड़ दिया.

उसे फिर से पकड़कर अपनी ओर खींच लिया और किस करते हुए एक हाथ से उसकी छाती और एक हाथ से उसकी चूत सहलाने लगा। कुछ ही देर में उसकी सांसें तेज़ चलने लगीं और उसका विरोध काफी कम हो गया।मैंने महसूस किया कि अब उसे भी मज़ा आ रहा था. मेरी गर्लफ्रेंड ने कहा- घर चलने से पहले कुछ शॉपिंग भी कर लेते हैं … फिर घर पर चलते हैं.

सर इस बात से चिढ़ गये और उन्होंने उन 17 लड़कों के साथ ही मेरा मैच करवा दिया. सुरेश- अच्छा ये बात है, तो ज़रा मुझे भी बता क्या चलता रहता है!मीता- ओहो बाबूजी … आपको ये भी नहीं पता कि क्या भैंसा जब भैंस के ऊपर चढ़ता है, उसके बाद उसको बच्चा होता है. मालिनी तो जैसे बस ये चाह रही थी कि किसी तरह कोई उसके बदन की सारी गर्मी निकाल दे.

एक्स एक्स सेक्स बीएफ वीडियो

तभी मेरा दोस्त अपनी कॉल खत्म करके आ रहा था, तो मैंने झट से अपना हाथ भाभी के उरोजों पर से हटा लिया.

मेरी ईमेल आईडी है[emailprotected]सेक्सी औरत की चुदाई स्टोरी का अगला भाग:साठ साल की लेडी की वासना- 2. फिर दो मिनट के बाद उसने आंखें खोलने को कहा तो मैंने अपनी आंखों से हाथों को हटाया. फिर वो मेरे पेट से होते हुए मेरी जांघों को चूमने लगी, मेरी गोटियों को एक एक करके अपने मुँह से चूसने लगी.

मुखिया उसकी तनी हुई चूचियां देखता हुआ बोला- अच्छा तो ये बात है … अभी देखो मैं सारा दर्द कैसे निकाल देता हूँ. राजीव की आवाज सुनना मुझे भी अच्छा लगने लगा था और मेरे मन में भी उसके लिये भावनायें पैदा होने लगी थीं. सिर्फ सेक्सी मूवीमैं उसे पीछे से खा जाने वाली नज़रों से देखता हुआ सीढ़ियाँ चढ़ रहा था।अचानक वो रुकी और मेरी तरफ मुड़ी.

मैं मौसी की पीठ पर पूरा झुक कर लेट गया और उनकी चूचियों को पकड़ कर भींचते हुए जोर जोर से चोदने लगा. मुखिया- व्व…वो मैं ये पूछने आया था कि रात को कोई परेशानी तो नहीं हुई ना बेटी!सुमन- नहीं नहीं मुखिया जी, वो तो आते ही सो गए थे … और दूसरा यहां था ही कौन, जो मुझे परेशान करता.

लगता है मैंने कुछ ज्यादा ही दारु पी ली आज; ठहर अभी देखता हूं तेरी चूत को!” वो बोले. अब हम जब भी बाल्कनी में मिलते हैं, तो मैं उसे गर्दन का निशान दिखाकर चिढ़ा देता, तो वो हंस देती. मेरी दिली इच्छा थी कि मेरी योनि की सील मेरे पतिदेव ही अपने लिंग से तोड़ें और मैं आजीवन एक अच्छी संस्कारवती पत्नी की तरह रहूं.

मैं माथे पर आया पसीना पोंछ कर हाथ- मुंह धोकर बाहर आया तो सामने रोज़ी खड़ी हुई थी. मैं सोचता था कि रंडी की चुदाई में क्या मजा आता होगा लेकिन मेरा अनुमान गलत था. बताओ क्या करूं तुम्हारी गांड में ही माल डाल दूँ?मैडम बोलीं- नहीं, मुझे तुम्हारे लंड का पानी पीना है.

अब जब मेरे साथ मेरा बीएफ नहीं था, तो मेरे लिए राज ही एक मेरा साथ टाइम स्पेंड करने वाला था.

मुझे बहुत मजा मिलता था इससे।अब मैं आपको अपनी कुछ समय पहले की ही स्टोरी बताती हूं. पीछे से उसकी पीठ पर हाथ रखकर दूसरे हाथ से लंड को उसकी चूत के मुँह पर लगाया और चोदने को तैयार हो गया.

सुबह के करीब 10:00 बजे हम होटल में पहुंच गए। एक बेहतरीन फाइव स्टार होटल में उन्होंने रूम बुक किया हुआ था. पारो भाभी मुझसे बोलीं- चलिए आप टीवी देखो, मैं खाने की तैयारी करती हूं. उसके जाने के बाद सुरेश को गधे वाली बात याद आई कि कैसे मीता वो सब देख कर मज़े ले रही थी.

जिसे मैं इतने दिनों से पागल होकर ढूंढ रहा था, आज वो मेरे बगल में बैठी थी. रात को मैंने भाभी को एक मैसेज भेजा- सॉरी भाभी, मुझे माफ़ कर दो, मैं ऐसी गलती फिर नहीं करूंगा. मैडम को किस करते करते मैं उनके मम्मों को भी दबा रहा था और एक हाथ से उनकी चूत को भी मसल रहा था.

सेक्सी बीएफ हिंदी में दिखाएं फिर मैं उसको दोबारा किस करने लगा और 10 मिनट में ही मेरा लंड दोबारा खड़ा हो गया। अबकी बार मैंने पहले उसकी सलवार को पूरा उतारा. मेरी हॉट वाइफ स्टोरी के अगले भाग में मैं सब तरतीब से लिखूंगा कि पारिज़ा के साथ सेक्स का मजा हमने कैसे लिया.

देवर भाभी के बीएफ सेक्सी वीडियो

ये कह कर मैंने यहां अपनी टांगें चौड़ी करके राज को ऊपर आने का इशारा कर दिया. उसकी बात सुनकर पता नहीं मुझे कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि क्या करूं. उसकी बुर में लंड जब बुर की दीवारों को घिसने लगा तो उसको मजा आने लगा.

साकेत में मिलने के बाद उसने बताया- मुझे तुमसे बातें करना अच्छा लगता है … और मैं तुम्हारे साथ अकेले में कुछ टाइम बिताना चाहती थी. वो एकदम से जोर से चिल्लाने लगीं कि आह साले फाड़ दी मेरी चूत … आराम से कर मादरचोद … बहुत दिनों से चुदी नहीं हूँ. इंडियन सेक्स वीडियो कॉममैं झटके देता हुआ स्खलित हो गया और मैंने अपने माल से मां के मुंह को भर दिया.

मेरे हाथ कांप रहे थे क्योंकि पहली बार था और उत्तेजना बहुत ज्यादा थी.

मैं बीच बीच में उसके निप्पलों पर काट रहा था और वो मादक सिसकारियां ले रही थी. मेरे सामने अब विभा भाभी की लाल रंग की पैंटी थी, जिसके अन्दर की भाभी की चूत का उभार साफ़ महसूस हो रहा था.

उसका ब्लाउज स्लीवलैस था जिसमें से उसकी साफ़ बगलें मुझे लगातार उत्तेजित कर रही थीं. पर न तो उन्होंने कभी ऐसा किया और न ही कभी मेरी हिम्मत हुई कि मैं अपने पति के लंड को अपने मुंह में भर लूं या उनसे कहूं कि आओ मेरी चूत चाटो. उसे अचानक से याद आया और उसका चेहरा एकदम ऐसे पीला पड़ गया, जैसे उसकी कोई चोरी पकड़ी गई हो.

मेरे लंड का टोपा भाभी की गांड में घुस गया और भाभी आ … आ … आ … करके आगे छूटकर भागने की कोशिश करने लगी.

मेरे घुसने के कुछ बाद ही जैसे ही विवेक अन्दर आया … उसने गेट लगाकर लॉक कर दिया. मैं उसको उसके रूम पर ले गया और …दोस्तो, मैं सुमित अपनी पहली कॉलेज गर्ल की चोदा चुदाई बता रहा हूं जिसमें मैं अपनी कहानीटेढ़ा है पर मेरा है- 1का दूसरा भाग लेकर आया हूं. फिर गांव वालों की इतनी हिम्मत नहीं है कि मेरे खिलाफ उनसे कोई कुछ बोल सके.

इंग्लिश पिक्चर भेजो सेक्सीमेरा लंड इतना टाइट था कि अंडरवियर के अन्दर होने के बावजूद दिशा के मुँह के पास आ गया. मेरी बीवी की गांड कैसे चोदी उसके अब्बू ने!दोस्तो, मैं कामिल अपनी सेक्सी बीबी और उसके अब्बू के बीच की चुदाई की कहानी का आखिरी भाग आपके सामने पेश कर रहा हूँ, मजा लीजिएगा.

बीएफ चाहिए सनी लियोन का

फिर मैंने कहा- तुम्हारा पति?वो बोली- वो तो दुबई में जॉब करता है और 2 महीने में एक दो दिन के लिए घर आता है. मैं पहले उसकी बेटी को लेने बस स्टॉप पर गया और फिर आते वक्त बाजार से सब्जियां भी ले आया. उस रात पूजा भाभी मनोज के जोश से 2 बार जमकर चुदी। शादी की पहली रात को चुदाई का जो सिलसिला पूजा की जिन्दगी में शुरू हुआ था वो अभी भी बदस्तूर जारी है.

मेरे कुछ बोलने से पहले ही उसने मेरी बांहों से खुद ही ब्लाउज निकाला और बाहर निकल गया. लेटने के बाद उन्होंने धीरे-धीरे करके मेरे सारे बदन से कपड़े अलग कर दिए और मेरे जिस्म को चूमने और चाटने लगे।उनसे मैंने पूछा- आप आज इतनी क्यों पी कर आए हो?वो बोले- आज मैं रोहित के साथ एक डील करके आया हूं। मैं और वह दोनों साथ ही थे। उसने तुम्हें एक रात के लिए मांगा है. तमाचे की हनक से सीमा जी के मुँह से गाली निकली- भैनचोद … मां के लौड़े … घुसा दे वापस भोसड़ी के … क्यों सता रहा है.

उसकी पसंद को ध्यान में रखकर ही मैं ब्लैक पैंट और व्हाइट शर्ट डालकर गया. मगर हर बार वो सिर्फ गांड ही में लंड घुसाने देती थी।चूत को चटवाने का मजा खूब लेती थी लेकिन चुदवाने के नाम पर मुकर जाती थी. जब तक तुम अपनी चूत से हम दोनों का बच्चा नहीं निकाल देती, तब तक तुझे चोदता रहूंगा.

मुखिया- उफ्फ गीता रानी, तुम मेरे डंडे को चूसो, तब तक मैं तुम्हारी फुन्नी को चूसता हूँ. फिर हमने मोबाइल से पास का ही एक होटल देखा और उसमें एक रूम बुक कर लिया.

मैंने कहा- तब तक ऐसे ही बैठूं क्या?उसने कहा- मजबूरी है, आप एक काम कीजिए, अन्दर वाले कमरे में चलिए, वहां कोई नहीं आता.

मैंने प्यार से अपनी जाँघों को सहलाया और दायीं जांघ पर हथेली से बजाया जैसे पहलवान लोग कुश्ती लड़ने के लिए अखाड़े में जांघ पर हाथ मार मार कर प्रतिद्वन्द्वी को ललकारते हैं. सेक्सी वीडियो ब्लूटूथ सेक्सीइसके बाद मैंने लाइट को मेन स्विच से ऑन से ऑफ कर दिया ताकि मोनिषा को ये लगे कि लाइट गई थी इसलिए टीवी बंद हो गया. वीडियो सेक्सी अंग्रेजी मेंसारा दिन अपने काम में व्यस्त होने के बावजूद भी मुझे अपना खालीपन बहुत खलता था. मयंक- क्या करवाने के लिए बोल रही थी!मैं- वो …मयंक- समझ गया … मैं तो जानता ही था कि एक ना एक दिन तेरी सहेली की ये फैंटेसी ज़रूर बाहर आ जाएगी.

मैंने वहां पर अपनी चूत को मसल मसल कर अंकित के बारे में सोचा और फिर खुद को शांत किया.

मैंने अपनी बहू की चूत और गांड कैसे मारी?दोस्तो, मैं मुम्बई का रहने वाला हूं और मेरी उम्र 54 साल है. मैं केवल फ्रेंची में रह गया था अब।उसकी चूचियां देख कर मुझसे रुका नहीं गया और मैंने झट से उसकी ब्रा को खोल कर उसकी चूचियों को नंगी कर लिया और दोनों हाथों में एक एक चूचा थाम लिया. मैंने बोला- अभी तो मैंने छोटी उंगली डाली है … फिर बड़ी उंगली फिर अंगूठा और लास्ट में लंड डालूंगा.

मैंने कहा- थोड़ी देर पहले तो तुम कह रही थी कि माल पिलाने के अलावा कुछ भी कर लेना? अब डर रही हो क्या?वो बोली- डरती तो नहीं हूं लेकिन फ्री में नहीं करवाती. मैं उनकी बगल में गया और सलवार को नीचे करते हुए उनकी पैंटी को भी उतार दिया. उसकी प्यास को देख कर लग रहा था कि वो सदियों से मर्द के साथ सम्भोग करने के लिए तड़प रही हो.

चोदी चोदा सेक्सी मूवी

मैडम मुझे देख कर बोलने लगीं- विक्की क्या तुमको जलन हो रही है?मैंने मैडम से बोला- ज्यादा नहीं हो रही है. मुकेश सर- कुछ नहीं टीना … आज आप बहुत सुंदर लग रही हो और ध्यान आकर्षित कराने वाली हो. साथ ही साथ वो पीछे से ही अपने हाथ आगे करके मेरे दोनों मम्मों को पकड़ कर भी मसल रहा था, जिससे मुझे चुदाई का पूरा मजा आ रहा था.

मिनल के पति ने ऊपर के कुछ अधिकारियों को पैसा खिला दिया है, आपका केस थोड़ा कमजोर पड़ गया है.

उसके बाल हवा में लहरा रहे थे और उसका नंगा जिस्म मेरे लंड के धक्कों से लहरा रहा था.

वो अन्दर कमरे में चला गया … और दो तीन मिनट में वो एक वैसा ही ब्लाउज लेकर वापस आ गया. उसने मेरे सामने घुटनों पर बैठ कर मेरे लंड को अपने मुंह में ले लिया. दिपाली सेक्स व्हिडीओसुषमा मैडम को भी पता चल गया था कि मैं उनके सेक्सी जिस्म पर नज़र रखता हूँ.

उस पैंटी के ऊपर ही पैंटी पहन ली इस तरह हम दोनों डबल पैंटी पहन कर बाहर आ गए. अब हम दोनों बिस्तर पर अपनी अपनी जगह ले चुके थे और लेटे हुए बातें कर रहे थे. वो लगातार मादक सिसकारियां ले रही थीं और बोल रही थीं- आह बहुत मजा आ रहा है.

अंगिका ने कहा- तुम कौन सी मिट्टी के बने हो? हम दोनों दो बार झड़ चुकी हैं मगर तुम हो कि खाली होने का नाम ही नहीं ले रहे हो?मैंने कहा- मैडम, आपने बुलाया तो किसी और काम के लिए था मगर किया कुछ और! अब काम शुरू हो ही गया है तो देख ही लेते हैं कि किसमें कितना है दम!मेरी ये बात सुन कर दोनों हंसने लगीं और बोलीं- दम तो तुम्हारा दिखाई दे रहा है. जब रघु ने पजामा नीचे किया, तो उसका काला लंड जो सोया हुआ भी 5 इंच का दिख रहा था और लंड मोटा भी काफ़ी था.

पैकेट को मुंह से फाड़कर कॉन्डम को खोला और मेरे डंडे जैसे सख्त लंड पर पहना दिया.

मां बोली- आप इनको इतना दबाते हो कि कुछ दिन में मेरी साइज की ब्रा भी मिलना बंद हो जायेगी. फिर वो मेरे पास आ के लेट गए और मुझे चूमते हुए मेरे स्तन फिर से दबाने लगे और बोले- संध्या, मेरी जान आज तू इतनी चुप चुप क्यों है? अपनी रूचि की शादी हो गयी अब तुझे बेटी की विदाई का गम सता रहा है न? अरे तू ही तो कहती रहती थी कि अब रूचि सयानी हो गयी है इसके विवाह की सोचो … कहती थी कि नहीं? अरे बिटिया तो होती ही पराया धन है. मैं- क्या करूं अंकल आपकी बेटी है इतनी मस्त और हॉट कि इसकी चुत में से लंड निकलने का नाम ही नहीं लेता.

बहादुरगढ़ सट्टा किंग मेरी इस कास्टिंग काउच सेक्स स्टोरी के बारे में अपने विचार प्रकट करने के लिए आप कमेंट बॉक्स में अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर छोड़ें अथवा मुझे मेरी ईमेल पर संपर्क करें. तो दोस्तो, कैसी लगी आपको मेरी देवर भाबी सेक्स स्टोरी? ये एक सच्ची घटना है.

मैंने एक ब्लैक और रेड कलर की ट्रांस्पेरेंट साड़ी डाली हुई थी जिसमें मेरा गोरा बदन एकदम साफ चमक रहा था। लेडीज़ वाला मेरा परफ्यूम पूरे रूम में महक रहा था। मुझे इस तरह तैयार हुई देखकर रोहित की आंखों में तो जैसे चमक आ गई थी।फिर रोहित मेरे पास एक पानी का गिलास लेकर आया और मुझसे पानी पीने के लिए पूछा. मैं पसीने से चिपचिपा हुआ पडा था तो मैं नहाने के लिए बाथरूम में चला गया. बस के कंडक्टर ने आवाज़ लगाई- राजपुर आ गया … चलो इधर की सवारियां जल्दी उतर जाएं.

बीएफ फिल्म देहाती बीएफ

मुखिया ने ढेर सारा थूक अपने लौड़े पर लगाया और गीता की चुत पर भी थूक लगा कर उंगली से अन्दर तक गीला कर दिया ताकि लंड आराम से अन्दर जा सके. मैं फराह के होंठों को चूसने लगा और दोनों एक दूसरे की लार को एक दूसरे के मुंह से खींचने लगे. अब मुझे परेशानी होने लगी कि अगर किसी की नजर मेरे तने हुए लंड पर चली गयी तो बड़ी शर्मिंदगी झेलनी पड़ेगी.

उसने बाथरूम में जाकर अपनी चूत की सफाई की और मैंने भी अपने लंड को साफ किया।मैंने देखा कि चुदने के बाद रवीना से चला नहीं जा रहा था. उसने आगे कहा- मुझे मेरे पापा की बात इसलिए भी जंच गई थी क्योंकि मैं खुद चाहता था कि मैं अपनी कमाई से तुम्हें खुश रख सकूं.

मैंने हिम्मत करके भाभी से कहा कि भाभी अपना तौलिया उतार दो और उतरने की कोशिश करो.

उसने 2-3 मिनट तक अपने अंगूठे और पहली उंगली से चूत के दाने के रब किया और फिर बीच वाली उंगली को 9-10 मिनट तक चूत के अंदर बाहर करती रही. वो सरपट मुझे पेले जा रहा था और मेरी सिसकारियां आह्ह … ऊह्ह … आई … आह्ह … ओह्हह … करके सारे घर में गूंजने लगीं. फिर मैं सॉरी बोलते हुए वकील के सामने ही झुक गयी और मेरा पल्लू नीचे गिर गया.

मैंने सोचने लगी- कमीना खुद ही पैसा खाकर बैठा है और मुझे चूतिया बना रहा है, मगर मेरी रिश्वत के आगे सब तरह की घूस फेल हैं. उसके बाद वो दोनों लेट गये और रिया ने अरुण की छाती पर बहुत प्यार से किस करना जारी रखा. मैंने कहा- बिना कॉन्डम भी करवा लेती हो?वो बोली- बिल्कुल नहीं, मैं ये सब केवल पैसे के लिए करती हूं.

पहले मैं थोड़ा अपने बारे में बता देता हूँ कि मैं किक बॉक्सिंग करता रहता हूँ, इसलिए काफ़ी फिट हूँ.

सेक्सी बीएफ हिंदी में दिखाएं: उसके चूतड़ मेरी चूचियों पर टिके थे और उसका लंड मेरी ठोड़ी के पास था. 8 फीट की हाइट एवं एक गठीले शरीर का मालिक है।जितने भी वर होते हैं सभी को अपनी सुहागरात में बहुत दिलचस्पी होती है जो कि स्वाभाविक सी बात है.

मुझे तरन्नुम आ गई और मैंने थोड़ा हिम्मत करके उनके मम्मे को दबाना चालू कर दिया. क्लास खत्म होने के बाद सर ने मुझे पास के होटल में 8 बजे खाने बुलाया. उसके साथ मैंने काले रंग की फूलों वाली पारदर्शी ब्रा और पैंटी भी ले ली.

उन्होंने भी अपना पैर थोड़ा ऊपर करके मेरे पैर को नीचे डालने की जगह कर दी.

उसकी टांगों के बीच में आकर मैं उसके ऊपर लेट गया और उसकी चूचियों को पीते हुए उसकी चूत को जोर जोर से हाथ मसलने लगा. मैंने सीधा हाथ उसके ऊपर से उठाया और उसके चूतड़ों पर रख कर सहलाने लगा और उल्टा हाथ जो कि उसके सिर के नीचे से गर्दन के पास से होते हुए जा रहा था, उससे उसके चूचे टटोलता रहा। उसके चूतड़ सहलाते हुए अब मैंने सीधा हाथ उसके आगे पेट पर कर लिया और सहलाने लगा. उन्होंने कहा- तो तुम्हें हिरोईन नहीं बनना?मैंने कहा- बनना है, मगर इस तरह से नहीं बनना है और मेरे पति को भी ये तरीका मंजूर नहीं होगा.