बीएफ सेक्सी वाली हिंदी

छवि स्रोत,হিন্দি ভিডিও ব্লু ফিল্ম

तस्वीर का शीर्षक ,

कुत्ता और औरत सेक्सी: बीएफ सेक्सी वाली हिंदी, चूत का पर्दा काफी सख्त था और गर्म खून की एक बौछार लंड पर पड़ती महसूस हुई.

पत्नी के साथ सेक्स वीडियो

भाभी मुझे कमरे में ले आईं, मैं भी एक वफादार कुत्ते की तरह उनके पीछे पीछे आ गया. ইন্ডিয়া সেক্স ভিডিওगीत ने मेरे लौड़े को अपने हाथ में पकड़ा और अपनी जीभ को मेरे लंड की नोक पर टच कर दिया जिससे मैं सिहर उठा.

उसके बाद मैंने उसकी टांगों को फैला दिया और उसकी गांड के छेद पर आसपास रगड़ा. एचडी वीडियो ब्लूमैंने भाभी जी की चुत में हाथ लगाया, तो चुत हॉट थी और गर्म गर्म रस छोड़ रही थी.

वो बोली- तुम्हारी कोई है?मैंने कहा- नहीं यार … मुझे कौन पसंद करेगी?वो बोली- क्यों नहीं करेगी?मैंने कहा- तो तुम कर लो!इस पर वो हाथ छुड़ा कर हंसती हुई भाग गई और मैं अपना लंड मसल कर रह गया.बीएफ सेक्सी वाली हिंदी: प्रीति दर्द के मारे चिल्लाने लगी क्योंकि वो मेरे रॉकेट के एकदम होने वाले हमले से अनजान थी.

भाभी जी बोलीं- बातों से क्या ठंडा होना यार!तो मैंने लिख दिया- एक बार फोन पर बात तो करो.मैं उसके ऊपर आ गयी और उसकी जांघों के बीच में बैठते हुए मैंने अपनी चूत में उसका लंड ले लिया और कूद कूद कर चुदने लगी.

सेक्सी स्केन - बीएफ सेक्सी वाली हिंदी

मैंने उसकी चुत में हाथ लगाया तो वो एकदम खुश्क पड़ी थी … बिल्कुल सूखी हुई थी.आपके इस दोस्त का वादा है कि बंदा चार बजे आपकी खिदमत में हाजिर हो जाएगा.

ये सोच कर मैंने फिर गीत का सिर छोड़ दिया और इधर संजय के लंड का बुरा हाल था. बीएफ सेक्सी वाली हिंदी कुछ देर लंड चुसवा कर कमल ने मुझे रमेश के ऊपर झुका कर उसकी छाती पर लिटा दिया.

स्वरा के होंठ अपने होंठों में दबोचते हुए एक जोर का धक्का मारा तो स्वरा की बुर की झिल्ली फाड़कर मेरा लण्ड उसकी बुर में समा गया.

बीएफ सेक्सी वाली हिंदी?

लंड चुत का मिलन इतनी तेजी से हो रहा था कि ठप ठप की आवाज़ आने लगी थी. ” इतना कहते हुए शांति ने अपनी साड़ी खोल दी और बालों में लगा क्लिप हटाकर अपनी जुल्फें बिखरा दीं. मैंने बीच में ही भाभी के हाथ पर हाथ रख दिया और कहा- भाभी, आप परेशान मत होइये, मैं हूं आपके साथ.

फिर भी मुझे तुमसे कुछ अलग और ख़ास उपहार चाहिए।मैंने फिर कहा- तो तुम कहो तो सही, तुम्हारे लिए तो मेरी जान हाजिर है।खुशी ने कहा- मुझे तुम्हारी जान नहीं चाहिए, बस तुम्हारा लिंग चाहिए।उसकी बातों ने मुझे रोमांचित कर दिया और मैंने खुश होते हुए लेकिन थोड़ा भाव खाते हुए हंसते हुए लिखा- हा हा हा हा … मेरा लिंग तो तुम्हारा ही है. भले ही मैंने औपचारिकता ही पूरी की थी, पर वैभव ने मुझसे मिलने में पूरी गर्मजोशी दिखाई थी. मेरी कहानी के पिछले भागदोस्त की बीवी का गर्भाधान कियाअभी तक आपने पढ़ा कि भाभी को बाबा का आशीर्वाद दिलाने के मामले में जब मैं फंस गया, तो मैंने उन्हें सारी बात साफ़ बता दी और भाभी ने भी मुस्कुरा कर मुझसे चुदना स्वीकार कर लिया.

मैं बोला- फिर से बोल कुतिया … क्या हो तुम मेरी!वो बोली- साले मैं तेरी रांड हूँ … रखैल हूँ … जी भर के चोदो मुझे. रमेश को खोया खोया और परेशान सा देख कर रीता ने भी उसको रिझाने की कोशिश की. मगर काफी देर से मुझे समझ ही नहीं आ रहा है कि आप दोनों में किससे परेशानी को हल करवाया जाए.

निष्ठा की नज़र मेरे खड़े लंड पर पड़ी और उसने झट से अपनी आंखों पर हाथ रख लिए. मैंने हवस भरे लहजे में कहा- देखने दो, मैं किसी से नहीं डरता, तुमसे प्यार करता हूं.

नेहा मेरे बालों पर ऐसे हाथ फिरा रही थी, मानो मेरा अहसान उतारने का प्रयत्न कर रही हो.

फिर मैंने उसको कामुक से अंदाज में अपने जिस्म से अलग किया और एक तरफ फेंक दिया.

इसी बीच मेरी बीवी के स्कूल में गर्मियों की छुट्टियां हो गयी थीं, तो मैं उसे अपने पास रहने के लिए ले आया. उसने मेरा पूछा, तो मैंने कहा कि मेरी मीटिंग है … वो खत्म करके किसी होटल में रूम बुक कर लूंगा. मगर क्या बताऊं दोस्तो, उसकी गर्म और चिकनी चूत में लंड डाल कर मैं तो जैसे जन्नत की सैर कर रहा था.

मैंने सरोज के टॉप को बाहर निकाल दिया और उसकी स्कर्ट के इलास्टिक में उंगलियां देकर नीचे खींच दिया. फिर अगले दिन स्कूल में उदय सर और प्रिंसीपल सर से चुदने के बाद छुट्टी के समय मैंने अपने क्लास में ही सबके जाने के बाद कपड़े बदल लिए और कबड्डी सीखने चली आयी. मेरी हिंदी सेक्स स्टोरीएक्स-गर्लफ्रेंड की शादी के बाद चुदाई-3में अब तक आपने पढ़ा कि मेरी एक्स गर्लफ्रेंड अपनी ननद के साथ मेरे बारे में बातें कर रही थी.

लड़की- और ये दूसरा सेठ दिखाई नहीं दे रहा?रवि- बाथरूम में गया हुआ है, बस आने ही वाला होगा बाहर। तुम बताओ क्या पिओगी? रम या वोदका?लडकी- नहीं सेठ, अपने को तो बीयर ही चलती है।रवि ने दो गिलास लगा दिये.

भाभी ने मुझे छोड़ा और बोली- सुबह के तीन बज गए हैं, अब थोड़ा सो लेते हैं, मैं अपने बेडरूम में जा रही हूँ, नेहा हर रोज छः बजे उठकर अपने लिए चाय बनाती है. थोड़ी देर तक रानी किए गांड चूसने का लुत्फ़ उठाकर मैंने मुंह नीचे की तरफ करके रानी का नितम्ब चाटने शुरू किये. रिया की नज़र रमेश पर पड़ी और रमेश ने आगे बढ़ कर रिया को अपनी बांहों में कस लिया.

बिना देर किये मैंने अपने क्रेडिट कार्ड की डीटेल्स वहां पर डाल दीं ताकि जल्दी से जल्दी दिल्ली सेक्स चैट मॉडल अस्मि के साथ लाइव वीडियो सेक्स चैट सेशन शुरू हो सके. बहुत ही मस्त नजारा था- एक गठीले शरीर का लड़का, जिसकी बाजुएं काफी मजबूत थी और जिस्म एकदम से कसा हुआ और एब्स भी मस्त थे, वो जीन्स और टॉप पहने हुई एक सेक्सी इंडियन गर्ल के सामने नंगा होकर अपने घुटनों पर था. शुरू में गुड्डी का चुदाई का कोई इरादा नहीं था, लेकिन बेबी रानी को चार बार चुदते देख कर उसको भी ज़ोर की चुदास चढ़ गयी थी.

पर चूंकि रवीना पढ़ने में बहुत मेहनती थी, तो सभी को उसकी आवश्यकता पड़ती.

परंतु जब मैं ध्यान से देख रही थी कि भैंसा का लंड अंदर गया या नहीं भाभी ने मेरी एक चूची को पकड़कर दबा दिया और मैं आनंद से सिसकारी ले कर बोली- आई … क्या कर रही हो भाभी?भाभी मुस्कुरा दी और बोली- यह भैंसा तो बिल्कुल निकम्मा हो चुका है और बेचारी भैंस को तरसा रहा है. मेरे लिए आपके मुख से निकला हर शब्द अमृत है, जिससे मेरी रूह तृप्त हो जाएगी.

बीएफ सेक्सी वाली हिंदी इस कहानी के पिछले भागभाभी की चूत चाटने का मजा-1में मैंने आपको बताया था कि शिवानी भाभी की चूत चुदाई करने के बाद उन्होंने हमारी ही बिल्डिंग की सुमीना भाभी की चूत दिलवाने का भी वादा किया था. हालांकि अभी तक मैं उन दोनों के साथ एक ही बिस्तर पर एक साथ नहीं चुदी थी.

बीएफ सेक्सी वाली हिंदी ये सोचकर मैंने ट्राइ मारने का फ़ैसला किया, लेकिन सलीके से … ताकि भाभी को बुरा ना लगे. इस वजह से हम दोनों कमरे से बाहर निकल कर एक कार टैक्सी करके शहर घूमने निकल गए थे.

मैंने उससे पूछा कि मैं अपने लंड में दोबारा से तनाव कैसे लाऊं?तब उसने मुझे अपना एक राज़ बताया कि वो कैसे मजा लेता है.

दुल्हन मेहंदी फोटो डाउनलोड

अब पायल और प्रतिभा आपस में बात करने के लिए एक दूसरे की ओर झुकते थे, तो दोनों के चेहरे मेरे सामने आ जाते थे. मैंने उसकी पीठ सहलाते हुए उसकी ब्रा के हुक खोल दिए और ब्रा को खींचकर साइड में फेंक दिया। करीब 15 मिनट तक एक दूसरे को चूमने के बाद उसने मुझे नंगा कर दिया और खुद भी पूरी नंगी हो गयी. जब मैंने देखा कि भाभी तो बिल्कुल चुदवाने के लिए तैयार हैं तो मैंने लण्ड को आगे करते हुए एक झटके में सारा लंड भाभी की चूत में उतार दिया।भाभी के मुंह से एक जोर की आवाज निकली- आ…आ… बहुत मजा आया.

उसी की प्यासी भाभी चोदन स्टोरी मैं आप लोगों को सुनाने जा रहा हूं कि कैसे उसका ये सपना हक़ीकत में बदला. ”सानिया मंद-मंद मुस्कुराते हुए कुछ सोचे जा रही थी। शायद अब उसे अपनी जवानी और खूबसूरती का कुछ अहसास होने लगा था।सानिया मैं सच कहता हूँ अगर मैं कुंवारा होता तो मैं तो झट से तुमसे शादी करने को मनाने की कोशिश करता. फिर वहां पर कैसे मैंने आंटी को चूत में गाजर लेते हुए देखकर मुठ मारने का आनंद लिया.

मैंने उनके सामने झुक कर किताब निकाली और अपनी मखमली गांड के नजारे कराने का प्रयास किया.

आज मैंने पहली बार इतना खुल कर मजा लिया, सच में आज तुमने मुझे बहुत खुश कर दिया. भाभी कहने लगी- राज, सालों हो गए हैं, मैं तो ना छोटे से चुदी हूँ ना बड़े से चुदी हूँ. मैं उसकी प्यासी चूत का गाइड कैसे बना, मेरी स्टोरी में जानें!अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरी तरफ से खम्मा घणी! इसके साथ ही बड़े बड़े बूब्स और मोटी गांड वाली सभी भाभियों को मेरे खड़े लंड की तरफ से 21 तोपों की सलामी!मुझे विश्वास है कि जो भी मेरी भाभी सेक्स हिंदी कहानी को पढ़ेगी, अपनी चूत में उंगली जरूर करेगी और मेरा लंड लेना चाहेगी.

मैंने सरोज की स्कर्ट को उसके चूतड़ों से ऊपर उठाया और उन पर हाथ फिराने लगा. फिर निष्ठा अपने दोनों हाथों में तेल चुपड़ कर मेरी छाती पर लगा कर धीरे धीरे मालिश करने लगी. अब गीत ने मेरा लंड छोड़ कर संजय का लौड़ा पकड़ लिया और नेहा उठ कर घूमी और मेरी तरफ़ आ गयी.

आंटी ने अपनी जीभ भी मेरे मुँह में डाल दी थी … मैं तो एकदम से पागल ही हो गया था. मैंने कहा- भाभी, आप तैयार होकर नीचे नहीं आयी? सब लोग पहुँच गए हैं और जयमाला होने वाली है.

मेरा ईमेल है[emailprotected]भाभी सेक्स हिंदी कहानी का अगला भाग:जैसलमेर के रेत के टीले- 2. अपने लण्ड पर कोल्ड क्रीम लगाकर मैंने लण्ड का सुपारा शांति की चूत के मुखद्वार पर रख दिया. इससे भी चैन नहीं मिला तो मैंने सोचा कि कोई सेक्सी रोमांटिक इंग्लिश मूवी भी साथ में लगा लेता हूं.

चाटने के बाद वो उठा और उसने ढेर सारा थूक रिया की गांड पर गिरा दिया जो उसकी गांड से बहता हुआ उसकी चूत तक जाने लगा.

मैं ऐसे बात कर रही थी जैसे मेरे बॉयफ्रेंड में मुझे धोखा दे दिया हो. उसने उसे वहां बिछा दी और बोला- भैया बैठो … आप थक गए हो, थोड़ा लेट लो. मैंने मजाकिया अंदाज में कहा- ऐसा नहीं है, यहां तो लेखक ही पाठकों के बीच खिंचा चला आया है.

उन दोनों मर्दों ने बेरहमी से चोदा है मेरी चूत को, ओह्ह डियर आराम से … आह्ह।उसकी उछलती मोटी गांड को देख कर मैंने अपने लंड को जोर से मुठ मारना शुरू कर दिया. भाभी अपना दाहिना हाथ नीचे ले कर गई और जैसे ही मैंने चोदने के लिए लण्ड को थोड़ा ऊपर खींचा तो भाभी ने लण्ड को अपनी मुट्ठी में भींच लिया.

गुड्डी रानी की कुमारी चूत बेहद टाइट थी, जैसी हर बिन चुदी बुर हुआ करती है. गर्मियों के दिन थे तो मैंने अपने कपड़े उतारे और पंखा चला कर कमरे में फ्रेंची और बनियान में लेट गया. मैं- ओ शशि!मैं शशि भाभी के गालों को चूमने लगा, वो भी मेरा साथ देने लगीं.

कामसूत्र की सेक्सी

फ्री देसी सेक्स गर्ल स्टोरी में पढ़ें कि मैं अपनी कामवाली की जवान बेटी को पटाने के चक्कर में उसे दाने पे दाना डाले जा रहा था.

उसने भैंस को पीछे से उसकी चूत के पास से सूंघा, भैंस ने तभी थोड़ा पिशाब कर दिया जिसे भैंसा ने अपने नथुनों पर गिरा लिया और जीभ से चूत को चाटने लगा. मैंने प्यार से उसकी जंघा पर हाथ फेरा और अपना मुँह उसकी चूत में टिका दिया. बैठने से पहले मैंने अंडरवियर निकाल दी … जिससे मेरा खड़ा लंड उजागर हो गया.

जीजू, तुम मेरे जीवन में पहले पुरुष हो, मेरे तन मन पर तुम्हारा अधिकार जीवन भर रहेगा. लग रहा था कि अगर उसने दो मिनट लंड और न छोड़ा तो शायद मैं उसके मुंह में ही खल्लास हो जाऊंगा. हिन्दी चुदाई वीडियोमैं उनके काले लंबे लौड़े चूस लेती हूं और उनका माल अपनी चूचियों पर गिरवाती हूं.

इससे मेरा ध्यान उसकी बड़ी बड़ी चुचियों पर चला गया और मेरा लौड़ा खड़ा हो गया. नीरजा- आह राज … दर्द हो रहा है इतनी जोर से कर रहे हो!मैं- दर्द तो रात में भी हो रहा था, तब कुछ नहीं बोलीं.

दो मिनट तक मैं भाभी की चूत के छेद पर सुपारे को ही अंदर बाहर करता रहा. जब चाचा दांतों से भी गांठ नहीं खोल पाये तो हमारे जांघिये को एक साइड में खिसका कर चाचा ने अपने लण्ड का सुपारा जांघिये के अन्दर डाला. जैसे ही मैं बोलने लगा, भाभी एकदम बोली- चलो उठो, मैं तुम्हें पहले कमरा दिखा दूँ!और यह कह कर भाभी खड़ी हो गई और मुझे इशारे से बोली- आओ मेरे साथ.

मैंने अपनी गर्लफ्रेंड की बिना धुली हुई पैंटी उठा ली और उसकी चूत की खुशबू लेते हुए लंड को मसलने लगा. मैंने भाभी जी की याद में लंड हिला कर शांत किया और उन्हें बताया कि भाभी जी मैंने मुठ मार ली है. लेकिन जो भी हो फ़ायदा तो मेरा ही था। मेरी सुहागरात मनाने की प्रेक्टिस जो होने वाली थी। तो लीजिये अब हमारी चुदाई की दस्तान जरा विस्तार से सुनिए-फिर क्या था, मैंने उसे गले लगा लिया और बेड पर लिटा दिया। फिर अपने होंठों को उसके सुलगते हुए होंठों पर रख दिया तो वो मुझसे लिपट गई। फिर तो जैसे तूफ़ान आ गया, पता ही नहीं चला कि हमारे कपड़े कब हमारे जिस्मों से अलग हो गये.

इस कारण हमारे ग्रुप में जब कोई नया लड़का आता है, तो एक बार उसका ग्रुप के सभी सदस्यों से परिचय करवा देते हैं.

उसने शीला की एक टांग पर एक उंगली से हल्के से फेरा, ऐसा एक दो बार किया तो शीला फिर करवट ले ली पर इस बार उसके करवट लेते लेते राजेश ने पीछे से उसकी नाईटी ऊपर कर दी. तो जब चुदाई के लिए चूत न मिली तो मैंने घर में पानी वाली एक बोतल उठा ली।आपके घर में भी होगी, प्लास्टिक की बोतल, चौड़े मुंह वाली, जिसमे पानी भरके फ्रिज में रखते हैं।मैंने तो थूक लगा कर उसमें ही अपना लंड घुसेड़ दिया। उस दिन पहली बार चुदाई का मज़ा आया.

यह देख कर मामी ने कहा- तेरा हथियार तो किसी हाथी के लंड के जैसा लग रहा है … कितना मोटा और लंबा है. पर शिलाजीत गर्मियों में नहीं लेना चाहिए यह बहुत गर्म होता है।मेरी भाभी जी बहुत अच्छी हैं वह मेरा और भैया का बराबर ख्याल रखती हैं मेरे मन में भी उनके लिए कोई गलत इरादा नहीं है।दोस्तो, मेरी भाभी जी मेरे और भैया हम दोनों के लिए रात को काले चने, कुछ बादाम, कुछ काजू, दो छुआरे और थोड़े से दाने किशमिश के रोज रात में भिगो देती हैं. नेहा कह रही थी- जब रवि की जीभ नीचे घूम रही थी तब मैं तो बस उड़ रही थी.

मैंने कहा- ईशिता … तू कहां आगे बैठ गयी … मेरे साथ पीछे आजा ना प्लीज़!तो वो बोली- यार क्या तू भी … आज मुझे रुमित के साथ बैठने का मौका मिला है … तो बैठने दे ना प्लीज़. खाना खाने के बाद सरोज ने लड़कियों से कहा- जाओ अपने अपने कमरों में सो जाओ. दरअसल मैं मनजीत को चूम नहीं बल्कि चूस रहा था, उसके जिस्म को मैं जहां भी चूसता, वहां लाल, मैरून रंग का निशान बन जाता.

बीएफ सेक्सी वाली हिंदी ‘फिर?’मैं- फिर अब जो चौथे नम्बर पर भावना आई, उसने मुझको पहले गाल पर किस किया. रात को नहा कर कुछ भी पहनो, मुझे कोई फरक नहीं पड़ता और अब यहाँ कौन आएगा.

गांव की सेक्सी चित्र

रति को भी अपनी गाँड चटवाने में मजा आने लगा था और वो गर्म गर्म आवाजें करने लगी थी. मेरा भाई बोला- मेरी बहना रानी नाराज न हो … आज तो तेरी चूत, गांड फाड़ कर ही तुझे जाने देंगे. मैं घर आया तो उसने ख़ुश हो कर बताया कि उसका पति 4 से 5 दिन के लिए काम के सिलसिले में बाहर गया है.

कोई और बात है क्या?वो बोला- कोई बात नहीं है यार … बस तुम जल्दी से कर लो. सलीम भाई- भैया अब तो आपको इसी की बात मानना पड़ेगी, उतारो अपनी चड्डी और उस पर चढ़ बैठो. मोटी भाभी का सेक्सनीरजा चुदाई के बाद मेरे लंड के जूस को अपने जिस्म पर मल लेती, जिससे उसके जिस्म पर एक चमक आने लगी थी.

फिर मैंने अपने क्लिटोरिस को मसलना शुरू कर दिया और तेजी से उसके लंड पर ऊपर नीचे होने लगी.

” मैंने हंसते हुए कहा।सानिया मोबाइल को गौर से देखे जा रही थी।वह बोली- ऐसा मोबाइल तो तोते दीदी के पास भी था?हाँ उसे दूसरा दिलवा दिया तुम इसे काम में ले लो. मैंने नेहा और बिन्दू की तरफ देखा तो वे दोनों भी बोली- मम्मी ठीक कह रही हैं, आप सामान कल ले आना.

तभी नेहा संजय के लंड पर जीभ से थूक लगाते हुए बोली- अब हम बदला लेंगीं. इसके बाद मैंने एक रिक्शा लिया और एक थ्री-स्टार होटल में पहुंच कर उसी रिक्शे से स्टाफ को वापिस भेज दिया. हैलो दोस्तो, मैं राकेश एक बार फिर से आप सबका स्वागत करता हूं बाप और बेटी की इस राचक कहानी में। इस कहानी के पिछले भाग में मैंने बताया था कि रमेश अपने ऑफिस की सेक्रेटरी को होटल में ले गया और वहां पर उसने अपनी सेक्सी सेक्रेटरी की चूत जमकर चोदी.

रात को आठ बजे तक खाने से निबटकर राजेश ने शीला से कहा- अब क्या प्रोग्राम है?शीला बोली- मैं तो आपकी हूँ, जब चाहें, जैसा चाहें.

अब आगे:मैंने कहा- ऐसा क्या देख लिया मेरी आंखों में, जो इतना शरमा गई?उसने कहा- अब और मत छेड़ो, आपकी आंखें नशीली हैं, मुझे मदहोश कर रही हैं. तुम तो पूरी तैयारी करके बैठी हो।वो बोली- हाँ कपिल, आज की रात मैं ऐसा महसूस करना चाहती हूं जैसे आज दिन में हमारी शादी हुई हो और अब हमारी सुहागरात हो। बस तुम मुझे इतना प्यार करो कि मैं इस दिन को कभी न भूल पाऊँ. भाभियां तो पहले से ही लंड की शौकीन होती हैं लेकिन कुंवारी लड़की लंड को चूसने या चाटने में बहुत नखरे करती है.

साउथ एक्स एक्स एक्स वीडियोउस रात के लिए उसने मुझे अपना मोबाइल फोन दे दिया और साइट की सभी अच्छी फीचर्स के बारे में बताया. भाभी का काम हो चुका था, उनकी चूत ने पानी छोड़ दिया था और वह एक बार निढाल हो गई और मुझसे कहने लगी- राजा, बस बिना हिले मेरे ऊपर लेटे रहो.

मेहरारू चाही सोना

और शायद खुद को डांट भी रही हो कि उसने मुझसे जोर से लिपट कर ऐसी बेशर्मी क्यों दिखाई. थोड़ी देर लिपलॉक करने के बाद मैंने उसके गालों पर धीरे से काटते हुए उससे कहा- आओ मेरी जान … आज फिर कुछ नया ट्राई करते हैं. मनजीत की उम्र भले ही 48 साल थी लेकिन उसके चेहरे की कशिश और बदन की कसावट मेरा लण्ड खड़ा करने के लिए काफी थी.

चूचियों के पास तो कई बहुत बड़े लाल लाल निशान थे, जो सूख कर भूरे रंग के हो गए थे. आपकी खुशी में हमारी खुशी है, आपका स्पर्श हमारे लिए स्वर्ग की अनुभूति होगा, साहब. निशा को देख कर और उससे मिल कर मैंने जाना कि वो सच में प्यार के काबिल है.

अब मैंने बिन्दू से पूछा- क्या तुमने इस निक्कर के नीचे पैंटी पहन रखी है?बिन्दू ने मेरी तरफ देखा और ना में सिर हिला दिया. गुंजन बोली- आप ठीक कह रहे हो शायद।मैंने उसको अपने आगोश में ले लिया और कहा- ठीक है, मैंने अब तुम्हें माफ किया. लेखक की पिछली अन्तर्वासना हिंदी स्टोरी:रेलवे स्टेशन के अँधेरे में मेरी चुदाई हुईहाय फ्रेंड्स, मेरा नाम सुधा है। मेरी उम्र 24 साल की है और मेरा फिगर 36-24-38 का है.

कॉन्डम को मैंने उसके लंड के सुपाड़े पर रखा जो कि मेरे मुंह की लार से चिकना हो चुका था. थोड़ी देर बाद नैना उठ कर बाथरूम में गई और थोड़ी देर बाद फ्रेश होकर वापस आ गयी.

रिंकी की मस्त गांड को देखकर मैंने हल्के हल्के अपने लंड की मुठ मारना शुरू कर दिया.

वैसे वो मुझसे बहुत बात करती थीं लेकिन कभी भी ऐसी वैसी कोई बात नहीं की थी. लड़का लड़का की चुदाईशाही सर ने बड़ी पारखी नज़र से शमा की आंखों में देखा, जो चमक उसकी आंखों में 60000/- सुन कर आई थी. एक सेक्सी ब्लूकरीब 6 महीने पहले मैंने अपनी पहली सेक्स कहानीनयी नवेली कुंवारी दुल्हन भाभी को चोदाअन्तर्वासना पर लिखी थी जिसमें मैंने अपने दोस्त मुकेश जो कि बालाघाट में एमआर (दवा प्रतिनिधि) है. अब पायल और प्रतिभा आपस में बात करने के लिए एक दूसरे की ओर झुकते थे, तो दोनों के चेहरे मेरे सामने आ जाते थे.

इसके अलावा आप लोगों को जो भी लगता है, उससे मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता।मैं हमेशा सत्य घटनाओं पर ही कहानी लिखती हूँ क्योंकि बनावटी कहानियां लिखना और पढ़ना मुझे पसंद नहीं।मेरी सहेलियों दोस्तों से मुझे जो बात पता चलती है उसे ही आप लोगों तक पहुँचा देती हूँ।तो दोस्तो, चलते है आज की सेक्सी जवानी की कहानी की तरफ।आज की कहानी है रंजीता की जो मेरी एक सहेली की कॉलेज फ्रेंड है।रंजीता एक शादीशुदा औरत है.

उसका लम्बा और सख्त लंड मैं अच्छी तरह महसूस कर पा रही थी जो काफी गर्म हो गया था और बार बार झटके दे रहा था. ऐसा मज़ा तो कभी मेरी बीवी ने भी मुझे नहीं दिया था और न ही उससे ऐसा करवाने का ख्याल तक मेरे मन में कभी नहीं आया था. हर तरफ सजावट और खाने-पीने की तैयारियों के साथ ही सुरक्षा व्यवस्था मजबूत की जा रही थी.

उसकी खूबसूरती का गुणगान करने के लिए मेरे पास शब्द और स्थान दोनों की ही कमी है. तो मैंने उसके बेटे के मुंह पर लगी दूध बूंद उठा ली और उसको चाट गया।एक बूंद से तो न तो मुझे कोई स्वाद आया, न कोई मज़ा आया. जहाँ वो कपल बैठे थे वहां मुझे सिर्फ एक सिर नज़र आया।मैं समझ गया कि उनका खेल पहले ही चालू हो चुका है।फिर मैंने तुरंत अपनी बेल्ट खोल ली और गांड को ऊपर उठाकर जीन्स को जांघों तक सरका दिया।रजनी भी सीट के सामने घुटनों के बल आ बैठी.

राज शर्मा हिंदी सेक्सी स्टोरी

फिर मैंने अपनी कमर को धीरे धीरे ऊपर नीचे करना शुरू किया तो निष्ठा की मुट्ठी में मेरा तेल से सना चिकना लंड अच्छे से सटासट अन्दर बाहर होने लगा. कुछ देर इसी जोश के साथ चोदने के बाद उसने लंड को रति की चूत से बाहर निकाल लिया. फिर उसने मेरे लंड को हाथ में लेकर अपनी गांड में सैट करके लंड को बड़ी आसानी से अन्दर ले लिया.

” कहकर मैं स्टडी रूम में रखा मोबाइल ले आया और उसे सानिया पकड़ा दिया।लो भई सानिया मैडम … अब तुम जी भर कर इसमें विडियो और जो मन करे देखा करो.

मेरी कहानी की नायिका है- प्रीति भाभी!जी हां, हम सबकी प्यारी भाभी प्रीति जी। नाम पढ़ते ही सबके लंड खड़े हो गए न? और हों भी क्यों न, प्रीति भाभी कुदरत का करिश्मा जो है और अन्तर्वासना की सबसे उम्दा लेखक भी है।मुझे लगता है कि प्रीति को भगवान ने अपने यहां लॉकडाउन रखकर बड़ी फुर्सत में बनाया है.

सर ने मुझे चोट लगने की दवा दी, जिसे मैंने उनसे ही अपनी गांड में लगवा ली. अनीता अनुभवी खिलाड़ी थी, उसने मेरे लंड को खींचतान कर पैन्ट से बाहर करने की कोशिश की. नंगी पिक्चर चाहिए नंगीतभी पीछे से अनीता की आवाज आई- बस कर कुतिया, रंडी होकर भी कितनी प्यासी है!तब जाकर उसने मुझको छोड़ा और चुंबन को बड़े मोहक अंदाज में विराम दिया.

मेरी चुदासी तड़पती साली के मुंह से निकली एक एक सिसकारी और एक एक शब्द मेरे अंदर मानो चिंगारी भड़का रहे थे। उसने मुझसे पोज चेंज करने को कहा तो मैंने उसे अपनी गोद में बैठा लिया. फिर अगले दिन स्कूल में उदय सर और प्रिंसीपल सर से चुदने के बाद छुट्टी के समय मैंने अपने क्लास में ही सबके जाने के बाद कपड़े बदल लिए और कबड्डी सीखने चली आयी. गीत के इस तरह लंड चूसने से मेरे मुंह से कामुक सिसकारियां निकलने लगी थीं- उम्ह्हह्ह … सीसी … उफफ … साली चुदक्कड़ बेबी … चोद दिया मेरा लंड उफ्फ … अह्ह्ह … सी सी सी सी … अह्ह्ह … डार्लिंग।दोस्तो, गीत लंड चूसने में इतनी माहिर थी कि उसका मुकाबला कोई नहीं कर सकता था.

मुझे जल्दी से नंगा करके घोड़ी बना दिया और मेरे पीछे आकर अपना लण्ड मेरी गांड के छेद पर टिका दिया. रिया- फिर बातें क्यों चोद रहे हो? आओ, शुरू हो जाओ।रमेश ने झट से अपना तौलिया उतार कर फेंक दिया और अपनी बेटी के सामने पूरा नंगा हो गया.

मैंने फिर उसके कानों में कहा- नेहा इस आलिंगन का मैं क्या मतलब समझूं?नेहा ने मुझसे लिपटे हुए ही, शरमा कर कहा- तुम इतने भी नासमझ तो नहीं लगते.

भाभी- कहां जा रहे हो?मैं- भाभी दूध लेने मार्केट जा रहा हूँ … आज टिफिन भी नहीं आया है, तो कुछ खाने का भी लाना है. हमारे बीच तब सिर्फ मां बेटे का ही रिश्ता था … लेकिन आज की बात अलग थी. मुझे बताओ कि तुम्हें क्या पसंद है जो तुम्हें उत्तेजित करता है? या फिर मैं ही अपना कौशल दिखाती हूं!मैं- मुझे पूरा यकीन है कि मेरी फेंटेसी की तरह तुम्हारा सरप्राइज़ भी बहुत मजेदार होगा.

क्सनक्सक्स देसी मेरा लंड ऐसे काम कर रहा था जैसे किसी गुफा को खोदते टाइम ड्रिल मशीन को अन्दर-बाहर करते हैं. रुचि भाभी (दर्द में सिसकारते हुए)- निलेश बेटा … प्लीज बेडरूम में अंदर आ जाओ.

वो भावुक होकर बोली- सच में … तुम मेरी जिंदगी में नया बदलाव लेकर आये हो. हमने बहुत देर तक गरबा खेला … पर गरबा खेलते खेलते रुमित मुझे बार बार देख रहा था … और चांस देखकर मुझे टच कर रहा था. मैंने उसे बैठने दिया, अब गाड़ी की पिछली सीट पर एक ओर का दरवाजा पायल ने खोला, तो दूसरी ओर का प्रतिभा ने.

लड़की को चोदते हुए सेक्सी

अरे यार ये कसम वसम मत दिलाया करो, अब बताना भी तो आसान नहीं कैसे बताऊं?” मैंने टालते हुए कहा. हाय राज मेरी चूत … से पानी … निकल गया!और कुछ झटकों के बाद भाभी की चूत ने फिर पानी छोड़ दिया. मेरा भाई लंड ठोकता हुआ बोला- ले साली … और अन्दर ले … तू तो मेरी रंडी है ही साली.

एक बार मेरा मन नहीं था तो मैंने मना कर दिया तो भाभी बोली- खा लीजिए देवर जी, इससे वीर्य गाढ़ा होगा।ये चीज़ें आप लोग भी खा सकते है आपको एक सप्ताह में ही फर्क दिखना शुरू हो जायेगा।एक बार भाभी जी छत पर थी. मैंने नेहा की एक टांग को बेड पर रखा और उसकी चूत में लंड डाल कर, उसे उसके चूतड़ों से पकड़ कर ठोक लगाने लगा.

झड़ने के बाद मामी बोलीं- तू कितना अच्छा है रे … और ये तेरा लंड तो सच में महान औजार है.

फिर वो शरमा कर कमरे में चली गयी और मैं अपने ऑफिस चला गया।शाम को जब लौट कर आया तो उस टाइम भी मेरे साढू साहब घर पर ही थे क्योंकि उनका ऑफ था. वहीं की नर्स से मैंने अपनी तबियत के बारे में बताया तो उसने कुछ दवाइयां लाकर मुझे दे दीं और मुझे घर जाकर आराम करने के लिए बोला. 30 दिसंबर तक मेरा यही प्लान था क्यूंकि आयेशा (मेरी छोटी बहन) और साहिल (मेरा छोटा भाई) दोनों ने आने से मना कर दिया था.

प्रिंसीपल- जब क्लास में तुम्हारे सर बताते हैं, तब जो समझ में नहीं आता, वो उनसे क्यों नहीं पूछती?मैंने थोड़ी हिम्मत करके कहा- सर से बार बार पूछो, तो वो डांट देते हैं. मैंने उसके मम्मों को ब्रा के ऊपर से ही चूमना और हल्के से काटना शुरू कर दिया. अब मेरा हाथ उसकी कमर से होते हुए नीचे टिक गया और मैंने उस सेक्सी गर्ल को अपनी ओर खींच कर अपने सीने से सटा लिया और उसके होंठों पर अपने होंठों को रख कर एक प्यार भरा किस दे दिया.

मैंने अपना लंड उसकी चूत के मुँह पर अच्छे से रखा और एक ही झटके में तोप के गोले की तरह उसकी चूत की सुरंग में पेल दिया.

बीएफ सेक्सी वाली हिंदी: उसने टेबल को साइड में किया और मेरे दोनों पैर नीचे करके खुद घुटनों के बल बैठ कर करिश्मा दिखाने लगी. मैं उनके काले लंबे लौड़े चूस लेती हूं और उनका माल अपनी चूचियों पर गिरवाती हूं.

जिससे वो नीचे से उचक उचक कर झड़ गयी और फिर बेजान सी होते हुए पस्त पड़ गयी. टीन फर्स्ट टाइम सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैंने अपनी युवा कामवाली की कुंवारी बुर की सील तोड़ी तो क्या हुआ और कैसे हुआ. फिर कमल ने मेरे ब्लाउज को उतार दिया और मेरी मोटी मोटी गोरी चूचियां उन दोनों मर्दों के सामने नंगी हो गयीं.

वो मुझे घपाघप चोदने लगा। उसके पट्ट पट्ट के जोर के धक्के और उसका लंड मेरी चूत में गहराई में जा जा के मुझे पूरे मजे दे रहा था।हम दोनों के ही मुंह से जोर ज़ोर से अहह … आ … आहह … निकल रही थी.

फिर मैंने जोर से धक्का दे दिया, तो मेरा आधा लंड मम्मी की चुत में घुसता चला गया था. जैसे जैसे मैं उसके जिस्म का निरीक्षण कर रहा था वैसे वैसे मेरी मां के बारे में मेरे मन में शरारत भरे ख्लया आ रहे थे. रुमित बोला- आशना तुम कार में अपने कपड़े चेंज कर लो, हम सब यहां ही खड़े हैं.