शहर के बीएफ

छवि स्रोत,मोटी महिला की सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी वीडियो बीएफ रेप: शहर के बीएफ, अब मैंने उसको उठाया और खुद घुटनों के बल खड़ा होकर उसके मुंह के सामने लंड कर दिया.

मराठी अंटी

मगर फिर भी मेरे अन्तिम के कुछ धक्कों की गति थोड़ी बढ़ ही गयी, जिससे शायद शायरा को भी अब अहसास हो गया कि मेरा भी काम होने वाला है. न्यूड वीडियो सेक्सीआज तुझे देख कर मुझसे रहा नहीं गया, तो मैंने तेरी मदद कर दी … लेकिन अब आगे ऐसा कुछ नहीं होगा.

चुदाई की कहानी के पहले भागगर्लफ्रेंड की सहेलियों संग रासलीला- 1में अब तक आपने पढ़ा कि प्रियंका अपनी सहेली अनामिका को मेरे साथ चुदवाने के लिए उसे मेरे लंड की फोटो दिखा रही थी. सेक्सी ब्लू फिल्म चोदने वालाअब मैं शिमला में थी और अब मेरी पहला काम था … कोई सस्ता और अच्छा सा होटल देखना, जिसको देखने के चक्कर में मुझे दो घंटे हो गए.

मैं चाचा जी के कच्छे में खड़े लंड को अपनी टांगों पर महसूस कर सकती थी.शहर के बीएफ: मेरी प्रेमिका को हर वक्त मेरा लंड चाहिए था अपनी किसी भी छेद में! वो नए नए बहाने गढ़ कर मेरा लंड अपने जिस्म में घुसवाती रहती थी.

आपको ये अन्तर्वासना भाभी की सेक्स कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मेल जरूर कीजिएगा.ज़ारा- जान एक दिक्कत है!मैं- कैसी दिक्कत?ज़ारा- जान! सभी दोस्त बर्थडे पार्टी मांग रहे हैं तो मैंने कल का बोल दिया!मैं- क्या?ज़ारा- बस निकल गया मुँह से!मैं- होटल कैसे बुक होगा?ज़ारा- यही तो दिक्कत है!मैं- हम्म! सुबह देखते हैं अब सो जाओ!सुबह करीब छह बजे मेरी नींद खुली तो मैंने उसे उठाया.

नंद भौजाई का सेक्सी वीडियो हिंदी में - शहर के बीएफ

फूल को कोई कैसे कुचल सकता है, फूल से तो प्यार किया जाता है, फिर मैं कैसे कुचल देता … और वो भी फूल जब गुलाब का हो, इसलिए मैंने भी प्यार ही किया.या यूं कहूँ कि नैना अपने रूम में लौट गयी और मैं अपने रूम में … लेकिन मानवेन्द्र अपने रूम में नहीं गया.

उसके बाहर जाते ही मुझे कुछ होश आया और मैं बहुत ही कशमकश में फंस गयी थी. शहर के बीएफ मैं विन्नी को सनी से चुदवाना चाहती थी और सनी भी अपनी बहन को चोदना चाहता था.

जैसे ही वो थोड़ा सहज हुई … मैंने पूरा का पूरा मूसल उसके छेद में डाल दिया और उसकी कुंवारी चुत की सील भंग कर दी.

शहर के बीएफ?

क्योंकि तुम मेरे अन्दर की सैर करो … उससे पहले ही तुम्हारी सब एनर्जी खत्म हो जाती है. मैंने अयान के लंड को पहली बार यूं लिया कि मेरी सास का निधन हो गया था. तो दोस्तो, अगर आप भी अपनी फंतासी पूरी करना चाहते हैं तो एक बार लाइव वीडियो सेक्स चैट सेशन करके देखें.

मेरे लन्ड से हल्का हल्का पानी भी निकलने लगा जो मुझे महसूस हो रहा था. वो बोली- मतलब!मैंने कहा- कुछ नहीं मेरा मतलब अब साइकिल कौन चलाता है. उधर मैंने भी नीरू की चूत के छेद को उंगलियों से चौड़ा किया और उसकी चूत को थोड़ी देर सहला कर अपनी जीभ से उसके चूत के दाने को चाटने लगा.

जब दरवाजा खुला तो सामने का नजारा देखकर मेरा मुंह भी हल्का सा खुला ही रह गया. मैंने अपनी शराफत वाली पैंट दरवाजे के पास ही अपने जूतों से कुछ दूरी पर उतार दी. फिर मैं बोला- मुझ पर भी नहीं करोगी?वो बोली- यार … तू कैसी बातें कर रहा है, हम दोनों दोस्त हैं, कपल नहीं.

मैं हाथों से उनके बूब्स दबाने लगा और वह भी अब सिसकारी लेने लगी।हम दोनों गर्म होने लगे और मैं किचन में ही उनकी साड़ी उतारने लगा और उन्होंने भी मेरी टी शर्ट उतार दी. अब वो गांड चलाने लगी और झटकों का जबाव देने लगी। मेरा लंड उसकी चूत में पूरा घुसकर बाहर आ रहा था.

शायरा की चुत के साथ साथ मैंने उसके दिल में भी अपने लिए जगह बना ली थी.

अभी तुम बाहर जाओ।मैंने भी उसको सीधा किया और बोला- देख जल्दी चूस दे.

मैंने जोश में पूछ लिया- सब अकेले ही!तो उन्होंने भी फोटो की तरफ देख कर कहा- मैं अकेली कहां हूँ. आईई … आह्ह … मेरी चूत।जितनी तेजी से उसकी सिसकारी निकल रही थी उतनी ही तेजी से मैं उसकी चूत को चाट रहा था. ये शायद प्यार ही था, जो मैं शायरा से प्यार तो करना चाह रहा था … पर उसे दर्द होता नहीं देख पा रहा था.

आप दोनों आज रात हमारे साथ डिनर कीजिए और आपका जो भी जवाब होगा, आप हमें बताइएगा. मगर पहली बार ट्रेन में सेक्स का अधूरा मजा, चूत का स्पर्श पाने का जोश इतना ज्यादा था कि मैंने दस मिनट में लगातार दो बार मुठ मार दी. शायरा के पास तो वो दो ही पैड बचे थे, जिनको उस दिन मैंने ममता जी को दे दिए थे.

डॉक्टर से मैंने सीरियसली पूछा- सच में कल मुझे छुट्टी दे रहे हो क्या?तो डॉक्टर बोला- वैसे यहां अब एडमिट की जरूरत तो नहीं है.

असल में जोर से करने में बहुत से लौंडे मेरे लंड घुसते ही चिल्लाने लगते हैं. दोस्त की बीवी की चूत और गांड के साथ साथ अब मैंने दोस्त की मां की चूत और गांड भी चोद ली थी. उसकी चूत में मेरा वीर्य जा चुका था, जिससे मैंने उसके तन मन और दिल पर अपना नाम लिख दिया था.

मैंने दारू खत्म की और लाइट ऑफ करके स्वाति भाभी की गांड से चिपक कर सो गया. प्रियंका- साली कमीनी ले ले … आज तुझे मजा न आए तो बताना … तेरी चूत बहुत कुछ झेल सकती है. मैंने भी एहतियात के लिए अपना बैग उठाकर अपनी जांघ पर रख लिया ताकि किसी को भाभी का हाथ मेरे लंड पर रखा हुआ दिखाई न दे.

लेकिन मैंने अपनी नजरें चुरा लीं और मैं नहाने के लिए बाथरूम की तरफ चला गया.

पता नहीं वो किसी किरायेदार का छूटा हुआ सामान था … या मकान मालिक का था. इंडियन हाउस वाइफ सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक लेडी को नाइट क्लब में बाउंसर पसंद आ गया.

शहर के बीएफ तो दोस्तो, इस तरह से मेरी पहली चुदाई के बाद ये बॉयफ्रेंड सेक्स स्टोरी शुरू हुई। आप मुझे रिव्यू देकर बतायें कि आपको कहानी कैसी लगी?मेरा ईमेल नीचे है।[emailprotected]. कुछ देर बाद हम अलग हुए तो बिन्नी के चूतड़ों से होता हुआ बहुत सा वीर्य मेरे बेड की चादर पर टपक रहा था.

शहर के बीएफ जैसे ही मैं दूसरे वार्ड में पहुंचा, डॉक्टर और राजेश इस समय मौजूद उधर सभी लेडीज स्टाफ के साथ बैठे वाइन सेलीब्रेट करने में मशगूल थे. मैं कोशिश करने लगी थी कि वो मुझे छुए … या मैं उसको छू कर अपनी चाहत को पूरा कर लूं.

प्रिया के मायके में उसके मम्मी पापा कालोनी में एक कोठी में रहते थे और उसके बड़े भाई भाभी पास में ही सरकारी कोठी में रहते थे.

सपना चौधरी की हिंदी बीएफ

उसी दिन को मेरी रात की रिटर्न टिकट थी और मेरा अहमदाबाद जाना जरूरी था. उसकी कोई प्रतिक्रिया नहीं हुई, तो मेरी हिम्मत बढ़ गई और मैंने उसके होंठ पर भी अपने होंठ धीरे से रख कर उसे चूम लिया. उसी के साथ वो चिहुंक उठीं और बोलीं- क्या कर रहा है … मेरे मम्मे क्यों दबा रहा है … अपनी मां के दूध छोड़ दे.

सबसे पहले माफी मांगूंगा कि सेक्स कहानी लिखने में मुझसे कोई गलती हो जाए तो कृपया नजरअंदाज कर दीजिएगा. वो पागलपन में कभी कभी अनामिका की गांड में दांत से काटने लगी … लव बाईट देने लगी. प्रियंका ने बाथरूम के अन्दर जाते ही उसके ढीले शॉर्ट्स के दूसरे पैर की साइड से अन्दर हाथ डाल दिया और उसकी चूत में उंगली डाल कर चुत चोदने लगी.

मैं उठ कर बाथरूम में गया और वापिस आकर देखा कि वो दोनों लेस्बियन सेक्स में मशरूफ थीं.

उसके गोल-गोल और उठे हुए कूल्हे को छूते हुए और थोड़ा चिढ़ाने के अंदाज में बोला- क्या बात है सायरा, तुम्हारी गांड तो काफी उठ गयी है. मैंने करीब पंद्रह मिनट ऐसे ही धकापेल लंड पेल कर सारा पानी मासी की चूत में निकाल दिया. थोड़ी देर बाद मामा खेतों के लिए चले गए, जहां धान की कटाई चल रही थी.

जब तक वो आता, मैंने जानबूझ कर अपना दरवाज़ा हल्का सा खोल दिया … इससे उसको मेरे कमरे के अन्दर का सब नज़र बाहर साफ दिख जाता. सेक्स का मजा बेशर्मी में है। शर्मा के सेक्स अपने मियां के साथ करना। वहां मसला और होगा. मैंने उसे होटल बुकिंग के लिए बोला, जो कि उसने बड़ी ही जल्दी कर दिया और सारा प्रोग्राम फिक्स हो गया.

आपको मेरी यह भाई बहन का सेक्सी खेल कैसा लगा? प्लीज़ कमेंट करके जरूर बताएं. मुझे उससे बात करना बहुत अच्छा लग रहा था।फिर हमारी बातें सेक्स तक पहुंच गई। मैं उस पर भरोसा करने लगा.

बस इतना ही कह सकता हूँ कि इससे ज्यादा तारीफ करने को मेरे पास शब्द नहीं हैं. अब हमारे पास एक पूरा दिन बच गया था वहां पर घूमने फिरने और मस्ती करने के लिए. मेरी उम्र भले ही 62 साल हो गई थी लेकिन निरन्तर शिलाजीत के सेवन से मेरा लण्ड बड़ा मजबूत था.

मैंने कहा- आज कैसे याद किया राजेश?वो बोला- अरे यार, राजस्थान आया हुआ हूँ.

’ निकला, पर शायरा ने कंट्रोल करते हुए उस लाइन को बीच में ही रोक लिया और एक दो लम्बी लम्बी व गहरी गहरी सांसें लीं. मेरी चूत से रह रहकर पानी निकल रहा था और फच … फच की आवाज निकल रही थी चुदाई से।मेरी चूत अब बहुत ज्यादा गीली हो गयी थी. मैंने दोनों को हरी मिर्च खाने का कह दिया, क्योंकि मुझे पता था वह यह नहीं कर पाएंगी.

मैं बचपन से ही हरामी था और मेरी नज़र हमेशा ही मेरी छोटी बहन पर थी, पर मुझे कभी कुछ करने का मौका नहीं मिला था. अनामिका ने पूरी मदहोशी के नशे में अपनी गर्दन प्रियंका की तरफ घुमाई और नशीली निगाहों से प्रियंका की तरफ देखने लगी.

मैंने उधर बैठ कर आते जाते ग्राहकों को एक घंटा तक देखा, कुछ काम वाली बाईयां भी बहुत अच्छी लगीं. असलम भाई ने एक दिन अपने मन की बात बताते हुए कहा कि सलीम भाई लौडों की गांड मारते थे. मैं इन्तजार कर रहा था मीना चाची का!दोपहर को जैसे ही वो आयी, मैं झट से कमरे से बाहर निकला.

थोड़ी सी बीएफ

इसलिए मैंने जल्दी से वीडियो सेक्स चैट सेशन शुरू करने की प्रकिया चालू कर दी.

देखने में कमरा बड़ा ही खूबसूरत था, लेकिन हवस ने हम दोनों की समझ पर पर्दा डाल रखा था. मैंने उसके होंठों को छोड़ते हुए उसकी छाती पर हाथ रखे और अपने गांड को उसके खड़े मोटे लंड पर उचकाने लगा. फिर उसने मेरे क्लिट को काट लिया और मैं जोर से सिसकार उठी- रुको … रुको … रुको नीरव!मगर वो अच्छी तरह जानता था कि उसको क्या करना है.

शायरा का बचा हुआ दर्द कम करने के लिए मैं अब उसके मम्मों दबाने‌ लगा. दोनों छेदों में उंगलियों की रफ़्तार बढ़ाते हुए पूरे कमरे में फच फच फच और अनामिका की आंहों की आवाज गूंजने लगी थी. एक्स एक्स एक्स सेक्सी पिक्चर भोजपुरीडॉक्टर ने आज की सभी रिपोर्ट देखी और कमरे से बाहर निकलते समय मुझे बाहर आने को कहा.

बस फ़र्क इतना था कि सन्नी लियोनी के बूब्स टाइट हैं … और आफ़िया के सॉफ्ट थे. उसको मैंने पहले अपने मुँह में लेकर कुछ मिनट तक लॉलीपॉप की तरह चूसा.

लगभग 10 मिनट बाद मुझे दो फोटो मिले, जो शायद उन्होंने बाथरूम से भेजे थे. इतने में मेरी मां बोलीं- तू नहीं चोदेगा तो क्या हुआ … तेरा ड्राइवर तेरी मां को चोद ही रहा है. मैंने उसके मुंह में उंगली दे दी और वो उसको लंड की तरह ही चूसने लगी.

मादक सीत्कारें भरकर बार बार एक ग़ैर मर्द की बांहों में झूल कर भलभला कर झरते हुई अपनी चूत को जाँघों के सहारे सिकोड़ने के प्रयास में और भी ज़्यादा बेचैन सिसकारियाँ भरते हुए अपने यार के सिर को लगातार चूत की ओर खींच रही थी।पंकज शायद चूत चूसने के स्वाद से अनभिज्ञ था और वो अपने चिंघाड़ते हुए लंड को सुमन की चूत से रगड़ कर अब अपना लंड चूत में घुसाने के लिए व्यग्र हो रहा था. मैंने बोला- प्लीज़ कर दो न!मेरी बहुत रिक्वेस्ट के बाद उसने मेरे मुँह में मूत दिया. मैंने बाहर आकर दूसरा टॉवल उठाया और उसे देकर कहा- कॉफ़ी या टी!उसने भी अपना शरीर पौंछते हुए अपना मुँह बनाया और कह- वैसे पूछना है तो सही से पूछो.

अढ़ाई इसलिए … क्योंकि उस घर में नीचे के दो तल तो‌ पूरे बने हुए थे … मगर जो‌ तीसरा तल था, वो अधूरा बना था.

मैं खुद यही सोचता था कि इसके दूध दबाने को मिल जाएं, तो जन्नत मिल जाए. वैसे चाहो तो कातिल स्माइल भी दे सकती हो या फिर सेक्सी स्माइल भी दे सकती हो या फिर झूठी स्माइल भी कर सकती हो.

फिर मुझे उसकी गर्दन में हाथ डालने थे और कैमरे की ओर देखकर मुस्कराना था. इतने में प्रियंका ने उसके पीछे से जाकर उसकी टी-शर्ट को पूरा ऊपर उठा दिया. चुत का नमकीन रस मिलते ही अब प्रिंयका ही पागलों की तरह अनामिका की चुत चबाने लगी.

भाभी हंस पड़ीं और उसके बाद उन्होंने मेरे सारे कपड़े अपने हाथों से उतार दिए. मैं- तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई मेरी मां का महंगा शैम्पू चुराने की? मैं अभी जाकर उसको ये सब बता दूंगा और वो तुम्हारी गांड पर लात मारकर तुम्हें घर और काम से निकाल देगी. मेरी बात पर वो चहकते हुए बोली- इतना विश्वास हो गया है मेरे ऊपर?मैंने जवाब दिया- विमला इस दुनिया में मैं बहुत सी औरतों से मिल चुका हूँ.

शहर के बीएफ एकता ने अन्नू और डॉली से हेतल और उनकी महिला मित्रों का परिचय करवाया. फिर मेरे हाथ को पकड़ कर अपनी लोवर के नीचे डालकर अपना मोटा और तगड़ा लन्ड मेरे हाथ में पकड़ा दिया.

ओ जाना बीएफ

जब मैं उसको छोड़ने नासिक गया तो स्लीपर बस में केबिन बन्द करके भी हमने चलती हुई बस में चुदाई का मजा लिया।दोस्तो, चलती हुई स्लीपर बस में चुदाई करने का भी अपना एक मजा है।इस तरह मैंने अपर्णा की हिंदी सेक्सी चुत की चुदाई की। उसको भी मेरे साथ वो तीन दिन गुजार कर बहुत अच्छा लगा. मजे के साथ साथ हमारा मुख्य ध्यान क्लाइंट की सेफ्टी और प्राइवेसी पर भी रहता है तथा हमसे मिलने के बाद उस महिला की पूरी संतुष्टि को भी प्राथमिकता पर टिका होता है. उस दिन मैम ने हम लोगों को कुछ कुछ बताया और पहले दिन सब को एक एक करके कंप्यूटर पर सबको समझाने लगीं.

उसकी इस बात को सुनकर मैं तड़फ गयी और बिना कुछ सुने या बोले मैं तुरन्त ही घर आ गयी. मेरी उम्र अभी 32 वर्ष की हुई है, मेरी लंबाई 5 फुट 10 इंच की है तथा वजन 79 किलोग्राम है. आम्रपाली के नंगे फोटोऑनलाइन चैट सेक्स कहानी उस समय की है जब मेरी जिंदगी एकदम बोरिंग चल रही थी.

संध्या चाची अपनी लेगिंग रखते हुए हुए बोलीं- मुझे एक बात समझ नहीं आती कि जब तुम टूर पर अकेले जाते हो, तो कैसे मैनेज करते होगे? कहीं ऐसा तो नहीं कि टूर में अपनी सेक्रेटरी को ही पेल देते होओ?राजू चाचा- तुम्हें ऐसा क्यों लगता है?संध्या चाची ने मुस्कुराते हुए कहा- देखो एक तो उसके कपड़े मुझे पता है, वो स्कर्ट के नीचे पैंटी नहीं पहनती.

उसको अकेले में मिलने का तो हम दोनों को समय ही नहीं मिलता था क्योंकि हमेशा उसकी जीएफ उसके साथ रहती थी. प्रिया ने अजय से ये वादा लिया कि दिल्ली में जब भी मौका मिलेगा वो सेक्स करेंगे.

मैं बोली- ठीक है, चूतिये। अब बेड पर आ जा और अपने हाथ और पैर फैलाकर लेट जा. अब आगे:मैंने रागिनी से कहा कि अब वो मेरे मुंह पर चूत रखे और हेतल को लंड पर बैठने के लिए कहा. वो खुल कर बोली- खिलाड़ी तो बहुत बड़े लग रहे हो … अब तक कितनी को चोदा है?मैंने कहा- हमारा काम यही है.

मेरी चुत के पानी छोड़ने के बाद वो ये समझ गया कि मैं सो नहीं रही हूँ … बस नाटक कर रही हूँ.

मैं बोली- अब मैं चाहती हूं कि तुम मेरी गीली हो चुकी चूत को चाटो और मुझसे अपने लंड को शांत करवाने की भीख मांगो. मैंने कैमकॉर्डर में उसका नंगा जिस्म देखा जिसको वो रगड़ रगड़ कर साफ कर रही थी. मैंने फिर थोड़ा हटकर संजू को फोन किया कि बेबी इसको कहीं भी कोई चुत नहीं मिली … बेचारा रो रहा है.

सेक्सी फिल्म हिंदी में बफन्यूड भाभी सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैंने सनी लियोनी की नंगी फिल्म दिखाकर पड़ोस की भाभी को गर्म करके उसकी चूत को चोदा. मेरी चूत अब पच पच की आवाज करने लगी थी और मुझे इससे बहुत ज्यादा उत्तेजना होने लगी थी.

बीएफ साड़ी वाली का

मैं सिसकती, कराहती मादक आवाजें निकालती हुई अपनी गांड उछालने लगी और फिर एक सुर में झड़ने लगी. अभिषेक के बगल में लेटते ही मैंने धीरे से उसके पूरे बदन पर ऊपर ऊपर अपना हाथ फिरा दिया और उसके गाल पर एक किस कर दिया. मैं अपने बिस्तर पर लेट कर उन दोनों की चुदाई शुरू होने का इन्तजार कर रही थी.

वो बोली- अकेले क्यों रहते हो?मैंने कहा- अकेला रहने का अवसर नहीं मिलता है. इसलिए उससे बात करते करते पता ही‌ नहीं चला‌ कि कब हमारी‌ बातों का विषय चुत लंड पर आ गया. जिससे शायरा का दर्द तो कम नहीं हुआ … पर मुझे लग रहा था कि उसका प्यार जरूर बढ़ रहा था.

ऐसे बार बार लंड फिसल जा रहा था।मैं समझ गया कि मुझे थोड़ी बेरहमी दिखानी होगी नहीं तो उसकी सील नहीं टूट सकती।फिर मैंने अपने शरीर का वजन प्रिया के ऊपर डाला और अपने दोनों हाथों से उसकी गांड को जोर से थाम लिया।अब मैंने एक जोर का धक्का दिया और मुझे सफलता मिली. चाचा जी बोले- देखा, भैन की लौड़ी कितनी हुड़क मच रही है चुदवाने की, अब तू जल्दी ही बिल्कुल रंडी बन जाएगी!मैंने बोला- अरे चाचा जी, बाद का तो पता नहीं … पर आज के लिए तो मैं सिर्फ आपकी रंडी हूँ, प्लीज अपनी इस रंडी को चोद दो ना!फिर चाचा जी मेरे ऊपर आकर झुक गए और मेरी आंखों में देखते हुए कहा- हो सकता है थोड़ा दर्द हो, क्योंकि तू पहले चुदी नहीं है ना. मैं भाभी से बोला- पता नहीं क्यों … उसने बस मुझसे बात करना छोड़ दिया है.

उनका वह लाल गुलाबी सा सुपाड़ा, जिस पर वो थूक लगा कर लंड हिलाते थे … बड़ी देर तक मलते थे. अब वो केवल अंडरवियर में था और उसका लंड पूरा तनकर एकदम साइड में उठा हुआ था.

वो- तो क्या करूं?मैं- मैं हूँ ना!वो- क्या?शायरा ने चौंकते हुए मेरी तरफ देखा.

फिर मैंने कहा- कल्पना अब तुम अपने दोनों हाथ बेड पर रख कर कुतिया बन जाओ. 4 सेक्सी चाहिएयह सारी बातें विस्तार से होने के बाद प्रियंका ने मुझे सब बता दिया था. सेक्सी वीडियो 5 साल कीमैं ज़ोर ज़ोर से ‘आहह … आहह … आहह … चाचा जी … और ज़ोर से … आहह … बहुत मजा आ रहा है … चाचा जी आह बस चोदते रहो. मैं उसके पैर फैला कर बीच में बैठ गया और अपने छह इंच के सीधे खड़े लंड को उसकी चूत के मुँह पर रगड़ने लगा.

बस अब विमला को राजेश और उसके डॉक्टर दोस्त के हाथों में सौंप कर मैं उन चारों को भोगने की कामना करने लगा.

जैसे ही लेटी, उसके चूचों से टॉवल थोड़ा नीचे खिसक गई और चूचियां खुल कर दिखाई देने लगी थीं. मैं समझ गया मगर बन कर बोला- कैसी आस चाची?वो इधर उधर देखते हुए बोलीं- तू तो जानता ही है कि शीतल के पापा की अब तबियत ठीक नहीं रहती है. मेरी मम्मी का फोन आया, तो मैंने बता दिया कि अब पार्टी शुरू होने वाली है और थोड़ी सी बात करके फोन काट दिया.

फिर मैंने मोना को पीछे से पकड़कर उसकी चूचियों को दबाना शुरू किया और उसकी कमर पर किस करना शुरू कर दिया. वो महिला बोली- कमल सेठ, एक बार हमारी लड़की को भी अपने मेहमान को दिखा दो. मुझे भी उनका इस तरह से मेरे जिस्म के लिए पागल होना बहुत पसंद आ रहा था.

जानवर और इंसान बीएफ

एकता ने हेतल को कॉल किया तो वो बोली कि रास्ते में है और पहुंचने ही वाली है. वो तो अनिल को बता कर गया कि मैं आज नहीं रहूँगा, तुम पिंकी से बात करके उसका मन लगा देना. मैंने दो गिलास लिए, उनमें वाइन डाल कर एक उसे दे दिया और एक खुद ले लिया.

अनिल बोला- अभी तो वो एक महीने बाद ही आ पायेगी … और मुझे भी जल्दी क्या है … यहां आप हो तो.

रोहिणी, निशि और मेरे चेहरे की चमक लंड मिलने की खुशी को बयां कर रही थी.

अब कुछ देर मेरी चूत बड़े बढ़िया से चाटने के बाद मैंने अपना सारा पानी उसके मुँह में छोड़ दिया. उसने अपने लिए नयी सेक्सी ब्रा और पैंटी, हाई हील सैंडल, नयी ड्रेस वगैरह आदि की खूब खरीदारी की थी. हवस के पुजारीऔर सुमन की हालत तो देखने वाली थी इस समय … वो अजीब अजीब आवाज़ें निकाल कर सिसकारियाँ भर रही थी.

एक मिनट के लिए तो वो थोड़ा कुछ समझ ही न सका, लेकिन अब कोई लड़की किसी लड़के को गोद में अगर खुद बैठेगी, तो कौन लड़का मना कर सकता है. नसीम भाई की याद में असलम भाई की आंखें बन्द हो गईं, वो उनकी याद में खो गए. इसका क्या?रोजी (नाटकीय तरीके से सोच विचार के बाद)- ठीक है, मगर तुम्हें पहले वो वीडियो मेरे सामने ही डिलीट करना होगा.

अब राजू चाचा ने संध्या चाची को अपने ऊपर खींच कर कहा- आज तू मुझे चोद. उसकी गोरी और मोटी गांड में जब धक्का लगता था तो वो पूरी हिल जाती थी.

मेरी पिछली कहानियां पढ़कर आप में से बहुत से पाठकों को पता लग ही गया होगा कि मैं बहुत ही सुडौल बदन वाली लड़की हूं और तीस साल की हो चुकी हूं.

मामी बोल रही थीं- आह राहुल … मुझे पता नहीं था कि इतना मज़ा आता है चूत चुसवाने में … आह और ज़ोर से चाटो इसे … आह. इस बार उन्होंने मेरा लन्ड पकड़ कर अपनी चूत पर खुद ही सेट किया और मैंने धीरे से धक्का लगाया तो वो उछल पड़ी. जब तक वह कुछ समझ पाती, मैंने उसके होंठ से होंठ मिला लिए और उसके होंठों की प्यास अपने होंठों से बुझाने लगा.

ಆಂಧ್ರ ಸೆಕ್ಸ್ भाभी ने जैसे ही मुझे कान की लौ पर किस किया, तो मैं एकदम से सिहर उठा. एक दिन मैंने पति को गुस्सा दिला दिया तो उसने मुझे नंगी करके वो सजा दी कि दर्द में भी मजा आ गया!हैलो अन्तर्वासना स्टोरीज रीडर्स, कैसे हो आप सब?मैं आपको अपनी एक दर्द और आनंद भरी कामुक स्टोरी बताने जा रही हूं.

फोन रखने के बाद एकता ने कहा- यहां पर रेनोवेशन चल रहा है, हम लोगों के रुकने का इंतजाम नीचे बेसमेंट में किया गया है. मैंने बाहर आकर एक कार टैक्सी से बात की उसने मुझे कालका स्टेशन छोड़ दिया. लोटे में रखे जल से उसकी बुर पर पानी के छींटे मारे, फर्जी मंत्र बुदबुदाया और फिर रेजर से उसकी झाँटें साफ कर दीं.

गुजराती सेक्सी मूवी बीएफ

फिर ट्विंकल की चुदाई को याद करके आंखों ही आंखों में ही मुझे पूरी रात काटनी पड़ी. अजय को प्रिया का संकोच था, तो प्रिया भी बोली- अब शर्माने को रह क्या गया है. मतलब टाइट चूत बिल्कुल चिपकी हुई थी जैसे उसने महीनों से लंड न खाया हो।मैंने उसकी चूत की फांकों को खोला और एक उंगली घुसा दी.

मेरी उम्र 23 है और मैं एक जवान लड़का हूं और चुदाई का हमेशा ही प्यासा रहता हूं. तो फूफा जी ने पूछा- क्या हो गया?बुआ मेरे सर पर हाथ फेरते हुए बोलीं- कुछ नहीं, एक चूहा आ गया था.

उसका अपने ब्वॉयफ्रेंड से लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशन कॉल पर ही सब कुछ चलता है.

अब आगे:आह … क्या कर रहा है? आराम से नहीं चला सकता क्या?” शायरा ने मेरी पीठ पर चपत सी लगाते हुए कहा. चाची कुछ नहीं बोल रही थी और बस सिर के नीचे हाथ दबाये हुए लेटी हुई थी. यह गाँव की लड़की की चुदाई एक साल पहले उस समय की है, जब मैं अपने रिश्ते के भाई की शादी में गया था.

तुम मुझ पर विश्वास करके तो देखो।मेरा ये कहना हुआ ही था कि उसने अपनी आँखें बंद कर ली।बस मैं जान गया कि अब ये विरोध नहीं करेगी. हम सब शाम होने और होटल जाने का ही इंतज़ार कर रहे थे … पर साला समय बीत ही नहीं रहा था. वो- इसका ग़लत मतलब तो नहीं है ना?मैं- नहीं, अगर हमें ग़लती करनी हो तो एक दूसरे से सहमति से करेंगे.

लंड को हिलाते हुए वो बोली- तुम्हारा लंड बहुत कड़क है … इससे चुदने में मज़ा आएगा.

शहर के बीएफ: मेरे होंठों को चूसने के बाद वो मेरी गर्दन पर टूटे और उसको चूमने लगे. इतना कहते ही चाचा ने पूरी ताकत से झटका दिया कि उनका मूसल लंड चूत की जड़ तक घुस गया और संध्या चाची की चूत में समा गया.

अगर कल को मैं बीमार हो गया और बिस्तर से न उठ पाया, तो तुझे दिक्कत नहीं होगी. अब आगे:मैंने रागिनी से कहा कि अब वो मेरे मुंह पर चूत रखे और हेतल को लंड पर बैठने के लिए कहा. चाची की सिसकारियां निकलने लगीं- आह्हह … तानु … ऊईई … आह्ह … और चूस … आह्ह … बहुत दिनों बाद चूत पर किसी मर्द की जीभ लगी है … आह्ह चूस … और जोर से … आह्ह … मर गयी मैं … उम्म … आह्ह!चाची के मुंह से निकलते कामुक शब्द मुझे वहशी बना रहे थे.

तुम डॉक्टर को खुश कर सकती हो, तो वो मुझे तुम्हारी इच्छा अनुसार रुकने देगा.

दोस्त की चुदासी बीवी की कहानी के दूसरे भागसेक्स में फंतासी की इन्तेहा- 2में अब तक आपने पढ़ा था कि रवि और पिंकी आपस में सेक्स करते हुए अनिल को शामिल करने की बात कर रहे थे. उसने अपनी टांगों को मेरी गांड पर लपेट लिया और चूत को उचका उचका कर चुदने लगी. अस्मिता बोली- चलो कोई बात नहीं, अब तू मुझे अपनी रंडी समझ ले, लेकिन कैसे भी करके मेरी प्यास बुझा दे.