गांड बीएफ

छवि स्रोत,4:00 बजे सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

चूत चाटने वाला वीडियो: गांड बीएफ, तब अम्मी उस पर चिल्ला कर बोलीं- तुम दोनों सगे भाई बहन हो, तुम्हें शर्म ही आती है या नहीं!मेरी बहन बोली- तो आप कौन सी दूध की धुली हैं.

सेक्सी मारवाड़ी 2021

मैं बोली- ये क्या किया तुमने? सारा ही केक खराब कर दिया!वो बोला- नहीं मेरी जान … अब तो इस केक का स्वाद और कीमत दोनों ही और ज्यादा बढ़ गये हैं. साउथ इंडियन सेक्सी गर्ल्समैंने विन्नी को हेंगआउट्स में आने को कहा क्योंकि वहां बिना नम्बर दिए आसानी से बात हो जाती है.

फिर उसने एकदम से अपनी पकड़ ढीली कर दी और रश्मि ने लंड को बाहर फेंक दिया। वो जोर जोर से खांसने लगी और उसका चेहरा लाल हो गया. वीडियो कैटरीना की सेक्सी वीडियोतभी सनम ने मुझे कहा कि जरा कोल्ड क्रीम तो देना!मैं जाकर कोल्ड क्रीम की शीशी ले आई जिसे सनम ने राजू के लंड पर लगा दिया.

उसने अपनी कमर और पीठ पर हाथ फिराते हुए अपने पेट और कंधों पर भी मसाज दी.गांड बीएफ: मीता अब तक दो बार झड़ चुकी थी और उसकी चूत भी लंड से दोस्ती के लिए बेक़रार हो उठी थी.

जब हम लोग रास्ते में थे तो उसके भाई के फोन में कई बार उसका फोन आया- कहाँ तक पहुँचे?मेरे बारे में कोई चर्चा नहीं होती थी.मुझे स्वर्ग सा मजा आ रहा था। मैंने अंकल के लंड को पकड़कर देखा तो वो भी एकदम सख्त हो गया था। उनका लंड 5 इंच के लगभग लम्बा और 2 इंच के लगभग मोटा रहा होगा.

हद सेक्सी वीडियो देसी - गांड बीएफ

लेखक की पिछली गे कहानी:मेरी गांड की प्यासकहानी का अगला भाग:गांड मराने का पहला अनुभव-2.वैसे भी शेफाली तुम्हें तो पता ही है ना कि मुझे ऐसे एडवेंचर्स का कितना शौक है … तो ये मौका मैं कैसे जाने देता!शेफाली- अंकुश ये क्या किया तुमने … रोमा क्या सोचेगी हम लोगों के बारे में!अंकुश- क्या सोचेगी … उसे पता है कि एक हस्बैंड वाइफ ऐसे अकेले में क्या करते हैं.

थोड़ी थोड़ी देर में मैं भाभी की उंगली पर अपनी उंगली फिराने लगा।कुछ देर बाद भाभी का रिएक्शन जानने के लिए मैंने उंगली को दूर कर दिया. गांड बीएफ यह देखकर मुझे सुरसुरी चढ़नी शुरू हो गई और अचानक कि मेरा हाथ अपने लंड पर चला गया.

जैसे ही मैंने उंगली चूत से निकाली, मीता लम्बी लम्बी सांसें लेने लगी.

गांड बीएफ?

तो बोला- मैंने कहा था न … थोड़ी देर में सब दर्द चला जाएगा भैया … मगर तुम ही मान नहीं रहे थे. अब मैंने प्रतिभा की चूत के दाने पर जीभ चलानी शुरू की और उसकी चिकनी गांड पर दो चार चपत रसीद कर दिए. लेडीज वॉशरूम के पास पहुंच कर उसने मुझसे कहा- तुम यहीं बाहर खड़ी रहना … दरवाजा थोड़ा सा खुला रहेगा.

अब आप ही बताइए कि मैं अपनी गलती कैसे सुधारूं?भाभी गांड हिलाते हुए बोली- फिर आपने क्या कह मेरी जान!मैं- भाभी मैं पागलों की तरह आपसे बोला कि भ्भभाभी आपने मेरे लौड़े को गिलास से चोट मारी है. और मैं एक दिन अपनी इस ख्वाहिश को जरूर पूरा करूँगा।अगर आप लोगों में से किसी ने भी इस तरह से हनीमून मनाया है तो मुझे जरूर बताना।तो दोस्तो, यह थी भैया भाभी की देसी हनीमून सेक्स स्टोरी!आप लोगों को कैसी लगी? मुझे ईमेल करके जरूर बताएं. उसके नीचे ब्लाउज, ब्रा, पेटिकोट या पेंटी कुछ भी नहीं पहना हुआ था उसने.

औरत के बोबों में लंड डालकर चोदना आसान नहीं होता, क्योंकि लंड फिसलने का नाम ही नहीं लेता. उसने मेरी एक चूची के निप्पल को मुँह में दबाया और मेरी चुत की धज्जियां उड़ाने में लग गया. अब मुझे जल्दी से बताओ कि तुम मुझे सपनों में कैसे चोदते थे?मैं- चंदू एक दिन तुम अपने बच्चे को स्कूल छोड़ने जा रही थीं.

मैं एक छोटी सी प्राइवेट नौकरी करता हूँ इसलिए अपना सही विवरण यहाँ पर नहीं बता सकता कि किस पोस्ट पर हूँ और कौन सी नौकरी में हूँ।अगर शारीरिक बनावट की बात करूं तो मेरी हाइट 5 फीट से 6 इंच ऊपर है और वजन 60 किलो है. जो कोई भी पहले आए, मेरे लिए तो एक जैसा ही है।सोहन बोला- तू मुझसे 3 मिनट बड़ा है, पहले तू चढ़।रोहण ने मेरी टाँगें खोली, और अपना लंड मेरी फुद्दी पर सेट किया.

भाभी ने नहाकर गुलाबी रंग का सेक्सी गाउन पहन लिया जो ऊपर से आधा खुला हुआ और नीचे से जाँघों तक था.

आपके सुझावों के आधार पर ही कहानी को और बेहतर बनाने में मदद मिलती है.

मैंने भी उन्हें अपने दोनों हाथों से कसके जकड़ते हुए भींच लिया और उनके मम्मों को सहलाने लगा. अब भी सनम को दर्द हो रहा था लेकिन उसे चुप कराना भी मेरी जिम्मेदारी थी क्योंकि अगर वह चीखती तो सबको पता चल जाता कि यहाँ चुदाई चल रही है. अब बताओ कि तुम्हारी फैंटेसी क्या क्या हैं? ताकि हम दोनों ही इस सेक्स चैट सेशन का मज़ा ले सकें.

अपने हाथों को मैंने धीरे से नीचा करके नेहा के मम्मों को सहलाना शुरू किया. और कुछ ही सेकंड के बाद उसने मेरी ही लैट्रिन का दरवाजा खोला और बाहर से खड़े होकर अपनी पेंट में से अपने लंड को बाहर निकाला. इसके बाद मैंने उसकी जींस का हुक खोला और उसकी मोटी जांघों से उसकी जींस को नीचे उतार दिया.

अंकुश ने एक झटके में अपना लंड शेफाली की चूत में पूरा घुसा दिया और शेफाली चीख पड़ी.

अब थॉमस ने मुझे बेड पर लेटा दिया और मेरी दोनों टांगों को अपने कंधों पर रख लिया. मेरी दुनिया तो पहले ही बिखरी हुई है, उस पर दुबारा वज्रपात मैं सह ना सकी. आज मेरी इस सेक्स कहानी का दूसरा पार्ट आपकी सेवा में हाजिर कर रहा हूँ.

अह्ह्ह मा मैं आई!हाँ मेरी रानी … और ले … उफ्फ क्या चूत है तेरी!” कह कर अर्जुन ने रफ़्तार बढ़ा दी और मैं उसके लंड पे झड़ने लगी।मेरा जिस्म शांत हो गया था लेकिन अर्जुन मुझे चोदे जा रहा था. मेरी तरफ से उसने कुछ भी विरोध नहीं देखा, तो मेरा छोटा भाई जुनैद बेख़ौफ़ होकर मेरे मम्मों को दबाने लगा. हम यह बातें कर ही रहे थे कि बाहर पुलिस की एक जिप्सी आकर रुकी जिसमें एक एएसआई और एक लेडी पुलिस को नेहा का हस्बैंड ले कर आया.

मैंने नेहा की चूचियों को अपने हाथों से मसला, उसे किस किया और नेहा भी मेरे लण्ड को हाथ से हिलाती रही.

बीच बीच में मैं लंड को पूरी तरह चुत में जड़ तक डाल कर रुक जाता और फिर उसी स्पीड से चोदने लगता. फिर उसने मुझे अपने ऊपर ले लिया और मेरी गांड पकड़ कर मुझे ऊपर नीचे करने लगा.

गांड बीएफ ” मैंने कहा और उसे अपनी तरफ घुमा लिया और उसके गालों को चूम डाला, फिर उसकी गर्दन को चूम चूम कर होंठ चूसने लगा. इस मदमस्त सेक्स कहानी के अगले भाग में मैं अपनी चुत चुदाई की कहानी लिखूंगी.

गांड बीएफ जैसे जैसे मैं उसे सहलाता, गया वह गर्म होती गई।मेरे हाथ उसकी चूचियों को सहलाते हुए उसके कपड़ों के अंदर पहुँच गए. अब तो जब तक प्रकाश भाईसाब का लंड पानी नहीं छोड़ेगा, लंड गांड में झेलना ही पड़ेगा.

प्रतिभा बेहद खुशनुमा और यादगार चुदाई चाहती थी, इसलिए उसे मिलन की हड़बड़ी या जल्दबाजी नहीं थी.

सेक्सी न्यू सेक्सी न्यू सेक्सी

”अब मैंने बेड की ड्रावर में रखा निरोध निकाल लिया और अपना कुर्ता और पायजामा निकाल कर अपने लंड पर कंडोम चढ़ा लिया।बेबी तुम भी अपने कपड़े उतारो ना प्लीज!”ओह … पर वो मैं कपड़े नहीं निकल सकती. मैं देख कर हैरान हो रही थी कि बाप बेटी कैसे एक दूसरे के साथ मजे कर रहे हैं. तो बोला- मैंने कहा था न … थोड़ी देर में सब दर्द चला जाएगा भैया … मगर तुम ही मान नहीं रहे थे.

जिसमें मैं और मेरे साथ कॉलेज के 5 होनहार छात्र भी थे।मैं इस प्रतियोगिता में सिर्फ इस वजह से थी क्योंकि एक तो टीम में 1 सदस्य कम पड़ रहा था. फिर क्या था … थॉमस ने मुझे अपनी गोद उठाया और हम दोनों ऊपर की ओर जाने लगे. मैंने कह दिया- यार जिम में बोतल में पानी रखने की दिक्कत हो जाती है.

तो मैं अपनी पोजीशन संभाल ना सका और मेरा लण्ड किट्टू की चूत से बाहर निकल गया।किट्टू रोने लगी थी और उसकी आवाज़ तेज़ होती जा रही थी।मैंने समझते देर ना लगाई कि इसकी आवाज़ घर से बाहर तक भी जा सकती है क्योंकि मैं बाहर वाले कमरे में ही चुदाई अभियान चला रहा था।तो मैंने उठ कर उसको थोड़ी सांत्वना दी और उसको अंदर वाले कमरे में चलने को कहा।बिलबिलाती हुई किट्टू ने पहले तो कुछ नहीं कहा.

इसके बाद मां एक हाथ से मेरे लंड को सहलाने लगीं और दूसरे हाथ से मेरी पीठ और गांड को सहलाने लगीं. कंडोम चढ़ जाने पर मुझे अन्दर लंड पर और बाहर दोनों तरफ डॉट का अहसास हुआ, शायद वो बहुत मंहगा कंडोम रहा होगा. फिर वो मेरे एकदम पास आया और बोला- बताओ क्या फैसला लिया? पुलिस को बता दूँ या तुम मेरी बात मानोगी.

तो उन्होंने अपनी आंखें खोल दीं और बोलीं- हर्षद आज मैं पूरी तरह से तृप्त हो गयी हूँ. मैंने अपनी इस देसी Xxx सेक्स कहानी को लेकर किंचित मात्र भी शर्मिंदा नहीं हूँ. बेड की हाईट इतनी मस्त थी कि उसका लंड पूरी सही जगह पे मेरे चूत को स्पर्श कर रहा था।मैंने अपनी चूचियों को खींच कर अपने मुँह के पास लाकर चूसते हुए इशारा किया- चोदो मेरे राजा!अर्जुन ऊपर अपनी कातिल हंसी के साथ मेरी चूत को फाड़ देने वाले लंड को मेरी चूत के पूरी गहराई में उतार दिया.

अब उन चारों ने मिल कर मुझे हर तरफ से नौंचन और भंभोड़ना शुरू कर दिया. भाभी के चेहरे पर मैंने आंसू रूपी मोती ढलकते देखे, निश्चित था कि ये खुशी के आंसू थे.

निष्ठा ने भी अब अपनी खुली चूत से अपने हाथ हटा लिए और बिस्तर पर रख कर अपनी चूत उठा उठा कर मुझे देने लगी. मैंने धीरे धीरे अपनी कमर आगे-पीछे करनी चालू की और मामी ने भी अपनी कमर आगे-पीछे करनी चालू कर दी. कभी वो मेरे पेट पर, कभी सीने पर, कभी पीठ पर लगभग 20 मिनट हमारा फोरप्ले चला.

उसके बाद स्वीटी मैडम ने बोला- अब मेरी चूत में अपना लंड डाल दो … मुझसे सहा नहीं जा रहा है.

प्यार से चूसा।लण्ड मस्त हो चुके थे, घुसने को तैयार।हमने चुपचाप हाथ पकड़ के उन्हें खड़ा किया बिस्तर के पास।हमने अपने सारे कपड़े उतारे और हम तीनों बिस्तर पे घोड़ी बन गयी।अब पट्टी खोल दो. फिर वो बोली- अब तुम उस बात पर ध्यान दो जो मैंने तुम्हें कुछ देर पहले बताई थी. हालांकि अभी भी थोड़े थोड़े बाल चुत की चमक पर हल्का सा दाग महसूस करा रहे थे.

और मेरे लण्ड के प्रहार से बेहाल गुरजीत की चूत भी थक गई थी तभी तो गुरजीत बार बार कह रही थी- बस करो, विजय. अब मैंने अपने दोनों हाथों से उसकी चूचियों को मसला, फिर एक चूची मुँह भर चूसना शुरू कर दिया.

दोस्तो, आपको यह सेक्स कहानी कैसी लग रही है? आप मेल करके मुझे बता सकते हैं।आप सबके मेल का इंतज़ार रहेगा।[emailprotected]पर आप अपने विचार भेज सकते हैं।कहानी का अगला भाग:मम्मी चुद गई फार्म हाउस पर-2. पर इस बार नसीम ने लंड पर केवल थूक लगा कर गांड मारी थी … क्योंकि बीच पहाड़ी पर क्रीम लाने का कोई साधन नहीं था. ये सब नहीं पूछने का एक कारण यह था कि मैंने कुछ बातों से इन चीजों का अंदाजा लगा लिया था.

पुरानी वाली कहानी

वो बाहर ही खड़ा रहने का कहते हुए बोला कि आप जल्दी से काम खत्म करके आ जाओ, मैं बाहर खड़ा हूँ.

मैंने गुरजीत से कहा कि पलटकर टाइग्रेस बन जाओ तो मेरा काम जल्दी हो जायेगा. वो भी कहाँ पीछे रहने वाला था। मेरी जाँघ को देखकर तो वो और जोश में आ गया। वो मेरे पीछे भगा। मुझे भी बहुत मज़ा आ रहा था। फिर मैं हॉल में आ गयी. फिर मामी को अपनी भुजाओं में कस कर दबा लिया और मामी से पूछा- डाल दूँ मामी?मामी ने आह भरते हुए कहा- पगले देर मत कर.

वैसे भी मुझे चूत चुदवा कर यहां से जाना ही था इसलिए मैं ज्यादा नहीं सोच रही थी. परीक्षा देने के बाद दिमाग काफी थका हुआ महसूस कर रहा था इसलिए मैं आकर सीधा लेट गया और आराम करने लगा. 4's सेक्सी वीडियोउसके बाद मैं भी अपनी चरम सीमा पर आ गई … और रॉबर्ट के मुँह पर ही झड़ने लगी.

मैंने नेहा से पूछा- नेहा, मजा आया?नेहा एकदम मेरे गले से लिपट गई और मेरे गाल पर जबरदस्त किस करके काट लिया और बोली- आज से मैं तुम्हारी गुलाम!मैंने कहा- नेहा, गुलाम नहीं तुम मेरी रानी हो और तुम्हें मैं अपनी रानी बनाकर चोदता रहूँगा. सुलेमान- मतलब?मतलब तू शैली को अपने नीचे लिटा, मैं और कुरैशी मालिनी को दोनों छेदों में बजाते हैं.

और ये कह कर आप मेरे लंड को जींस के बाहर से पानी साफ करने के बहाने सहलाने लगीं. शादी के एक महीने बाद ही मैं प्रेग्नेंट हो गई थी और प्रेगनेंसी के 2 महीने बाद मैं यहां मम्मी के पास आ गई थी. इतना कहकर रकुल मेरे पास आई और मुझे अपनी आग़ोश में ले लिया। उसकी पतली साड़ी में से बाहर झांकता हुआ नाजुक कोमल शरीर मेरे शरीर को स्पर्श कर गुदगुदाने लगा। मैंने उसके प्यारे से चेहरे को चूमना शुरू किया तो उसने शर्माते हुए आंखें बंद कर लीं और अपने होंठों को मेरे होंठों से मिला दिया.

अंकल ने अपना पजामा उतार दिया और वह पूरा नंगा मम्मी के ऊपर लेटा हुआ था. मूवी खत्म होते होते मैंने गुरजीत के हाथों पर चुम्बन और जांघों पर हाथ फेरने के अलावा पैर के अंगूठे से उसके पैरों पर कुरेदा था. मुझे याद नहीं कि किस तरह उसने मेरी चूत को पकड़ा था और कुछ हिस्सों पर ऐसे दबाया कि मेरी चूत में पानी का प्रेशर बन गया.

उसने रश्मि को दीवार के सहारे लगा लिया और अपना लंड उसके हाथ में दिया.

वो क्या सोच रही थी और क्या प्लान कर रही थी वो सब मैं आपको अपनी आने वाली कहानियों में बताऊंगा. तब उन्होंने मुझे चूमते हुए कहा- बहू, इसकी मोटाई नाप कर क्या करेगी, बस मजे लेती रह!मैं शर्म के मारे पानी पानी हो गयी.

मैंने पूछा- नया नम्बर कौन सा है?तब उसने बताया- जो आप अपनी आई डी से जो जिओ की 2 सिम खरीद कर मेरे भाई को दिया था उसी से एक नम्बर भाभी ने दीदी को दे दिया हैमैंने उसके भाई से कहा- दिखाओ कौन सा नम्बर है?जब उसने नम्बर बताया तो संयोग से उसके पास वही नम्बर पहुँच गया था जो मैंने अपने जिओ ऐप में लिंक किया था. चलो कोई बात नहीं डार्लिंग जी, आपकी खुशी में ही मेरी खुशी!” मैंने कहा. जितना अच्छे से तुम खेलोगी, उतनी ही अच्छी तुम्हें पोस्टिंग भी मिल जायेगी.

गुरजीत की कमर पकड़कर मैंने अपने लण्ड को अन्दर धकेला तो टप्प की आवाज हुई और मेरे लण्ड का सुपारा गुरजीत की चूत के अन्दर हो गया, थोड़ा थोड़ा दबाते हुए मेरा आधा लण्ड गुरजीत की चूत में चला गया. इस बात से अमित बिल्कुल अनजान था। उसे इस बात की बिल्कुल भनक भी नहीं थी कि उसके जाने के बाद उसकी सेक्सी बीवी क्या करती है! वो तो बस ऑफिस से आता और फिर हम दोनों के जिस्मों के बीच जबरदस्त जंग होती और दोनों ऐसे ही मस्त जवानी के खेल करते करते सो जाते।मैं अमित के साथ बहुत खुश थी क्योंकि वो मेरी सारी गर्मी उतार देता था लेकिन मुझे तो लन्ड बदलने की आदत थी। यहाँ मैं किसी को नहीं जानती थी. मैंने भाभी से पूछा- लंड चूसने में मजा आ रहा है?तो भाभी ने मुझसे बोला- हां … मुझे लंड चूसना बहुत पसंद है.

गांड बीएफ वो बोली- हां शुभम, मैं अपने पति से इतनी परेशान हूं कि मैं तुम्हें सारी बात बता भी नहीं सकती. दो तीन बार तो मेरे लण्ड के सुपारे का नुकीला हिस्सा बिन्दू की चूत के छेद में घुसने लगा था जिससे बिन्दू मस्त हो जाती थी.

हिंदुस्तानी सेक्सी एचडी

अब की बार मीता ने मेरी जॉकी के कट से एक उंगली अन्दर करके मेरे लंड को टटोला. कोई एक घंटे के बाद हम दोनों उनको बोलकर वहां से अपने टेंट आने के लिए निकल आए. पापा ने मामा से तो कुछ कहा नहीं, पर मामा इस बात को समझ ज़रूर गए थे कि अब उनका यहां ज़्यादा दिन रहना ठीक नहीं है.

ताऊ जी के घर पर ही बस लग गई थी, सब आ गए थे।उस दिन भाभी बहुत ही अच्छी लग रही थी और उनके चेहरे पर कुछ अलग ही मुस्कान थी।भाभी मेरे पास आकर मुझसे बाते करने लगी और मेरी पढ़ाई के बारे में पूछने लगी. अम्मी का एक दूध मुँह में भर कर चूस रहा था और दूसरा हाथ से दबाते हुए मसल रहा था. देवर भाभी वीडियो सेक्सी वीडियोकरीब 10 मिनट बाद महिला पुलिस वालियों ने अपनी अपनी सलवार और कुर्ती खोल दी और वहां बिछाई हुई चादरों पर लेट गईं.

वीर्य ने उनकी दोनों टांगों को घुटनों तक लबेड़ दिया और फर्श पर टप टप गिरने लगा.

फिर एक दिन हम लोग हम हॉस्टल की खिड़की से बाहर झांक रही थी तो मेरी नज़र सामने लॉण्डरी और चाय की दूकान पर काम करने वाले एक लड़के पर पड़ी. अन्दर पूल तो पूरा खाली था, सिर्फ हम तीनों बहुत मस्ती कर रहे थे, खूब उछल कूद कर रहे थे.

निष्ठा डार्लिंग, चलो अब अपने घुटने मोड़ कर ऊपर कर लो और अपनी चूत अपने हाथों से खूब अच्छे से खोल लो. कुछ पल बाद आंटी बोलीं- वाह … राज तू तो अब शादी कर ले … तू पूरा चोदू हो गया है. फिर धीरे धीरे मुंह खोल कर आधा लंड मुंह में भर लिया और मेरी ओर देखती हुई चूसने लगी.

मैंने भी उसकी सारी आप बीती को सच मान कर उसका प्रपोजल स्वीकार कर लिया था.

चूंकि मैं एक बिजनेस कंसल्टेंट्स हूँ, इसलिए मेरी इस तरह की मीटिंग्स चलती रहती हैं. थोड़ी देर लंड चुसवाने के बाद सर ने मेरी टांगों को उठाया और अपना मोटा लंड चुत पर लगा दिया. वो जो पहले सो गया था, वो मेरी जांघ पर अपना हाथ फेर रहा था और शायद उसने कमरे की बड़ी लाइट बंद करके छोटी जला दी थी.

தமிழ். xxxनमकीन चुतरस के स्वाद के साथ चॉकलेट का स्वाद लेना मुझे एक अलग तरीके की मस्ती का अहसास दिला रहा था. मैंने नेहा से कहा- अपनी मम्मी की नहीं दिलवानी क्या?नेहा- भागो, शरारती कहीं के.

मारवाडी व्हिडिओ सेक्स

ये सुनकर मैं मां से अलग हो गया और हम दोनों नहाकर नंगे ही अपने रूम में चले गए. वो एक ही मिनट बाद बाथरूम में से बाहर निकल कर आ गया और बोला कि आंटी इसमें तो पानी ही नहीं आ रहा है. ब्रा मेरे साइज से छोटी थी और पैंटी भी नेट वाली थोंग पैंटी थी, जिसमें से हमेशा मेरी चुत दिखती है.

आह क्या बताऊं … ये मेरे लिए अजीब अनुभव था … मुझे बहुत मजा आ रहा था. और वो तो मेरी थूक से लथपथ गांड को ऐसे चाट रहा था मानो किसी जन्मों के भूखे को मीठी खीर मिल गयी हो।वो पूरी शिद्दत से गांड के छेद को चूस रहा था. यही हुआ … शेफाली ने अंकुश का लंड अपने मुँह में ले लिया और लंड चूसने लगी.

हैंगआउट्स पर बात करना ज्यादा आसान रहता है, इसलिए मुझे ज्यादा मैसेज हैंगआउट्स पर ही करें. सुना था कि पहले बच्चे के साथ स्त्री का दूसरा जन्म होता है, मुझे भी वही लग रहा था. कुच्ची- तो जल्दी बता क्या क्या कैसे कैसे किया … कितनी बार चोदा … सब जल्दी बता … मैं इसी लिए तो भाग आया मुझे पता था.

उसके बॉस ने उसको अन्तर्वासना की साइट पर सेक्स स्टोरी पढ़वाना स्टार्ट करवाया, जिससे मेरी गर्लफ्रेंड के अन्दर की वासना जाग जाए. प्रतिभा की नजर मेरी सजीली गठीली काया को निहार कर मेरे लिंगदेव पर आकर ठहर गई थी.

मैंने उसकी चूत के ऊपर के उभरे हुए हिस्से को अपने होंठों से चूम लिया.

वो अपने मजबूत हाथों से मेरी गांड पर थप्पड़ भी मार रहा था, जिससे मुझे बहुत ज्यादा कामुकता चढ़ रही थी. लड़का लड़की सेक्सी हिंदीमैं उसकी तेज़ और गर्म सांसों को अपनी गर्दन और कंधे पर महसूस कर पा रहा था. घर का बना देसी सेक्सी वीडियोबस फिर क्या था, सब काम साइड में रखकर मैं दूसरे दिन भी पौने 4 बजे पहुंच गया और उसके आने का इंतज़ार करने लगा. अन्दर टेंट में एक ओर एक परदा लगा था, लेकिन मुझे सब दिखाई दे रहा था.

मुझे पता था कि बहुत से विदेशी लोग वहां पर इंडियन लड़की की चुदाई करने की इच्छा से आते हैं.

मूवी खत्म होते होते मैंने गुरजीत के हाथों पर चुम्बन और जांघों पर हाथ फेरने के अलावा पैर के अंगूठे से उसके पैरों पर कुरेदा था. सर्दियों का समय होने की वजह से रात को ओस गिरती थी और कोहरा भी कहर बरपा रहा था. आख़िरकार वो दिन आ ही गया कि दिल के एयरपोर्ट पर एक नया प्लेन उतरने वाला था.

आज की ये सेक्स कहानी मेरी और मेरी बुआ की लड़की के बीच हुई चुदाई की है. ”लेकिन मैंने उसे अनसुना करके उसी पोजीशन में धुआंधार चुदाई जारी रखी. साथ ही मैंने दूसरी वेबकैम मॉडल के नाम भी एक कागज़ पर नोट कर लिये क्योंकि सारी ही मॉडल्स बहुत सेक्सी थीं.

देहली दिसावर

अब वो तेल और थूक से लसड़ी उंगली प्रकाश भाईसाब ने मेरी गांड में डाली. कुछ दिनों बाद मामा सूरत से वापस गांव आ गए और गांव में मामी और बच्चों को छोड़ कर मम्मी के कहने पर दिल्ली हमारे पास आ गए. उसने मुझसे कहा- तो चलो सपना रानी अब तुम्हारी सब मिल कर चुदाई करते हैं.

झुक कर उसने रमेश के लंड को अपने मुंह में भर लिया और उसके लंड को जोर जोर से चूसना शुरू कर दिया.

इसके बाद अंकल ने उठकर मम्मी को अपना लन्ड चूसने के लिए बोला जिसके लिए मम्मी ने मना कर दिया.

थॉमस अगले ही पल मेरे ऊपर चढ़ गया और अपने मोटे मोटे होंठ मेरे गुलाब जैसी पंखुड़ियों वाले होंठों पर रख कर चूसने लगा. मामी बोलीं- ऐसा क्या हो गया?मैंने आज खुल कर कह दिया- मुझे आपकी जवानी परेशान कर रही है. हिंदी सेक्सी पिक्चर साड़ीकैसी हो डार्लिंग?” मैं उसके पास बेड पर बैठ गया और उसका गाल चूमते हुए कहा.

इसीलिए मैंने कुछ देर ही लंड चुसवा कर प्रतिभा को घोड़ी बनने का इशारा किया. मैं समझ नहीं पाई कि हुआ क्या! उन्होंने कुछ नहीं कहा और चुपचाप चादर ओढ़ कर सो गये. उसने मेरा सर पकड़ कर धीरे से अपनी गोद में यूं ले लिया जैसे वो मुझे सुलाने के लिए झुका रहा हो.

ऐसा कहकर आप मेरे लंड को फिर से बेतहाशा चूसने चूमने लगीं भाभी और फिर अपनी जीभ मेरे मुँह में डाल दी. अब थॉमस भी मुझे आराम से चोद रहा था, क्योंकि रोहन कमरे से जा चुके थे.

उसने अपने लंड पर तेल चुपड़ा, मेरी गांड पर भी लगाया और लंड टिका कर धक्का देने लगा.

उसके तलाक के बाद से उसने ऑफिस में देर रात तक काम करना शुरू कर दिया था. अब आरूषि ने अपनी ब्रा की पट्टियों को उतार दिया और उसके बड़े बड़े नींबुओं के उभार एक साइड से मुझे दिखने लगे. मेरे चूचे 32 इंच के हैं, पतली सी कमर 28 इंच की और 36 की मोटी व उभरी हुई सी गांड है.

हिंदी सेक्सी भाभी जी वो सहज ही नहीं होगी तो न उसे सेक्स में मज़ा आएगा न ही वो खुश रह पायेगी और न ही सामने वाले का साथ दे पायेगी. इसके बाद बॉस ने अपने अंडरवियर को उतार दिए और मेरी गर्लफ्रेंड की पैंटी भी उतार दी.

मैंने उससे नंगी पिक्स भेजने को कहा तो उसने अपनी चूचियों की फोटो ही भेजी. वो भी पूरा मुँह खोल कर लंड को अन्दर ले रही थी, पर पूरा लंड उसके मुँह में समा नहीं रहा था. उन्होंने भी मेरे होंठों को चूमकर अपने से मुझे अलग करते हुए कहा- अभी बस करो हर्षद … हमें निकलना होगा.

सेक्स सेक्स जबर्दस्त

दूसरा हाथ मेरी चूची को मसल रहा था और वो जोर जोर से मेरे होंठों को चूस रहे थे. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:पंजाबन की बेटी के बाद पंजाबन भी चुद गयी. आंटी ने मुझे सौ का नोट देते हुए कहा- टिकटें तो तुम ही रखो और यह टिकट के पैसे लो.

पाठक इस कार्य को सहज भी ना समझें, लंड का पूरे शरीर पर परिचालन के लिए अपने शरीर को भी लचीला रखना पड़ता है और गजब के धैर्य के साथ कार्य को अंजाम देना होता है. फिर सरोज ने नीचे झुक कर मेरे ससुर के लिंग को मुंह में ले लिया और चूसने लगी.

इससे तो मेरी मादक सिसकारी निकल गई- आह्ह आह मेरी जान मीता … बड़ा मजा आ रहा है.

जैसे जैसे मैं उसे सहलाता, गया वह गर्म होती गई।मेरे हाथ उसकी चूचियों को सहलाते हुए उसके कपड़ों के अंदर पहुँच गए. रीता ने झुक कर सोफे की दीवार पकड़ ली और अपनी गांड रमेश की ओर कर दी. पूरे जोश में था अंकुश … वो शेफाली को गंदी गंदी ग़ालियां भी दे रहा था- ले साली रंडी … मेरा पूरा लंड अपनी चूत में ले … चुद मेरे लंड से साली … बहन की लौड़ी मादरचोद आओहह आअहह …अंकुश की गर्म आवाजें सुन कर तो मैं शॉक्ड हो गई.

बेडशीट पर मेरी फुद्दी से उनका वीर्य निकल कर फ़ैल गया था जो कि चिपचिपा सा था. मैंने भी उसे दीवार से भिड़ा दिया और उसके चूतड़ों के बीच अपना लंड कपड़े के ऊपर से घिसते हुए अड़ा दिया. तत्पश्चात मैंने निष्ठा को डॉगी स्टाइल में हो जाने को कहा तो वो तुरंत उठ कर घुटनों के बल झुक गयी और अपनी कोहनियां बिस्तर पर टिका कर झुक गयी.

हम दोनों ने होटल अलग अलग बुक किया था ताकि हम दोनों अपने अपने साथियों से खुल कर चुदायी का आनन्द ले सकें.

गांड बीएफ: ऐसे भी हर इंसान की सोच अलग-अलग होती है।मुझे कुसुम के साथ सेक्स चैटिंग करना भी बेहद पसंद था. निशांत ने नीला की हां में हां मिलाते हुए कहा- हां यार, सफर लम्बा है.

उस बात के लिए मैं शर्मिंदा भी था, पर माफी मांगने का मौका मुझे नहीं मिला था और मैं ये भी नहीं जानता था कि नेहा मुझसे नाराज थी या नहीं. उसने बेशर्मी से कहा- फिर तो ब्रा और पैंटी में आपको देखकर और मजा आयेगा. जब तू और मेरे पति सो जाएंगे, तब छुपकर दूसरे कमरे में जाकर चुद लेंगे.

अब आगे की सेक्स ऑन रोड स्टोरी:अनिकेत मुझे अपनी गोदी में लिए गाड़ी के बाहर था और मेरी चूत को अच्छे से चूस रहा था.

मेरी बीवी की चुदाई अब मैं कई अनजान मर्दों से होते हुए देखने के लिए और भी ज्यादा उत्साहित हूं. अब तो जब तक प्रकाश भाईसाब का लंड पानी नहीं छोड़ेगा, लंड गांड में झेलना ही पड़ेगा. ममा के पास डस्टर गाड़ी है, तो ममा ज्यादातर अपनी गाड़ी से ही जाती हैं.