भाभी और देवर का बीएफ सेक्सी

छवि स्रोत,कैटरीना कपूर की बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

arishfa khan उम्र: भाभी और देवर का बीएफ सेक्सी, उसने मेरी मॉम के मुँह में लंड डाल दिया और मेरी मॉम एक रंडी की तरह अनिल का लंड चूसने लगीं.

मोटी औरतों की बीएफ मूवी

तुम्हारा वह दोस्त अनिल तो बहुत नखरे करता है।उन्होंने एक जोरदार धक्के के साथ पूरा पेल दिया. हिंदी बीएफ वीडियो सील पैकमेरा मन करता है कि अपनी चूत में उसका लंड लेकर भाई से चुदाई करवा लूं.

अगर उन्हें किसी का लंड मिल जाए, तो वे उसके लंड का रस पिए बिना उसे अपने हाथों से दूर नहीं जाने देती हैं. सेक्सी बीएफ चोदा चोदी वाला बीएफमैं उसकी हर टाप पर उसे पूरी ताकत से पकड़ लेती और जोरों से हर टाप पर आह … आह.

मैंने मां से कहा- मुझे अपने एक दोस्त के यहां पर कुछ जरूरी काम से जाना है.भाभी और देवर का बीएफ सेक्सी: उसकी बात खत्म हुई ही थी कि उसकी बीवी बोल पड़ी- आप यहीं रहिए ना साथ में … कहीं मत जाइए.

जोया रिया से किसी मायने में कम ना थी, अपनी बॉडी को ख़ूब मेंटेनेन्स करके रखा था।वह बोली- अब मेरी भी वैसी ही मसाज कर दो जैसी रिया की की है.दोनों की मस्ती इस कदर बढ़ गयी थी कि हम दोनों सांपों की तरह लिपट कर गुत्थम गुत्था होकर धक्का लगाने लगे.

नेपाली में बीएफ सेक्सी वीडियो - भाभी और देवर का बीएफ सेक्सी

ऐसा करते करते मेरा हाथ सुशी की चूत तक पहुँच गया और सुशी एकदम सिहर उठी.उसने बिना कुछ कहे अपना नाड़ा खोल दिया और बोली- अमित वहां बाल हैं यार … कभी जरूरत नहीं पड़ती थी, इसलिए मैं साफ नहीं करती हूँ.

मैंने पूछा- क्यों … क्या हुआ माँ? सब ठीक तो है ना?माँ बोलीं- मुझे पता नहीं, तू जाकर पता कर लेना. भाभी और देवर का बीएफ सेक्सी मेरी उंगली नीचे उसकी चूत में चल रही थी और मेरी जीभ उसके मुंह में घुसी हुई थी.

मेरी इस चोदा चोदी सेक्स कहानी का अगला भाग आपको लंड हिलाने पर मजबूर कर देगा और लड़कियों की चुत में से पानी निकलने लगेगा.

भाभी और देवर का बीएफ सेक्सी?

हमारा स्कूल 4 किलोमीटर हमारे गांव से दूर था और केवल हम चार ही अपने गांव से पढ़ने जाते थे. फिर बुआ नंगी ही रसोई में चाय बनाने चली गईं … और मैं भी उनके पीछे जा कर खड़ा हो गया. ब्लैक सलवार कुर्ता, हाथों में कंगन, बाल बनाये हुए, हल्का सा मेकअप किया हुआ था.

मैं उसके मम्मों को देखते ही पागल हो गया और मेरा लंड अकड़ कर दर्द करने लगा. जब हम घर से निकले थे तभी से मुझे मेरी कजिन का मिजाज कुछ बदला हुआ सा लग रहा था. उनकी बात पर मैंने पूछा- आपने क्या खास तैयारी की है?वो बोली- तुम खुद ही देख लेना.

जैसे अपने मालिक के स्वर में स्वर मिला रहा हो कि एक बार और … एक बार और. इस घटना के बाद रोज़ दिन में बाथरूम में पीठ का मलना और रात को उनसे चिपक कर सोना, यही सब होने लगा था. मैं- अच्छा!सुरेश- क्या बोलती हो … एक बार और हो जाए? अभी समय भी बहुत है.

मेरी कजिन भी शायद इस बात को समझ रही थी कि मैं जानबूझ कर ब्रेक नहीं लगा रहा हूं. फिर उसने मेरी ब्रा और पेंटी निकाल दिए और मैं उसके सामने नंगी हो गयी.

काफी देर तक वो दीदी को चूत को चाटता रहा और फिर जब दीदी से रहा न गया तो उसने प्रिंसीपल को खड़ा किया और उसके होंठों को चूसने लगी.

उसके बाद मैंने उसको पता नहीं आज तक कितनी बार चोदा है और आज भी चोदता हूँ.

पहले तो उसने थोड़े नखरे किये लेकिन फिर मान गई।तो मैंने लिप्स किस करते हुए पूरे शरीर को किस किया. मैंने आंटी से कहा- आंटी आप शरमाओ मत यार … आप खुलकर मजा करोगी, तो ज्यादा अच्छा लगेगा. मेरी और विमला की जाति एक थी, बाकी सरस्वती और सुरेश अलग अलग जाति के थे.

स्वरा दीदी की उम्र 23 साल है और वो यूनिवर्सिटी में स्नात्कोत्तर की पढ़ाई कर रही है. और ये सब देख कर जिया भी कुर्सी पर बैठे बैठे अपनी चूत पर दो चार बार हाथ फेर चुकी थी, वो कुछ ज़्यादा ही चुदासी हो रही थी।रिया की मसाज हो जाने के बाद जिया ने ड्राइवर को बुला कर बोला- रिया को होशंगाबाद जल्दी जाना है, तुम इसे लेकर जल्दी निकलो। मैं घर चली जाऊँगी. इस बार वो बहुत चिल्लाने लगी, लेकिन मैंने थोड़ा और तेल लगाया, जिससे वो अब थोड़ा कम चिल्लाने लगी.

इस बात पर ज्योति बोली- तेरा दोस्त आयुष बहुत ही चूतिया टाइप का है … वो कभी भी मुझसे प्यार वाला बर्ताव करता ही नहीं है.

वो भी मेरा साथ देने लगी।किस करते करते मैं उसके चुचे दबाने लगा, 5 मिनट के किस करने के बाद उसने मुझे अलग किया।शिवानी बोली- यार जो करना है जल्दी कर लो, कोई आ जाएगा तो बेकार में दिक्कत हो जाएगी।मैंने अपना लण्ड निकाल कर उसे चूसने को कहा लेकिन उसने मना कर दिया।शिवानी- छी! मैं नही लूंगी मुँह में, मुझे उल्टी आ जाएगी. उसने कार को घर के अन्दर किया, खुद पहले उतर कर घर का मेन गेट खोला और अन्दर जाने लग गई. इस बीच में मैंने नोटिस किया कि उर्वशी और राज़ आपस में कुछ अधिक बातें कर रहे थे.

उसके मुंह में लंड को देकर मैंने उसके मुंह को चोदना शुरू किया और एक मिनट के अंदर ही मेरे लंड ने वीर्य उसके मुंह में छोड़ दिया. सबसे पहले निर्मला और राजशेखर बिस्तर पर गए और जैसा कि प्रतिदिन की एक तरह की कामक्रीड़ा से ऊब चुके लोग केवल औपचारिक रूप से संभोग करते हैं, वैसा दर्शाने लगे. वो मेरा टनटनाता लंड देख कर डर गई और बोली- जान आपका ये तो बहुत मोटा है … इतना मोटा मेरे अन्दर कैसे जाएगा.

मेरा शरीर भी हिलने लगा और लंड से पानी ऐसे निकलने लगा, जैसे उसे कोई आग बुझाना हो.

मैं गुस्से से बोला कि जब यहां आया था, तो मैंने देखा कि तुम बड़े मजे से अपनी गांड मरवा रही हो. वो पहले तो मुझे घूरने लगीं और हंसते हुए बोलीं- तेरी मालिश वाली जल्द ही लानी पड़ेगी.

भाभी और देवर का बीएफ सेक्सी शिफा बोली- हां यार, बहुत दिन हो गए थे, साला पैग मारने का बड़ा दिल कर रहा था. अब आगे की देसी हिंदी सेक्स स्टोरी:मैंने भाभी से पूछा- आपकी चोट कैसी है?भाभी बोली- हां अभी दर्द है … उस अलमारी में बाम रखी है … थोड़ा ला दो, तो मैं उसे चोट पर लगा लूं.

भाभी और देवर का बीएफ सेक्सी मैं एक बार तो मैं जाने लगा लेकिन तभी मेरे मन में शक सा हुआ कि दीदी सेक्स के लिए तो नहीं रुकी … क्योंकि मैंने प्रिंसीपल के साथ उसकी चुदाई की बातें सुनी हुई थीं. वो भी अपनी चूचियों को मेरे दोस्त के मुंह में देकर मस्ती में खोने लगी.

मैंने धीरे धीरे चूचों पर तेल लगाना शुरू किया और बीच बीच में मैंने निप्पल दबा दिए.

इंडिया क्सक्सक्स

उन्होंने मुझे धक्का देकर पीछे किया, तो मैंने पूछा- क्या हुआ?भाभी बोलीं- मुझे थोड़ा अजीब लग रहा है. मेरी योनि अब फिर से चिपचिपी होकर पानी छोड़ने लगी थी और लगभग अच्छे से गीली हो गयी थी. मेरी बहन के मोबाइल से मुझे पता लगा कि मेरे ठरकी दोस्त ने मेरी बहन से सेक्स चैट करके उसको पटा लिया है और वो दोनों चुदाई की प्लानिंग कर रहे थेकैसे हो दोस्तो, मेरा नाम कुनाल है.

वंदना मैम के मुँह से अजीब सी आवाजें निकल रही थीं ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…. फिर मैंने ज्योति की चूत का रस अपने लंड पर लगाया … ज्योति मेरे लंड को देख कर घबरा गयी और बोली कि आह … इतने बड़े लंड से तो मैं मर ही जाऊँगी. तो दोस्तों ने कहा- यार, अभी से जा रहा है? क्या करेगा घर जाकर?मैंने कहा- कुछ काम है.

मैं पहले ही समझ गया था कि ये पहले चुदी है … क्योंकि शुरू से ही मेरी उंगली आसानी से उसके अन्दर आ-जा रही थी.

अगर ग़लती हुई हो तो माफ करना।आपको कैसी लगी मेरी गर्लफ्रेंड की चुत की कहानी? मुझको मेल कर के बताएं, मेरा हौसला बढ़ाएं ताकि में आगे और कहानी लिखूँ।[emailprotected]. रोनिता के चूचे पूरी तरह तन चुके थे, जो दिखने में बहुत मस्त लग रहे थे. फिर भी मैं उनके घर जाता रहा और वो मुझसे चिढ़ने लगी।और एक दिन ऐसा आया कि मैं सुशी के भाई विक्की की पढ़ाई में कुछ मदद कर रहा था उसी के घर में … और उसी दिन विक्की से मिलने कोई लड़की आयी.

कुछ ही पलों में सौम्या मेरे सामने सिर्फ ब्लैक ब्रा और ब्लैक पेंटी में थी. सुशी- हेल्लो!मैं- हाँ बोलो सुशी जी?सुशी- आ रहे हो क्या?मैं बोला- हाँ आ रहा हूँ … लेकिन आना किस तरफ से है?सुशी बोली- सामने वाले दरवाजे से … मैं दरवाजे के पास खड़ी हूँ।मैं बोला- ठीक है।मैं डरे सहमे 11 बजे के बाद उसके घर के पास पहुँचा और इधर उधर को देखने लगा कि कोई है तो नहीं. दस मिनट बाद मेरे गेट पर आहट हुई, तो मैंने देखा वो मेरा उपन्यास वापस करने आई है.

सरस्वती- अरे तो क्या बुराई है … मजे करने का मौका था, थोड़ा स्वाद बदल लिया और क्या. तभी मैंने बाहर जाकर आंटी को बातों में लगा लिया और ज़रीना ने चादर बदल दी.

कॉलेज से वापस आते हुए मैंने जान-बूझ कर ब्रेक बार-बार लगाये ताकि उसके चूचे मेरी पीठ से टच हो सकें. ये कहते हुए निर्मला ने राजशेखर की पैंट उतार दी और उसके लिंग को पकड़ हिलाते हुए बोली- देखो कितना तगड़ा मोटा और लंबा है इसका लंड, तुम्हारी चुत में घुसाते ही तुम पानी छोड़ने लगोगी. मेरे बदन की गर्मी पाकर अब वह भी पिघल गया और मुझे अपनी बांहों में भर कर मेरी पीठ को सहलाने लगा.

मैंने उसकी गांड के छेद को टटोला, तो वो खुद से बोली- सही जगह उंगली लगाई है … मैं तेल की शीशी इसी लिए लाई थी.

अब मैंने उसकी शादी भी करवा दी है उसकी शादी को दो महीने हो चुके हैं. अब चाची की पीठ पर उसकी ब्रा की पट्टियों पर मेरी उंगलियां छू रही थी. मैंने अपनी बीबी की सहेली कीचूत चाटनाजारी रखा, थोड़ी देर में वो फिर गर्म हो गई.

मेरा लंड भी खड़ा हो चुका था और उसकी बुर भी चिकनी हो गई थी, इसलिए मैंने भी देर न करते हुए लंड उसकी बुर पर टिकाया और पेल दिया. उसके मुंह में लंड को देकर मैंने उसके मुंह को चोदना शुरू किया और एक मिनट के अंदर ही मेरे लंड ने वीर्य उसके मुंह में छोड़ दिया.

वह बोला- तुम बड़ी देर लगे रहे, मुझे एकदम भड़भड़ी छूटती है, चालू हुआ तो बीच में रूक नहीं पाता।फिर हम उठे, मामा जी से कहा- आप पहले नहा लो, हम फिर नहाएंगे. जब मैं पेपर देकर वापस आया, तो मैंने हावड़ा से दिल्ली के लिए टिकट ली हुई थी. उसे एक हफ्ते से बोल रहा था, तब किसी तरह दोपहर को गाय वाले घर में हम मिले.

सेक्सी ब्लू ब्लू ब्लू

अब सुरेश ने एक हाथ से मेरे एक कंधे को पकड़ा और एक हाथ से मेरी कमर को थामा.

तभी मेरे मन में ख्याल आया कि क्यों न मामा और मामी की सुहागरात देख लूं. उसके रूम से लगभग किलोमीटर भर की दूरी पर पहुंच कर हम लोगों को एक घर के बाहर बोर्ड लगा हुआ मिला. लंड से दसियों बार पिचकारी निकली और हर बार उसकी चूत मेरे लंड को दबा कर निचोड़ रही थी.

यहां पर मेरा मतलब मामी के फोन नम्बर से नहीं बल्कि मामी की चूत से था. मैंने कहा- तो थोड़ी सी जगह मुझे भी दे देना वहीं साथ में?मामी भी अब हंसते हुए बोली- तुम्हारी बातों से तो लग रहा है कि तुम्हें कुछ और ही चाहिए. सेक्स व्हिडीओ एचडी बीएफमैंने वो ही क्रीम ली और उसके उल्टा लेट जाने पर उसकी पीठ पर क्रीम लगायी और रगड़ने लगा.

मुझे बाद में पता चला कि रंजन जग रहा था और अपना लंड मेरी गांड में टच करके मजा ले रहा था. पायल की ब्रा को देख कर मेरे अंदर की वासना और ज्यादा भड़क गई और मैं उसकी ब्रा के ऊपर से ही उसके दूधों को दबाने लगा.

मैं उनके लंड को अपने हाथ से सहलाते हुए उनके टोपे को आगे-पीछे करने लगी. मैंने ध्यान से देखा कि मम्मी की चूत बिल्कुल साफ़ थी … वहां एक भी बाल नहीं था. उन्होंने मेरा रिजल्ट देखा और अंग्रेजी में अच्छे नम्बर देख कर मुझे शाबाशी दी.

मोनिषा आंटी की चूत को दस मिनट के भीतर ही मोनिषा आंटी जोर जोर से आहें लेने लगीं. फिर तीसरे दिन मैंने अपने दोस्त से कहा- एक रात के लिए मैं तुझे मोनिषा आंटी के साथ सब कुछ करने दे सकता हूं … मगर तुमको मुझे 10000 रूपये देने पड़ेंगे. फिर एक जोर का झटका मार कर अपने लंड को मोनिषा आंटी की गांड में उतार दिया.

मैंने अपना मोबाइल का कैमरा ओपन करके उसे दे दिया और फिर साइड से उसे कसकर एक हाथ से उसकी कमर को पकड़ कर सेक्सी सा पोज़ दिया.

मैं उसके मम्मों को मसलता जा रहा था और वो मेरे होंठों से लगकर मेरे होंठ चूस रही थी. इतना कहते ही मैं भाभी की बुर को अपने हाथ से सहलाने लगा और अपनी दो उंगलियां एक साथ ही चुत के अन्दर डाल दीं.

भाभी बोली- वो कैसे?मैं बोला- भाभी आपको लंड चूसना और लंड से चुदवाना बहुत अच्छे से आता है. उसने शुरू किया था, पर जब मेरी नींद टूटी, तो मुझे उसे रोकना चाहिए था. एक दो बार मैंने वासना के वशीभूत दीदी को कहा भी कि मेरा भी दिल करता है कि मैं भी लाला की तरह किसी से करूँ.

उन्होंने मुझे धक्का देकर पीछे किया, तो मैंने पूछा- क्या हुआ?भाभी बोलीं- मुझे थोड़ा अजीब लग रहा है. मैं जैसे आसमान मैं उड़ रही थी और उसके सर को अपनी चूत पर जोर से दबाने लगी. अब मैंने सौम्या को देख लिया था, तो आपको सौम्या के बारे में बता देता हूं.

भाभी और देवर का बीएफ सेक्सी दस मिनट बाद वो फिर से मेरी चूत में अपना लंड डाल कर मेरी चूत को चोदने लगा. शाम को 6 बजे नींद खुली तो मैंने देखा कि मैं भाभी के बेड पर नंगा ही सोया हुआ था और भाभी भी कमरे में नहीं थी।उठ कर मैंने कपड़े पहने और फ्रेश होकर हॉल में गया और सोफे पर बैठ गया.

मराठी सेक्स क्सक्सक्स

पूजा के संग इन पाँच दिनों में भरपूर सेक्स हुआ … और भी बहुत कुछ हुआ. मैंने पहली बार में पहचान लिया कि यह तो वही पहले वाली आवाज है जिससे मेरी बात अभी कुछ देर पहले ही हुई थी. एकता चिल्लाए जा रही थी लेकिन उसने बिल्कुल भी दया नहीं दिखाई और घोड़ी बनाकर अपना फौलादी लंड एकता की चूत में झटके से घुसा दिया.

राजशेखर चाहता था कि मैं निर्मला की योनि चाटूं, पर मुझसे ये होने वाला नहीं था. लगातार पांच मिनट तक दोनों उंगलियों से उसकी चुदाई करने पर ज्योति की चूत ने पानी छोड़ दिया. बीएफ ब्लू फिल्में वीडियो मेंवो मुझे ठिठोली करने लगा- पैन्ट को क्या देखना है?मैंने कहा- पैन्ट को नहीं, इसके अन्दर जो है, उसको देखना है.

उसके अलावा और किसी के कोई प्रॉब्लम्स नहीं पूछने रह गए थे, तो बाकी लड़कियां भी क्लास से बाहर चली गईं.

मैं बोला- मैं निकालने में आपकी हेल्प कर देता हूँ … बस आप अपने दोनों पैर ऊपर कर दो. मैंने पूरी ताकत से सुरेश को पकड़ लिया और हाथों टांगों से उसे जकड़ कर झटके देने लगी.

मैं उसकी चुत पर लंड रगड़ने लगा, तो उसने अपनी चुदास के चलते जल्दी से मेरे लंड को अपने हाथ में पकड़ा और अपनी चुत के छेद में डलवा लिया. वो बोली- क्यूं, नींद क्यों नहीं आ रही है?मैंने कहा- किसी की याद आ रही थी. मैंने कई मिनट तक उसके लंड को चूसा तो उसने मुझे हटा दिया और फिर नीचे फर्श पर गिरा लिया.

उनकी आँखों ने मेरी कामपिपासा को पढ़ लिया था, मगर उन्होंने हर बार हंस कर ही मुझे सिड्यूस किया.

फिर अगले दिन जब मैं दुकान पर अकेला था, उस वक्त वो मेरा गिफ्ट हाथ में पहन कर आई और दुकान में बैठ गयी. तभी मेरे दोस्त आयुष ने मुझे रोकते हुए कहा- तारीफ़ ही करता रहेगा या फिर कम्प्यूटर भी सही करेगा?मैंने कहा- यार, कम्प्यूटर ही तो सही करने आया हूं. पूरा लंड पेलने के बाद मैंने उसके मम्मों पर अपनी जीभ चलाई और उसकी चूचियों पर लगी लिक्विड चॉकलेट को चाटते हुए उसको मजा देना शुरू किया.

सेक्सी बीएफ फिल्म मराठीइतना कहकर उसने मेरे कपड़े उतारने शुरू कर दिए और मुझे पूरा नंगा कर दिया. मेरे पति जब ऑफिस निकल जाते थे, तो मेरा और उस पड़ोसी लड़के के बीच में नजरों से बात होने लगी थी.

भारतीय xxxx

मामी की आवाज से पता लग रहा था कि वो लेटी हुई थी और अंगड़ाई ले रही थी. मैंने नीचे की तरफ करके मोबाइल की टॉर्च को जलाया और हल्के से देखा कि संध्या कहां है. मैंने फिर शरारती अंदाज़ में बोला- मेरे पास एक तरकीब है, जिससे दोनों की समस्या हल हो सकती है.

वो भी मेरी नजर पर नजर रखे हुए थी और शायद कुछ जानबूझकर नीचे झुक रही थी ताकि मैं उसके चूचों के उभारों को देख कर उत्तेजित हो सकूं. जब वो चादर बिछाने के लिए उसे फैला रही थी, तब उसके चूचे क्या मस्त हिल रहे थे. मैंने कहा- प्रीति अगर मैं आपको अपनी गर्ल फ्रेंड बनाना चाहूँ तो?प्रीति ने कहा- क्यों मुझमें ऐसा क्या है?मैंने मन में सोचा कि इतना सब कुछ तो है.

तीसरे दिन ऑफिस से पापा का फ़ोन आया कि वो 3 दिन के लिए दोस्तों के साथ टूर पर जाने वाले हैं. मैडम ने मुझे घूरते हुए देखा तो उन्होंने खांस कर ताना मार कर कहा- अगर देख लिया हो तो जरा कार भी चला लो!घबराहट के मारे कार स्टार्ट तो हो गई लेकिन एक दो झटके खाकर ही फिर से रुक गई. अब देखूंगी कि कितनी बार फोन करोगे मेरे पास!मैं बोला- जब तक आप करने दोगी, तब तक करता रहूंगा.

मैं- मतलब इस वासना के खेल में वो भी शामिल है?सुरेश- अरे नहीं … वो बहुत पहले उसने सरस्वती को बताया था. ’इसके साथ ही एक मादक आवाज़ दस्तूर की भी आ रही थी, जो बहुत तेज थी ‘उम्म्ह … अहह … हय … ओह … फक मी … फक मी … फक मी … और ज़ोर से हर्ष और ज़ोर से … अन्दर तक ठोको … आआहह आआहह.

उसकी बेताबी इतनी अधिक लग रही थी, मानो वो मुझे पूरा ही अन्दर ले लेगी.

उस दिन उन्होंने एक आसमानी रंग का चिकन सूट पहना था और आप सबको तो पता ही है कि वो कितना अच्छा लगता है जब कोई भी 32 साल की महिला पूरे विकसित दूधों पर उसको पहनती है. सनी लियोन की सेक्सी बीएफ बीएफउस टाइम तक उसकी चूत पूरी गीली हो चुकी थी और पच पच की आवाज़ भी आने लगी थी. बिहारी बीएफ भेजोतभी वो एक झटका देते हुए मेरे ऊपर आ गई और ज़ोर ज़ोर से गांड उठाते हुए खुद चुदने लगी. दोस्तो, मैं एक बार फिर से हाज़िर हूँ अपनी नयी हिंदी सेक्स स्टोरी के साथ.

सेक्सी आंटी की यह कहानी मेरे उसी पाठक ने मुझे भेजी है, जिसनेदोस्त की माँ के साथ चुदाई का मजाकहानी भेजी थी.

अब सुरेश की बारी थी, वो बहुत अधिक थक चुका था मगर धक्के लगातार मार रहा था. मैं कम्प्यूटर में विन्डोज़ इन्सटॉल करने में लग गया … दोस्त की गर्लफ्रेंड ज्योति पास में ही बैठी थी. मेरा ब्लाउज तो एक तरफ से फट ही गया था, सो उसे उतारने में ज्यादा देर नहीं लगी.

मिहिर अपना नियंत्रण खो बैठा और उसने ब्लाउज खोलने की जहमत नहीं उठाई बल्कि एक ही झटके में उर्वशी का ब्लाउज़ फाड़ दिया. क्या मस्त पतली और गोरी कमर थी … यार मन तो किया कि एक बार कसके दबा दूँ, पर उस समय उसकी हालत पर मुझे दया भी आ रही थी. मैंने मम्मी से अपने साथ चलने को कहा, तो वह चुपचाप मेरी मोटरसाईकल पर बैठ गईं.

गुजरात की ब्लू फिल्म

किसी लड़की के मुँह से पहली बार इतनी सकारात्मक तारीफ़ सुनकर मुझे बहुत ही अच्छा लगा. उसने मेरी आंखों में अपनी आंखें डालीं और अपना लंड मेरे मुँह की तरफ बढ़ा दिया. मेरी उमर 28 साल है, मैं अंतर्वासना का बहुत पुराना पाठक हूँ और यहाँ पर कहानी पढ़ने में बहुत मज़ा आता है.

मैं भी सामने से गया और मोनिषा आंटी के मुँह में लंड को चूसने के लिए दे दिया.

फिर उसने थोड़ा खोलकर टोपा चाटा तो बदन में आग लग गयी बहनचोद … मैंने उसका सर दबाते हुए उसको मुँह खोलने का इशारा किया तो लंड अंदर सरका दिया.

मैंने पूरी ताकत से सुरेश को पकड़ लिया और हाथों टांगों से उसे जकड़ कर झटके देने लगी. तब मैं बोला- मुझे क्या करना होगा?वो बोला- किसी तरह तुम भोर में अपनी मॉम को गंगा तट के दूसरी छोर पर ले आओ और उनको छोड़ कर तुम थोड़ा दूर चले जाना. मोटे लंड बीएफउसके बाद मैंने मॉम की साड़ी ऊपर करके मॉम की चिकनी बुर का दीदार किया.

मैंने पूछा- क्या हुआ?पूर्वी बोली- मेरे बदन में हल्की सी गुदगुदी हो रही है. उसका पानी निकलने से उसकी बुर और भी चिकनी हो गई, जिससे मुझे उसे चोदने में और भी मजा आ रहा था. कुछ कपड़ों से तो साइड से उनके चूचे तक दिख जाते, पता नहीं क्यों … ये देख कर मेरा लंड खड़ा हो जाता था.

एक दिन मैं स्कूल गया तो मैंने चौकीदार और माँ की चुदाई का नजारा देखा. रजनी दिखने में बहुत सेक्सी थी, इसलिए शादी से पहले ही सभी पड़ोस के लौंडे उसे लाइन मारने लगे थे.

मैंने आंटी से फिर पूछा- क्या वास्तव में पैसा चाहिए या कोई दूसरा लंड लेने का मन है?आंटी ने झिझकते हुए कह दिया- तुम कुछ भी समझ लो.

बुर को मैं मुँह में लेने वाला ही था कि उसने रोक दिया, शायद उसे दर्द हो रहा था. मैंने उससे कुछ समय मांगा क्योंकि मुझे यकीन तो था नहीं कि प्रीति समलैंगिक रिश्तों को पसंद करती थी. उसने दीदी को जबरदस्ती नंगी कर दिया और दीदी हंसते हुए उससे खुद को छुड़ाने की कोशिश करने लगीं, लेकिन जैसे ही पठान दीदी के मम्मों पर अपना मुँह रख कर चाटने लगा, वैसे ही दीदी ढीली पड़ गईं और कामुक सिसकारियां लेने लगीं.

बीएफ दिखाओ बीएफ चुदाई वाली थोड़ा सा मौका देख कर मैंने एक जोर का धक्का मारा तो उसकी चीख निकल गई और वो मुझे वापस धकेलने लगी. मेरे लंड महाराज ने अपना शीश उठाना शुरू किया और उसकी दरार पे आके रुक गया.

अगले दिन जब मैं नहा कर आई, तो मेरी बुआ के लड़के रंजन ने मुझे देख कर स्माइल किया. जॉयश बोली- तुम लोग जितना जोर से चिल्ला सकती हो, गाली देना चाहती हो तो गाली भी दे सकती हो इस मादरचोद को!और अब इन सब घरेलू औरतों का मादक अश्लील और गंदा रूप सामने आने लगा था. मैंने उसे अपनी बाइक पर बिठाया और सुबह की खाली सड़कों पर बाइक दौड़ा दी.

सेक्सी नंगा वीडियो दिखाइए

उसने जैसे ही मुझे चूमना चालू किया, तो मैं भी उसके होंठों को चूसने लगा. दोनों ने सरसों के खेत की तरफ पीठ करके साड़ी ऊपर की और मेड़ पर बैठ कर पेशाब करने लगीं. उसने उर्वशी की नाभि को चूमा तो उर्वशी के मुंह से आह्ह करके एक गर्म सिसकारी निकल गई.

मैंने उसकी छाती से चिपकते हुए कहा- हां ले चल … मुझे कोई चिंता नहीं है. मेरे कराहने, उसके हांफने और संभोग की क्रिया से हो रही थप-थप की आवाज से कमरा गूंजने लगा था.

मैंने दूसरे दिन उनसे कहा- आपको ठीक होने में कम से कम दस दिन लगेंगे.

मैंने कहा- जानू अभी तो आधी ही अन्दर गयी है … अभी तो मैं इसमें पूरा हाथ भर का अपना अन्दर डालूँगा. इसके तुरंत बाद मैंने एक विस्मयकारी पंक्ति बोल दी- काश कोई मेरी होती … जो ये कहती कि मेरे बाबू ने खाना खाया. इस बात की भनक उर्वशी को लगी तो उसने मिहिर के हाथों को हटा दिया और खुद ही उसकी जीन्स से उसकी बेल्ट को खोलने लगी.

आज लिख रहा हूँ लेडीज किटी पार्टी में बढ़ती अश्लीलता पर!और यह अश्लीलता या नंगपना इस वजह से बढ़ती जा रही है कि मॉडर्न सेक्स में खुलेपन की पक्षधर लड़कियाँ ही अब गृहणी भी बन रही हैं. मैंने तीन-चार मिनट तक इसी रफ्तार से पायल की चूत की चुदाई की और फिर जब मेरा वीर्य निकलने को हुआ तो मैंने पूछा कि कहां पर निकालूं?वो बोली- बाहर निकालना. तब आंटी ने मुझको खड़ा किया और कहा कि अब तुम बिस्तर पर लेट जाओ, मैं तुम्हारे मुँह पर गांड रख कर चटवाऊंगी.

मैंने तीन-चार मिनट तक इसी रफ्तार से पायल की चूत की चुदाई की और फिर जब मेरा वीर्य निकलने को हुआ तो मैंने पूछा कि कहां पर निकालूं?वो बोली- बाहर निकालना.

भाभी और देवर का बीएफ सेक्सी: वो गंदी गालियां निकाल रही थीं- भोसड़ी के बाहर निकाल मादरचोद … छोड़ दे मुझे कमीने … बहन के लौड़े निकाल … वर्ना तेरे चाचा को कह दूँगी. भाभी की साड़ी ऊपर हुई, तो उसके ऊपर वही पतली गोरी कमर थी, जिस पर कुछ भी नहीं था.

मैंने उसकी कुवारी चूत में जीभ को अंदर तक डाल दिया तो वो तड़पने लगी. मेरा सात इंच से ज्यादा का लंड मेरे अंडरवियर से बाहर आने के लिए जैसे तड़प रहा था. आंटी थकने लगी थीं, जिस वजह से मुझे उनके झटकों में मजा नहीं आ रहा था.

मेरी मोसी की चुदाई की कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी सेक्सी मोसी की वासना को पहचाना फिर मौक़ा देख कर मैंने अपनी मोसी की चूत की चुदाई कर डाली.

फिर मैंने अपना लंड भाभी की चुत में रखा और एक ही धक्के में आधा लंड पेल दिया. यह हिंदी सेक्स कहानी एक ऐसे जोड़े की है, जिन्हें शादी के बाद बच्चा नहीं हो रहा था. मुझे उन्होंने एक नंबर दिया और कहा कि जब भी लड़की चाहिए हो, इस नंबर पर कॉल करके मंगा लेना, पैसे मैं भर दूंगा.