बीएफ सेक्सी पिक्चर्स

छवि स्रोत,देसी माल की सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ ब्लूटूथ सेक्सी: बीएफ सेक्सी पिक्चर्स, फिर कुछ तेज धक्कों के बाद मेरा भी होने को हुआ … तो मैंने पूछा- अमृत कहां लोगी?वो बोलीं- अन्दर मेरी चूत में अपना माल गिरा दो.

सेक्सी मूवी एम्बर एम्ब्रोस

डॉक्टर के जाने के बाद मैं वाशरूम गयी और जब वापस आई, तो देखा कि उसका एक दोस्त वहीं लेफ्ट साइड की बेंच पर ही सो गया था. स्कूल टीचर सेक्सी व्हिडीओभाभी ने अपनी चूत को अपने दोनों हाथों से ढक लिया और धीरे से फुसफुसा कर बोली- तुम यहाँ क्या कर रहे हो, मैं तो समझी थी तुम चले गए?मैं भाभी के पास गया और बोला- भाभी, आप बहुत सेक्सी और हॉट हो.

आपका लंड बहुत लम्बा और मोटा है … और मेरी चूत अभी एकदम नई है … ये आपके लंड को झेल नहीं सकेगी. खड़े-खड़े चोदने वाला सेक्सीतूने अब तक केवल दो ही चालू किए हैं … अब तक तो सब चालू हो जाने चाहिए थे.

पर कुछ करने की मेरी हिम्मत नहीं होती थी … क्योंकि वो अलग समुदाय से थी.बीएफ सेक्सी पिक्चर्स: उसे भोगने के लिए मेरे पास काफी टाइम था और मैं चाहता था कि मीता का पहला अनुभव यादगार हो … ताकि मैं उसको हमेशा पा सकूं … और जब चाहूं, तब तक उसको चोद सकूं.

कुछ ही धक्कों में भाभी दुबारा से तैयार हो गईं और मेरा साथ देने लगीं.जिस्म की आग भी ठंडी हो जाएगी और आराम से रहूंगी भी, जहां मुझे कोई रोकने टोकने वाला नहीं.

लंड वाला वीडियो सेक्सी - बीएफ सेक्सी पिक्चर्स

अब जहां पर ज़्यादा आदमियों की भीड़ होती, उसमें मैं भी घुस जाती और सामान देखने लगती.उफ्फ्फ़ क्या लड़की थी … साली को मर्दों को तड़पाना और उत्तेजित करना अच्छे से पता था.

कुछ देर मरी मम्मी की चूत को अच्छे से चाटने के बाद अंकल ने मम्मी को लिटाया और अपना लंड मम्मी की चूत से लगा दिया. बीएफ सेक्सी पिक्चर्स बिन्दू मेरी आँखों की ओर देखते हुए मुस्कराई और बड़ी अदा से उठती हुई अपनी गोरी गांड मटकाती हुई फिर बाथरूम चली गई और अंदर से शर्रर … शर्र … शर … पिशाब करने की आवाजें आने लगीं.

फिर मैंने चुदाई की स्पीड तेज कर दी और लंड को निकाल निकाल कर चूत मारने लगा.

बीएफ सेक्सी पिक्चर्स?

रात होते होते फिर से मेरा लंड खड़ा होने लगा और मैं डेज़ी के बारे में सोचने लगा. ऐसे ही चलता रहा … और कुछ दिन बाद वो मेरे रूम के सीढ़ी के पास आकर रुक जाती थी और मुझे सुनाते हुए कहती थी- हाय थक गई हूँ. भाभी आप बोलने लगीं कि बहुत शातिर हो तुम … तुम्हें क्या पता कि मैं चुदाई में माहिर हूँ या नहीं.

मैं जल्दी ही तुम्हारे पास फिर से लौटूंगा और फिर दूसरे रोल प्ले में सेक्स का मजा करेंगे। बाय डिअर।आरूषि ने भी अपनी गांड में डिल्डो हिलाते हुए मुझे हाथ हिलाकर बाय किया. वीर्य ने उनकी दोनों टांगों को घुटनों तक लबेड़ दिया और फर्श पर टप टप गिरने लगा. अब निकाल लो … प्लीज!”ओहो … बस एक मिनट और रुको … मैं अपने आप बाहर निकाल दूंगा.

जब तू और मेरे पति सो जाएंगे, तब छुपकर दूसरे कमरे में जाकर चुद लेंगे. शेफाली- रोमा मेरी किटी पार्टी कैंसिल हो गई है … और स्विमिंग के लिए भी हम लेट हो गए हैं. बस तब से मुझे लगने लगा कि अपनी सच्ची जेठ बहू सेक्स कहानी बताने में कोई बुराई नहीं है.

कुछ ही देर में भाभी की चूत ने पानी छोड़ दिया और मैंने उसकी चूत चाटने का मजा लिया और सारा पानी पी लिया. प्राची भाभी ने कहा- तुमने और तुम्हारी कामकला ने मुझे असीम खुशियां दी हैं.

लोगों का मेरे अंगों को निहारना, मेरे सेक्सी फिगर से उन्हें उत्तेजित करना.

गरीब परिवारों में बेचारी लड़कियों की भावना के बारे में कोई नहीं सोचता बस किसी तरह पैसा आना चाहिए।अगर तुम्हें सौ रुपये और मिल जाएँ तो तुम क्या करोगी?”मैं तो बल्गल और आलू की टिक्की खाऊँगी और साथ में पेसपी (पेप्सी) पीउंगी.

नीला ने निशांत के लंड को मुंह से निकाला और बोली- छोड़ दो मुंह में ही, मुझे चूसने में बहुत मजा आ रहा है, मेरा मजा मत खराब करो. डर इस बात का भी था कहीं मैंने मौका गंवा तो नहीं दिया?पर भगवान का शुक्र है कि खुशी ने मेरा मैसेज देखा और रिप्लाई में ओके लिखा।फिर दो मिनट में विडियो कॉल हुआ. लंड का सुपारा अन्दर गया तो उसने मुँह ऐसे खोल दिया … जैसे आह … कर रही हो.

मैं भी बिन्दू की निक्कर के ऊपर से उसकी पाव रोटी जैसी फूली बुर को सहलाने लगा. तुझे कुछ नहीं होने दूँगा।उसने अपना लंड रश्मि की छोटी सी गांड की तरफ बढ़ाया लेकिन पहली बार में जरा सा भी अंदर नहीं जा पाया. अभी बाथरूम के गेट तक ही पहुंची थी कि ‘स्टॉप चाहत … वहीं रुको!”तो मैं रुक गयी- क्या हुआ जान?मैं पलटी तो वहाँ का नजारा देखकर मेरी चूत अपना पानी निकालने लगी, मेरे जिस्म का पानी अन्दर कहीं छुप गया.

वह जैसे पागल सा हो गया था, उसने मम्मी की होठों को काटना भी शुरू कर दिया.

मैंने उसे देखा तो बस देखता ही रह गया; जब उसने मेरी ओर देखा तो मैंने आंख मार दी तो वो शर्मा गयी और नज़रें झुका दीं. कुछ देर प्रैक्टिस करने के बाद सर ने बोला- अब तुम अपनी क्लास में जाओ और रोज़ इसी टाइम यहां सीखने आ जाना क्योंकि तुमको कुछ दिन बाद से ये हारमोनियम बजाना है. मगर फिर हम सोने चली गयी।दोस्तो, कैसी लग रही है आपको हमारी यह कहानी? आप अपने कमेंट फेहमिना को[emailprotected]पर मेल करके जरूर बताइएगा.

मैं चौंका- क्या!फिर उन्होंने बताया कि भैया तो उन पर ध्यान ही नहीं देते हैंमैंने उसी पल कह दिया- आप चिंता मत कीजिए. फिर अंकुश ने शेफाली की ब्रा की डोरी खोल दी और कहने लगा- तुम्हारे ये मम्मे कितने टाइट हो गए हैं. मेरा हुस्न भी ऐसा कातिलाना दे दिया है बनाने वाले ने कि जो भी एक बार देख ले वो मुझे बिस्तर में ले जाये बिना न माने।मेरी पिछली कहानीलंड बदलकर चुत चुदाई का मजापढ़ कर कितने सारे ही पाठकों ने भी मेरे साथ चुदाई की इच्छा जाहिर की.

इससे नेहा और उसकी मम्मी सरोज बहुत घबरा गई और उन्होंने बेइज्जती भी महसूस की.

कुछ दिन बाद मम्मी ने कहा कि हम लोग दिल्ली के अक्षरधाम मंदिर घूमने जा रहे हैं. चल ठीक है आज दोनों मिलकर निकाल देते हैं इस रंडी की हेकड़ी।इतना कह कर रवि अपनी शर्ट उतारने लगा.

बीएफ सेक्सी पिक्चर्स भैया ने कहा- अब कैसा शरमाना? शरमाती क्यों हो मेरी जान! अच्छा लो!और इतना कहते ही भैया ने एक हाथ से अपनी फ्रेंची अर्थात अंडरवियर उतार कर अलग कर दिया।अब भैया-भाभी दोनों बिल्कुल नंगे खड़े थे और ऊपर से पानी की बूँदें गिर रही थी. वो उस पर रहम नहीं कर रहा था और रश्मि के मुंह से दर्द भरी चीखें निकल रही थीं- आह्ह आईई … अंकल … नो … प्लीज … स्टॉप … आईई मां … आह्ह निकाल लो प्लीज।मगर रमेश उसकी नहीं सुन रहा था और लगातार उसकी चूत में धक्के लगाये जा रहा था.

बीएफ सेक्सी पिक्चर्स उसके बुर्का पहनते ही मैंने पूजा को अपनी गोद में उठा लिया और उसके पति के सामने अपनी कार में बैठा कर अपने होटल के रूम पर ले आया. अब जहां पर ज़्यादा आदमियों की भीड़ होती, उसमें मैं भी घुस जाती और सामान देखने लगती.

अब हमें किसी गबरू जवान मर्द के नीचे लेटकर उनका लंड अपनी चूत में लेना था.

सांचौर सेक्सी वीडियो

इसलिए मैं उनके ऊपर आ गया और पहले पैरों को लंड से सहलाते हुए ऊपर की ओर बढ़ने लगा. बिन्दू- आपके कमरे की सीढ़ियां तो बिल्कुल हमारे घर के गेट के सामने हैं, मम्मी देख लेंगी, मैं वहां नहीं आ सकती. अपनी गोद में लेकर उसने वीना के स्तनों में मुंह दे दिया और उसे अपने लंड पर बिठाने लगा.

मेरी गर्लफ्रेंड को उधर काम करते हुए समय बीतता गया और मेरी गर्लफ्रेंड के उसके बॉस की हरकतें साथ शुरू हो गईं. दोस्तो, मेरे ब्वॉयफ्रेंड थॉमस के सामने मेरे पति रोहन की मौजूदगी मुझे बेहद रोमांचित कर रही थी. लड़की की जांघें चाटने में मुझे वैसे भी अपार हर्ष और आनंद होता ही है.

पहलेपहल जब मैंने अन्तर्वासना पर प्रकाशित सेक्स कहानियों को पढ़ा तो उन्हें झूठा और काल्पनिक समझा.

फिर मैंने उसके नीचे उसकी गोलियों पर किस की और उनको मुँह में भर लिया. हमारे बात के मुताबिक़ हम दोनों दूसरे दिन 4 बजे ऑटो स्टैंड पर मिले, फिर हम ऑटो में बैठ कर गार्डन के करीब उतर गए. अभी मैं खुशी और पायल के ख्यालों में खोया हुआ था कि दरवाजे पर किसी के नॉक करने की आवाज आई.

पूरी इन्क्वारी के बाद उनको अपनी बात सही लगी, तो उनका जोश और भी बढ़ गया. मौसी- मतलब तू और प्रीति?मैं- अरे नहीं नहीं मौसी … ये आप क्या सोच रही हो. दूसरे मम्मे को तो वो ऐसे मसल रहा था, जैसे मेरी चूची नहीं कोई बॉल हो.

उसने उसके बालों को पकड़ लिया और अपना लंड उसके मुंह में घुसा कर जोर जोर से पेलने लगा. इस समय प्रतिभा ‘आहह उउस्स्स …’ करके हांफते हुए मेरे लंड को जोरों से हिला रही थी.

तो इस बार गांड में इतना वीर्य कैसे निकला होगा?पर मुझे इसमें ज्यादा दिमाग लगाने की जरूरत नहीं थी।ओह … प्रेम! मुझे बाथरूम तक ले चलो … प्लीज … मुझ से तो उठा ही नहीं जा रहा. मैं कोई कामदेव से भी बड़ा देव तो हूं नहीं … इसलिए मैंने भी अमृत कलश छल्का ही दिया, जिसे प्रतिभा ने बड़े चाव से ग्रहण कर लिया. रात को खाना खाने के बाद मैं टहलने निकलता तो पंजाबन के घर के इर्दगिर्द टहलता ताकि दीदार हो जायें.

फिर रॉन ने धीरे धीरे लंड को अन्दर बाहर करना शुरू किया और नेहा भी आह … ओह्ह … करने लगी.

मैंने अपनी ख़ुशी जाहिर करते हुए कहा- अरे वाह … मैं तो समझ ही पाया था कि मुझे हॉस्पिटल क्यों बुला रही हो … मैं जरूर आऊंगा. शाजिया ने हमारी इसचुदाईको हिन्दी सेक्स स्टोरी साईट अन्तर्वासना पर लिख दिया. मैं अपने होंठों से थॉमस के होंठों को काट भी रही थी और अपने हाथों से थॉमस के लम्बे बालों को सहला भी रही थी.

बाहर की दोनों मोटी सतह साफ, अन्दर चूत के छेद के बाहर दो छोटी गुलाब की कोंपलें सी और पिंक कलर का अन्दर का टाइट छेद. नीलम ने कहा कि मेरे लंड की नंगी फोटो देख कर उसको कुछ कुछ होने लगता है.

हम दोनों ने होटल अलग अलग बुक किया था ताकि हम दोनों अपने अपने साथियों से खुल कर चुदायी का आनन्द ले सकें. देखने में दोनों लड़के सुंदर थे, खूबसूरत, गोरे, चिट्टे, पतले, लंबे और सबसे खास बात दोनों कच्चे कुँवारे।मैं कुछ देर बैठ कर सोचती रही और प्लान बनाती रही कि क्या करूँ। अब तो दीपक की भी पूरी मंजूरी है कि मैं बाहर किसी और के साथसेक्स कर लूँ. फिर मैंने लंड को बाहर तक निकाला और फिर एक ही वार में पूरा पेल दिया.

चोदी चोदा चोदी

”सुहाना ने फिर मेरी ओर कातर नज़रों से देखा- आप सच बोल रहे हो ना?”हाँ बेबी … मेरा विश्वास रखो … बस एक बार!”मुझे बहुत डर लग रहा है.

जैसे ही अम्मी मेरे कमरे में दाखिल हुईं, मैंने उन्हें अपनी बाजुओं में दबोच लिया और किस करने लगा उनके मम्मों को दबाने लगा. कभी उसकी जीभ लंड के अगले हिस्से पर घूमती तो कभी नीचे उसकी गोलियों पर।निशांत के मुंह से आह … आहह … करके सिसकारी निकल रही थी. टॉप के अन्दर कोई डिजाइनर ब्रा पहनी हुई थी जिससे उसके बूब्स का आकर प्रकार बेहद लुभावना और चित्ताकर्षक लग रहा था.

महीने के दूसरे शनिवार मेरी छुट्टी थी तो उस दिन का प्रोग्राम बना था. अब आगे की परिवार सेक्स की कहानी:तो दोस्तो, वैसे तो हम दोनों अब रोज ही सेक्स के मज़े ले लेते थे. ब्लूटूथ सेक्सी डांसमैं अपने भाई की ससुराल में वापस आकर लेटा लेटा उसी के बारे में सोच रहा था कि कब उसकी चुत चुदाई का अवसर मिलेगा.

”अगले दिन गुरजीत कॉलेज जाने के लिए अपने घर से निकली और मेरे घर आ गई. मैंने अपनी टांगों के बीच में से रसगुल्ला निकालने के लिए अभी हाथ बढ़ाया ही था कि अनिकेत ने मेरा हाथ पकड़ लिया.

बदले में तू ये बात किसी से बोलेगा नहीं … वरना हम बोल देंगी कि तूने हमारे साथ छेड़छाड़ की है. सभी के बड़े बड़े मूसल लंड थे, जिससे मेरी चुत और गांड खुल कर बड़े बड़े गड्डे से हो गए थे. हम दोनों एक कॉफी शॉप में कॉफी पीने चले गए।वहाँ हम दोनों कॉफी पीते पीते बातें करने लगे।थोड़ी देर में उसने इधर उधर बातें घुमाते हुए मुझे प्रपोज़ कर दिया गर्लफ्रेंड बनने के लिए।मैंने प्यार से मना कर दिया और बोला- तुम्हारे ऑफर के लिए थैंक्स! पर मैं इन सब चक्करों में नहीं पड़ना चाहती.

ये उस दिन की बात है, जब हम सब दूसरी बार तैर कर उस पहाड़ी तक पहुंचे थे. बिन्दू मेरे सामने केवल नायलॉन की एक टाइट निकर में खड़ी थी जिसमें से उसकी पाव रोटी सी फूली बुर साफ दिखाई दे रही थी. यह देखते ही एसएचओ को गुस्सा आ गया और उसने उठकर रोहित को तीन चार थप्पड़ जड़े और उसको गले से पकड़कर पूछा- कहां के रहने वाले हो?रोहित ने अपने शहर का नाम बताया.

मैं चौंका- क्या!फिर उन्होंने बताया कि भैया तो उन पर ध्यान ही नहीं देते हैंमैंने उसी पल कह दिया- आप चिंता मत कीजिए.

अब तो जब तक प्रकाश भाईसाब का लंड पानी नहीं छोड़ेगा, लंड गांड में झेलना ही पड़ेगा. एक दिन शनिवार को लगभग 3:00 बजे के करीब मैं एक बहुत ही सेक्सी पिक्चर के पोस्टर देखकर टिकट की लाइन में टिकट लेने के लिए खड़ा हो गया.

एक बार जब हम दोनों चुदाई कर रहे थे, तो शालिनी की बहन ने हमें चुदाई करते देख लिया था. मेरी विडंबना ये थी कि मैं किसी लड़की को जानता भी नहीं था ताकि मैं क्लेरिसा पर लाइन मारने से पहले किसी और लड़की के साथ थोड़ा सहज हो जाऊं. मैंने जल्दी से अपनी ब्रा-पैंटी पहनी और मिडी पहनकर तैयार होकर घर के लिए निकल गयी.

उसके बाद थॉमस ने मुझे बेड पर लेटा दिया और मेरी नाइटी के बटन खोल कर मेरी नाइटी उतार कर रोहन के ऊपर फेंक दी. उन्होंने बताया कि यही बहदुर्बध से बादली रोड पर उनका एक फार्महाउस है. अब उन चारों ने मिल कर मुझे हर तरफ से नौंचन और भंभोड़ना शुरू कर दिया.

बीएफ सेक्सी पिक्चर्स मैंने थॉमस से बोला- थॉमस तुम्हें मुझे आज ऐसे चोदना है, जिससे कि रोहन को लगे कि तुम मुझे बहुत दर्दनाक चोद रहे हो … और तुम्हारे लंड से चुदने में मैं तड़प रही हूँ. मुझे उन्हें देखते हुए … और उन दोनों को ऐसे ही मस्ती करते करते टाइम बीत गया और हमारे जाने का टाइम हो गया.

सुबह का पर्यायवाची

मैं अपनी इंडियन सेक्स स्टोरी पर आने से पहले ही बता दूँ कि कोई भी दोस्त मेरे से भाबी का नंबर या आइडी ना मांगे. पता नहीं अचानक क्या हुआ, नहाने के बाद ममा ने मेरा और अपना शरीर पौंछा. अभी तक मैंने बिन्दू को कई मजे नहीं दिए थे इस इरादे से मैंने उसे अपने ऊपर से उतार कर बेड पर लिटाया और उसकी चूत की तरफ जाकर उसकी जांघों को चौड़ा किया और उसकी चूत पर अपना मुंह रख दिया.

मुझे एकदम से झुरझुरी सी हुई मगर मैं दम साधे चुपचाप पड़ी रही, मैंने कुछ भी प्रतिक्रिया नहीं की. क्यूँकि बाहर आवाज नहीं जा सकती थी इसलिए हम पूरे जोश के साथ चुदाई कर रहे थे।मैंने उससे पूछा- हुआ नहीं क्या तुम्हारा? काफी देर हो गयी, अब तो मैं भी थकने लगी हूँ।उसने कहा- अभी हो जाएगा. इंडियन सेक्सी मॉडलमैंने पूछा- किधर?आया ने बताया कि वे मुझे स्कूल के अन्दर वाले प्रार्थना हॉल में बुला रहे हैं.

करीब बीस से पच्चीस मिनट की चुदाई के बाद उसने अपना सारा पानी मेरी गर्लफ्रेंड की चूत में छोड़ दिया.

उसके साथ चूची चुसाई के बाद वो गर्म होकर मेरा लंड अपनी चुत में लेने के लिए मचलने लगी थी. जब तक हम यूं घर में अकेले हैं तो बस एक ही काम पर ध्यान दिया करो बस!” मैंने कहा.

जब मेरा दर्द कुछ कम हुआ, तो अंकुश ने फिर से धक्के लगाते हुए चोदना चालू कर दिया. मैं हल्के स्वर में चीख रही थी ‘आह फक मी जान!’लगभग 10 – 15 मिनट और चोदने के बाद थॉमस मुझे बेड पर ले गया और अपना लंड मेरी गांड से बाहर निकाल लिया. उधर या तो फोन काट दिया जाता था या उठाया ही नहीं जाता था।25 जुलाई को उसने घर वाले पुराने नम्बर से खुद ही फोन किया.

ऐसी गर्म लड़की मैंने आज तक नहीं देखी थी … जो कुछ ही मिनट में दुबारा गर्म हो गई हो.

और भैया भाभी के दोनों पैरों को पूरा खोलकर कसके पकड़े रहते हैं जिससे भाभी अपने पैर बन्द भी नहीं कर पाती हैं।दोस्तो, जितना संवेदनशील हमारा सुपारा होता है उतनी ही स्त्री की भग्नासा भी संवेदनशील होती है. उन्होंने बोला- एक कन्सट्रूक्शन कंपनी में बॉस को पीए की जरूरत है, अगर काम करना है … तो आ जाओ. जब तू और मेरे पति सो जाएंगे, तब छुपकर दूसरे कमरे में जाकर चुद लेंगे.

चलती बस में सेक्सी मूवीभाभी ने कहा- ठंड बहुत ज्यादा है, हमें गीले कपड़े उतार कर बैठना पड़ेगा, नहीं तो हम ऐसे ही मर जाएंगे. मैंने उसके कान खींचते हुए कहा- तुम्हारे भैया नहीं हैं तो कुछ ज्यादा बोल रहे हो तुम.

बेवफा बेवफा है तू

143 का प्रयोग करके जुड़ सकते हैं, अगर आपका रिस्पांस अच्छा मिला तो मैं आपको अपनी आगे की कहानियां फिर बताती रहूंगी. अब उसके वजन से मेरी भी सांस फूलने लगी थी … क्योंकि वो अपनी गांड पर मेरे लंड के टोपे का छोटे बच्चे की तरह उचक उचक कर पूरा मजा ले रही थी. ”जान तुम इतनी खूबसूरत हो कि मैं तुम्हें पूर्ण रूप से पा लेने के लिए अपने आप को रोक नहीं पाया.

अह्ह्ह अर्जुन … अह्ह्ह उम्म्म … हाहाहा … ऐसे ही हूँन्न … हहह चोदो अपने मस्त लौड़े से अपनी चाहत की चूत … आह आह उम्म्म मा … अर्जुन मैं आने वाली हूँ. प्रिंसीपल सर के ऑफिस के सामने ही एक गेस्ट रूम था, जिसमें मुझे रंगोली बनानी थी. अर्जुन बड़बड़ा रहा था- आह जान … क्या चूसती हो … उम् अह्ह्ह फ़क!ऐसा हो भी क्यों न … मेरे मुँह में जो लंड जाये और आहें न भरे? ऐसा हो ही नहीं सकता.

उन्होंने मम्मी से बताया और छोटे भाई को साथ लेकर उन तीनों ने जाने का फैसला कर लिया. अब मैंने दो उंगलियां उसकी चूत में डाल दीं और जोर जोर से अन्दर बाहर करने लगा. मम्मी ने कहा- थोड़ी देर में मैं अतुल को कुछ सामान देकर भेज रही हूँ … तुम घर पर ही हो ना!मामी ने कहा- हां दीदी जी … मैं घर पर ही हूँ … मैं कहां जाऊँगी.

इसलिए आप लोग बने रहिए अन्तर्वासना के साथ और मेल करके बताते रहिए कि आपको यह घटना कितनी पसंद आई। आप कहानी के बारे में नीचे दिए हुए कमेंट बॉक्स पर भी मुझसे बात कर सकते हैं। मैं यथासंभव आपके सवालों का जवाब दूंगा। आपका प्यारा राजवीर।[emailprotected]. उसके जाते ही आंटी ने अपनी नाइटी फिर से ऊपर कर ली और फिर से सेक्स मूवी देखने लगीं.

वो हां में सर हिलाते हुए अन्दर कमरे में जाकर नीले रंग का एक फुल आस्तीन का स्वेटर पहन कर आ गईं.

करीब 15 से 20 दिन बाद मारवाड़ी सेक्सी लेडी बोला- कल संडे है … मेरे घर पर कोई नहीं रहेगा. सेक्सी वीडियो भोसड़ी में लंडमैंने भी देर न करते हुए अपनी एक उंगली उसकी नाभि में डाल दी और गोल गोल नचाना शुरू कर दिया. सेक्सी इंग्लिश वीडियो नंगीहम दोनों सहेलियां बिस्तर पर नंगी ही पड़ी हुई थी, दोनों की चुत सूज गयी थी. एक दिन पानी भरते समय पानी छलक जाने से मेरा पैंट गीला हो गया, तो लखन बोला- इसे यहीं सूखने डाल दो … गर्मी है … अभी सूख जाएगा.

यही हुआ … शेफाली ने अंकुश का लंड अपने मुँह में ले लिया और लंड चूसने लगी.

तो मैंने लंड को उसकी चूत से बाहर निकाल लिया और लेट कर उसे अपनी ऊपर आने को कहा. कॉलेज गर्ल की नंगी चूत की कहानी का पिछला भाग:कभी कभी जीतने के लिए चुदना भी पड़ता है-1सुनील ने बिना डरे कहा- मुझे जेल पहुंचा के तुम ट्रॉफी तो नहीं जीत पाओगी. उससे बात हुई, तो उसके पति ने कहा- खाना हम सारे मिल कर किसी होटल में खाएंगे.

जो उसमें चालू करने के बाद सबसे पहली कॉल की गई थी वो उसके नए प्रेमी का नम्बर था जो मुझे बाद में पता चला. मुझे उम्मीद है कि आप सब इस तरह से मुझे प्यार और समर्थन देते रहेंगे और मेरी कहानी को पसंद करते रहेंगे. धड़कनें बढ़ते ही उसने ने अपनी आँखें बंद कर लीं और अगले ही पल रमेश ने अपने होंठों से उसकी गर्दन के सेंटर पर एक गहरा चुम्मा जड़ दिया.

बीपी के साथ

मैं- लंड तो तुम्हारी बुर से मिला भी नहीं है, फिर हालत कैसे खराब हो गयी?वो- वो नहीं … जो तुम कर रहे थे पागलों की तरह से तुम मुझपे टूट पड़े थे. वैसे भी मैं डर के कारण ये काम अकेले नहीं करना चाहता था इसलिए मैंने शरद को भी उसके मजे देने का वादा किया था. मेरे कुछ ही दोस्त ऐसे थे, जिन्होंने उस सामूहिक चुदाई में उपस्थित रहते हुए भी बिना कोई कारण बताए लौंडिया चोदने से मना कर दिया था … जबकि वे उन लौंडों में सबसे मस्त लौंडे होते थे.

संगमरमर की तरह तराशा हुआ गुरजीत का जिस्म देखकर मेरा लण्ड उछलने लगा.

और रही बात सेक्स की … तो हम गरीबों का जिस्म तो होटल की चादर के समान होता है, एक रात के लिए कोई भी सोकर निकल जाता है.

मेरी लंड लेने की चाहत कैसे पूरी हुई और मेरी सील कैसे टूटी … वो सब आपको मेरी इस सेक्स कहानी में पढ़ने मिलेगा. मैंने उसे काल की तो उसने पूछा- घर पहुँच गए?मैंने जवाब दिया- हां जी!जो भी हम दोनों के बीच हुआ, उसके लिए उसने मुझे धन्यवाद दिया और कहा- मेरी लाइफ के बेहतरीन लम्हे थे वो! अमन कम्पनी काम से कभी बाहर जाएंगे तो मैं आपको बताऊंगी. मोटर वाली सेक्सीअब जहां पर ज़्यादा आदमियों की भीड़ होती, उसमें मैं भी घुस जाती और सामान देखने लगती.

उसकी हरकत को देखते हुए रमेश मुस्कराया और बोला- तुम खा खाकर मोटी हो गयी. मैंने नेहा से पूछा- नेहा, मजा आया?नेहा एकदम मेरे गले से लिपट गई और मेरे गाल पर जबरदस्त किस करके काट लिया और बोली- आज से मैं तुम्हारी गुलाम!मैंने कहा- नेहा, गुलाम नहीं तुम मेरी रानी हो और तुम्हें मैं अपनी रानी बनाकर चोदता रहूँगा. निष्ठा मेरी जान … अरे वहां भी किया जाता है और वहां मज़ा भी खूब आता है.

बॉस ने इसका मतलब समझ लिया और उसके कंधे पर हाथ रख कर पूछा- चुदाई की कहानी पढ़ना पसंद करोगी?गर्लफ्रेंड ने सर झुकाए हुए ही हां कर दी. इसके बाद अंकल ने उठकर मम्मी को अपना लन्ड चूसने के लिए बोला जिसके लिए मम्मी ने मना कर दिया.

मैं करने के लिए उस मशीन पे चली गयी।अर्जुन मुझे छूने का कोई मौका नहीं गंवाना चाहता था.

मामी ने मेरी तरफ देखते हुए मुस्कुराते हुए देखा और ये बोलते हुए पेटीकोट उतारने लगीं कि मुझे मालूम था कि तू मुझे वाशरूम के दरवाजे की झिरी से देख रहा है. मेरी ब्रा उतरते ही मेरी हरी-भरी चूचियां खुली हवा में मानो नाचने लगी थीं. उसने मुझे कई बार अपने मम्मों को घूरते हुए पकड़ लिया था, लेकिन वो कुछ बोलती नहीं थी.

हाथी घोड़ा का सेक्सी वीडियो शादी से पहले ही मेरी मां ने मुझे समझा दिया था कि अपने ससुराल में अपने पति, ससुर और ननद की इज्जत करना. इस बार मैं उसके पानी को पीना चाहती थी, इसलिए मैं थॉमस के लंड से नीचे उतर गयी और थॉमस के लंड को अपने मुँह में ले लिया.

वे भाभी के चूतड़ों के नीचे एक तकिया लगा देते हैं और दोनों पैरो को पूरा खोल देते हैं जिससे चूत उभर कर ऊपर आ जाती है. मैं- अगर तुम बुरा न मानो तो मैं तुम्हें एक मसाज चेयर की मशीन से ज्यादा अच्छी मसाज दे सकता हूं. आंटी ने मेरी तरफ एक सेक्सी सी स्माइल दी और कहने लगी- ठीक है, बैठो मैं अभी आती हूँ.

nude आंटी

लूट लो मुझे!आपकी आशना[emailprotected]हॉट सेक्सी कहानी का अगला भाग:मेरी चूत गांड को रोज लंड चाहिए-2. अच्छा हुआ कि सनम मुझे किस कर रही थी वरना मेरी चीख उसकी तरह बाहर निकल जाती. उन्होंने मेरी चूचियों को मुंह में भर लिया और मेरे मुंह से ऊंम्मह्ह … करके एक लम्बी सिसकारी निकल गयी.

मैं खुद ही उन्हीं की बगल में सोफे पर चूतड़ उठा कर चुदने की पोजीशन में हो गयी. [emailprotected]रिश्तों में चुदाई की हिंदी कहानी का अगला भाग:ठरकी मामा ने की सेक्सी भांजी की चुदाई-3.

अब जो धक्के उसकी चूत में लग रहे थे उनमें अब दर्द की जगह कामुक सिसकारियां उतर आई थीं- आह्ह अंकल … य्सस … हम्म … वाहह … ओह्ह … अंकल … आह्ह अंकल … गुड … आह्ह … फास्ट।रमेश ऐसे ही चोदता रहा और फिर उसने अपना लंड उसकी चूत से निकाल कर उसके मुंह के सामने कर दिया.

इसके बाद उन्होंने खुद भी कपड़े पहन लिए और मुझसे कहा के चलो मार्किट चलते हैं. नेहा मेरे लंबे और मोटे लण्ड को पकड़ कर मेरी आंखों की तरफ देखने लगी और धीरे से बोली- इतना बड़ा हथियार? हाय मैं मर जाऊं. हम दोनों बिस्तर पर बैठे थे, तो अब प्रतिभा ने मुझे थोड़ा पैर फैलाने के लिए कहा.

रास्ते में मैंने गुरजीत को समझाया कि तुम्हारी मम्मी बहुत स्वाभिमानी औरत हैं, वो किसी का अहसान नहीं लेतीं, उनको पता चला कि तुम मेरी कार में आई हो तो कहीं तुम्हें मना न कर दें, इसलिये अपनी मम्मी को मत बताना कि तुम कार से आई हो. ’मेरी आवाजों से रॉबर्ट को बहुत मजा आ रहा था और मुझे मेरी चुत में बहुत दर्द हो रहा था. बोलने लगी- आहह … आहह … आई … आह … आऊ … आहह … सुनील आहह।सुनील ने मुझे ज़ोर ज़ोर से चोदना चालू रखा और घपघप चोदता चला गया।अब तक हम दोनों का ही झड़ने का टाइम करीब आ गया था। मेरे भी पूरे शरीर में झुरझुरी सी होने लगी थी.

जब मेरी कहानीआधी हकीकत आधा फसानाप्रकाशित हुई थी तब मुझे बहुत से मेल आये थे, उन्हीं में से एक मेल खुशी का भी था।आप तो जानते ही हैं मैं सभी मेल के जवाब देने की पूरी कोशिश करता हूँ.

बीएफ सेक्सी पिक्चर्स: मैंने कहा- अब क्या रह गया?रॉकी बाहर गया और दरवाजे की बगल से एक बड़ा सा केक का डिब्बा उठा लाया और बोला- सालगिरह है तो केक भी कटेगा भाभी. आज मेरे जीवन की एक प्रेम से भरपूर यादगार को सेक्स स्टोरी के रूप में मैं आपसे शेयर कर रहा हूँ.

मैंने कुछ देर बाद नोटिस किया कि अब वो मुझे समझाने के बाद मेरे कंधे पर हाथ रख कर पूछने लगते थे ‘समझ गई ना?’मैं भी हां में सर हिला देती. यह अभी सिर्फ तीन साल पहले की बात है जब मेरी शादी एक देहात में हुई थी. जितना अच्छे से तुम खेलोगी, उतनी ही अच्छी तुम्हें पोस्टिंग भी मिल जायेगी.

नीला ने निशांत के लंड को मुंह से निकाला और बोली- छोड़ दो मुंह में ही, मुझे चूसने में बहुत मजा आ रहा है, मेरा मजा मत खराब करो.

मैंने थॉमस से पूछा- थॉमस सर, कैसी लगी रही हूँ मैं?थॉमस बोला- आज तुम बहुत हॉट लग रही हो अंजलि … अब मुझसे रुका नहीं जा रहा. उसने मेरे लिए व्हिस्की का पैग बनाया और हम दोनों चियर्स करके सिप लेने लगे. इसलिए नहीं बन सकती तुम्हारी गर्लफ्रेंड।फिर हम प्रतियोगिता की बात करने लगे।मैंने कहा- तुम तो हर साल जीत जाते हो.