भोजपुरी सेक्सी बीएफ मूवी

छवि स्रोत,घोड़े की बीएफ सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्स वीडियो डांस: भोजपुरी सेक्सी बीएफ मूवी, उसकी हरेक जम्प के साथ उसके चुचे भी उछल रहे थे, जो अलग ही नज़ारा पेश कर रहे थे.

घोड़ा का बीएफ सेक्सी

जब मेरे एग्जाम खत्म हुए, तब फिर से मेरी यौन कुंठा ने मेरे लंड पर दस्तक दी. बीएफ सेक्सी भेजो चलने वालीमैं अंशु, मेरी पिछली कहानीमुँह बोली साली को पटाकर चोदाआपने कुछ दिन पहले पढ़ी होगी.

मैं- किससे … दोस्त से या सेक्स से या मुझसे!मीता- दोस्त से … मुझे उस पर विश्वास नहीं हो रहा है. बीएफ दादा वीडियोफिर मेरी जानू की आवाज आई- भाभी, आपके पपीते तो बहुत बड़े हो गई हैं, लगता है मेरे भैया रोज़ इसकी खातिरदारी करते हैं.

गुप्ताइन हाथ से टटोल कर साइज का अन्दाजा ले रही थी और मैंने उसकी चूची मसलना शुरू कर दिया.भोजपुरी सेक्सी बीएफ मूवी: दोस्तो, आपको मेरी कहानी कैसी लगी? अगर कहानी अच्छी लगी हो तो मुझे मेल जरूर करना.

मैं उठा, अपने कपड़े लिये और कमरे में आ गया क्योंकि अब मामा-मामी के भी जागने का टाईम हो रहा था। सुबह जब मैं सोकर उठा तो पता चला कि शुभ्रा की तबियत ठीक नहीं है इसलिये वो पढ़ने भी नहीं जा रही.लंड बड़ी तेज़ी से उसका पूरा मुंह पार करता हुआ धड़ाम से उसके गले से जाकर टकराया.

साउथ का सेक्सी वीडियो बीएफ - भोजपुरी सेक्सी बीएफ मूवी

तभी एक कार आकर मेरे बगल में रुकी और कार में सवार आदमी ने मुझसे पूछा- कहीं जाओगी क्या आप?मैंने ना में अपना सर हिला दिया.रानी का मुंह उसके मुख रस से लबालब था, लौड़ा अंदर बाहर होता तो सड़प … सड़प … सड़प की आवाज़ें निकलती.

उसने तुरंत ही जूली के मुंह के साथ ही अपना मुंह भी सटा कर मेरे लंड के सुपाड़े की तरफ वीर्य की आस में लगा लिया. भोजपुरी सेक्सी बीएफ मूवी कुछ देर चूसने के बाद वह उठ गयी और बोलने लगी कि बहुत हो गया अब मुझे रोटी बनाने दो.

मैं भी थक चुका था, तब भी मैंने दारू की बोटल मुँह से लगा कर नीट खींची और भाभी की चूत पर पिल पड़ा.

भोजपुरी सेक्सी बीएफ मूवी?

मैंने पूछा- तुम्हारी चूत इतनी कसी हुई कैसे है?वो बोली- तुम्हारे भाई ने मेरे साथ कुछ किया ही नहीं है. करीब रात 11:30 बजे उसका फोन आया और उसने कहा- तुम जल्दी आ जाओ, सब सो रहे हैं. उसका अदा खान जैसा प्यारा उत्तेजक चेहरा मुझे उसके मुंह में अपना लन्ड ठूसने के लिए प्रेरित कर रहा था। एक बार फिर से हम एक दूसरे के होंठों के रस को अपने अपने मुंह में खींचने लगे.

मैंने एक पॉर्न मूवी में देखा था और बहुत दिनों से चाह रही थी कि कोई मेरे साथ ऐसे ही चुदाई करे. वहां पर हमने आराम से पूरे मज़े लेते हुए चुदाई का दूसरा राउन्ड पूरा किया. मैरी मेरा लंड चूसते हुए ऐसे लग रही थी जैसे किसी पोर्न मूवी का सीन चल रहा हो.

मगर मैं फिर भी उनके लंड को आगे-पीछे करती रही यही सोच कर कि जीजा जी अभी शायद स्तनपान में व्यस्त हैं. मेरी बात सुनकर तुषार ने मेरी गांड में ही अपना लंड हिलाना शुरू कर दिया. कभी होटल में रूम लेजा कर चोदा तो कभी किसी सुनसान जगह पर क्विक फक किया.

लंड चुसाई का मजा और बढ़ाने के लिए मैंने पैंट को ऊपर से खोल दिया और उसके बाद धीरे से अपनी पैंट को नीचे सरका दिया. भैया मुझसे हमेशा अकेले में बात करते थे और जब उनकी पत्नी मेरे साथ होती थी तो वो बहुत कम मुझसे बात करते थे.

उसके बाद मैंने दीपाली के कान में धीरे से उससे पूछा- दीपाली क्या मैं तुझे चोद दूँ?उसने सिसकारी लेते हुए कहा- हां मेरे राजा … जल्दी से चोद दे … मैं मरी जा रही हूँ … तेरे लंड से अपनी चुत की प्यास बुझाने के लिए … जल्दी अपना लंड मेरे चुत में डाल के मुझे अपनी रंडी बना ले.

मुझे जब लगातार बहुत बार चुदाई करनी होती है, तभी मैं इसका सेवन करता हूँ.

मैं आपको बता दूं कि मैं और मेरे मामा का लड़के का एक दूसरे का घर आना जाना रहता था. डॉक्टर मुस्करायी और बोली- आमिर, अंडरवियर भी उतारिये, मैंने आपको बचपन में कई बार नंगा देखा है और फिर डॉक्टर से कैसी शर्म?मैंने धीरे धीरे अंडरवियर नीचे कर दिया और लण्ड सरसराता हुए तन कर बाहर आ गया. जब मैं पहुंचा तो रंजना पहले से ही अरहर के पौधों के बीच में खड़ी हुई मेरा इंतजार कर रही थी.

क्योंकि तीसरी बार क़ुबूल है कहते ही अगले एक झटका दे मारा और पूरे लंड को गटक गई. और कब यह चुम्माचाटी लिपटा लिपटी में बदल गयी, कुछ पता नहीं चला और पापा ने लण्ड पूरा मेरी चूत में उतार दिया तो उसमें से खून निकलने लगा. शायद अपनी जिंदगी में पतियों की अदला बदली करने के इतने यारानों में मुझ सा यार तुम्हें कोई मिला नहीं। मैं तुम्हारे पति के अलावा तुम्हें चोदने वाला पहला इंसान हूं और शायद तुम्हें मुझसे प्यार भी है।रीना- ओहो … तो राजवीर ने तुम्हें भी हमारे सभी अदला बदली के जोड़ों के बारे में बता रखा है। यार उसको कोई नहीं समझ सकता.

फिर चूत से गांड की तरफ, फिर कूल्हों को मसलते हुए कूल्हों को फैला दिया.

आशा है पहले की कहानियों की तरह यह भी आप सब पाठक पाठिकाओं को पसंद आएगी. मैं- आपका तो हो गया … पर मेरा?यह कहते हुए मैंने मौसी के हाथ को पकड़ पर अपने लंड पर रख दिया, जो काफी टाइम से अकड़ा हुआ था. एक-दो बार उन्होंने पास आने के लिए बोला भी, पर मुझे उनको तरसाने में मजा आ रहा था.

मैं मंजू को बोला- मंजू, क्यों ना एक एक पेग हो जाये?वो बोली- हां, मुझे भी इस समय सख्त जरूरत है. साली!! तेरी चूचियां तो केवल जोर से मरोड़ने के लिए बनी हैं!” रवि बॉस बोला और अगले 7-8 मिनट उसने बड़ी बेदर्दी से मेरे दूध की निप्पल्स को मरोड़-मरोड़ के भर्ता बना दिया. मैं- क्यों क्या हुआ? मजा तो तुमको भी आ रहा था।शुभ्रा- हाँ तब आ रहा था लेकिन पूरी रात मेरी चूत में जलन होती रही और पेशाब करने जब मैं उठी तो लंगड़ा रही थी तो डर के मारे मैं लेटी रही कि कहीं मम्मी ने पूछ लिया तो मैं क्या जवाब दूंगी, इसलिये तबियत खराब होने का बहाना बना दिया।मेरी मानो तो तुम भी ऐसा ही करो.

इन्टर पास करने के बाद मेरी इच्छा ग्रेजुएशन करने की और उसके बाद कम्पटीशन की तैयारी कर बैंक जॉब या अन्य कोई जॉब हासिल करने की थी.

इसके अलावा नीचे दिये गये कमेंट बॉक्स में भी अपने विचार रख सकते हैं. लेकिन जब मैंने घर पर बोला कि ऐसे मुझे बाहर जाना है काम से दो दिन के लिये … तो मेरी पत्नी भी मेरे साथ जाने के लिये तैयार हो गयी.

भोजपुरी सेक्सी बीएफ मूवी और मैंने पेटीकोट में हाथ डालकर उसकी चूत अपनी मुठ्ठी में दबा ली और अपने होठों से उसके होंठ सिल दिये. इसलिए यह सोचकर मैंने खुद को वहीं पर रोकने का फैसला कर लिया और आगे नहीं बढ़ा.

भोजपुरी सेक्सी बीएफ मूवी फिर तेरी ऐसी चुदाई करूँगा कि तूने कभी सोचा भी न होगी … और मैं भी वैसा कभी कर नहीं पाया होऊंगा. इसके बाद कहने को कुछ ख़ास नहीं है, इन्टर पास करने के बाद अंकल जी की सहायता से मैंने कॉमर्स में ग्रेजुएशन किया साथ ही मैं पूरी मेहनत से कम्पटीशन की तैयारी करती रही.

उसका खड़ा लंड देखकर ही मैं इतनी कामातुर हो गयी थी कि मैंने उसके नंगे होते ही उसका लंड पकड़कर अपने मुँह में ले लिया.

हाथी मेरा साथी

मैं जब अपने कपड़े निकाल रही थी तो भार्गव मुझे एसे ताड़ रहा था … मानो आज मुझे खा ही जाएगा. दोस्तो, मैं आपका रवि खन्ना, एक बार फिर से नीरजा के बाद अमीषी की पलंग तोड़ चुदाई का अगला भाग लेकर हाजिर हूँ. मुझे तो उसकी चूत की आदत पड़ गयी थी, इसलिए उसकी शादी के बाद उसके बिना मुझसे रहा नहीं गया.

और वो एक के बाद एक ऐसे करते हुए मुझसे सब मोबाइल के बारे में जानने लगी पर मेरी नज़र उनके बूब्स पर ही थी और मेरा लंड वापिस तन गया था जो दी ने देखा. ऐसा होने के बाद मैं क्या ‘मैं’ रह पाऊँगा? लेकिन कुछ फैसला तो लेना ही था और फिर मैंने फैसला ले ही लिया. मैंने लाईट बन्द करके अपनी मैक्सी ऊपर कर ली और अपनी चूत में उंगली करने लगी और मजा लेकर पानी निकाल कर सो गयी.

इस चुदाई के दंगल का मजा लेने के लिए आप मेरे साथ अन्तर्वासना से जुड़े रहिए.

दी ने खाना खा लिया और जहाँ मैं बैठा था, वहाँ एकदम बाजू में आकर लेट गई, कहने लगी- मैं 5-10 मिनट आराम कर लेती हूं, उसके बाद झाड़ू और पौंछा लगाती हूँ. दीपिका- राज, आपके रूम में चलें, मुझे वहां और भी अच्छा लगेगा?मैंने कहा- ठीक है, आओ. फिर उसने मुझे खुद ही धक्का देकर नीचे गिरा लिया और मेरे खड़े हुए लंड पर बैठ कर उछलने लगी.

जीजू, लो देख लो अपनी करतूत!” साली जी मुझे गीली लुंगी दिखाते हुए बोलीं. वो जानबूझकर अपने बूब्स एक के बाद एक ऊपर कर रही थी अब उसके दोनों बूब्स आधे बाहर थे और उसका एक हाथ पूरी तरह मेरे लंड पे था. एक दिन वो मशीन में बैठ कर शोल्डर की एक्सरसाइज कर रही थीं और मैं लगातार उनको घूर रहा था.

इस बार उसे दर्द नहीं हो रहा था तो दोनों एक इस चुदाई का भरपूर मजा लिया. भार्गव ने रुमित को फ़ोन करके बोल दिया … और मुझसे कहा- आओ हम दोनों अन्दर बैठ जाते हैं वरना खड़े खड़े थक जाएंगे.

रीना ने मेरे लंड पर अंडरवियर के ऊपर ही एक कोमल सा चुम्बन दे दिया और मैं मस्ती में भर गया. पहले तो मुझे समझ में ही नहीं आया कि क्या ये सच में मेरे साथ हो रहा है या मैं सपना देख रहा हूँ. ” रानी ने मुझे कन्धों से पकड़ के उठा दिया और पास की मेज पर रखे गिलास को उठा कर मुझे दिया.

दिलिया झूले पर आ गयी, मैं दूसरे झूले पर आ गया और दिलिया मेरे लण्ड पर बैठ गयी और मुझे चूमने लगी.

फिर मीरा ने रितेश से कहा कि जब से तुमने मुझे अपनी गोद में उठाया था, तब से ही मैंने ठान लिया था कि मैं तुमसे चुद कर ही रहूँगी. उसके बाद मैंने उसको पीने के लिए एक गिलास पानी दिया और हम दोनों लोग एक दूसरे से बात करने लगे. आने के बाद जीजा जी ने फिर से मुझे अपनी गोद में बैठा लिया और मैं नंगी ही उनकी गोद में जाकर बैठ गई.

पांच सात मिनट होंठों को चूसने के बाद अलग होकर बोला- शराब पीकर ही नशा करना है तो इस से अच्छा है कि आप शराब का घूंट लीजिए और जिन होंठों से आप शराब पी रही हैं, मुझे बस ये होंठ पीने दीजिए, मुझे तो नशा ऐसे ही हो जाएगा. तभी नीचे से अमन की आवाज आई- विपुल कितनी देर लग रही है?मैं- अमन भाई, बस आ रहा हूँ.

वाह! क्या अहसास था वह … वो काफी देर तक मेरे लंड को मजे लेकर चूसती रही और मुझे भी मजे देती रही. उसके बाद जब हम तीनों अपने रूम में आए, तो फिर से वो दोनों मेरे ऊपर टूट पड़े और सेक्स का नंगा नाच हुआ. वो बोला- पहले कुतिया बनकर चूस इसे। अपने थूक से नहला दे इसे साली कुतिया। तेरी गांड तो पहले से ही गीली है।रिया झुककर कुतिया बन गयी और अपने बाल संवारते हुए लण्ड को अपने प्यासे मुंह में गले तक ले गयी।वो लण्ड चूसने की उस्ताद थी। पापा का लंड उसे वाकई बहुत कड़क लग रहा था। उसने अपनी जुबान का भरपूर उपयोग किया। रमेश के आण्डों को सहलाते हुए वो उसका लंड मस्ती में चूसने में पूरी मग्न थी.

दो लड़की एक लड़का

मैंने ब्रा उसके हाथों से ली और नाक के पास ले गया। उसमें उसके परफ्यूम की खुशबू आ रही थी। मैंने एक लंबी सांस ली और उसे अपने अंदर उतार लिया.

मुझे बर्दाश्त नहीं हो रहा था, लेकिन मैं फिर भी सोने का नाटक किये पड़ी हुई थी. बाद में अंकल सोसाइटी के चेयरमैन बन गए, फिर तो शाम को सेक्युरिटी को किसी काम के लिए बाहर भेज कर पार्किंग के पास एक बंद कमरे में हमारा चुदाई का कार्यक्रम चलने लगा. पर मुझे 10 मिनट बाद निकलना था और मुझे वो 10 मिनट 10 घंटा लग रहे थे.

मंजू बोली- भड़वे ऐसा कर के दिखा?मैं उठा, उसके ब्लाउज को जोर से खींचा. मैंने उसके गाल पर एक किस करते हुए हंस कर कहा- हम्म … मुझे लग रहा है अब तू मेरा ब्वॉयफ्रेंड बनने लायक हो गया है. नाचने वाली सेक्सी बीएफनेहा की अपने हस्बैंड से नहीं बनती थी, प्रेग्नेंसी के बाद से झगड़ा होने के बाद अपनी माँ के पास आ गई थी और बच्चे की डिलीवरी भी यहीं हुई थी.

मेरी बात सुनकर बोली- ओके मूत के आओ, तब तक मैं हम दोनों के लिए दूध बनाती हूं. तत्काल वसुन्धरा की आँखें नशीली होने लगी और एक सिहरन की लहर वसुन्धरा के पूरे शरीर में से गुज़र गयी.

” कह कर वसुन्धरा ने अपने दोनों हाथों से मेरा सर नीचे कर के मेरा चेहरा चुंबनों से भर दिया. ब्यूटीफुल होल …” शर्मा सर नजदीक से मेरी चुत को आंखें फाड़ कर देख रहे थे- इतनी सुंदर चुत मैंने अपनी जिंदगी में नहीं देखी!सर … आप भी मेरी तरह नंगे हो जाओ ना!” मैंने कामुक आवाज में उनको कहा. अब मेरा लंड कुप्पी के अन्दर था और मुझे अपने लंड को पकड़ने की जरूरत भी नहीं थी.

मैं बोली- तू टेंशन मत ले, आज तेरे पापा को मैं इतना खुश करूंगी कि वो तेरी तरफ नहीं देखेंगे. साथ ही लंड घुसते ही मेरी जांघें मोनी की जांघों से टकरा गईं और एक पट्ट की सी आवाज हो उठी. सुबह निहारिका का फोन आया और उसने कहा- सुना तुमने, इससे तुमको पता चला गया होगा.

वो मेरे सफ़ेद गले, चूची, क्लीवेज, मेरे गाल सब जगह पर चुम्मा ले रहा था.

मेरे हाथ सीधे ही उसके चूचों पर पहुंच गये और मैंने उसके चूचों को जोर से दबाते हुए अपना लंड उसकी गांड पर रगड़ना शुरू कर दिया. किचन में घुसते ही रितेश ने, चूतड़ पीछे करके खड़ी मीरा की नाइटी उठाई और पीछे से अपना मुँह मीरा की गीली चुत पे रख कर चुत चूसने लगा.

तो आप लोगों को क्या लगा? क्या मैंने सही फैसला लिया? या मैंने गलती की?आप अपनी राय मुझे जरूर बताना।[emailprotected]. फिर मैंने अपनी पैंटी देखी, उसमें सफ़ेद सफ़ेद सा कुछ गाढ़ा सा लगा हुआ था. वो मेरे होंठों को किस करने के बाद मेरे पीठ को सहलाने लगा और उसके बाद वो मेरे गांड को मसलने लगा.

उसने हमसे बैठने के लिए कहा और बोला कि मैं आप लोगों के लिए एक और सीट देख कर आता हूँ. उसकी बात का जवाब न देकर मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी और लगभग 15-20 मिनट की पलंग तोड़ चुदाई करके आखिर कार अपने लंड से वीर्य की पिचकारियाँ मार मार कर उसकी चूत को भर दिया. तो उसने बोला- सर आप भी साथ में चलिए न?मैंने बताया- नहीं आप जाइए, मैं आज टिफिन नहीं लाया.

भोजपुरी सेक्सी बीएफ मूवी अगली सुबह देर से आँख खुली; सात बज चुके थे और दिन चढ़ आया था तो अब मोर्निंग वाक पर जाने का तो प्रश्न ही नहीं था अतः यूं ही अलसाई सी लेटी रही और मन में उधेड़बुन चलती रही, सोचती रही कि सुरेश अंकल के यहां जाना है; अंकल जी ने मेरे ही कारण आंटी जी को मायके भेजा होगा और अब खुद ऑफिस से छुट्टी लेकर घर पर मेरे इंतज़ार में बैठे होंगे. उसके बाद हम दोनों ने यहाँ-वहां की कुछ बातें की और कुछ चुदाई की बातें की.

मुझको ऐसी हाई फाई एक लुगाई चाहिए

उसकी चूत में जबरदस्त चिकनाई आ गई थी जिस वजह से मेरा लंड सटासट अन्दर बाहर होकर उसकी बच्चेदानी तक जाकर उसको चुदाई का मजा दे रहा था. मेरे प्रिय दोस्तो, मैं फिर से हाजिर हूं अपनी सेक्सी कहानी का अगला भाग लेकर।अभी तक आपने पढ़ा कि मैंने और सुमन ने पंचमढ़ी के होटल के कमरे में चूत और गांड की चुदाई का कितना मजा लिया. मूतने के बाद वो मुड़ी और मुझे देखकर आंखें मटकाईं, जैसे पूछ रही हो कि पीछे-पीछे क्यों आए हो.

ऐसा हुआ कि एक दिन जब वो कोचिंग से बाहर आयी, तो हम कुछ खाने के लिए मैकडोनाल्ड चल पड़े. मैं मदहोशी से बेहोशी की ट्रिप पर निकल चुका था और अनिल भैया मेरे हाथ पैरों को पकड़ कर मुझे होश में लाने की कोशिश कर रहे थे. जानवर वाली बीएफ हिंदी मेंअचानक ऑटो में पानी के कारण कुछ खराबी आ गई, बहुत कोशिश के बाद भी ऑटो स्टार्ट नहीं हुई.

हम सबसे ऊपर रहते थे। चौथे फ्लोर अभी कोई नहीं आया था जैसा कि मैंने बताया कि यह बिल्डिंग अभी नई थी। तीसरे माले पर दो फैमिली रहती थीं।हम लिफ्ट में घुसे.

जब मैं थक गया, तो मैंने मानसी को बोला- बेबी, तुम हॉर्स राइडिंग करने आ जाओ. वो बोली- जैसे ही तू मेरे पीछे से हटा और दौड़कर कमरे की तरफ आया, मैं भी तेरे पीछे-पीछे आ गयी.

अपनी उंगली को मैंने उसकी पैन्टी में फंसाया और झटके में उसके दोनों कपड़ों को नीचे कर दिया और हल्के से उस प्रारम्भिक जगह को चूमा जहां से शुभ्रा की चूत शुरू होती थी. उनसे बात करते हुए मुझे पता चला कि वो यहाँ 10 दिन रहेगी क्योंकि उनके घर पे उनके रूम का रिनोवेशन हो रहा है. इस समय उसने बीएफ वाली लड़कियों को भी लंड चुसाई में मीलों पीछे छोड़ दिया था.

मुझे अपनी गोद में बिठाकर रवि अपने दोनों हाथों से मेरी निप्पल्स को मरोड़ने लगा.

वसुन्धरा लपक कर मेरे पास आयी और अपने दोनों हाथों से मेरा हाथ पकड़ कर बोली- न न! आपका तो इसमें रत्ती भर भी कसूर नहीं, आप अपना मन भारी न करें. हीना कुछ देर धीमी गति से कमर हिलाती रही, फिर शांत होकर उसने मेरे सीने पर सर टिका दिया. ऐसे ही एक बाद मेरे भी दिल में भी ख्याल आया कि क्यों न मैं अपनी आपबीती सौतेली मां की चूत चुदाई की सच्ची सेक्स कहानी को आपके साथ शेयर करूं.

बीएफ नागपुरकोई दस मिनट किस करने के बाद थॉमस ने मेरी नाइटी के बटन खोलना शुरू किए और मेरी नाइटी उतार कर फर्श पर फेंक दी. यह कहानी उस समय की है जब मैं 22 वर्ष का था और यूनिवर्सिटी में एमबीए की पढ़ाई कर रहा था.

शिल्पा राज के वीडियो सेक्सी

”सच में नीतू दो दिन में बहुत अच्छा सीख गई हो, तुम्हें तो इनाम मिलना चाहिए. ईइय … अंकल … कुछ भी … ”ईस्स्स क्यों? … बड़ा मस्त टेस्ट है … तुम्हें चाहिए क्या?” उन्होंने उंगली मेरी तरफ घुमाते हुए कहा. उधर नम्रता अपनी जीभ से पानी की धार को काटते हुए मेरी तरफ बढ़ रही थी और बढ़ते-बढ़ते उसने गप से लंड को मुँह के अन्दर ले लिया.

हेतल ने मेरे लंड को अपनी चूत से निकाला तो वो सिकुड़ने की राह पर चल पड़ा था. हमने एक दूसरे से अपने मोबाइल नंबर ले लिए थे और अब हम दोनों व्हाट्सैप पर भी एक दूसरे से जुड़ गए थे. चाची की गर्म चूत में मेरा गर्म लौड़ा जाते ही जैसे स्वर्ग सा मिल गया मुझे.

लंड को हाथ में लेकर कुछ देर सहलाने के बाद उन्होंने मेरे लंड को मुंह में ले लिया. नम्रता पूरी तरह झड़ चुकी थी, लेकिन मेरे लंड की खुजली मिट नहीं रही थी. ”तभी मेरी मम्मी ने आवाज़ लगाई- विपुल, तेरा फोन बज रहा है … देख कौन से दोस्त ने फ़ोन किया है.

तो चलिए गौर फरमाते हैं एक और हसीना की चीखों पर!बात कुछ दिनों पहले की है जब मेरी मुलाकात एक और हसीना. चाची बोलीं- आज ना सही … कल तो तुझे मेरी बुर को चाटना ही पड़ेगा … मैं तुझे बुर चाटना सिखा दूँगी.

अब मीना को उसकी पति की याद नहीं सताती है और मैं भी उसे पाकर खुश हूँ.

मैं बोली- तू टेंशन मत ले, आज तेरे पापा को मैं इतना खुश करूंगी कि वो तेरी तरफ नहीं देखेंगे. बीएफ कॉल रिकॉर्डिंगलंड को थोड़ा सा बाहर निकाला और फिर एक जोरदार झटका मारा लंड उसकी बुर फाड़ता हुआ आधा अन्दर घुस गया. ओड़िया बीएफ बीएफमैं भी चूत चाटे जाने से एकदम मस्त हो उठी और मादक सिसकारियां लेने लगी. उसने अपना लंड मेरे मुँह में देना चाहा, लेकिन मैंने मना कर दिया तो उसने कोई जबरदस्ती भी नहीं की.

इस घटना में मैं आपके साथ अपना वो अनुभव साझा करना चाहता हूँ कि कैसे मेरी चाची ने मुझे चुदाई करना सिखाया और मेरी चढ़ती जवानी को निखार दिया.

मैं बोली- हाँ मेरे राजा … आज तू मेरा पूरा मज़ा ले ले … मैं तेरे बिस्तर की रानी हूँ. दोस्तो, कैसी लगी मेरी सच्ची कहानी?एक बात और पूछना चाहता हूँ दोस्तो … मेरे पास एक सच्ची कहानी और भी जिसमें मैंने होटल में जाकर एक लड़के से अपनी गांड मरवाई है. उसकी सीत्कारों की वजह से पंद्रह-बीस मिनट में ही मेरे लंड ने उसकी गांड में थूक दिया.

मैंने बियर की 8-10 केन खरीद लीं और फिर टैक्सी पकड़कर उसके घर की तरफ चल दिया. उसके बाद उसने नीचे से अपनी चूत को उछाला और मेरा लंड उसकी गीली चूत में उतर गया. मैंने अपने हाथ को लहँगे के अंदर ही बाहर (लहँगे) की तरफ उठा कर ऊपर से नीचे, दाएं से बाएं फिरा कर देखा, कहीं कोई अटकाव नहीं था लेकिन चुनरी तो अभी भी लहँगे के अंदर ही फंसी हुई थी.

मराठी मूवी सेक्सी विडिओ

आई एम् सॉरी …” कहते हुए वसुन्धरा मुझ से अलग़ हुई और बॉथरूम में जा घुसी. यह शहर का सबसे अच्छा सिनेमा हॉल था। मैं उसके साथ पहले भी यहाँ आ चुका हूँ। यहाँ भीड़ काफी कम होती है. कुछ पहले से ही सूजन थी ऊपर से जूली की कसी हुई चूत और साथ में सारा की चुदाई करके लंड लाल गाजर के जैसा हो गया था.

फिर बारी-बारी से अपनी दोनों उंगलियों को चाटते हुए मेरे लंड पर अपनी जीभ चलाने लगी.

फिर अपना तना हुआ लौड़ा उसके छेद पर लगाया और उसके चूतड़ों को अपनी तरफ खींचते हुए अपना लंड उसकी गांड में घुसा दिया.

अरे बेटा, तेरी कोई पक्की सहेली होगी न तू उससे बात कर ले और वो तेरे घर पर बता देगी कि वो तुझे पढ़ाई के लिए उधार दे रही है और बाद में ले लेगी. मैंने पूरी बॉडी की वेक्स की … वैसे भी मैं मलाईका अरोरा जैसी लगती हूँ, सो और भी हॉट लगने लगी. एक्स एक्स बीएफ ब्लू पिक्चर सेक्सीजैसे ही मेरा लंड अन्दर गया, उसके चूत के पानी से वह एकदम मखमली हो गया और आराम से उसकी चूत में सरक गया.

रानी का मुंह उसके मुख रस से लबालब था, लौड़ा अंदर बाहर होता तो सड़प … सड़प … सड़प की आवाज़ें निकलती. दोस्तो, बिहारन चन्द्रा भाभी को मैंने किस तरह से चोदा और उन्हें चुदाई से पहले अपने सपनों में चोदने की कहानी सुना कर मजा दिया … ये सब मैं आपको इस सेक्स कहानी के अगले भाग में लिखूंगा. राज के लन्ड के कड़कपन को महसूस करते हुए मैंने अपनी जाँघों को खोल दिया.

”मेरी बात पर पहले तो वह खिलखिला कर हंसने लगी और फिर किसी नव-विवाहिता की तरह लजा गई।एक बात बोलूँ?”हाँ … श्योर?”मिसेज माथुर ने भी फिगर बहुत अच्छा मेन्टेन किया हुआ है?” उसने मेरी आँखों में झांकते हुए कहा।तेज साँसों के साथ उसकी आँखों में लाल डोरे से तैरने लगे थे और कानों की लोब और उसका ऊपरी हिस्सा तो जैसे रक्तिम हो चला था।ओह … हाँ … थैंक यू मिसेज बनर्जी. साड़ी के ब्लाउज में भी मेरी बड़ी-बड़ी चूचियां बाहर की तरफ उभरी हुई होती हैं.

नील देख कर बोली- काफी कस कर चुदाई की है तुमने सारा की! पूरा समझने के लिए मुझे पूरी चुदाई की कहानी तफ्सील से सुनाओ आमिर!मैंने कैसे दिलिया और सारा को कल रात और आज सुबह चोदा, पूरी तफ्सील से सुना दिया.

कुछ देर बाद मैंने उसकी सलवार खोली और लंड को चूत पर लगा कर धकापेल चुदाई शुरू कर दी. मैं भी थक चुका था, तब भी मैंने दारू की बोटल मुँह से लगा कर नीट खींची और भाभी की चूत पर पिल पड़ा. एक-दो बार उन्होंने पास आने के लिए बोला भी, पर मुझे उनको तरसाने में मजा आ रहा था.

बीएफ इंग्लिश पिक्चर डाउनलोड मित्रो, मेरी पिछली कहानीपापा ने नंगी बेटी देख कर मुठ मारीबहुत हिट रही है, आप लोगों का अच्छा रिस्पोंस मिला. बॉस तिरछी नज़र से मेरे गोरी चिकनी जांघों को देख रहे थे, मुझे बहुत शर्म आ रही थी.

मैं बोली- जी सर, कहिये क्या बात है?वो बोले- क्या तुम अपनी इस जॉब से खुश हो?तो मैंने हां में सर हिला दिया. ओह्ह … बहुत मजा देने लगी मेरी बहन मुझे मेरे लंड का सुपारा सहलाते हुए. सोच कर मैंने लंड को आधा ही बाहर निकाला था कि चाची ने मुझे फिर से अपने ऊपर खींच लिया और मेरे लंड से वीर्य छूट पड़ा.

सेक्सी चाहिए वीडियो सेक्सी वीडियो

इस पर मैंने पलट कर जवाब लिख दिया- किस्मत तो आपके ब्वॉयफ्रेंड की अच्छी है अर्चना … वैसे आपको बता दूं कि मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है. उनके जाने के बाद हम तीनों ने मिलकर ढेर सारी बातें की … और पता ही नहीं चला कि कब लंच का टाइम हो गया. मेरी सेक्सी साली की जवानी की चुदाई स्टोरी मजेदार है या नहीं? मुझे मेल करके और कमेंट्स में बताएं.

मैं तो सच में खुशी से पागल होता जा रहा था क्योंकि अब इतनी खूबसूरत लड़की को चोदने का मौका मिलने वाला था. जैसे ही भैया जोर से कमर से शॉट मारते, लंड घप से भाभी की चूत में घुस जाता और भाभी के मुँह से जोरदार आह निकलती और पायल की आवाज़ आती.

मैंने उस कामवाली बाई से कहा- आपा … इतनी रात को घर जा रही हो क्या?वह बोली- हां बशीर, अब मुझे निकलना चाहिए.

मेरे हर धक्के में उसकी कराह निकल रही थी, पर आज किसी बात का डर नहीं था. परन्तु मैंने सोचा कि यदि मैं इसके बारे में बताऊंगा तो ये मुकर जाएगी और मुझे ही झूठा बना देगी. मैं सोच रहा था कि जिस औरत से मेरी ठीक ढंग से बात भी नहीं होती उससे ऐसे गंभीर मामले के बारे में कैसे बात करूंगा.

करीब आधे घंटे बाद मैं उसके कानों के पास गया और गाल पर किस करके कान में कहा- चेक योर फ़ोन! (अपना फोन देखो!)मैंने उसे भेजा था- हाय स्लट. थोड़ी देर बाद हम दोनों की नींद खुली, हम दोनों ने फ्रेश हो कर कपड़े पहन लिए. मैंने सुरेश अंकल को ओके तो कह ही दिया था तो अब गेंद उन्हीं के पाले में थी.

पर जब खेल खेल में मैं उससे हार जाती या वो मुझसे हार जाता तो हम दोनों धींगा मुश्ती करने लगते थे.

भोजपुरी सेक्सी बीएफ मूवी: सुबह जब माँ मुझे जगाने आईं, तो माँ मुझ पर चिल्लाने लगीं क्योंकि मैंने बिस्तर में ही पेशाब कर दी थी. फिर उसने एक और झटका मारा, जिससे मेरी चूत में उसका लंड अन्दर चला गया.

लेकिन मुझे मजा नहीं आ रहा था, इसलिए मैंने कुप्पी को झटके से बाहर निकाला, तो पेशाब छलकते हुए बाहर आ निकली और थोड़ी बहुत पेशाब, जो उसकी बुर के अन्दर थी, वो भी बाहर आ गयी. अब आगे:अगले दिन मैं देर से उठी, कॉलेज नहीं गयी, सीधे कोचिंग पर चली गयी. रानी के होंठ लौड़े की जड़ से चिपक गए थे और उसकी नाक मेरी झांटों से रगड़ खा रही थी.

धीरे धीरे अपने लंड को आगे पीछे करते करते पूरा लौड़ा उसकी चूत में पेल दिया.

उस समय मुझमें नई नई जवानी भर रही थी और मेरी कामुकता अपने चरम सीमा पर थी. मैंने उसकी चूची जोर से मसली, तो उसका मुँह खुल गया, तभी मैंने अपना लंड अपनी बहन के मुँह में ठूंस दिया. होटल के रूम में पहुँच कर मैं अंकल जी से लिपट गयी और उन्हें चूमने लगी.