सेक्स बीएफ फुल एचडी बीएफ

छवि स्रोत,बूर की चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

मराठी. xxx: सेक्स बीएफ फुल एचडी बीएफ, उसके बाद मधु ने मेरे चेहरे पर बैठकर अपनी चूत मेरे मुंह में घुसा दी और अपनी गांड हिलाने लगी। मैं अपनी जीभ उसके चूत में डाल कर चुसाई का मज़ा दे रहा था पर मुझे सांस लेने में तकलीफ हो रही थी और मधु आह सी सी की आवाज़ निकाल कर मज़े ले रही थी.

ஹிந்தி செக்ஸ்வீடியோ

उसके होंठों पर जोर-जोर से चूमा-चाटी करना शुरू किया।अब मैंने सोनी की एक टांग उठा कर खड़े-खड़े ही अपने कंधे पर रखी और फिर लंड डाल कर सोनी की चुदाई करना शुरू कर दी। मेरा लंड इतनी तेजी से अन्दर-बाहर हो रहा था कि सोनी की तो पूछो ही मत. सेक्सी वीडियो ओपन ब्लूभाभी के आँसू आने लगे और मैं एकदम शांत होकर उनके ऊपर लेटा रहा, उन्हें किस करता रहा.

मेरा ये पहला अनुभव था, जब कोई‌ लड़की मेरे लंड पर बैठकर इस तरह से खुद मजा लेने के साथ साथ मुझे भी उतना‌ ही मजा दे रही थी. सेकसी नगी फिलमलेकिन वो मिलगी कहां?तब मैंने उसको बताया- मैं ही वो निशा हूँ जो लेस्बीयन सेक्स करती हूँ.

मैंने उसकी बात सुनते ही उसके लहँगे को ऊपर किया और देखा तो जो मैं लाल रंग की पैंटी और ब्रा लाया था प्रिया ने वही सैट पहना हुआ था.सेक्स बीएफ फुल एचडी बीएफ: मैं उससे बोली कैसे तो नायर ने बोला कि जब मैं चाहूँ तुमको मेरे लण्ड के नीचे आना पड़ेगा.

मेरे चाचा ने यूनीवर्सिटी में मेस का कांट्रेक्ट ले लिया और काम की अधिकता की वजह से वे वहीं रहने लगे.थोड़ी देर सोचने के बाद बुआजी बोलीं- तुमसे एक बात कहूँ?मैंने अपने हाथ को उनकी जाँघों पर और ऊपर फेरते हुए बोला- कहो ना बुआजी.

हिंदी सेक्सी वीडियो चुदाई वाली - सेक्स बीएफ फुल एचडी बीएफ

जब मैं और मेरे पति एक मॉल में कुछ खरीदने के लिए गए थे। वहाँ मुझ पर एक मर्द रीझ गया, बेचारा आधे घंटा मुझे देख देखकर अपनी पैंट पर हाथ फेर रहा था, मेरा तो ध्यान ही नहीं था.पर मुझे पूजा को देखकर कुछ होने लगता है।तो बोली- मुझे पता है।मैंने बोला- कैसे?तो उसने मुझे बताया कि पूजा बता रही थी।मैंने पूछा- क्या?तो वो बोली- आज जब तुम पूजा को मैथ्स पढ़ा रहे थे.

तभी वो थोड़ा उठी और अपने एक हाथ से मेरे लंड को पकड़कर उसे सीधा ही अपनी चुत के प्रवेशद्वार पर लगा लिया. सेक्स बीएफ फुल एचडी बीएफ तीसरी निगार और चौथी थी तस्लीमा।जमील मियाँ चूत चोदने के मामले में काफी तंदुरुस्त थे, एक बार में उसे चोदने के लिए दो-दो औरतें लगती थीं। कभी-कभी निगार और रोशन नंगी सोतीं और सलमा लंड चूसती.

तो मैं अपना सर पीछे रख कर सोने लगा।लगभग 15 मिनट के बाद मुझे महसूस हुआ कि मैं अपने हाथ कहाँ रखूँ.

सेक्स बीएफ फुल एचडी बीएफ?

करीब 5 मिनट और चोदने के बाद मैं उसकी चूत में ही झड़ गया।तो दोस्तो, यह थी दास्ताने पूजा की चूत-चुदाई।कैसी लगी पूजा की पहली चुदाई दोस्तों जरूर बताएँ।अगली बार ये बताऊँगा कि कैसे मैंने उसकी मस्त गाण्ड मारी. मैंने कस कर मोनू को छाती से भींच लिया। मोनू के लंड ने मेरी गुलाबी चूत में गरम-गरम फव्वारा सा चला दिया और मैं बहुत ज़ोर से झड़ गई. वो चूसने लगीं। मैंने 5 मिनट में ही उन्हें पानी पिला दिया और खाना ख़ाकर सोने चला गया।अनु ऊपर पढ़ रही थी.

मैं अभी होटल से लेकर आता हूँ।फिर मैं होटल से बटर चिकन लेकर 10 मिनट में घर पर आया. वो तो मैं अपने तन की आग में जल रही हूँ और इसके बावजूद भी मैंने कभी बाहर मुँह नहीं मारा। मुझे पता है कि बहुत से मर्द मुझ पर लाइन मारते हैं। कई बार मैंने सोचा भी कि चलो ये वाला अच्छा है. बड़े प्यार से करूँगा।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !भाई ने दोनों हाथों से मेरे चूतड़ों को फैलाया और टोपे को छेद में फँसा कर हल्का सा झटका मारा.

और फिर मैं झुका और कमर को हाथों से थामकर मीता की गहरी नाभि पर एक गहरा चुम्बन अंकित कर दिया. शादी में काफी सारे चोदने लायक माल आए थे, पर प्रिया जो माल बन के घूम रही थी और जो उसकी अदाएं थीं, वे मुझे और भी पागल कर रही थीं. उसे हचक कर चोदा, पूरी रात भर में मैंने उसे तीन बार चोदा।पहली बार में तो मैंने उसे तीन बार झड़वाया.

थोड़ी देर चूमने के पश्चात मुनीर उठी और तारा के सिर के बालों को सहलाने लगी. फिर मैंने उसे अपनी बांहों में भर लिया और उसके होंठों पर किस करने लगा.

’फिर संतोष ने चाय बना कर दी। मैंने और जेठ ने एक साथ ही चाय पी और फिर संतोष के साथ मार्केट चले गए। मैं अकेली बैठी थी.

अमीषा अपनी माँ लीना के साथ रहती थी जो अपने पति से अलग हो चुकी थी या कहा जा सकता है कि उसने अपने पति से तलाक़ ले लिया था या वो विधवा थी मगर उसके बारे में पक्का कुछ भी नहीं कहा जा सकता था.

इसके बाद मैंने अपने कपड़े उतारे और तना हुआ लंड उसकी चूत के सामने हिलाया. उन्हें इतना मज़ा आ रहा था कि वो जोर-जोर से उछल रही थीं और चिल्ला रहे थीं- जोर से चोदो मुझे. यह सब करते करते समय कब बीत गया, पता ही नहीं चला और 4:00 बजने वाले थे.

थोड़ी देर बाद उसने मुझसे कहा- क्या आप मुझे अपना फोन देंगे?तो मैंने उसे अपना फोन दे दिया. आपके इसी रिस्पांस की वजह से ही कहानी लिखने का मेरा उत्साह बना रहता है।[emailprotected]. उसके ऐसे उछलने की वजह से उसके बड़ी-बड़ी चूचियां जोर जोर से हिलने लगी.

उसे खोल दिया और उससे बोला- अब आप अपने पैर इस पर रख लो।उसने जब पैर रखे.

नेहा और प्रिया सुमेर भैया की पहली पत्नी की सन्तान हैं और सुलेखा भाभी का बस एक ही लड़का कुशल है, जिसने अभी आठवीं की ही‌ परीक्षा दी हुई थी. तो मैं तुरंत ही कण्डोम का पैकेट लेकर सपना के घर चला गया।वो दोनों चुदने के लिए तैयार होकर नंगी बैठी थीं। जैसे ही मैंने सपना की कॉलबेल बजाई. फिर मैं साड़ी पहन कर गई और ऊपर ही उनके रूम में मैंने उनके लिए खाना बनाया.

मैं और तेजी से रोने लगी, चिल्लाने लगी- बचाओ मुझे बचाओ यह कमीने मार डालेंगे. हम दोनों लोग एक दूसरे को बहुत अच्छे से किस कर रहे थे और मेरा देवर मेरे होंठों को चूस रहा था. मैं रोज रात को भाभी की चूत के बारे में सोच कर मुठ्ठ मारा करता था।एक दिन मॉम और मेरी बहन एक शादी में चले गए.

जो बड़ी मुलायम लग रही थीं।फिर मैं उसके पेट की नाभि को चूसते हुए उसकी चूचुकों की तरफ बढ़ा और कुछ ही पलों में मैं एक हाथ से उसकी एक चूची को मसल रहा था और दूसरी चूची को पी रहा था.

’ चीखें निकलने लगीं।वो बहुत गर्म हो गई थी और वो मुझे ऊपर खींचने लगी, बोली- जल्दी से मेरी चूत में अपना लण्ड पेल दो. कभी भी मेरी चूत से रस निकल सकता था। कभी भी मेरी चूत पानी छोड़ सकती है।तभी एकाएक मुझे महसूस हुआ कि कोई ने मेरी जाँघों पर अपना हाथ रख कर कसके दबोच लिया हो.

सेक्स बीएफ फुल एचडी बीएफ मैंने भी सोचा कि ‘चलो यार, फ्री में टाइम पास करना चाहती है करने में क्या जाता है. क्या मस्त रसीले होंठ थे उसके … एकदम नर्म पिंक से … फूले हुए मोटे मोटे रसभरे होंठ थे.

सेक्स बीएफ फुल एचडी बीएफ पर इस बार क्योंकि मैं था इसलिए स्वाति को छोड़ कर जाने का प्रोग्राम बनाया।अगले दिन मेरा साला सुबह ही घर से निकल गया, मैं जब सो कर उठा तो वो जा चुका था।स्वाति ने नाश्ता बना रखा था. तो मर्द होने का मतलब ही नहीं है, सोनू आज अभी तुझे चुदते हुए देखकर मुझे पहली बार लग रहा है.

मैं अकेले कमरे में रहना पसंद करती थी और किसी से ज्यादा बात भी नहीं करती थी.

एचडी सेक्सी वीडियो पिक्चर

मैंने वी पहले उसकी मोटी जाँघों को सहलाया और फिर अपना हाथ उसकी फुद्दी पर ले गया. मैं बहुत ही सीधा सादा लड़का था और मुझे सेक्स के बारे में बहुत कम ज्ञान था. जिससे मेरा लंड का कुछ भाग अनु को दिखने लगे।यह सोच कर मैंने पैर को थोड़ा मोड़ा लेकिन मेरी लुंगी पूरी कमर पर गिर गई और मेरा पूरा लंड दिखने लगा.

तब उसने मुझे एक तौलिया दिया और बाथरूम की ओर इशारा किया। मैंने उसकी तरफ ध्यान से देखा तो उसकी टी-शर्ट उसके बदन से चिपक गई थी और उसके मम्मे मानो टी-शर्ट फाड़ने के लिए तैयार हो चुके थे।मैं उसे देखे जा रहा था कि तभी उसकी नौकरानी आई और मैं बाथरूम में चला गया। तभी बाहर किसी ने ‘ठक-ठक’ किया. जिसके कारण वो अपने मुँह से तरह-तरह की सिसकारियाँ निकाल रही थी।वो भी मेरे हर शॉट पर चूत उठाकर लण्ड लेते हुए चिल्लाने लगी- चोद और जोर-जोर से चोद. तो मुझे उसके घर जाने में कोई परेशानी नहीं हुई और मैं उसके घर पहुँचा.

और ना जाने कैसे मेरा हाथ उसकी कमर पर चला गया। उसकी कमर में हाथ डाले हुए मैं घर के अन्दर चला गया।अन्दर जाकर लाइट में मैंने उसे अच्छे से देखा, वो बला की खूबसूरत लग रही थी। उसने उस समय सिल्वर कलर का नाइट गाउन पहन रखा था.

अब मैं भी पूरे जोश में था।वो मेरे लंड अपने मुँह में लेकर चूसने लगी और मैं भी उसकी मुँह की चुदाई करने लगा।वो इतना जोर-जोर से मेरा लंड अन्दर-बाहर कर रही थी कि दस मिनट में ही मेरा पानी उसके मुँह में निकल गया और वो पूरा पानी पी गई।थोड़ी देर के बाद मेरे लंड फिर से खड़ा हो गया और रायलेनी ने अपने पूरे कपड़े उतार दिए।उसने अपने कूल्हों गाण्ड पर मस्त टैटू बनाया था। मैंने जैसे ही उसे नंगी देखा. मैं गई आहह्ह्ह!’मेरी कामुक सिसकारी सुनकर जेठ जबरदस्त तरीके से चूत की कुटाई करने लगे और मैं भी ताबड़तोड़ लण्ड के झटके पाकर निहाल हो उठी।मेरी चूत ने पानी छोड़ दिया ‘आहह्ह्ह् सीईईई. मैं समझ गया कि वो जानती थी कि आज कुछ ना कुछ होगा।मैंने फ़ोन में बात के दौरान बोला था मुझे क्लीन चूत पसंद है.

मैं वहाँ बैठ कर वेट करने लगा और ऐसे ही 11 बज गए। फिर उस सेक्रेटरी को अन्दर से कॉल आया और मुझे अन्दर बुलाया गया।दोस्तों क्या बताऊँ. फिर क्या प्रॉब्लम है यार।हमारी बातों से गीत को भी थोड़ी समझ आ गई और एकदम से खुलते हुए बोली- ठीक है फिर यारों. ’मैं भी उत्त्तेजना में आकर उसके कूल्हों पर हल्की-हल्की चपत लगाते हुए उसे घनघोर अंदाज में चोद रहा था।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !पहला शॉट पूरा होने के बाद सोनू ने मुझे जमील के चोदने की जो कहानी बताई.

जहाँ दो महीने मैंने बहुत मेहनत की और सबका चहेता बन गया। उसके बाद वहाँ एक हाई प्रोफाइल घर की लड़की ने ज्वाइन किया. रजत अपने पर बड़ी देर तक नियन्त्रण नहीं रख पाया और उसके मुँह से आवाज़ निकलने लगी- आ… ह… आह.

जैसे ही मैंने अपनी जीभ उसकी चूत पर लगाई, उसकी सिसकारी निकलने लगी और वह उछल पड़ी. कुछ दिन बाद गौरव के पापा को 5 दिनों के लिये फिर से टूर पर जाना पड़ा. उसकी रसीली चूत का स्वाद मेरी जुबान पर भर गया और उसकी जवानी की गंध मेरे नथुनों में घुस गई.

दोनों की उम्र यही कोई 40 वर्ष के आस-पास होगी।बात लगभग दो महीने पहले की है.

मैं यह भी कह सकता हूँ कि शायद भाभी को भी मेरे जैसे जवान लड़के के लंड की जरूरत थी. दो तीन मिनट बाद मैंने उसके मुँह से लंड निकाल लिया तो कहने लगी- लंड क्यों निकाला, मुझे और चूसना है. जब उसने मुझे उठाया तो मैं खुद को बिस्तर से बंधा हुआ पाया, मधु ने मेरे दोनों हाथ, दोनों पैर बिस्तर के चारों तरफ बांध दिए थे.

मैंने देखा मेरी मॉम एकदम नंगी होकर पलंग के सिरहाने पर तह करके रखे गए बहुत सारे कपड़ों के ऊंचे से ढेर पर चढ़ी बैठी हैं और डैड भी नंगे खड़े उनसे कुछ कह रहे थे. मैंने भी कोई 4 पैग लगाए।उसके बाद हम दोनों बेडरूम में चले गए उसने मेरी शर्ट उतारी और मेरी बॉडी देख के बोली- वाउ.

तो तुम्हारी धड़कन इतनी तेज कैसे चल रही है।निधि- बाबूजी आप ये क्या कर रहे हो. तो मैं आपको देख कर चकित रह गई थी और तभी मैंने यह सोच लिया था कि मैं अपनी प्यास आप से ही बुझवाऊँगी।इतना कह कर वो मेरे सामने गिड़गिड़ाने लगी- प्लीज़ मना मत करो. कभी वो अपने चूचों को मेरे मुंह में डाल के ऊपर से दूध डालती और मुझे दूध पिलाती, फिर मेरे मुंह से दूध पी लेती.

गांव का वीडियो सेक्सी

जो 2005 में बहुत कम लोगों के पास होता था। जिसकी वजह से मैं अपने दोस्तों और सीनियर्स में फ़ेमस हो गया था।हम सारे दोस्त पढ़ाई के साथ-साथ मेरे लैपटॉप पर ही मूवी और ब्लूफिल्म देखा करते थे। हम सभी किसी न किसी लड़की को गर्लफ्रेन्ड बनाने के बारे में चर्चा करते रहते थे.

तीनों का अलग-अलग बेड था और बीच में आने जाने की थोड़ी-थोड़ी जगह थी, इतनी कि जैसे कोई जैसे-तैसे ही आ-जा सकता था. और फिर उसके पूरे शरीर पर मादक उभारों पर अपने होंठों की छाप छोड़कर दोनों उभारों को हाथों में थामकर धीरे से त्रिकोण की गहराइयों पर अपनी जीभ को घुमाकर आनन्द रस की तलाश करता और इस कोशिश के दौरान मीता के मदभरे त्रिकोण से रस की बारिश होने लगती और मीता के होंठों से मादक कराहें रुकने का नाम न लेती. एकदम किसमिस के जैसे भूरे रंग के थे।मैं तो देखते ही उनको मुँह में लेकर चूसने लगा।इससे पूजा और पागल हो गई, वो मेरे सर को अपने चूचियों पर दबाने लगी और बड़बड़ाने लगी- आह्ह.

दोस्तो, मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ। मैंने लगभग सभी कहानियां पढ़ी हैं. विकास भी बिना कुछ बोले चुपचाप कमरे से मेरी तरफ देखता हुआ बाहर चला गया. सेक्सी चुड़ै हिंदीतब उसने मुझे एक तौलिया दिया और बाथरूम की ओर इशारा किया। मैंने उसकी तरफ ध्यान से देखा तो उसकी टी-शर्ट उसके बदन से चिपक गई थी और उसके मम्मे मानो टी-शर्ट फाड़ने के लिए तैयार हो चुके थे।मैं उसे देखे जा रहा था कि तभी उसकी नौकरानी आई और मैं बाथरूम में चला गया। तभी बाहर किसी ने ‘ठक-ठक’ किया.

मयूरी- वही जो देख रहे हो?अब वो बहुत ही शर्मिंदा-सा महसूस करने लगा और इधर-उधर देखते हुए बोला- म…मैं कुछ नहीं देख रहा था?पर मयूरी इस मौके को जाने नहीं देना चाहती थी, उसने कहा- झूठ मत बोलो भैया… मैंने अपनी आँखों से तुम्हें इनको घूरते हुए देखा है!विक्रम जैसे चोरी करते पकड़ा गया और अपनी गलती कबूल करते हुए बोला- सॉरी मयूरी… वो गलती से नज़र पड़ गयी और मैं अपनी नज़र हटा नहीं पाया. उसके शब्द उसके हलक में ही रुक गए और उसके मुँह से एक लम्बी आह निकल गयी.

मेरी जान निकल गई ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ जीजू का लौड़ा फंसता चला गया, पूरा लौड़ा मेरी गांड में फंस गया। उधर रवि का लौड़ा खड़ा हो गया। मेरी आँखों से आँसू बहने लगे इतना दर्द था।पर दो हब्शी दरिंदे मुझे पेल रहे थे।कुछ देर गांड में लंड चलने के बाद मुझे आराम सा मिला तो रवि जीजू से बोला- एक साथ चोदें क्या?जीजू सीधा कार्पेट पर लेट गए और मुझे अपनी तरफ पीठ करवा लंड पर बैठने को कहा. इन सब बातों से वो फ़ोन पर ही गर्म हो जाती और कहती- बस रवि अब घर आ जाओ … अब तेरे बिना नहीं रहा जाता. उसने कैमरे की ओर देख कर मुझे हैलो कहा क्योंकि वो जानती थी कि मैं ही देख रही हूँ और वो मेरी प्रोफाइल पहचानती है.

मैंने उनका मुँह बंद किया और जोर-जोर से धक्के मारने शुरू किए।मैं झड़ने वाला था. ट्रेन में कोई सीट खाली ना होने की वजह से उसे कोई कंफर्म सीट नहीं मिली तो मैंने उससे कहा- आप चिंता मत कीजिए और आप आराम से यहां बैठ सकती हैं. ’यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !दीदी ने मुस्कुराते हुए कहा- लेकिन एक बात बता.

वो मेरी ओर मुड़ी और बोलने लगी- भैया, ये गंदा नहीं लगता है?अब मेरी हिम्मत बढ़ गई, मैंने कहा- इसमें बहुत मजा आता है.

फिर जब रात को जब मैं घर आया, तो उस वक्त करीब रात के 11:30 बज गए थे. पर उसने मुझे मना लिया और एक दिन उसने मुझे अपने घर बुला लिया।वो किराए के मकान में रहती थी। उसके घर में मकान-मालिक.

आपने मेरी कहानी पढ़ी कि कैसे मैंने अपनी बुआ की सील तोड़ी और उसके बाद मुझे कई ईमेल्स भी मिलीं।अब मैं उससे आगे का किस्सा बयान कर रहा हूँ।उस दिन जो भी कुछ हुआ. भाभी या आंटी की चूत की खाज मिटाने के लिए काफ़ी है।वैसे मैं समझता हूँ कि सेक्स के लिए समय सबसे ज़्यादा महत्वपूर्ण है. कुछ देर बाद उसने मुझे सीधा लेटा दिया और मेरे ऊपर चढ़ कर दबादब मुझे ठोकने लगा।मैं दर्द से कराहते हुए कह रही थी- बस अंकल.

अब मैंने उसको चोदने की स्पीड इतनी तेज कर दी, जैसे मानो कोई ट्रेन लेट हो गई हो और उसे जल्दी से अपने स्टेशन पर पहुंचना हो. लेकिन एक दिन उनके घर पर उसके आदमी की अनुपस्थिति में उसका देवर आया। तब मौसम सर्दी का था तथा दोनों एक ही रजाई में नजदीक-नजदीक बैठे-बैठे एक-दूसरे को रजाई के अन्दर में छेड़ रहे थे।तभी अचानक मैं अपने कमरे से निकला. जबकि उसके पिता काले नीग्रो थे तो वो वैसे तो नीग्रो जैसा दिखता था, पर उसका रंग साफ था.

सेक्स बीएफ फुल एचडी बीएफ किस करते करते मैं उनकी चूत की तरफ आ गया और उनकी चूत में अपनी जीभ डालकर उनकी चूत से खेलने लग गया. करीब 5 मिनट और चोदने के बाद मैं उसकी चूत में ही झड़ गया।तो दोस्तो, यह थी दास्ताने पूजा की चूत-चुदाई।कैसी लगी पूजा की पहली चुदाई दोस्तों जरूर बताएँ।अगली बार ये बताऊँगा कि कैसे मैंने उसकी मस्त गाण्ड मारी.

देसी पंजाबी सेक्सी वीडियो

जब एक बार हम दोनों मेरे घर में ही एक दूसरे से लिपट कर चूमा चाटी का मजा ले रहे थे तो मैंने रिया भाभी को सेक्स के लिए बोला. तो मुझे बहुत घिन आती थी पर आज अच्छा लग रहा था।पता नहीं क्यूँ शायद इतना कुछ हो गया था इस वजह से या समीर के गर्मजोशी की वजह से।फिर समीर ने मुझे बाँहों में उठा लिया और मुझे बिस्तर पर लिटा दिया। फिर उसने मेरे पैर फैलाए और मेरी चूत चाटने लगा। वो एक हाथ से मेरी चूचियों को दबाने लगा, मेरे मुँह से आवाजें निकलने लगीं ‘आह. मैंने भाभी को ऐसे ही बिस्तर पर धकेल दिया और उनके होंठ चूसने लगा।आह्ह.

जो हमेशा कुरते से बाहर निकलने की कोशिश में लगे रहते थे। मैं जब भी उसको देखता. ताकि वो पेट से ना हो सके।फिर थोड़ी देर बाद हम घर को निकल गए।मित्रो, यह थी मेरी कहानी. हिन्दी चुतहर शादीशुदा औरत को जो चीजें चाहिए होती हैं और जो उसकी इच्छाएं होती हैं.

अहहह अहह अहह… पूरा ले गले में कुतिया…तेरा गला फाड़ दूंगा आज कमीनी…साली सड़क छाप वेश्या.

मेरा लण्ड मैंने उसके हाथों में पकड़ा दिया था और कोमल धीरे-धीरे उसे आगे-पीछे. यह मेरा असली आकार ही है और मुझे मेरे इसी लंड के आकार के वजह से ही ज्यादातर चूतें मिलीं। यह आपको आगे कहानी में पता चल जाएगा।घटना एक साल पहले की है.

जैसे हम दो शरीर न होकर एक ही हों।कुछ तो सर्दियों का मौसम था तो रात को ठण्ड तो थी ही। पर जब दो जवां मदहोशी से भरे हुए दिल आपस में मिलते हैं. एक मिनट से भी कम समय में बुआजी ने जोर से मुझे वहीं पर हग करके अपने आप में समेटना चालू कर दिया. गाँव में वीडियो पर देखी है।अब वो मेरे पास आकर देखने लगा। मैं समझ गया कि अब ये अच्छे से पट जाएगा।थोड़ी देर बाद मैंने देखा कि उसका लंड पैन्ट में खड़ा हो चुका था और तंबू दिखने लगा था, अब वो अपने हाथ से पैन्ट पर लंड को मसल रहा था।मैंने पूछा- खड़ा हो गया है क्या?तो वो शर्मा गया और उसने अपना हाथ हटा लिया।मैंने कहा- अबे शर्मा मत.

तेरी मम्मी ने बताया था मुझे।मैं एकदम शर्मा गई और बोला- ठीक है सुधा जी.

मैं- भाई मैं आपको अकेले में ‘आप’ ही बोलूँगी।भाई हँस कर बोले- जो हुक्म. मेरा लंड भी अपने पूरी शक्ति से सारा माल बाहर कम्बल में फेंकने लगा और जब तक दोस्तों मैं अपने आपको सम्हालता. वो अगली बार ही पोस्ट करूँगा।प्लीज़ मुझे ईमेल करें।[emailprotected].

ब्लू फिल्म सेक्सी फिल्म ब्लू फिल्मवो एकदम सच्ची घटना है इसकी सत्यता को आप खुद ही तय करना।बात उन दिनों की है. हमने खाना पूरा खाया और मैंने उसको बोला- अगर और एन्जॉय करना है तो बादाम किशमिश वाला दूध बना लो, इससे ताकत आएगी और सेक्स करने में ज्यादा मज़ा आएगा।रात के लगभग 12:30 बजे मधु सारा काम ख़त्म करके लार्ज साइज दूध के गिलास भर के ले आयी.

काली सेक्स वीडियो

फिर शायद वो बहुत गरम हो गई थी। उसने अपने जीन्स उतार फेंकी और मुझ पर सवार हो गई।वो लगातार अपनी चूत को मेरे लण्ड पर दबा रहती थी और पागलों की तरह मुझे चूम रही थी। उसके हाथ अपने आप मेरे लोवर और कब मेरे लण्ड तक पहुँच गए. तो बुन्देलखन्ड एक्सप्रेस में मेरी पास वाली सीट पर एक मस्त लड़की बैठी थी. तुझे मज़ा ही आएगा।पायल- मुझे पक्की होकर कौन सा चुदते रहना है।पुनीत- क्या पता कभी एक से ज़्यादा लोगों से चुदना पड़ जाए.

मैं अभी होटल से लेकर आता हूँ।फिर मैं होटल से बटर चिकन लेकर 10 मिनट में घर पर आया. यानि 5’2″ की नाटे से कद की हैं। उनका 34-30-35 का फिगर एकदम मस्त है और वो गोरी बहुत हैं। मतलब ऐसा माल दिखती हैं कि किसी के भी लण्ड का पानी निकल जाए।अब जैसे ही उसने मेरी रजाई उतारी. मयूरी ने माहौल को थोड़ा लाइट किया, उसके सामने बैठ गयी और बोली- कोई बात नहीं भैया… आप मेरे भाई हो और मैं आपसे बहुत प्यार करती हूँ.

मैं उसे चूसने लगी।थोड़ी देर बाद वो दोनों पूरी तरह से नंगे हो गए और मुझे भी नंगी कर दिया।जब वो मेरे कपड़े उतार रहे थे. मैंने जब कुछ कहना चाहा तो मुझे श्यामा ने कहा कि सिर्फ चुदाई ना कहने की बात थी, तुम अब शराफ़त से हमारी तरह से हो जाओ. ममता का हाथ अचानक मेरे लण्ड पर आ गया और उसने उसे काफी जोर से दबा दिया.

उसी वक़्त मैंने लंड उसके खुले मुँह में घुसेड़ दिया और हाथ से सर को लंड पर दबाए रखा. मुझे समझ ही नहीं आ रहा था कि यह हकीकत है या सपना … लेकिन जो भी हो, वह एक आनंददायक पल था और मैं उसे खोना नहीं चाह रहा था।मैंने अपना हाथ बढ़ाया और उसके स्तनों पर रख दिया, उसके शरीर में एक झनझनाहट मैंने महसूस की और अपने हाथों से मैंने उसके स्तनों को दबाना शुरु कर दिया.

4 इन्च गोलाई में मोटा है, मेरा नापा हुआ है।लड़कियों, भाभियों को इंप्रेस करने के लिए कहानी लिखने में 90% लोग अपना ज्यादा ही बताते हैं.

मैंने अपनी पूरी बॉडी उसकी बॉडी के साथ चिपकायी, ताकि वो ज़्यादा हिल पाए और थोड़ा थूक लगाके लंड उसकी फुद्दी पर रगड़ते हुए दबाव के साथ अन्दर पेल दिया. औरतों में सेक्सनीतू सीत्कार उठी और बोली- राजा और मत तड़पाओ, जरा ठीक से चैक करो ना. की चुदाई सेक्सी वीडियोमाना कि वो आपस में खुले हुए थे पर अपने प्राइवेट पार्ट्स के बारे में ज्यादा बात नहीं करते थे. तो किरण और पूजा दोनों बैठ कर टीवी देख रही थीं।मैंने मकान मालकिन से पूछा- आज पूजा घर नहीं गई?तो बोली- अभी पढ़ रही थी न.

मेरी कोई गर्लफ्रेण्ड नहीं है।दोस्तो, वो मेरे साथ फ्रैंक होने की पूरी कोशिश कर रही थीं।तब उन्होंने मुझसे पूछा- तुमने कभी किसी लड़की के साथ कुछ नहीं किया।मैंने कहा- नहीं मामी.

मुझे अपने लंड पर दबाने लगा।मैंने इससे पहले कभी ये नहीं किया था, यहाँ तक कि मैं जब भी इसे सेक्स मूवी में देखती या सहेलियों से कभी इसकी चर्चा होती. फिर चाची बिस्तर पर बैठ कर मेरी तरफ देख कर बोलीं- इतने सालों से तड़प रही हूँ. इसलिए उससे रोक भी नहीं पाई। वो चूत खुजाता रहा और मेरी चूत पानी निकालती रही.

सो मैंने वैसलीन ली और फिर उसकी गाण्ड में और अपने लण्ड पर लगा ली। अब उसकी गाण्ड पर लण्ड को रख कर जोर से एक झटका मारा।‘ऊऊऊहीईईई ईईईईई म्म्मम्मा आर्रर्रर्रर्र. तो वे बोले- अभी हम दोनों बाजार में हे तुम्हारी आज की मस्त चुदाई की तैयारी करने का सामान लेने गए हैं. आत काय झाले ते मला कळले नाही पण आता लक्षात येते कि आत भावजी आत ताईला नंग करून हेपलत होते.

সেক্সি ভিডিও গুজরাটি সেক্সি ভিডিও

कमरे में पच पच की आवाज के साथ, मेरी और चाची की ‘आह आह आह आह आह’ की आवाज निकल रही थी. मैंने लण्ड पेलना बंद कर दिया और उसे चूमने लगा।वो बोली- कया हुआ? रुक क्यों गये?मैं बोला- तुम्हें दर्द हो रहा है ना!वो बोली- तुम मुझे इतना प्यार करते हो?उसकी आँखों में आँसू आ गए, वो बोली- मुझे माफ कर दो. उसने दरवाजे को कुंडी लगाई और मैंने भी देर ना करते हुए पीछे से ही चूचों को दोनों हाथों से पकड़ लिया.

सच कहूँ दोस्तो, मेरी ही प्यास नहीं बुझी थी इसलिए मैं खुद जल्दी से मेरे फर्स्ट सेक्स के लिए रवि की बात मान गई.

तो मैंने धीरे से एक औऱ झटका मार दिया और इस बार तो वो हिलने के काबिल भी न रही।पर मैंने इस बार परवाह न करते हुए तीसरे झटके में पूरा लंड उसकी चूत में उतार दिया। उसे इतना दर्द हो रहा था कि उसके मुँह से चीख भी नहीं निकल पा रही थी।फिर थोड़ी देर के बाद उसका दर्द कम हुआ.

मगर क्योंओओ … देखो तो कितनी अच्छी‌ खुशबू आ रही है इससे …” मैंने जिस हाथ से अपने लंड को पकड़ा हुआ था, उसे पहले तो खुद सूंघकर देखा और फिर प्रिया के नाक की तरफ ले जाते हुए कहा. और वीडियो भी देख रहे थे। वो दोनों फिल्म और शराब के साथ-साथ मेरे चूतड़ों और मेरे जिस्म को मसल रहे थे. एक्स एक्स एक्स वीडियो बताएंतो ऐसे ही लेटे रहे।कुछ टाइम बाद फिर से हम एक-दूसरे को चूमने लगे और मैं उसकी गांड में उंगली करने लगा। कोमल की गांड बहुत टाइट थी.

नीचे से मीता अपने कूल्हे उठाकर मेरा लन्ड अपनी चुत की गहराइयों तक ले जाती और मैं जोरदार शॉट से और अंदर तक अपने लन्ड को गाड़ देता और मीता के होंठों से आहों और सिसकारियों का जो सिलसिला शुरू होता, वो अंत में एक दूसरे को जिताकर ही खत्म होता. जैसे 36 साइज़ के होंगे। वो खुद भी बहुत सुन्दर थी।मैंने उनके होंठों को चूसना शुरू किया और अपने हाथों से उनके 36 साइज़ के स्तनों को दबाने लगा। वो भी मेरा साथ देने लगी. करीब 5 मिनट के बाद हम दोनों की चुदास जाग गई … तो मैंने उसकी सलवार उतार दी और पैन्टी भी निकाल दी.

इसी बीच उसका शरीर अकड़ने लगा और उसने मेरे सिर को अपने हाथों से अपनी चूत पर दबा लिया और ‘जीजू … मैं मर गई! जीजू मैं मर गई!’ कहते हुए उसने पानी छोड़ दिया और वह शांत पड़ गई. उसके कपड़े उतारने के बाद मैंने उसको फिर से बेड पर लिटा दिया और उसकी चूत चाटना शुरू कर दिया.

फिर बहुत समझाने के बाद कोमल मान गई, मैंने उसे ज़ोर से गले लगा लिया और उसके गाल को चूम लिया।इसके बाद हमारे बीच सब कुछ बदल गया था, हम आपस में बहुत खुल गए थे और कोमल की चुदास भी भड़क गई थी।हमें कुछ दिन घर वालों की वजह से फिर से चुदाई का तो मौका नहीं मिला.

फिर उसने अपने दोनों हाथ पीछे लेकर मेरे लन्ड को टटोल कर लन्ड दबाने लगी और जोर की आवाज़ के साथ मेरे मुंह में झड़ गयी, मैंने उसकी चूत का पूरा पानी चाट चाट कर पी लिया।इसके बाद मधु मेरी तरफ पीठ करके मेरे लन्ड पर अपनी चूत रख कर बैठ गयी और चूत में लंड लेकर मेंढक की तरह गांड उठा उठा कर हिलने लगी. रेवती की मम्मी भी मुझसे रुकने के लिए कहने लगी, तो मैंने कहा कि मेरी वजह से आप पहले ही काफी परेशान हो चुके हैं. पता है उस रात तुमने एक रजाई तो नीचे बिछा रखी थी और एक रजाई को ओढ़कर सो रहे थे, तुमसे रजाई लेने के लिये हमने तुम्हें कितना जगाया मगर तुम उठे ही नहीं.

सेक्सी देसी वीडियो और बुझा दो इसकी प्यास!पुनीत ने पायल के पैर कंधे पर डाले और लौड़े को चूत पर सैट करके जोरदार झटका मारा. मैं अकेले कमरे में रहना पसंद करती थी और किसी से ज्यादा बात भी नहीं करती थी.

हमने बात की,पता चला कि वह रविवार को फ्री होगी तो मैंने भी आने वाले रविवार का प्लान बनाया और मिलने का एक समय निश्चित किया. जिसे देख कर मैंने उसकी तरफ देखा तो पाया कि वो पहले से ही मेरी तरफ देख रही थी और वो हँस कर फिर से मूवी देखने लगी।उसकी हँसी ने मुझे और बेचैन कर दिया।जब मूवी में ज़्यादा रोमाँटिक सीन आने लगा. जैसे हम दो शरीर न होकर एक ही हों।कुछ तो सर्दियों का मौसम था तो रात को ठण्ड तो थी ही। पर जब दो जवां मदहोशी से भरे हुए दिल आपस में मिलते हैं.

सेक्सी फिल्म चाहिए वीडियो में सेक्सी

गोरा-गोरा संगमरमर सा नंगा कुंवारा बदन मेरे सामने था।उसके 32 साइज़ के छोटे छोटे समोसे से स्तन और उसपर गुलाबी-गुलाबी उसके निप्पल. कुछ देर बाद मैंने सारा माल उसके मुँह में ही निकाल दिया और मैंने उसकी नाक को दबाए रखा क्योंकि मैं चाहता था कि वो मेरे लंड के माल को उगल ना दे. मैंने चूत में से लंड निकाला और उनके मुँह में पेल दिया।थोड़ा हिलाने के बाद मेरा रस निकल गया और आँटी सारा माल पी गई।उस रात मैंने भाभी को 3 बार चोदा।फिर सुबह हम दोनों साथ में नहाने चले गए।मैंने भाभी की गाण्ड भी मारी.

अब अंकल का पूरा का पूरा लंड और सुपारा मेरे मुँह के अन्दर आ जा रहा था. इसलिए कमरे में हल्की रोशनी का इंतज़ाम होना चाहिए। हो सके तो ऐसे समय पर कमरे में जीरो वॉट का रेड कलर का बल्ब रोशन करें.

वैसे मैं मौका देख कर किसी न किसी को पटा लेती हूँ और उससे चुदवा लेती हूँ.

उसने अपने भाई से थोड़ा नखरे-भरे अंदाज में पूछा- देख लिया?विक्रम का जैसे मोह भंग होता है, तन्द्रा टूटती है और वो हकलाते हुए बोला- ह. मेरे पड़ोस में एक भाभी रहती हैं जिनका नाम प्रीति (बदला हुआ नाम) है। हम दोनों में काफ़ी हँसी-मज़ाक होता रहता था और अभी भी होता है. इसलिए मुझसे सारे लोग काफी खुश रहते थे।हम जिस किराये के मकान में रहते थे उसमें दो हिस्से थे.

जिससे पूजा और पागल हो गई और अपनी कमर उठा कर गोल-गोल घुमाने लगी।वो एकदम गर्म हो गई. इसलिए मैंने अपना मुँह बुआजी की चुत की तरफ करके उसको जीभ से चाटना शुरू कर दिया. फिर हम दोनों साथ-साथ झड़ गए। मेरे वीर्य से उसकी बुर भर गई। हम दोनों थोड़ी देर निढाल पड़े रहे.

’‘याद है उस दिन मेरी सहेली सौम्या को देखकर तुम कैसे चुलबुला रहे थे.

सेक्स बीएफ फुल एचडी बीएफ: आप सभी ने मेरी कहानीमकान मालिक की बेटी का योनि भेदनखूब सराही, जिसमें मैंने आपको लिखा कि मेरी जॉब बैंक में है और आजकल मैं गुजरात मैं हूं. मेरे जीवन की पहली घटना वहीं हुई, जिसने मेरे अंदर छिपी हुई लड़की को बाहर निकाल दिया.

माझी गांड फाटली कि काय असे मला वाटले, पण त्याने डिसेंटली आपला लंड माझ्या गांडीत घातला होता. विक्रम थोड़ा गुस्सा सा दिखाते हुए- मुझे पता है कि इसको गांड बोलते हैं. सिम्मी को मेरे ज़्यादा बात करने की वजह से शायद लगा होगा कि उसकी शादी मेरे साथ होने वाली है.

मैंने फिर से आंखें खोल दी और राज अंकल को एकटक देखने लगी तो अंकल बोले- क्या सेक्सी निगाहें हैं … तेरी आंखों में भी जादू है सोनू, तू बहुत चुदासी है ये तेरी आंखें बता रही है। तू सोनू बहुत प्यासी है.

पर उस दिन उसने मेरी सील तोड़ दी थी और अगले 2 दिन तक मेरे को बुखार रहा. दोस्तो, पंजाब दी मुटियार की कहानी आपको कैसी लगी, मुझे मेल करके ज़रूर बताना और हो सके तो अपने सुझाव भी मुझे देना. ’आखिरकार बात करते करते हम दोनों ने फोटो एक्सचेंज करी, उसे मैं कैसा लगा नहीं पता, पर मुझे तो वो सेक्स बम लग रही थी, फिर हम दोनों ने बात जारी रखी.