बीएफ मूवी एक्स एक्स एक्स एक्स

छवि स्रोत,रंडी की चुदाई दिखाइए

तस्वीर का शीर्षक ,

बिपाशा बसु का सेक्स: बीएफ मूवी एक्स एक्स एक्स एक्स, कुछ ही देर में आंटी को मजा आने लगा वो खुद ही अपनी गांड हिला हिलाकर चुदने लगी.

बिहारी लड़की को चोदा

मगर चुदाई का जो मजा उस दिन मुझे मिला उसके अहसास को शब्दों में बता पाना मुश्किल है. भोजपुरी सेक्सी बीएफ बिहारीमुझे अब लंड को और अंदर लेने का मन करने लगा और मैंने दबाव डालकर पूरा लंड अपनी चूत में घुसड़वा लिया.

सुमन ने शैलू से हुई बात बताई, तो मुखिया गुस्सा हो कर बकने लगा- वो हराम की जनी शैलू … उसको तो मैं बताऊंगा. बीएफ सेक्सी देहाती औरतइस तरह से मैंने उसके साथ चार साल मज़े किए और उसके साथपत्नी की तरह चुदाईकरके सारे मजे लिए.

फिर मैं उसके ऊपर से उठ गया और उसकी टांग को हाथ में पकड़ कर उसकी चूत में लंड को पेलने लगा.बीएफ मूवी एक्स एक्स एक्स एक्स: फिर मेरे पेट पर होंठों से रगड़ा तो मेरे जिस्म में गुदगुदी होने लगी.

दोस्तो, ये इंस्पेक्टर बलराम की चुदाई की भूख मिटाने के लिए मस्त माल के रूप में मंगला आ गई थी.उन्होंने पूरे जोर से पेटीकोट को पकड़ लिया था। इधर मैं भी उनके पेटीकोट को खोलने के लिए पूरा जोर लगा रहा था लेकिन वो पेटीकोट खोलने ही नहीं दे रही थी।फिर मैंने ज़ोर से झटका देते हुए उनके हाथों से नाड़े को छुड़ा दिया और उनका हाथ हटते ही मैंने तुरंत पेटीकोट का नाड़ा खोल दिया.

सेक्स करने के टिप्स - बीएफ मूवी एक्स एक्स एक्स एक्स

आप ये थैला घर तक छुड़वाने में मेरी मदद कर सकते हैं क्या?खुश होते हुए मैं बोला- हां, हां … क्यों नहीं!फिर मैंने उसका थैला उठाया और हम साथ साथ घर आ गये.मैंने उससे पूछा- आपका क्या नाम है?उसने मुझे अपना नाम बताते हुए कहा- मेरा नाम प्रीत है.

मैंने सर से कहा- अब और न तड़पाओ, जल्दी से आ जाओ बस!पहले तो मैंने खूब शर्माने का नाटक किया जबकि मन तो कर रहा था कि सर को अपनी नंगी जवानी दिखा कर उन्हें जल्दी से जल्दी चोदने के लिए तड़पा दूँ. बीएफ मूवी एक्स एक्स एक्स एक्स वो न्यूयॉर्क में ही रहती है और उसके साथ बेक्रअप के बाद भी हम दोनों के बीच एक बार सेक्स हुआ था, वो आपको मैं किसी और सेक्स कहानी में बताऊंगा.

प्रिया के मुंह से मस्त सेक्सी आवाजें निकल रही थीं- आह्ह … हंस … आह्ह … उम्म … आह्ह … बहुत मजा आ रहा है … आई लव यू हंस … आह्ह … आई लव यू.

बीएफ मूवी एक्स एक्स एक्स एक्स?

अगले दिन फिर से दोपहर में पूजा भाभी नहाने के लिए बाथरूम में गई। मैं भाभी पर नज़र डाले बैठा था। कुछ देर के बाद भाभी ने मामी को आवाज लगाई. अब मेरा दूसरा काम कर दे, नहीं तो तेरी बकरी गई समझ!गीता अपने कपड़े हाथ में लेकर खड़ी अपने मम्मों को छुपा रही थी. मुनिया- क्या सोचने लगीं आप … क्या भाई मान जाएंगे मुझसे अपना चुसवाने के लिए!सन्नो- अरे मानेगे कैसे नहीं, तेरे भाई को तू नहीं जानती.

ये कहानी का पहला हिस्सा है, इसके बाद आपकी फरमाइश के बाद मैं इसका दूसरा भाग भी लिखूंगा. मैं बाहर आया और पूछा- क्या हुआ?उसने कहा- जीजू मुझे डर लग रहा है, नींद नहीं आ रही है. फिर मैंने उनकी टांगों से साड़ी को थोड़ी सी उठाकर पेटीकोट में हाथ डाल दिया तो उसने मेरे हाथ को बाहर खींच लिया.

तीन-चार मिनट की चुसाई में ही मैं झड़ने लगा और मैंने सारा माल मामी के मुंह में भर दिया. अभी तक मैं उसको कुछ नहीं बोल पाया था, बस मन ही मन चोदने की सोचता रहा और मुठ मारता रहा. वो बोली- रवि, मेरे घुटनों में दर्द हो रहा है, थोड़ी तेल से मालिश कर दे.

राहुल बोला- ओके जान, मुझे पता है तुम्हें नाम तो मालूम है … लेकिन शर्म के मारे तुम नाम नहीं लोगी. दोस्तो, यहां मुखिया के खेत में एक कुंआ है, जिससे वो कई खेतों को पानी देता है.

यदि मैं अपने लिंग के बारे में बताऊं, तो मेरा लिंग 7 इंच लम्बा और 2.

ये क्या … मैं दंग रह गया कि अभी दो दिन पहले तो अम्मी के चूत पर बाल थे और अब बिल्कुल चिकनी चूत थी.

जीजा साली सेक्सी कहानी में पढ़ें कि मेरी बीवी गर्भवती हुई तो उसने अपनी बहन को मदद के लिए बुला लिया. मतलब कोई भी देखे तो समझ जाए कि औरत ने पहले से ही अपनी ब्रा पैंटी उतार दी है और उसकी चुदने की इच्छा हो रही है. वैसे भी अब तो हम दोस्त ही हैं ना भाभी जी!भाभी ने भी मुस्कुराकर हां में जवाब दिया और अपना फोन नंबर मुझे दे दिया.

उनको तो खेतों में कच्ची कलियां देख कर जोश आता है, तब कहीं घर आकर मेरी चुत से ठंडे होते हैं. लेकिन मौसा जी मेरे पास आ के मेरे दोनों बूब्स पकड़ कर पम्प करते हुए मुझे किस करने लगे. विक्की- हाय कैसी है तू!दीक्षा- अच्छी हूँ, तू बता कोई गर्लफ्रेंड बनाई या नहीं!मैं- नहीं यार, तूने कोई बनाया है क्या?दीक्षा- नहीं तो यार, पर तुझे ऐसा क्यों लगा?मैं- सच बता न, वो सुनील जिससे तू बातें करती रहती, वो तेरा बीएफ है ना!दीक्षा- नहीं यार, वो तो बस मेरा क्लासमेट था.

उसने चूत को मेरे मुंह पर टिका दिया और वो पहले की तरह मेरे लंड को मुंह में भरकर चूसने लगी.

ये सब घटना सोचकर मेरी चूत में जोर की चुदास जगी और मैं खुद ही सोनू के ऊपर चढ़कर उसको चोदने लगी. शैलू- ना ना मैडम जी, मुझे नहीं जाना इस हवेली में … और आप भी मत रहो यहां भूत रहते हैं. मैंने मौसी के ब्लाउज के ऊपर से जोर जोर से उनकी चूचियों को दबाना शुरू कर दिया.

मैंने उससे बात की, तो बोली- कब तक निकल रहे हो … और कहां मिलोगे?उसे मैंने टाइम और जगह का बता दिया और जल्दी से तैयार होकर निकलने लगा. यूं तो मेरी जिन्दगी में बहुत से ऐसे वाकिये हुए हैं, जो मैं आप लोगों के साथ साझा करना चाहता हूँ. उससे सेक्स की शुरुआत कैसे हुई और मेरी सील कैसे खुली?हैलो फ्रेंड्स, मैं नेक्षा फिर से आपके सामने लॉकडाउन में हुए सेक्स को लेकर हाजिर हूँ.

एक मिनट बाद भाभी ने दरवाज़ा ओपन कर दिया और मैं अपनी मस्त सेक्सी भाभी को देखता ही रह गया.

मैं सर को अपने बदन से सटाकर कसे हुए थी और एक हाथ से उनका लन्ड पकड़ रखा था. वहां पर विदा लेने से पहले अंकल ने कहा- तुम ऐसा करना, नीचे ही अपनी आंटी यहां सो जाना.

बीएफ मूवी एक्स एक्स एक्स एक्स पूरे दिन घूमने के बाद शाम को करण मुझे मेरे अपार्टमेंट के बाहर छोड़कर चला गया और मैं फाइल हाथ में लेकर बिल्डिंग की ओर आ गया. मैं जोर जोर से चूचियों को भींचते हुए उसकी गांड में लंड को रगड़ने लगा.

बीएफ मूवी एक्स एक्स एक्स एक्स कभी वो लंड को हाथ में भींच लेती थी तो कभी उसको जोर से खींच लेती थी. उसके होंठों को चूसते हुए मैंने उसकी चूत में उंगली दे दी और जोर जोर से उसकी चूत को कुरेदने लगा.

काफी दिन हो गये थे लंड को चूत का स्वाद नहीं मिला था और मेरे लंड को उस वक्त एक चूत की बहुत सख्त जरूरत थी.

रानी परी और बालवीर की सेक्सी

उसकी ये बात सुनते ही अशोक ने बोला- किशोर, ला इस कुतिया को अब मेरे हवाले कर दे. मैंने भी मौसी को जोर से चूसा और नीचे ही नीचे अपनी गांड को चूत की ओर धकेलते हुए लंड को उसकी चूत में हिलाने लगा. बड़ी अजीब बात है कितने लड़के और लड़कियां अचानक गायब हो गए, जिनका आज तक कोई सुराग नहीं मिला.

मैं उनके ठीक सामने खड़ा हो गया और हाथ को उनके सूट के अन्दर डालकर उनकी पीठ पर फिराने लगा. बस बाकी जिंदगी मुखिया जी की सेवा और चाँदनी का भविष्य बनाने में ही लगा दूंगा. हम दोनों बात करने में मशगूल थे और मेरा लंड मौसी की चूत में जाने की तैयारी कर रहा था.

मुखिया- कुत्ता है तू साला … अब ये मुसीबत तूने पाली है, इसका समाधान भी तू ही कर.

उसके बाद मेरा जब भी मन करता, मैं उस फोरेनर गर्ल के कमरे पर चला जाता और उसकी चुदाई के मज़े ले लेता. मधु गर्म होने लगी और ‘अअअह … उईईई …’ करते हुए मादक सिसकारियां लेने लगी. वो कभी पूरा बूब मुँह में लेने की कोशिश करता, तो कभी उसके निप्पल पर अपनी जीभ फेरता.

मैं जल्दी से मुठ मारकर नीचे गया और कागज खोलकर देखा तो मेरी खुशी का ठिकाना नहीं रहा. फिर सवेरे सवेरे नहाकर हम दोनों अपने गांव के लिए निकले। उसके बाद जब भी मौका मिलता मैं भाबी के साथ चुदाई में लग जाता। ये सिलसिला 2 सालों तक चलता रहा। इस बीच मैंने भाबी की छोटी बहन की चुदाई भी कर डाली. उसने पिंक कलर की टी-शर्ट डाली हुई थी, जो उसके आधी गांड को ही ढक पा रही थी.

मैंने थोड़ा सा थूक लंड पर … और थोड़ा सा थूक चूत पर लगा कर दुबारा से लंड को रेडी किया. मैं वहीं रुका रहा, मुझे नीचे कुछ गीला गीला सा लगा, तो उसके होंठों को छोड़ कर मैंने नीचे देखा.

अब ध्यान से सुनो सबसे पहले दोनों नंगे हो जाना, उसके बाद तुम मीनू के होंठ चूसना, धीरे धीरे इसकी गर्दन पर किस करना. मैं बोला- आप सोचिये कि मैं अभी आपके पास अकेला हूँ … हमारे पास कोई नहीं है. मैंने पोर्न में देखा था, गांड में लंड लेने से भी बहुत मजा आता है, लेकिन वो अगली बार लूंगी.

उनकी चूचियों को जी भर के दबाने के बाद मैंने अपना हाथ भाभी की जांघ पर रख दिया.

पूरे लॉकडाउन में हम दोनों नए नए तरीकों से चुदाई का मजा लेते रहे थे. मैं- पर क्यों दीदी?दीक्षा- यार आगे की मैं सिर्फ अपने बीएफ को ही दूंगी. हम दोनों ने साथ में खाना खाया और फिर सारा काम खत्म करके हम बेडरूम में आ गये.

अब मेरे पूरे शरीर का दबाव भाभी की गांड पर पड़ रहा था। मेरा लन्ड भाभी की गांड में घुसने के लिए दबाव बना रहा था। भाभी का पूरा जिस्म तपने लगा था। मैं भाभी की गर्दन के पीछे किस करने लगा।फिर मैंने उसके बालों की चोटी को खोल दिया. मैं तो हॉस्टल में रहता था … इसलिए मेरा उसे अन्दर बुला कर चोद पाना सम्भव ही नहीं था.

साथ ही साथ उसने मुखिया को भी इशारा कर दिया कि आकर वो उसके मुँह में लंड दे दे. उसकी पतली कमर के नीचे एकदम नुकीली चुत जो एकदम क्लीन चमचमाती हुई थी. अगर मैं अंदाजा लगाऊं, तो उसके चूचे डी कप के साथ 34 इंच के रहे होंगे.

शिवपुरी की सेक्सी वीडियो

मैं उसी में खो गया क्योंकि जिसे मैंने स्टेशन पर देखा था, ये उससे भी ज्यादा सेक्सी थी.

मामी- तो तू कौन सा साठ साल का बुड्ढा है?मैं- तभी तो कह रहा हूं मामी. अंत मैं मैंने अपने बदन से उनका बदन रगड़ कर सारा पानी पौंछा और अपने हाथों से उन्हें चोली पेटीकोट पहना दिया. वो उसको पकड़े रखने के लिए जोर लगाने लगी लेकिन फिर उनकी पकड़ ढीली होने लगी और साड़ी समेत पेटीकोट भी नीचे सरक गया.

भाभी बोली- मस्का क्यूं लगा रहे हो! मुझसे कुछ छिपा नहीं है जो तुम दोनों के बीच में चल रहा है. सुरेश ने मीता की पूरी चुत को होंठों में दबा लिया और कस के चूसने लगा. सेक्सी वाला बर्फआप मुझे जरूर मेल करें और इस घर में चोदा चुदाई कहानी के लिए अपनी अमूल्य प्रतिक्रिया बताएं.

अचानक मोनिषा को होश आया, तो मोनिषा ने धीरे से खिड़की बंद की और मेरे पास आकर सो गई. बीच बीच में उसकी चूचियों को भी चूस कर फिर से ऊपर आ जाता था और फिर से होंठों को चूसने लगता था.

वो अब मुझे जोर जोर से किस कर रहा था और उसका एक हाथ मेरी शॉर्ट्स के अन्दर पहुंच कर मेरी गांड को जोर जोर से दबा रहा था. साली इतनी जोर से आवाजें कर रही थी कि पास वाले दो-तीन कमरों में आवाज जा रही होगी. यह सेक्स कहानी हमारे बीच पिछले तीन महीनों से फोन पर चल रही थी और आज चार महीने के बाद जब मैं घर आया, तो मुझसे रहा नहीं गया.

अशोक नंगा ही बाहर आ गया और मुझसे बोला- मादरचोदी क्या औरत है … साली चुदने में बहुत मजा देती है. सुरेश- आह बस रघु … अब मेरा निकलने वाला है … तू आ जा और मीनू की चुत को संभाल … मैं अपना रस इसके मुँह में निकाल दूंगा. मैं हूं न तेरे लिए!ये बोलकर भाभी ने सोनिया का हाथ पकड़ा और अपनी चूत पर रखवा दिया.

फिर मैंने कहा- समीक्षा यदि दर्द हो तो मुझे बता देना, लेकिन चिल्लाना मत … नहीं तो तेरी दीदी जाग जाएगी.

तेरे सामने वो दोनों कुछ नहीं करेंगे, तो तुझे उनके सामने घर जाना है और वैसे भी तू अगर घर नहीं गई, तो शायद तेरी मां यहां आ जाए. ये तो मेरी मर्ज़ी है कि मैं किसके साथ सेक्स करूं, किसके साथ नहीं … समझे!कालू- अच्छा मैडम, जैसी आपकी मर्ज़ी.

मैं बोला- तो फिर आप दूसरी क्यों नहीं पहन लेतीं?वो बोली- हां, ऐसा ही करना पड़ेगा. उधर मौसा जी की नज़र नीचे फिसली और मेरी भरपूर चूचियों के बीच अटक कर रह गयी. एक बार फिर से मैंने आंटी के होंठों को चूसते हुए दूसरा धक्का मारा और अबकी बार मेरा पूरा का पूरा लंड आंटी की चूत में उतर गया.

मेरे भाई ज्यादातर बिजनेस लाइफ में बिजी रहते हैं और इसी वजह से भाई-भाभी के बीच बहुत कम सेक्स होता है. उनके जाने के बाद मैंने उठकर ब्रा और पैंटी अलगनी पर टांग दी और नीचे आ गया. मैं दीदी की ब्रा और पैंटी लंड पर लगाए अपनी मैडम से सेक्सी बातें कर रहा था.

बीएफ मूवी एक्स एक्स एक्स एक्स साड़ी के अंदर पूरी रोशनी तो नहीं जा रही थी लेकिन उनकी चूत की हल्की झलक मुझे मिल रही थी. कहानी को और उत्तेजक बनाने को आप अर्चना भाभी की कल्पना कीजिये, वो एक्ट्रेस लता सब्रवाल, जो टीवी पर भाभी का रोल करती हैं, से मिलती जुलती शक्ल सूरत की थीं.

हिंदी में ओपन सेक्सी पिक्चर

अपनी चूत को ऊपर उठा उठा कर मैं लंड को पूरी गहराई तक चूत में लेने लगी. हॉट यंग गर्ल सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि ऑटो से जाये हुए एक सेक्सी जवान लड़की लंगड़ाती हुई आकर ऑटो में बैठी. मैं- आह जान लो लंड अन्दर तक लो, मैं आपके मोटे मोटे चूचों को ज़ोर ज़ोर से दबा रहा हूँ.

ये शायद अशोक की दी हुई गोली का ही असर था कि हम दोनों इतने राउंड के बाद भी नीला को इतना चोद पाए और ठोक पाए. फिर ये चुम्बन की लय टूट गई और राहुल ने रूचि को एक नशीली नजर से देखा. मौसी की chudaiहम दोनों एक दूसरे को पसंद करने लगे और फिर हमने शादी के लिए हां कर दी.

इस तरह चुदाई का भरपूर आनंद लेने के बाद हम शाम होने से पहले ही घर लौट आये.

जब मेरा पूरा शरीर ठंडा हो गया तो मैंने मौसी से कहा- मौसी मुझे ठंड लग रही है. क्यों जी … आप इस बारे में क्या कहते हो?रघु- मीनू ठीक बोल रही है … मुझे भी कुछ बातें समझ नहीं आ रही हैं.

इधर पीछे से में पेल रहा था, तो आगे के छेद में नीचे से अशोक अपना लंड पेले जा रहा था. बाद में पता चला कि साली लंड का दर्द सहन ही नहीं कर पाई और …सुमन- क्क्क. मैसेज मिलते ही वो पूछने लगे- किसके पास ऐसे मैसेज कर रही हो?पहले तो मैं बहाने बनाकर बात को टालने की कोशिश करने लगी.

फट फट की आवाज जोर जोर से हो रही थी जिससे मुझे और ज्यादा जोश चढ़ रहा था.

सुमन- मैं भी कितनी भुलक्क़ड़ हूँ, खीर में बादाम डालना तो भूल ही गई, बादाम होंगे … तो खाने में ज़्यादा मज़ा आएगा. मगर अगला पल बहुत ही रोमांचक था, जिसका मुझे अहसास ही नहीं था कि इतनी जल्दी ये सब भी हो सकता है. फिर मैंने उसे उठाकर बिस्तर पर लेटा दिया और उसका पेटीकोट और पैंटी एक साथ उतार दिया.

हिंदी सेक्सी बीएफ भाईमैं उसकी दोनों टांगों को हाथों में पकड़े हुए उसकी चूत को खोद रहा था. तो मैं डर गया कि कहीं मुझे झांकते हुए देख तो नहीं लिया गया, मैं जल्दी से आंख बंद करके सोने का ड्रामा करने लगा.

देसी सेक्सी चुत

उन्होंने अपनी कार भी बेच दी, घर भी बेच दिया और मेरी शादी के गहने भी बेच दिए. अम्मी ने मैक्सी के नीचे पैंटी पहनी ही नहीं थी राज उनकी चूत को अपने हाथ से सहलाने लगा. वो मुझे चूम कर मेरे ब्लाउज में दो हजार का नोट खौंस कर बोला- अपने लिए हॉट सी ड्रेस खरीद लेना.

फिर बुआ ने मुझे खुली छत पर चुदाई करवाने की ईक्षा बतायी तो हम दोनों बुआ भतीजा रात को …दोस्तो, मैं समीर एक बार फिर आप की खिदमत में पेश हूँ. लेकिन मेरे लंड को हर महीने एक नए छेद को चोदने का मन करता है, तो मैं कभी कभी होटल में किसी कॉलगर्ल को चोद लेता हूं. वो कोशिश करने लगा कि सुमन उसको देख ले, मगर सुमन तो कामक्रीड़ा में लगी हुई थी.

मेरे नाना-नानी नहीं हैं। मुझे चूत की बहुत ज्यादा ज़रूरत थी। मुझे पता था कि मेरे इन वाले मामा के यहां बहुत सारी चूतें हैं. अब आगे की Xxx भाभी सेक्स स्टोरी:रुक्मणी- बोल, क्यों आया है?मैं- वो भाभी मैंने सोचा कि आप थक गई होंगी, तो चाय बना लाया. उनकी सिसकारियां धीरे धीरे बढ़ रही थीं। पैंटी के ऊपर से ही उनकी चूत को किस करने के बाद अब मैंने उनकी दूसरी टांग को नीचे रखा और पहली टांग को मेरे कंधे पर रख लिया। अब मैं उनकी की दूसरी टांग को किस करने लगा। अब तक उनकी पैंटी चूत के रस से पूरी भीग चुकी थी।अब मुझसे रुका नहीं जा रहा था और मैं पैंटी को उतारने लगा.

साइज़ के बारे में आप इसी से अन्दाज़ा लगा सकते हैं कि बुर्के के अन्दर भी अलग से उभर कर दिखती हैं. उसका लंड मेरे थूक से पूरा सना हुआ था और काफी चिकना था इसलिए फिसल कर अंदर जा धंसा.

तो उस साए ने उसके मम्मों को मसलना शुरू कर दिया और एक दूध के निप्पल को मुँह में लेकर चूसने लगा.

वो भी यहां से 300 किमी पहले, लेकिन जिस स्टेशन से ट्रेन थी, वो गलती से उससे छूट गई. वीडियो बीएफ देहातीफिर मैंने उनकी टांगों से साड़ी को थोड़ी सी उठाकर पेटीकोट में हाथ डाल दिया तो उसने मेरे हाथ को बाहर खींच लिया. மலையாள செக்ஸ் வீடியோ ஓபன்मेरी सास ने कहा- ज्यादा बकरचोदी मत कर भसोड़ी के, पहले मुझे संतुष्ट कर मादरचोद … मैं भी बहुत बड़ी खिलाड़ी हूँ. कुछ देर बाद वो छत पर चली गई और उधर से उसने मुझे कॉल किया- ऊपर आ जाइए, इधर कोई नहीं है.

मैंने अपने दोस्त से वो जगह पूछी जहाँ मैं गाड़ी में सेक्स कर पाऊं- भाई अपनी गर्लफ्रैंड को गाड़ी में कहां चोदने ले जाता था तू?दोस्त- भाई, शहर से बाहर!मैं- कहां? कोई जगह भी तो होगी भड़वे? काम के टाइम पर ही बातें चोदनी होती हैं तुझे?दोस्त- भैनचोद सुन तो ले?फिर उसने मुझे एक ऐसी जगह बताई जिसके मालिक स्वयं मेरे दोस्त के ही परिचित लोग थे.

जैसे ही मेरी जीभ उसकी योनि के अंदर तक जाती वो और जोर से चूसने लगती. भाभी- हूँ … तो तुमने क्या बोला!मैं- मैंने भाई को बोल दिया कि आप चिंता मत करें मैं भाभी को अपनी गर्लफ्रेंड बनाकर रखूंगा. कुछ ही देर की चुदाई के बाद उसकी चूत इतनी गर्म हो गयी कि उसने एक बार फिर से पानी छोड़ दिया.

मुखिया- लेकिन वो जाग गया, तो क्या होगा!सुमन- आप भी ना बहुत सवाल करते हो. फिर आगे कहानी में क्या हुआ और मैंने सर से किस तरह और कहां पर चूत मरवाई वो मैं अगले भाग में बताऊंगी. मुखिया- तुझे आती तो है ना करना … या मैं बताऊं कैसे करना है?मुनिया- एक बार बता देंगे, तो कर दूंगी.

सर मैडम सेक्सी वीडियो

मैं उठा और नहाकर बाहर आया, तो मम्मी पापा बाहर बैठे टीवी देख रहे थे. भाभी की चूत भाईसाहब के लंड से चुद चुकी थी मगर मेरा लंड सोनिया की चूत के लिए मचल रहा था. पांच मिनट के किस के बाद सुरेश ने धीरे धीरे मीनू के कपड़े निकालने शुरू किए और उसके जिस्म को चूमने लगा.

हालांकि मैं अपनी पसंद की बात कहूँ, तो मुझे थोड़ी सांवली लड़की ज्यादा हॉट लगती है.

सुरेश- अरे रघु आओ बैठो … ये मीनू है ना तुम्हारे साथ!रघु- जी बाबूजी, मैंने इसको सब समझा दिया है.

मैंने उनको मेरा लंड चूसने के लिए कहा तो वो थोड़ी एक्टिंग करने लगी लेकिन फिर बाद में ऐसे चूसने लगी जैसे इस थन से दूध पीना है इनको।फिर मैं अपनी सीट पर बैठ गया और मामी आराम से अपनी वाली सीट पर बैठकर मेरे लंड को चूसने का मजा लेने लगी. मैं जोर जोर से निप्पलों को काटने लगा और वो आह्ह … आह्ह … करते हुए मेरे सिर के बालों में हाथ फिराने लगी. বিপি সেক্সি হিন্দিउसकी चूत से एक गर्म फव्वारा फूट पड़ा और मेरा मुंह उसकी चूत के रस से सराबोर हो गया.

वो सीत्कार करने लगी- आह … कमीने साले भोसड़ी के जोर जोर से कर … तभी निकलेगा. मगर अब ज्यादा मौका नहीं मिल पाता है क्योंकि उनके घर में उसकी मौसी भी रहने लगी है. मैंने आंटी को बेड पर लिटा लिया और उसके होंठों पर होंठों को रख दिया.

मैं: क्या बात है? आज तो बहुत सेक्सी लग रही हो!नताशा: सच में?पीछे से मैंने नताशा को बांहों में जकड़ लिया और उसकी गर्दन को चूमते हुए कहा- आज तो खाने से बहुत ही मस्त खुशबू आ रही है. मैंने अपना अंडरवियर नीचे खिसका कर पूरा घोड़े जैसा लंड बाहर निकाल दिया। वह चौंक गई और मेरे लंड को उसने कस कर अपने हाथ में भींच लिया और उस पर एक चोपा मार कर मेरे अंडरवियर को अगले ही पल खोल कर फेंक दिया.

अब आगे की हॉट रोमांस सेक्स स्टोरी:अचानक मुझे उसकी आवाज सुनाई दी- कहां खो गए?मेरा लंड उसके जिस्म को सलामी दे रहा था और शायद उसे मेरे बॉक्सर पर उभार दिख गया था.

राहुल ने मेरे एक बोबे को अपने मुँह में पूरा भरा और दूसरे बोबे को हाथ से सहलाने लगा. मीता- अच्छा वो सब बाद में सोच लेना, पहले आप ये बताओ कि मीनू को चोदने में आपको बहुत मज़ा आया क्या?सुरेश- हां मीता, बहुत ज़्यादा मज़ा आया. आज का यह सूरज मेरी जिंदगी में एक जवान लड़की के हाथों से एक बेहतरीन हस्तमैथुन का अनुभव लाया था। दिन चढ़ा तो चाचा के साथ फिर गांव में मैं खूब टहला और लोगों से मिला।फिर थक कर सायं के समय मैं अपने कमरे में बिस्तर पर लेट गया।कुछ देर बाद बहू घूंघट में आई.

सी वीडियो बीएफ देहाती किसी तरह से मैं घर पहुंचा और फिर आते ही बाथरूम में घुसकर दो बार मुठ मारी. मैं भी ये नजारा देखकर खुद को रोक नहीं पाई और वहीं पर अपनी चूत को सहलाने लगी.

जैसे ही धक्का दिया, उनकी मीठी ‘आहह …’ निकल गई- कुणाल आराम से चोद … एक अरसे बाद चुदवा रही हूँ. सुरेश- अरे रघु आओ बैठो … ये मीनू है ना तुम्हारे साथ!रघु- जी बाबूजी, मैंने इसको सब समझा दिया है. उसने हैरानी से पूछा- तुमने मेरी चूची कब देख ली कमीने?मैं- जब आप पौंछा लगाती हो तो मैं वही देखता रहता हूं.

लड़का लड़कियों की सेक्सी पिक्चर

मैंने उस रात उसकी हर तरह से चुदाई की ताकि वो इसे याद रख सके और मैं उसके इस अहसान के बदले उसके लिए कुछ तो कर सकूं. मैं डर गई।मैंने जल्दी से अपना मुंह खोल दिया। उसने अपना लण्ड मेरी तरफ किया और एक लम्बी धार सीधे मेरे मुंह में आकर गिरने लगी। मैंने आंखें बन्द नहीं की थीं। मैं आदिल का मूत पीने लगी. क्या करूं और क्या ना करूं … वही सोच रहा था कि संगीता कपड़े पहन कर आ चुकी थी.

अब बस इसको जो करना है, करने दूं … तब पता लगेगा ये आज क्या खेल खेलता है. उनके साथ में एक टूरिस्ट भी घायल हुआ था, लेकिन उसकी हालत ज़्यादा खराब नहीं थी.

वो बहुत गुस्से में मुझे गाली देने लगी और अपने बिस्तर में जाकर लेट गई.

अब आगे छोटी चूत की कहानी:सुमन- उफ्फ़ … आज तो तुम रियली बहुत मज़े दे रहे हो, सच्ची ऐसे रोज किया करो. संध्या मौसी से मैंने कह दिया था कि मौसी जी आप आराम करो मौसा जी को खाना मैं खिला दिया करूंगी. मैं उसके दोनों पैरों के बीच में गया और अपना लंड पकड़ कर चूत पर रगड़ने लगा.

[emailprotected]नंगी भाभी सेक्स कहानी का अगला भाग:दोस्त की पड़ोसन भाभी की वासना- 3. मैं कभी उसकी गांड तक हाथ ले आता था तो कभी उसकी चूचियों को साइड से टच करते हुए मसाज कर रहा था. मैंने एक हाथ से पैंटी को अपने मुँह में भर लिया और दूसरे हाथ से ब्रा को लंड में लटका कर मुठ मारने लगा.

घर जाने के बाद रात को सन्नो का पति रणजीत, जिसके बारे में पहले मैंने बताया था.

बीएफ मूवी एक्स एक्स एक्स एक्स: मैं उसको चूचियों के बारे में समझाने लगा कि कैसे निप्पलों के नीचे मैमरी ग्लैंड होती हैं और कैसे उनमें से दूध निकलता है. जब दीदी मुझे सुबह जगाने और कपड़े लेने आईं, तो उन्होंने देखा कि सब कपड़े सूख गए हैं … पर ब्रा गीली है.

इस गर्म कहानी के पिछले भागअब और न तरसूंगी- 1में आपने पढ़ा किअब आगे की लड़की की गर्म जवानी की कहानी:अगले दिन बहुत सोच विचार कर मैंने तय किया कि विनी के साथ यहां मामा के घर में रहना मेरे लिए सुरक्षित नहीं है. फिर मैंने भाभी को मैंने हौले से अपनी बांहों में ले लिया, उनके जिस्म से इतनी मस्त खुशबू आ रही थी कि मैं दीवाना हो गया. मैंने भी तुरंत उसे बेड पर धक्का देकर दोबारा से लिटा दिया और उसके होंठों को फिर से चूसने लगा.

उसकी चूत का छेद अब खुल चुका था और मेरा लंड सटासट उसकी चूत में अंदर बाहर हो रहा था.

तू ऐसा कर, अपने कपड़े निकल कर अन्दर कूद जा … और पानी का वॉल खोल दे ताकि सारा खराब पानी खेतों में चला जाए. फिर ख्याल आया कि जब उन्होंने इतनी हिम्मत करके पूछ लिया, तो मैं भी हिम्मत करके बता दूं. मैंने कहा- फिर तो बहुत दिक्कत होती होगी आपको?भाबी ने हां में सिर हिला दिया.