बीएफ ब्लू नंगी

छवि स्रोत,नई देसी सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

நாட்டுரல் செஸ் வீடியோ: बीएफ ब्लू नंगी, एक तरीके से पहली बार अरुणिमा ने मुझे ताना मारा था और सही भी था, मेरी कायरता के कारण ये स्थिति बद से बदतर हो गई थी.

डॉगी सेक्सी मूवी

भैया मुझे देखकर गर्म तो हो जाता था परन्तु उसकी आगे बढ़कर कुछ करने की हिम्मत नहीं होती थी. धारा 471 क्या हैभाई क्या चूत थी … पूरी साफ चूत, एक बाल भी नहीं!चूत के गुलाबी होंठ, हल्की फूली हुई और एकदम बंद, कोई ढीलापन नहीं, बिलकुल पोर्न स्टार जैसा, बिना चुदी हुई चूत लग रही थी.

मेरे आगे वो बैठी थी और उसे टॉप के नीचे से उसकी पैंटी में गांड साफ झलक रही थी. सेटिंग सेक्सीअब भाभी लंड पर उछलने लगीं और उसकी गांड की थप थप की आवाज बाथरूम में गूंजने लगी.

इन बेचारों को असली वाले डिल्डो दिखा दे, वर्ना इनकी गांड बिना वजह ही ऐसे ही फटती रहेगी.बीएफ ब्लू नंगी: मंजू यह देखकर बोली- रोहित क्या देख रहे हो, वो तुम्हारी बुआ सासू मां हैं, पैर छूकर प्रणाम करो.

फिर तीसरे दिन सुबह मेरे दोस्त नितिन का फोन आया, जिसने कविता को मेरे घर पर रखने में मदद की थी और वो मुझसे कविता के बारे में पूछने लगा.जैसे ही मैं उन्हें लेने के लिए झुकी, मेरी चूचियां हैरी के मुँह के पास आ गईं.

नॉन वेज जोक्स इन हिंदी लेटेस्ट 2019 - बीएफ ब्लू नंगी

मैं दीपक के सीने से जा लिपटी, सिर्फ इस सोच में कि वो मुझे दोबारा ना देख ले।इससे पहले कि पूल कर्मचारी कुछ बोलता, दीपक ने कहा- पैंट में पांच हजार हैं, निकाल ले और अब यहां मत फटकना।पूल कर्मचारी ने पैसे निकाले और चला गया।दीपक ने लंड घुसाए हुए मुझे अपनी गोद में उठा लिया और पूल की सीमेंट वाली सीढ़ियाँ चढ़ते हुए बाहर आ गए.गांड में उंगली डालते ही वो उत्तेजित होकर पलट गई,पलटते ही उसने गांड दीवार की तरफ अपना सिर ऊपर की ओर कर लिया और साथ ही वो जोर से चिल्लाई- ओह समीर क्या कर रहे हो … आज मुझे मार ही डालोगे क्या?मैंने कहा- नहीं मेरी जान, तुम अब तक चुदाई के जिस मजे से वंचित रही हो … मैं आज उसको पूरा कर रहा हूँ.

चाची जी ठीक से चल नहीं पा रही थीं; उनकी चूत और गांड दोनों छेद सूज चुके थे. बीएफ ब्लू नंगी लेकिन मुझे एक बात अभी तक समझ में नहीं आई है कि पूरी जिंदगी भाभी ने दो मर्दों के बीच में निकाल दिया था.

मैं भी अपने पूरे जोश में आकर भाभी को चोदने लगा और उनकी भरी-भरी चूचियों को चूसने लगा.

बीएफ ब्लू नंगी?

मैं फिर चिल्ला कर झड़ने को थी कि धीरज ने मेरा मुंह दबा दिया।चुप कर साली रांड … आह आहआआ, क्या मज़ा है तेरी चूत में!” कहते हुए धीरज झड़ गया. उनमें से एक बोला कि आपके खत्म करने के बाद हम तीनों भी ये पोज़ एक बार आजमाएंगे. मेरे मुंह में थोड़ा सा आयेशा का मूत भरा हुआ था तो वो मैंने उसके मुंह में डाल दिया जिसे हम दोनों ने पी लिया.

मैं क्या आज की रात तुम्हें संगीता के नाम से बुला सकता हूँ?मैं बोली- आप मुझे आज रात संगीता के नाम से ही बुलाएं, इसमें इस खेल में मजा आएगा. उसने मुझे आप कहना बंद कर दिया और मेरी जवानी पर टूट पड़ा- आह … क्या मस्त मलाई हो यार तुम … तुम्हें तो खा जाने का दिल करता है. मैंने स्पीड बढ़ा दी और कहा- जल्दी बता … किधर निकालूं बहन चोदी साली चुदक्कड़.

हमारी बात फिक्स हो गई और मैंने उसको एक अच्छे इनाम की लालच देते हुए सौदा तय कर दिया. मुझसे रहा नहीं गया और मैंने अपने मोबाइल में वो सब कैद करना शुरू कर दिया. फिर जब हम दोनों को बेटा प्राप्त हुआ, तब हमारी ज़िन्दगी और भी ज्यादा ख़ुशी से गुजरने लगी.

अरुणिमा उनसे कुछ बात करके शायद मना कर रही थी, पर वो सुन ही नहीं रहे थे. मम्मी ने सेक्सी लुक में स्माइल देकर अपना पल्लू ठीक करते हुए पापा को और ज्यादा छेड़ने लगीं.

अब हमारी हिरोइन को भी कुछ पिला दो!उसने साथ ही मुझे आँख मार कर ज्योति को चोदने का इशारा किया.

अभी तक तो ऐसा नहीं हुआ है, पर आगे भी ऐसा न हो, इसके लिए मैं दुआ करती हूँ.

मेरे हाथ कभी उनकी कमर पर जाते, कभी गांड पर और कभी जांघों को सहलाते. लेकिन फिर मैंने सोचा कि ये साले इंडियन लड़के हैं, इन्हें हार्डकोर का मतलब भी ठीक से पता नहीं होगा. मेरा दिल कर रहा था कि अभी उसकी ब्रा पैंटी को फाड़कर लंड घुसेड़ कर चोद डालूं.

अगले दिन सुबह मेरी आंख खुली तो मैंने देखा कि आयेशा अभी तक सो रही थी. तभी पीछे से आवाज आई कि अगर दोबारा किसी भी रंडी ने आवाज निकाली तो उसकी ऐसे ही माँ चोद दी जाएगी. हम सब मिलकर कुछ गरीब पढ़ाई में अच्छे लड़के लड़कियों का कॉलेज में पढ़ने का खर्चा देते हैं.

मैं उठा और बाथरूम जाकर फ्रेश हुआ और बाहर जाकर देखा तो प्रिया किचन में नाश्ता बना रही थी.

उसने जरा सा चेहरा घुमा कर कहा- सब गांड मारने के लिए ही क्यों मरे जाते हो, चूत चोदने का रिवाज खत्म हो गया है क्या?उस आदमी ने आव देखा न ताव एक झटका दिया और लंड सरसरा कर अन्दर चला गया. मुझे इतना मजा आ रहा था कि 3सम ना होने का गम नहीं था।मैं अपनी गांड आगे पीछे हिला हिला के दीपक से उसकी रण्डी की तरह चुद रही थी।दीपक भी मेरी चूत के पूरे मजे ले रहे थे. उन पंद्रह दिनों तक उसे वहीं पर रहना था और अपना एक प्रोजेक्ट पूरा करना था.

मदन जी और मैंने मिलकर एक प्लान बनाया कि कैसे उन चारों से शादी की बात की जाए और शादी के बाद कैसे रहा जाए. मैं जब अपनी चूत को तौलिया से रगड़ रही थी तो मुझे बेहद सनसनी हो रही थी तो मैं अपना एक पैर कमोड के ऊपर रख कर चूत घिसने सी लगी. मेरे साथ आए आदमी ने एक टी-शर्ट और एक जीन्स मुझे दी और कहा कि अरुणिमा को पहना कर घर ले जाओ.

उसके बाद तो मैंने चाची को न जाने कितनी बार चोदा और अभी भी चोदता हूँ.

मैंने बोला- वो कैसे?वो बोला कि अरे आपको तो सब पता ही होगा, फिर भी क्यों नाटक कर रहे हो. उसके लिए जो अफ़सोस था, वो खत्म हो गया था और उस पर मुझे तेज गुस्सा आ रहा था.

बीएफ ब्लू नंगी उनके चेहरे पर गुस्सा था लेकिन जैसे ही अन्दर गया उनके आंसू आने को थे. अब मैंने भी अपना हाथ भाभी की चूचियों पर रख दिया और ऊपर से दबाने लगा.

बीएफ ब्लू नंगी तब मेरी बहन बोली- अनुपम तेरी शादी हो गई है तो तू मुझसे क्यों शादी करना चाहता है?अनुपम बोला कि बोला तो है कि मेरी बीवी बोरिंग है. मंजू बोली- नहीं, हम लोग जिस्म मूवी देख रहे थे कि उसमें यह वीडियो क्लिप, केबल वाले ने जोड़ दिया था.

तो कोई भी एक शहर से दूसरे शहर नहीं जा सकता था और मेरी बहू का मायका तो 300 किलोमीटर से भी ज्यादा दूर था.

એક્સ એક્સ વિડિયૉ

अब मिशनरी पोजीशन में एक बार फिर मैंने उसकी बुर में अपनी गन डाल दी और और दनादन फायरिंग शुरू कर दी. फिर तीसरे दिन सुबह मेरे दोस्त नितिन का फोन आया, जिसने कविता को मेरे घर पर रखने में मदद की थी और वो मुझसे कविता के बारे में पूछने लगा. शादी के बाद कुछ दिनों में धीरे धीरे सभी लोग चले गए लेकिन जया नहीं गई.

वो लंड देखने लगी और बोली- एक बात बताओ, तुम लगते तो पतले से हो लेकिन ये इतना बड़ा और मोटा कैसे है?मैंने कहा- कभी कभी मुझे जैसी किस्मत वालों को ही ऐसा लंड मिलता है. अब हम दोनों 69 की पोज़िशन में आ गए थे और एक दूसरे को चाट कर मजा देने लगे. ड्राइवर बोला- विश्वेश्वर जी ने कहा था कि मैडम नंगी ही होंगी और उनको उसी हालत में लाना है.

संजना घुटनों के बल बैठ के मेरे लंड को अपने मुँह में भरके चूसने लगी.

फिर मोहित 69 की पोजीशन में आ गया और उसने मेरी चूत में अपना मुँह लगा दिया. चारों ने एक साथ पूछा- क्या सजनी (संजय) राजी होगी?मदन जी- सजनी तुम चारों को अच्छी तरह से जानती है. तभी धीरज ने दीपक को ऊंचे स्वर में कहा- उस तरफ तो काफी अच्छी मनमोहक दृश्य आ रहे हैं, क्या तुम मेरे साथ अपनी सीट बदलोगे?दीपक की लॉटरी लग गई।धीरज ने मुझे जगाया कि उन्हें उस तरफ जाना है, थोड़ी जगह दूं.

तेज बारिश और एसी के कारण शीशे पर धुंध सी हो गयी थी और न तो अन्दर से बाहर का … और न ही बाहर से अन्दर का कुछ दिखाई दे रहा था. कुछ देर बाद उसने जोर जोर से धक्के देने शुरू किए तो मैं समझ गई कि अब इसकी तोप दगने वाली है. कहानी के पिछले भागलूडो के खेल के बहाने लड़की के कपड़े उतरवाएमें अब तक आपने पढ़ा था कि हमारे बीच सेक्स की स्थितियां बनने लगी थीं.

अब उसने अम्मी को सीधा लेटा दिया और अम्मी की दोनों टांगें खोल कर अपना लंड अम्मी की चूत पर सैट कर दिया. हॉट कजिन सेक्स कहानी मेरी उस चचेरी बहन की है जिसे मैं पहले भी चोद चुका था.

एक हफ्ते में मैंने उस जगह पर बिस्तर टेबल का इंतजाम कर दिया और पंखा कूलर लगवा दिया. यह उसकी चूत गांड की भी वास्तविक चुदाई थी क्योंकि वह अपने मरहूम शौहर की साथ ऐसी चुदाई का कभी मजा नहीं ले पायी थी. अभी भी मेरी रफ्तार कम नहीं हुई और कुछ देर चोदने के बाद मैं भी उसके अन्दर ही झड़ गया.

उस टाइम वो किसी ब्लूफिल्म की हीरोइन से भी ज्यादा मस्त माल लग रही थीं.

मुझे इतना मजा आ रहा था कि 3सम ना होने का गम नहीं था।मैं अपनी गांड आगे पीछे हिला हिला के दीपक से उसकी रण्डी की तरह चुद रही थी।दीपक भी मेरी चूत के पूरे मजे ले रहे थे. नेहा से दर्द के मारे कराह उठी और उसके चेहरे पर दर्द का भाव बताने लगा कि उसकी बुर में गर्म सरिया पेल दिया गया हो. प्रिया- आपको जो भी करना होगा, आप कर सकते हैं मगर मैं आपको अपने होंठों पर कुछ नहीं करने दूंगी.

अरुणिमा नीचे उतरी और वो उसको गोद में बैठा कर पैसेंजर सीट पर बैठ गया. मेरे पीछे पीछे ही नितिन भी मेरे कमरे में आ गया, जिसका मुझे पता नहीं चला.

हॉट बहन की सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक बार मैंने अपने चाचा की बेटी को पोर्न देखते पकड़ लिया. उस वक्त उसका एक हाथ मेरे कंधे पर था और एक हाथ मैं पकड़े थी कि कहीं वो गिर न जाए. मैं कंडोम को फाड़ कर जैसे ही पहनने जा रहा था, तो पिंकी भाभी बोलीं- कोई जरूरत नहीं.

लैंड और चूत की चुदाई

मैंने संजना को पलट कर अपने ऊपर बैठा लिया और उसकी गांड में अपना लंड डाल दिया.

लक्की ने मेरा नंबर लिया और कहा- मैं फोन करूंगी … तो आओगे ना?मैंने कहा- जी हाँ!वो बोली- तो बस आते रहना!फिर मैं अपने घर आ गया. तभी हैरी ने एक जोर का झटका मारा और उसका पूरा लंड एक ही झटके में मेरी चूत में घुसता चला गया. मुझे नहीं पता है कि मेरा हथियार कितना अन्दर तक जाता है लेकिन हां जिसकी में जाता है, वो आह आह करने लगती है.

आसिफा की अम्मी को मन माफिक चीज मिल गई थी और वो मस्ती से मेरा लंड चूसने लगी थीं. वो रिया और नेहा को अपने सामने देखकर बोली- अरे बहनचोद तुम लोग इतनी सुबह सुबह … क्या हुआ है?नेहा ने कहा- बहनचोदी उठ जा साली, 11 बज रहे हैं. सेक्सी पिक्चर फुलमेरी वाइफ हॉट सेक्स कहानी अभी काफी लम्बी है, मगर अभी इस कहानी को मैं यहीं रोक रहा हूँ.

अब मैंने अपने लंड में भी बहुत सारा शैम्पू लगा लिया और संजना की गांड में दुबारा से शैम्पू भर दिया. कुछ ही देर में उसके लंड ने पिचकारी छोड़ी तो सीधी मेरे शरीर पर आ लगी.

बाथरूम में जाकर मैंने अपनी चूत को अच्छे से साफ किया और ब्रा पैंटी पहन कर टॉवल बांध कर बाहर आ गई. सविता भी यह जानकर चौंक गयी कि कि वरुण एक ही समय में सविता और शोभा दोनों के साथ कैसे हो सकता है. सबसे बड़ी बात शायद ये थी कि मोहल्ले के लोगों से छुप के मिलना होता था.

मैंने और आयेशा ने तो पहले भी नीग्रो लंड से हार्डकोर चुदाई करवाई हुई थी मगर मुझे नेहा का लग रहा था कि ये बेचारी कैसे झेलेगी. मैं अचंभित रह गई कि इतनी कम उम्र और इतना मूसल किस्म का लंड!उसका लंड लम्बा होकर उसकी चड्डी में नीचे उसकी गांड की तरफ चला गया था. आप खुद सोचिए कि जिस लड़की को पाने के लिए कई जवान लड़के लाइन लगा कर खड़े हों और वो खुद किसी परी से कम खूबसूरत न हो … वो मुझे आसानी से मिल जाए, तो ये मेरी खुशनसीबी से कम हो ही नहीं सकती थी.

कुछ मिनट तक अपने देवर का लंड और गांड चाटने के बाद मैं अलग हुई तो उसने मुझे ऐसी नजरों से देखा, मानो वह जैसे मुझसे प्यार कर बैठा हो.

पर वो यह नहीं बता पाई कि किसका लिंग बड़ा है और किसका छोटा।वैसे लिंग के साइज को बहुत ज्यादा नहीं बढ़ाया जा सकता पर आपरेशन या इंजेक्शन इत्यादि से इसमें थोड़ा बहुत बदलाव लाया जा सकता है. वो बोले- मुझे खर्चे का फ़िक्र नहीं, वो सब उठा लेंगे, पर सालों को पीस एकदम जोरदार और कम चली हुई होना चाहिए.

सभी लोगों ने बाहर जाने का प्लान बनाया था कि बारिश के इस मौसम में घूमने चलेंगे. जो नए पाठक जुड़े हैं, उनको मैं अपना और अपनी फैमिली का परिचय करा देता हूँ. फ़ोन रखने जाते हुए मैंने अपना हाथ उसकी बाजू के नीचे से जानबूझ कर आगे किया और उसके स्तन को छूता हुआ निकाला.

मैंने धीरे से उससे पूछा- कौन था, जिससे बात कर रही थी?वो बोली- कॉलेज का फ्रेंड था. कभी अनुपम अपने किसी दोस्त के साथ फ्लैट में आता, कभी कार्तिक साथ में आता. हैलो फ्रेंड्स, मैं स्वप्निल झा आपको अपनी बीवी की चुदाई की कहानी में फिर से एक बार मजा देने आ गया हूँ.

बीएफ ब्लू नंगी मैंने बोला- जो लौंडिया बाहर चुदवा ले, वो बाजारू ही है मादरचोद … कितने लोगों से चूत फड़वा चुकी है?वो कुछ नहीं बोल रही थी. उन्होंने फिर से एक लंबी सिसकारी भरी और बोलीं- अब पेलो यार … और मत तड़पाओ.

इंग्लिश फिल्म नंगी वीडियो

आयेशा और मैं एक दूसरे के होंठ खा जाने की नियत से एक दूसरे को किस कर रही थी. उसके दूध मेरे सीने के नीचे दब गए और मैं लंड को अन्दर बाहर करने लगा. शायद मेरी मम्मी भी जान चुकी थीं कि मैं महेश सर और उनके बारे में कुछ तो जान गया हूं.

” मैं रूपा के दोनों कंधे पकड़कर बोला।पहले शर्त तो सुन लो!” वह बोली।सुनाओ?” मैं उत्साह में भरकर बोला।ड्यूरिंग सेक्स तुम दोनों एक दूसरे से बात नहीं करोगे। जैसे ही जुबान से कोई शब्द निकला, खेल बंद।” वह बोली।मंजूर है. शादी के बाद मैंने पंडित जी को दक्षिणा दी और हम दोनों ने होटल का रुख किया. यूपी के लोकगीतयह एक सच्ची मोटी गांड वाली आंटी की चुदाई की कहानी है, जो मेरे साथ तब हुई, जब उस विषय पर एक बार भी नहीं सोचा था.

कुछ देर में अकेले रोहित मेरे रूम में आये और बोले- रवि डीयर, क्या कर रहे हो, क्या प्लान है अब बताओ?मैं नहाने के लिए बैग में से कपड़े वगेरा ले रहा था.

ये सुन कर भाभी बोलीं- अरे यार, अभी तो लड़का जवान हुआ था और तुरंत ही उसका लंड काट दिया. मेरी पिछली कहानीएक रात में चार पतियों का लंड लियामें आपने पढ़ा कि मैंने लड़की बन कर 5 पतियों से शादी की, सबसे गांड मरवाई.

शादी के दिन शाम को मैंने जल्दी घर आकर एनीमा लिया, नहाकर नयी दुल्हन की तरह सज़ा. ‘आआह हहह मम्मीईई …’‘क्या हुआ?’‘कुछ नहीं आपने तो एकदम से पूरा डाल दिया. आयेशा के चूत चाटने का तरीका सबसे अलग है इसलिए मुझे आयेशा से चूत चटवाने में बहुत मज़ा आता है.

इस पर रोहित कहता है कि अरे वह मेरी भाभी भी लगती हैं, इसलिए उन्हें चोदने में कोई बुराई नहीं है.

इस प्रकार सुबह 4 बजे तक उन दोनों ने मेरी 3 बार बहुत बुरी तरह से चुदाई की. जैसे जैसे मेरी उंगली उसकी चूत में गयी, वैसे वैसे उसकी आंखें बड़ी होने लगीं और अन्दर जाते ही वो कराहने लगी ‘आह ह ह … आह मर गई आह …’ये कहते हुए ही उसने मेरा लंड हाथों से जकड़ लिया. भाभी ने उस रात खुल कर मस्ती की और हम दोनों ने पूरी रात में चुदाई का मजा लिया.

कामुकता storyनेहा को इस हमले का अंदाजा शायद नहीं था इसीलिए वह एकदम से घबरा सी गयी लेकिन वह विरोध नहीं कर रही थी. कुछ देर के बाद भाभी सही होकर बैठ गई और उसके घर में उसकी ननद के आने की आवाज आई.

பெண்கள் xxx

लगभग 5 मिनट बाद मोहित नेहा की चूत में ही झड़ गया और नेहा के ऊपर लेट गया. मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से लगाया और चूमने की कोशिश करने लगा. उनका लंड पूरी तरह से ढीला पड़ गया था, मैं उसे फिर से खड़ा करने की कोशिश करती हुई जोर जोर से हिलाने लगी.

मैंने फहीमा से कहा- मुझे भी बहुत तेज मूत आ रही है … बताओ मैं कहां करूं?उसने मुझे पास बुलाया और मेरे आधे खड़े लंड को मुँह में लेकर चूसने लगी. इसी बीच मेरे हज़्बेंड की पोस्टिंग करीमनगर हो गयी जो हैदराबाद से 300 किलोमीटर की दूरी पर है. मैंने मॉम की सलवार उतार कर फैंक दी और जल्दी से उनकी चड्डी को खींच कर उनकी नीचे से नंगी कर दिया.

मैं अपनी गोटियां जल्द से जल्द केंद्र में डालना चाहता था और वो भी अपनी गोटियां बचाती हुई जीतना चाहती थी. तुम्हारा कोई समाचार ही नहीं मिलता था, इसलिए मैं सोचा कि शायद तुमको मेरी जरूरत खत्म हो गई है. फिर अचानक से ऊपर स्टेज पर भीड़ जमा होने के कारण वो स्टेज से नीचे आ गई और अपनी एक सहेली के साथ ठीक मेरे सामने ही आकर खड़ी हो गई.

हॉट गर्ल्स गैंग सेक्स कहानी में पढ़ें कि होली खेलने के बाद एक कॉलोनी की चार लड़की और 4 लड़कों ने कैसे खुल्लम खुल्ला चुदाई का खेल खेला. मेरी बाइक पंचर थी और मोबाइल स्विच ऑफ, ना अरुणिमा को कॉल करने का विकल्प था, ना तुरंत उनके पीछे जाने का.

ऑनलाइन सॉफ्टवेयर्स की मदद से मैंने थोड़ी बहुत एडिटिंग की और कुछ फोटो और वीडियो को मोबाइल में कॉपी कर लिए.

इन बेचारों को असली वाले डिल्डो दिखा दे, वर्ना इनकी गांड बिना वजह ही ऐसे ही फटती रहेगी. राई डाउनलोडअरुणिमा नीचे उतरी और वो उसको गोद में बैठा कर पैसेंजर सीट पर बैठ गया. पुरुष वेश्यावृत्तिजब तक लंड से पेशाब निकलती रही, तब तक मैं संजना के चूतड़ों को सहलाता रहा. विकास अपनी बहन की चुत का सारा पानी पी गया और जोर जोर से बुर चूसने लगा.

मुझे नहीं पता है कि मेरा हथियार कितना अन्दर तक जाता है लेकिन हां जिसकी में जाता है, वो आह आह करने लगती है.

मैंने उसकी चूत के छेद पर अपना लंड रखा और धीरे से आधा इंच अन्दर किया. उसकी एक टांग बिस्तर के किनारे पर टिकवा दी और पीछे से लंड पेल कर चुदाई शुरू कर दी. विकास ने उसे चूमा और उसकी एक चूची दबाते हुए कहा- मैं भी बहन का लंड बनने को राजी हूँ.

Xxx मेड सेक्स कहानी में देखें कि मास्टर ने जब मालिक को नौकरानी की चुदाई करते देखा तो मालिक की बेटी को बहाने से उस तरफ भेजा ताकि वो भी चुदाई देखे. उसने थोड़ा विरोध भी किया लेकिन शक की मुद्रा में कहा- क्या करना चाहता है?मैंने अपनी बात रखी- कुछ नहीं, अब तू यहीं बैठेगी मेरी तरफ पीठ करके ताकि मुझे कुछ न दिखाई दे. कुछ ही समय में लंड फिर से कड़क होने लगा और अब मैंने देर न करते हुए अम्मी का गाउन निकाल दिया.

दिल्ली की बीएफ

मैं बहुत जोर जोर से शॉट लगाने लगा था और उसके चूतड़ों पर थप्पड़ मारने लगा था. मैंने स्पीड बढ़ा दी और कहा- जल्दी बता … किधर निकालूं बहन चोदी साली चुदक्कड़. इधर हैरी ने मुझे गर्म करके छोड़ दिया था और उधर मेरे पति ने मुझे चूत चुदवाने की आजादी दे दी थी.

उसकी चूत बिल्कुल साफ थी लेकिन मेरे लंड पर छोटे छोटे बालों की झाड़ियां थीं क्योंकि मैंने दो सप्ताह पहले झांटों को साफ़ किया था.

लेकिन मैं तुमसे ज्यादा व्याकुल थी और मैं एक भी दिन फालतू में जाने देना नहीं चाहती थी.

मैंने आंटी से पूछा- पानी कहां निकालूं?उन्होंने कहा- मैं बहुत दिन बाद चुद रही हूं विक्की, मेरे अन्दर ही रस निकालो. कब से मैं यही तो चाहती थी।दीपक और धीरज संग 3सम!क्या हुआ फिर अगर इस राह में पांच नए लंड से चुदना पड़ा।जो चाहिए था वो तो मिला आखिर!आह आह करती मैं चिल्लाती हुई चुद रही थी. सेक्सी मूवी जंगल वालीजब रोशनी नहीं हटी तो उन्होंने रोशनी के बाल खींच उसका चेहरा मेरी चूत से अलग कर दिया और अपना लौड़ा मेरी चूत में पेल दिया।रोशनी अब दीपक के चोदते लंड के साथ मेरा दाना चूसने लगी।बड़ी ही मादक फोर सम चुदाई चल रही थी।रोशनी और मेरे कारनामे देख दीपक और धीरज बेइंतेहा उत्तेजित थे.

बारिश में मैं उसे घर छोड़ने गया तो …दोस्तो, मैं समीर एक बार फिर से आपकी सेवा में मस्त चुदाई कहानी के साथ हाजिर हूँ. मैंने उससे पूछा- कैसा लग रहा है पावनी?वो थरथराती आवाज में बोली- आह भैया कुछ मत पूछो … बड़ा अच्छा लग रहा है. करीब दस मिनट में मेरी चूत से पानी निकलने लगा लेकिन उसका लंड उसी तरह से कड़क था.

पहले भागब्यूटीशियन की चूत की गर्मीमें अब तक आपने पढ़ा था कि नूर नाम की एक ब्यूटीशियन मेरे साथ चुदने के लिए तैयार हो गई थी और उसने मुझे देर तक चुदाई करने वाली दवा खिला दी थी. ’उसने अपने हाथ से मेरी कमर को कसकर पकड़ लिया और जल्दी जल्दी मेरी कमर हिलाने लगी.

कई बार मैंने उसकी चूचियां वीडियो कॉल करके देखी थीं और अकेले में उसकी चूचियों को चूसा भी था.

भाभी के पीरियड्स चल रहे थे तो उसने मुझसे सकुचाते हुए कहा- भैया, मेरा एक काम कर दोगे?मैंने कहा- हां भाभी, बताओ न!भाभी ने बाजार से पैड्स लाने के लिए कहा- आप बाजार जाओ तो ले आना. रिया और आयेशा एक दूसरे के ऊपर चिपकी हुई थीं, इधर मैं और नेहा भी एक दूसरे के जिस्म को खा जाने की नियत से चूस रही थीं. विकास जब से मैं यहां आई हूं और यहां मेरी कुछ सहेलियां बनी हैं, तो तुम्हारे प्रति मेरा नजरिया ही बदल गया है.

इंडियन मटका १४३ वो बोला- लड़के करते हैं, तो उन्हें दर्द नहीं होता?मैं बोला- होता है, लेकिन सेक्स है ही ऐसी चीज़ कि जब करते हैं, तब ही मजा आता है, फिर वो लड़की के साथ हो या लड़के के साथ, लेकिन मर्ज़ी से होना चाहिए … ज़बरदस्ती से नहीं करना चाहिए. भाभी भी जोश में आ गई थीं और मेरे लंड को कच्छे के भीतर ही सहलाने लगी थीं.

उन्होंने अरुणिमा को बगल से पकड़ा और उठा कर मेरी गोद से नीचे उतार दिया. पिछली बार उसको पैर फोल्ड करके ऊपर लेटना नहीं आया था लेकिन इस बार आसानी से पैर फोल्ड करके लंड पर बैठ गई थी और अपने चूतड़ उठा उठा कर लंड को चूत में अन्दर बाहर करने लगी. मैं बारी बारी से दोनों चूचियों को मसल रहा था, कभी कभी उसके निप्पल को चूस भी रहा था.

সানি লিওনের বিএফ সানি লিওন

मैंने कहा- क्या हुआ?वो कहना तो चाह रही थीं कि कमर हिला हिला कर चोदा जाता है लेकिन भारतीय औरतें लाख रंडी हो जाएं पर झड़ने के बाद उनको लाज की याद आ ही जाती है. अम्मी नंगी ही गांड मटकाती हुई किचन में चली गईं और उधर से गिलास में दूध ले लाईं. फिर पापा ने मम्मी को अचानक से जोर से अपनी तरफ खींचा और अपने सीने से लगा लिया.

यह कहकर उसने अपने हाथ की 3 उंगली को एक साथ सैट किया और आयेशा की टांगें धीरे से हवा में उठा दीं, जिससे उसकी चूत दिखाई देने लगी. अभी तक तो ऐसा नहीं हुआ है, पर आगे भी ऐसा न हो, इसके लिए मैं दुआ करती हूँ.

वो धक्के दिए जा रही थी, लेकिन लग रहा था कि थक गयी थी इसलिए उसके धक्कों की स्पीड कम हो गयी थी.

मैंने एक होटल में ऑनलाइन 2 रूम बुक कर लिए और उनके लिए कुछ गिफ्ट्स लिए और अपने लंड की अच्छे से सफाई की, बाल साफ़ किये और उनके आने का इंतज़ार करने लगा. वो भी सफ़ेद की पैंटी और ब्रा में मस्त लग रही थी लेकिन उसका बदन मेरे जैसा गदराया हुआ नहीं था. नेहा ने खुद को छुड़ाया और बोली- साली बहनचोद ये क्या था?आयेशा ने कहा- ये मेरी नींद ख़राब करने की सजा थी!नेहा एकदम से भौचक्की रह गयी.

मैंने सवालिया निगाहों से उसे देखा, तो उसने अपनी सांस सँभालते हुए कहा- ये तीनों विश्वेश्वर जी के ख़ास आदमी हैं. मैंने दस मिनट तक बिना रूके भाभी की ताबड़तोड़ चुदाई की और उनकी चूत में ही वीर्य निकाल कर ऊपर लेट गया. पंद्रह बीस मिनट बाद मैं उधर से घर के लिए निकलने लगा तो चाची बोलीं- आज तो रुक जा, कब कब तो आता है.

मेरी पहली पत्नी की बहन का नाम भी सजनी है, उसके स्कूल के प्रमाण पत्र मेरे पास हैं.

बीएफ ब्लू नंगी: गाउन पहनने के साथ साथ उसने अपने बाल खोल दिए थे और होंठों पर भी मस्त लाल रंग की लिपस्टिक लगा ली थी. मगर मैं कुछ कर नहीं सकता था क्योंकि एक तो मेरी इतनी ज्यादा उम्र और दूसरा ये रिश्ता.

ये उन्होंने जैसे ही मुझे बताया, मुझे कॉन्फिडेंस आ गया कि मैं भरपूर मर्द हूँ. कविता मेरे साथ पूरे एक हफ्ते तक अकेली रुकने वाली थी क्योंकि अभी मेरी बीवी अपने मायके से एक हफ्ते तक नहीं आने वाली थी. ” साक्षी अंदर से बोली।मैंने रूपा को हाथ के इशारे से अंदर जाने को कहा तो उसने भी हाथ का इशारा कर के मुझे निकल जाने को कहा।पहले तुम जाके दरवाजा बंद करो फिर मैं चला जाता हूँ.

अचानक से मुझे अन्दर देखकर दोनों जल्दी से अलग हो गए और प्रिया ने अपने बदन पर चादर ढक ली.

अगले भाग में आपको बताऊंगी कि हम चारों ने उन चारों लड़कों की गांड किस तरह से मारी. करीब आधा घंटा बाद उसका लंड झटके देकर झड़ना शुरू हुआ और मैं उससे चिपट गई. अभी भाभी धीरे धीरे कर रही थीं तो मैंने उन्हें थोड़ा ऊपर उठने को बोला और भाभी की कमर पकड़कर खुद तेजी से चूत में लंड अन्दर बाहर करने लगा.