बीएफ वीडियो स्टेटस डाउनलोड

छवि स्रोत,बीपी बीएफ हिंदी

तस्वीर का शीर्षक ,

विदेशी बीएफ व्हिडिओ: बीएफ वीडियो स्टेटस डाउनलोड, तो अन्दर ही डालो।इसके बाद कुछ तेज धक्कों के बाद मेरा काम हो गया और मैंने एक जोरदार पिचकारी उसकी चूत में मार दी। मेरे वीर्य की गर्मी से वो भी स्खलित होने लगी और उसने मुझे कस कर अपनी बांहों में जकड़ लिया।मैंने भी उसे किस किया और कहा- तुमने जो मुझे आज मजा दिया.

बीएफ भाई बहन के

अभी सुधर गया है।एक बार उसने फोन किया तो मैं उस वक्त जीजू के लंड पर ही बुर टिकाए बैठी थी। मैंने फोन उठा कर बोला- बाद में कॉल करना. एक्सएक्सएक्स सेक्सी बीएफवह बहुत खूबसूरत लग रही थी। कार में अन्दर बैठते ही उसने मुझे ‘हैल्लो.

शादी के 2 साल बाद मेरे बच्चा हो गया, इस कारण मेरा वजन बढ़ गया था तो मैंने पति से परमिशन लेकर एक जिम ज्वाइन करने की सोची और पहले दिन बात कर के आई. सेक्सी एडल्ट बीएफउसमें आ जाना।मैं मुस्कुरा दी और अगले दिन मैंने अपना पसंदीदा ब्लैक कलर का वन पीस ड्रेस पहना.

उ…उ…ह…’ राहुल धक्के लगाते हुए मेरे होंठों को बुरी तरह चूस रहा था। मेरे होंठों को राहुल ने अपने मुँह में लेकर बंद कर रखा था मगर फिर भी उत्तेजना के कारण मेरे मुँह से उँहु…हुँ…हुँ.बीएफ वीडियो स्टेटस डाउनलोड: और सुन्दर सेक्सी गोरी चिकनी मस्त हंसमुख प्यारी शादीशुदा 32 साल की सरला आमने-सामने के फ्लैट में रहते थे और अच्छे दोस्त थे। शाम को जब वो ऑफिस से वापिस आता था तो सरला उसको चाय के लिए अपने घर बुला लेती थी।उसकी साड़ी बहुत नीची.

वो हड़बड़ा कर उठ गई, पर उसे आनन्द भी आ रहा था, उसकी सिसकारियों और शरीर की कंपन साफ पता चल रही थी।मैंने उसके दोनों पैर के अंगूठे बड़े मजे से चूसे.’ यह कहते हुए वो हिल-हिल कर मुझसे छूटने की कोशिश कर रही थी और मैं आँखें बंद किए उसे कसके जकड़े हुए था।शायद रोमा को अपनी बुर पर मेरे लंड का स्पर्श अच्छा लगने लगा था.

बीएफ सेक्सी हॉट हिंदी - बीएफ वीडियो स्टेटस डाउनलोड

लड़कपन में मैं बुरी संगत में रहकर बिगड़ गया था, लड़कियों की नंगी तस्वीरें देखना.आपकी जवानी के रस के लिए कोई कुछ भी कर ले।अब मैंने उसे हल्का सा धक्का दिया.

तू अपने उस मोटू लाला से क्यों ऐसे नहीं चुदवातीं।’ बदमाश नयना सरला को चिढ़ा रही थी।‘हाय राम, कहाँ यार. बीएफ वीडियो स्टेटस डाउनलोड और मुझे मालिश करने में भी प्रॉब्लम हो रही है… आप इसे उतार दो!माँ ने मेरी तरफ देखा और सेक्सी सी मुस्कान के साथ कहा- तू ही उतार दे!मैंने झट से माँ के पेटीकोट का नाड़ा खींच कर उसे उतार दिया।अब माँ केवल पेंटी और ब्लाउज में थी।मैं माँ की जांघों की मालिश करने लगा… कभी कभी मैं माँ की गांड और चुत को उंगली से छू देता.

रेशमा को भी इस हालत में मैंने पहली बार देखा था। रेशमा ने आज की तैयारी में अपनी योनि चिकनी कर ली थी और उसके उरोजों के चारों ओर का भूरे रंग का घेरा तो कयामत ही लग रहा था।मैंने रेशमा से कहा- बड़ी बेशर्म है री तू! खुद ही पूरे कपड़े निकाल कर ऐसे ही घूम रही है?तो उसने कहा- तू भी आठ दस बार लंड का स्वाद चख ले, फिर देखना खुद ही चूत फैलाये लंड खोजेगी.

बीएफ वीडियो स्टेटस डाउनलोड?

वो नीचे मेरी मम्मी के पास सो जाती थी। अमिता ओर मैं शाम को ऊपर छत पर बैठ कर लैपटॉप चलाते हुए बातें करते रहते थे। मैं उसे किस भी कर लेता था. लेकिन उसने बोला कि पार्टी के बाद करेंगे, मैंने उससे जिद नहीं की।उसके बाद हमने कपड़े पहने एक-दूसरे को किस किया और बेडशीट को हटा दिया. उसे भी मजा आने लगा। कुछ देर धकापेल चुदाई हुई उसने भी मेरा पूरा साथ दिया।थोड़ी देर में मैं झड़ने वाला था.

तू उसको बुला मैं सब संभाल लूँगा।रजिया भी हमारे पड़ोस में ही रहती थी।मैंने बिल्लू को राज़ी कर लिया।बिल्लू- लेकिन करेंगे कब और कहाँ?मैंने कहा- उसकी फ़िकर मत कर. उम्म्ह… अहह… हय… याह… क्योंकि मेरा सुपारा उसकी बुर में घुस चुका था।फिर मैंने उसके होंठों को अपने होंठों में दबाया और एक और जोरदार झटका मारा। मेरा आधा लंड उसकी बुर में घुस गया। अब वो बुरी तरह छटपटाने लगी. फिर मैं चुपचाप बैठा रहा और फिर उधर ही लेट गया। मैं लेट कर मामी की चुदाई के सपने देखने लगा।इतने में मामी बोलीं- अच्छा तूने कभी सेक्स किया है?उनकी इस बात को सुनकर मेरे मन में लड्डू फूटने लगे और मुझे लगा कि अब काम हो गया समझो।मैं बोला- लड़कियों के साथ तो किया है.

मैंने उसको खोल दिया।अब तो मजा आ गया, मैं आंटी की चुची को नंगा स्पर्श करते हुए मस्ती से दबाए जा रहा था।इधर मेरे लंड का बहुत बुरा हाल था. लेकिन उसके होंठों पर मेरे होंठ चिपके हुए थे, इसलिए वह चीख नहीं पाई।मैं उसके मम्मों को दबाने लगा. हम दोनों वहाँ बहुत सारी बातें करके अपनी बोरियत दूर कर लिया करेंगे।‘तुम्हारा घर किधर है?’‘दो मकान छोड़ कर.

उन्होंने मुस्कुरा कर मुझे दे दीं। मैं उनके सामने ही ब्रा पेंटी को लिक करने लगा।यह देखकर उनकी सीत्कार निकल गई, वो बोलीं- जब असली माल सामने है तो ये क्यों?मैं समझ गया और उनको फिर से किस करने लगा।हम दोनों ने अपने मोबाइल नंबर एक्सचेंज किए और फिर अपने स्टॉप का वेट करने लगे। जब तक हमारा स्टॉप आया. जब मैं 19 साल का था और हमारे घर के पड़ोस में एक नया शादीशुदा जोड़ा रहने आया था। भैया सूरज और सुमति भाभी की शादी को अभी एक साल ही हुआ था। मैं उन्हें भैया-भाभी ही कहता था।सूरज भैया काम के सिलसिले में अधिकाँश बाहर रहते थे और सुमति भाभी एक हाउसवाइफ की तरह घर में ही रहती थीं।सुमति भाभी भी साली एकदम सेक्सी माल थीं.

बहुत मजा आ रहा है।कुछ मिनट बाद मुझे मेरे लंड के ऊपर कुछ गर्म सा महसूस हुआ.

जैसे कि वह दिन भर क्या करती है और कहाँ आती-जाती है।मैंने पाया कि वो सुबह बालकनी में कपड़े सुखाने आती थी.

जिससे मुझे उसके गुलाबी निप्पल वाले उरोज साफ़ दिखने लगे। मैं उनसे अपनी नजरें हटा ही नहीं पा रहा था, मैं उनमें खो सा गया था।तभी वो एक जोर की हंसी हंसी. फिर पूरा पेलता था। मैंने भी अपना लंड बाहर निकाल लिया था और अपने हाथ से सहलाते हुए गांड चुदाई की लाइव फिल्म देख कर मजा ले रहा था।फिर कुछ देर बाद कैलाश झड़ गया, तब कैलाश बोला- यार अब तू भी आ जा!मैं संकोच कर ही रहा था कि वह लड़का बोला- आजा. तेरे को तेरी कजिन शिवानी की बुर ज़रूर दिलाऊँगी।अब चालू होती है मेन कहानी.

तूने तो जादू कर दिया है। कल हुई मस्त चुदाई का अभी तक मजा आ रहा है।’इनकी चुदाई चलने दीजिए और आप मुझे ईमेल कीजिएगा।[emailprotected]कहानी जारी है।. जोर जोर से!फिर मॉम अपने मुँह से मेरे लंड को निकाल कर हाथ से सहलाने लगीं।मैं बोला- और कैसे आपको मजा आता है. और आँख मार कर हंसती हुई नीचे चली गईं।मैं कपड़े पहन कर नीचे आया और प्रीति को ढूँढने लगा, वो नहाकार निकल रही थी, मैंने महसूस किया कि वो थोड़ा पैर फैला कर चल रही है।आपको मेरी ये चुदाई की कहानी कैसी लगी.

!उसने मुझे कुछ भी जवाब नहीं दिया, उल्टे मुझे गुस्से से घूरते हुए घर के अन्दर चली गई।रोमा के इस गुस्से को देख कर मेरी गांड फट गई थी.

इस धमाधम चुदाई में उन्होंने 3 बार पानी छोड़ा थ़ा।बाद में दोपहर में मैं वोदका लाया. साहिल ने पूछा- जिम चलोगी?मैंने कहा- यहीं कसरत कर लो मेरे ऊपर!तो वो मुझे फिर बैडरूम में ले गया और नंगी कर के फिर से चोद दिया. आज कोई परदा नहीं होगा।उसने दीदी के हाथ हटाए उनकी चूचियां देखकर पागलों की तरह उन पर टूट पड़ा, निहाल मेरी दीदी की एक चूची को मुँह में लेकर चाटने लगा और दूसरी को हाथ से भींचने लगा।दीदी- उफ्फ़.

कैसा लगा मेरा सरप्राइज गिफ्ट?’मेघा ने जीनत का हाथ पकड़कर आगे करते हुए कहा।वे दोनों मुस्कुरा रहीं थीं।‘ओह. इसलिये उसने मुझे अपना नम्बर दिया और कहा- कुछ चाहिये हो तो फोन पर आर्डर देना, हम घर पर डिलीवरी कर देंगे. सालों अपना रस आज मेरे मुँह में डालना।उसके ये शब्द सुन कर हम और उत्तेजित हो गए और बाथरूम में ही उसे जोर-जोर से चोदने लगे। परन्तु बाथरूम में उसे चोदने में हमें थोड़ी दिक्कत आ रही थी.

क्या मस्त सुन्दर गोरा-गोरा मोटा-तगड़ा लंड है यार। पर इसमें चूत में घुसा कर चोदने का भी दम है कि नहीं?‘वो तो तुझे खुद पता करना पड़ेगा भाभी। तू बहुत अनुभवी है और तू मेरा लंड पूरा लेने का सोच भी रही है।’कमल मुस्कराते हुए आगे झुक कर सरला भाभी की नंगी चूचियों को चूम कर एक चूची को मुँह में लेकर चूसने लगा।सरला भाभी मस्ती में सिसिया उठी- हां.

सपाट पेट और नाभि की फोटो ले ली थी, वो भाभी के कड़े निप्पलों को गोल-गोल घुमा रहा था और मरोड़ रहा था। उसे मालूम था कि सरला भाभी को यह बहुत अच्छा लगता है और इससे भाभी की चूत खूब गर्म और गीली हो जाती है।‘जालिम चोदू यार. मुझे भी लंड की खाल खिंचती सी महसूस हो रही थी। मैं धीरे-धीरे अन्दर-बाहर करता हुआ उसकी बुर में लंड पेलने लगा। इस तरह से मेरा आधा लंड उसकी बुर में घुस गया और वो जोर से चिल्लाने लगी। लेकिन मैं रुका नहीं और जोर-जोर से लंड पेलता रहा।कुछ झटकों के बाद मैंने उसकी दोनों टांगों को अपने कंधे पर टिका लिया और बिना लंड निकाले हाथ से थूक लगाकर फिर एक बार झटका मारा.

बीएफ वीडियो स्टेटस डाउनलोड कुछ हॉट सेक्सी ड्रेस पहन कर आना।वो मुझे किस करके चली गई।घर जाकर उसने बोला- थैंक्स समीर बहुत मजा आया। मैंने गर्भनिरोधक गोली खा लीं ताकि आपका पानी चुत में लिया था तो प्रेग्नेंट ना हो जाऊँ।मैंने कहा- अगली बार और मजे दूंगा।वो बोली- मुझे तो इसी बार बड़ा मजा आया है. मैं सोच रहा था कि पता नहीं अब क्या बवाल होने वाला है।चलिए देखते हैं कि आगे क्या होता है.

बीएफ वीडियो स्टेटस डाउनलोड ये बात कुछ जमती नहीं है।उस दिन हम लोगों ने बिल्कुल भी पढ़ाई नहीं की।वो अगले दिन आई. बहन की चुदाई की यह हिंदी सेक्स स्टोरी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!अब मैंने उसकी चूत पर हाथ लगाया जो बहुत ही नाजुक और कोमल थी.

मैं उसका मुरझाया हुआ लंड मुँह में लेकर चूस रही थी, वो मेरे सर को सहला रहा था और बालों में हाथ फेर रहा था.

फौजी कटिंग फोटो

उसकी उम्र 24 साल की है।बात कुछ 4 साल पहले की है, मैं छुट्टियों में बुआ के यहाँ जयपुर गया हुआ था। तब मुझे नहीं पता था कि मेरी बहन सेक्स मामलों में इतनी आगे है।मुझे यह जरूर पता था कि उसका किसी से अफेयर चल रहा है. दोस्तो, मैंने बहुत दिल से ये सेक्स स्टोरी लिखी है, मुझे उम्मीद है कि आप सभी को मेरी पहली कहानी पसंद आएगी।मैं इंदौर से हूँ. ’उसकी बड़ी दीदी शादीशुदा थी।वो मुझसे ये सब बात करते-करते मुझे अपने बेडरूम तक ले आई और मुझे वहाँ बैठा कर कहीं चली गई।मैं उसके बेडरूम में नज़र दौड़ा ही रहा था कि मेरी नज़र रैक में रखी हुई उसकी ब्रा और पैंटी पर पड़ी।मैं उसकी पैंटी को हाथ में लेकर सूंघने लगा.

घुप्प अँधेरा सा ही था।कुछ और दूर चलने के बाद मैंने भी रिलॅक्स होकर उसका हाथ पकड़ लिया और बीच-बीच में उसके स्तनों को दबा देता था। उसे मेरी इस हरकत का पता चल गया, लेकिन उसने कुछ नहीं बोला।हम दोनों कुछ ही देर में उसकी बिल्डिंग के नीचे आ गए।उसने कहा- आइए. ’ बोला और हम दोनों पढ़ने के लिए बैठ गए।उसको देखने के बाद आज मैं फुल मूड में आ गया था, मैंने रिया को बोला- तू मेरी फ्रेंड है ना तुझसे कुछ पूछूँ. वो सिहरने लगी, उसकी कामुक आवाजें निकलने लगीं।मैंने जीभ से अपनी बहन की चूत के क्लाइटोरिस को चाटना चालू किया.

बस!मैं- तुम्हें ऐसे देख कर तो खाना छोड़ तुम्हें खाने का मन करने लगा है।निक्की- बहुत उछलो मत.

तो फिर ये छुपना-छुपाना कैसा!अब मॉम मुस्कुरा दीं और उन्होंने मेरी ओर देखते हुए मुझे आँख मारी तो मैंने भी आगे बढ़ मॉम को अपने गले से लगाते हुए उनकी चूचियां मसल दीं।फिर क्या था. तो वो कुछ नहीं बोलीं।फिर मैंने और थोड़ा ऊपर होकर एक चूचे का निप्पल अपने मुँह से दबा दिया, उन्होंने भी मेरे सर पर हाथ फेर कर मुझे हरी झंडी दे दी।अब तो मॉम भी फिल्म देखते-देखते मुझसे मजा लेने लगीं. क्या उंगली से ही सेक्स हो जाएगा?इतना सुनकर मैंने उसकी चूत पर थोड़ा तेल लगा दिया और अपना लंड उसकी चूत की फांकों में फंसा कर एकदम से पेल दिया।टीनू तेज स्वर में चीख पड़ी उम्म्ह… अहह… हय… याह… तो आंटी जी की आवाज आई- क्या हुआ श्याम?मेरी तो गांड फट गई.

जिसकी वजह से वो आउट ऑफ कंट्रोल हो गई। मुझे जब तक कुछ समझ आता तब तक वो जोर-जोर से हाँफती हुए झड़ गई।मैंने मजाक करते हुए कहा- अभी तो सिर्फ़ शुरूआत हुई है रानी. मैंने मौसी की नंगी चूत देखी, तो मुझसे रहा नहीं गया।मौसी की चूत एकदम क्लीन और साफ़ थी. इसके लिए अपने सुझाव इस एड्रेस पर मेल कर सकते हैं। ये मेरी पहली कहानी है.

देख क्या रहे हो?मैंने कहा- रवीना जी, आपके पैर काफी अच्छे हैं।रवीना ने ‘थैंक्स. मैं तो लंड देख कर हैरान रह गया।उसने लंड हिलाने का कहा और मैं हिलाने लगा।वो अपना हाथ मेरे लौड़े से हटाकर मेरी गोरी-गोरी गांड पर घुमाने लगा। मैंने उसे मना किया.

रोमा भी मेरे पीछे बैठ गई।मैंने बाइक को स्टार्ट किया और हम दोनों घर की ओर चल दिए।मैं रास्ते भर सोचता रहा कि अब क्या होगा. जल्दी आकर मेरे खेत में भी जल छिड़कना है, पूरा हैंडपंप यहीं सुखा के मत आ जाना!उसके जाते ही जेठ जी ने मुझे आगोश में ले लिया और चुम्मा-चाटी करने लगे, वो पिये हुए थे, लेकिन तब भी मुझे उनका छूना बहुत बुरा तो नहीं लग रहा था, पर अच्छा भी नहीं लग रहा था। वो जैसा कहते रहे. चुदाई का आनन्द उठाया।आज हम दोनों ही ग्रेजुएट हो चुके हैं और उसकी शादी भी पास के ही गाँव में हो गई है।तो दोस्तो यह थी मेरी सेक्स स्टोरी, आपको कैसी लगी मुझे मेल जरूर करें।[emailprotected].

और मेरा लंड उसकी पेंटी के ऊपर से उसकी चूत को टच करने लगा था।सच में मुझे तो बहुत मजा आ रहा था, मैंने उसकी पीठ सहलाते हुए उसकी ब्रा के हुक खोल दिए.

पायल ने मस्ती में झटसे उसे अपनी गीली गीली फुद्दी में घुसा लिया और धीरे धीरे हिलाने लगी।उसके हिलने से मेरा लंड का सुपारा भाभी की मस्त रस से भरी बड़ी सी चूत में अंदर बाहर हो रहा था और चूत फच-फच कर रही थी।इस तरह यह डबल चुदाई दस मिनट तक चलती रही।पायल और नेहा सिसकारियाँ ले रही थी और पहले भाभी की चुदासी मस्त चूत ने पानी छोड़ दिया और फिर पायल भी झड़ गई।‘हाय पायल, यह क्या साली बदमाश. प्रॉमिस।इसके बाद हम दोनों वोड्का पीने बैठ गए और मैंने पैग बनाने शुरू कर दिए।मैं- भाभी आज बहुत दिनों बाद किसी दोस्त के साथ पीने के लिए बैठ रहा हूँ. !यह हिंदी सेक्स स्टोरी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!उनकी यह बात सुनकर मैं एक क्षण का भी विलम्ब न करते हुए उनके ऊपर चढ़ गया और अपना लंड मौसी की चूत में डालने लगा, पर ये मेरी पहली बारी होने के कारण मुझे थोड़ी दिक्कत हो रही थी।फिर मौसी ने खुद अपने हाथों से मेरा लंड पकड़ा और चूत के दरवाजे पर रखा, तभी मैंने एक धक्का दे मारा.

’निहाल ने सॉरी बोला और आराम-आराम से उनके मम्मों को दबाने लगा।मैं निहाल के हाथ को देख रहा था। उसने धीरे-धीरे अपना हाथ दीदी की पेंटी में डाल दिया। हाथ चूत में लगते ही दीदी ने ज़ोर से सिसकारी ली ‘उफ्फ़ आआहह निहाल. साथ ही उनका हाथ भी मेरे कूल्हों से लेकर मेरे सिर तक घूम रहा था।मैं भी एक हाथ से भाभी के भरे हुए मखमली नितम्बों व जाँघों सहलाने लगा। मेरा साथ मिलते ही भाभी ने मुझे जोरों से भींच लिया था और जोरों से मेरे होंठों को चूमने-चाटने लगीं.

और वो भी मेरे हर धक्के का जवाब अपनी गांड उठा-उठा कर दिए जा रही थीं।करीब दस मिनट तक धक्कम-पेल चुदाई चलने के बाद मेरा माल अब गिरने वाला था, अब तक आंटी 2 बार झड़ चुकी थीं।मैंने अपने धक्के और तेज कर दिए और 5 मिनट के बाद हम दोनों एक साथ झड़ गए।फिर आंटी ने कपड़े पहने. इसलिए ट्रैफिक वगैरह में समय लगकर करीब एक घण्टा लग जाना था।उसके पति के जाते ही मैंने घर का दरवाजा बन्द कर लिया। उसने मुझे रोकने की कोशिश की और कहा- प्लीज़ ऐसा मत करो. तो चाची देख कर बस मुस्कुरा देती हैं। अब हमारे बीच सेक्स तो नहीं होता.

मारवाड़ी कॉलेज भागलपुर

वो पागलों की तरह मुझे चूमने और काटने लगी।चुम्बनों का दौर शुरू हो चला थ जिससे हम दोनों ही मजा लेकर एक दूसरे का सहयोग कर रहे थे.

और साथ में मेरे मम्मों को जोर-जोर से मसलने लगे।इस सब में मुझे बहुत मजा आ रहा था तो मैं अपने हाथ से उनका सर मेरी नंगी चूची पर खींचने लगी. माया मुझे बेसब्री से प्यार करे जा रही थी। उसने मेरा लंड चूस कर मुझे झड़वा दिया था।अब आगे. कोई बात नहीं।पापा ने कहा- अगर तुम्हें डर लगे तो मनोज अंकल को बुला लेना।मैंने कहा- ओके पापा।फोन कट गया तो अंकल ने मुझसे पूछा- क्या बात थी?मैंने उनको सब बात बताई.

मैंने बाहर से आवाज भी लगाई लेकिन शायद अन्दर कोई नहीं था, तो मैं चुपचाप अन्दर चला गया।मैं समझ गया था कि उसे पता लग गया होगा कि मैं आ गया हूँ, तो शायद वह छुप गई होगी।लेकिन जैसा सोचा था उसका पूरा विपरीत हो गया था। मैंने अन्दर जाते ही उसे देखा तो दरवाजा पूरा खुला हुआ था और वह पूरी नंगी होकर बाथरूम में शावर के नीचे बैठकर अपनी चूत को मसल रही थी।उसको नंगी देख कर मेरा दिमाग जाने कहाँ खो चुका था. मम्मा आ जाएगीं।मैं बोला- मेरा माल तो निकाल दे!वो बोली- अब क्या बाकी बचा है?मैंने पॉर्न वीडियो दिखाया जिसमें एक कपल सेक्स कर रहा था और बोला- यह सब अभी बाकी है।वो बोली- नहीं. ग्रुप बीएफवो भी मेरी हरकतों का मजा ले रही थीं।फिर मैंने उनकी साड़ी हटा दी, मेरे सामने ब्लाउज में उनके बड़े-बड़े चूचे फंसे दिख रहे थे। मैंने उनका ब्लाउज खोलना शुरू किया.

मैं अकड़ने लगी, सैम समझ गया कि मेरा होने वाला है उसने गति और बढ़ा दी. कल घर साफ़ कर देना।वो नाश्ता बनाने लगी।मैं बेडरूम में आ गया। मैंने देखा डॉक्टर साहब ने नेहा को ऊपर लिटा कर चिपकाया हुआ था और उसे किस कर रहे थे। एकदम से दरवाजा खुलने के कारण नेहा डॉक्टर साहब से अलग हो गई और उसने मुझसे कमरा बन्द करने को बोला।यह हिंदी सेक्स स्टोरी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!मैंने कमरा बंद किया तो बोली- वहाँ उसके पास नहीं रह सकते थे। वो इधर आ जाती तो.

’मैंने कुछ नहीं कहा और धीरे-धीरे लंड को आगे-पीछे करने लगा। कुछ देर में वो सामान्य हो गई और मेरा साथ देने लगी।मैं दनादन उसकी चुत में झटके मारे जा रहा था. बहुत दर्द हो रहा है।मैंने वहाँ पड़ी तेल की शीशी ली और तेल उसकी गांड में तेल डाल दिया।अब मैं फिर से अपना लंड अन्दर डालने लगा। अब मेरा लंड आसानी से उसकी गांड में करीब आधा अन्दर चला गया। तभी मैंने एक जोर से धक्का दे मारा।वह चीख पड़ी और नीचे गिर गई, मैं वहीं रुक गया। कुछ देर बाद वह ठीक हुई तो मैंने धक्के लगाना शुरू किए, उसे भी मजा आने लगा, वह ‘फ़क मी फास्ट. चाची और उनकी बेटी निशा ने मुझे अपने घर बुलाया और मुझ पर उनकी बेटी ने पानी गिरा दिया और मुझे रंग लगाने के लिए जिद करने लगी।जब मैंने मना किया तो चाची ने कहा- बच्ची का दिल रखने के लिए थोड़ा लगवा लो।मैंने कहा- नहीं चाची.

पर ये तो एक शुरुआत थी। अभी तो उसकी एनाल, थ्री-सम, गैंग-बैंग होना बाकी है. ’पर मैं नहीं माना और मैं उनकी चुत पर अपना लंड घिसता रहा।थोड़ी देर बाद भाभी से रहा नहीं गया और वो बोलीं- प्लीज़ जे. कुल मिला कर वो पूरी मस्त फुलझड़ी थी।जब मैं उसके घर पहुँचा तो उसने सिल्क का गाउन पहना हुआ था.

उसके कुछ देर बाद मैं उसे उठाकर बाथरूम में ले गया, वहाँ हम दोनों साथ में नहाए.

लेकिन वो मानी नहीं और मुझे भी अपनी शॉल शेयर करने को दे दी।हम अब भी बीच-बीच में गप्पें मार रहे थे। मैं भी उनसे फ्लर्ट करने का कोई भी मौका नहीं छोड़ रहा था। अब बीच-बीच में मेरा हाथ उनके शरीर पर लग रहा था. उनके मम्मों के अन्दर इतना दूध था और उसका टेस्ट भी बड़ा लाजवाब था।आंटी सेक्स की प्यास से तड़पते हुए बोली- प्रणव मुझे और मत तड़पाओ.

मैंने पूछा- क्या हो रहा है?उसने बताया कि वे लोग ‘घर-घर’ खेल रहे हैं और प्रीति उसकी बीवी बनी है। प्रीति फ्रॉक पहने हुई थी। हम तीनों खेलने लगे और फिर प्रतीक ने खेल को आगे बढ़ाते हुए कहा- यार समझो कि रात हो गई है. वो दर्द से चीख पड़ीं।मैंने अपने आपको व्यवस्थित करके एक बार अपने लिंग को थोड़ा सा बाहर खींच लिया और फिर से एक झटका लगा दिया। इस बार फिर से रेखा भाभी के मुँह से ‘अ. तो बात करो!वो बोला- प्लीज़ मैम समझा करो!यह बोल कर वो मुझे लिप किस करने लगा। मैंने थोड़ी देर तक मना किया, फिर मैं भी उस किस करने लगी।थोड़ी देर बाद वो मेरा टॉप निकालने लगा.

उन्होंने भी चुदास के चलते पेटीकोट और साड़ी उतार दी।मॉम के कपड़े उतरते ही मुझे उनकी चुत के दीदार हो गए. आप जो कहोगी वो मैं करूँगा।’फिर वो मेरे पास आकर बैठ गई और बोली- अजय इफ़ यू डोंट माइंड. फिर उसने लंड को चुत से बाहर निकाल दिया।शायद रोशनी का पानी निकल गया था.

बीएफ वीडियो स्टेटस डाउनलोड इससे भावना की चुदने की भूख और बढ़ गई, उसने मेरा लंड चूसना छोड़ दिया और चूत चोदने के लिए कहने लगी।पर मैं तो उसका रस जीभ से ही निकालना चाहता था, इसलिए मैंने उसकी बात पर ध्यान नहीं दिया। तो उसने खुद मुझे धकेल दिया और मैं बिस्तर में ही चित लेट गया। अब वो खुद मेरे ऊपर आ गई और लंड पकड़ कर अपनी चूत पर टिकवा लिया।अगले ही उसने अपने शरीर का पूरा भार मेरे लंड पर धर दिया। एक ‘ऊओंह. पर दर्द की छटपटाहट से उसने मेरे होंठों से अपना मुँह हटा दिया।फिर मैंने दोबारा उसके होंठों को अपने होंठों से दबा लिया और उसकी जीभ को चूसने लगा इससे उसको थोड़ा आराम मिला।फिर मैंने लंड पेलना शुरू कर दिया.

करीना कपूर एक्स एक्स एक्स

मैं भाभी के रूम में गया, तो भाभी मेरा इंतजार कर रही थीं। भाभी ने मुझे अपने पास बैठाया. अरविन्द जी के साथ जो पल मैंने खोये हैं अब उन पलों को दुबारा जीकर उन्हें पूरा करने की चाहत है… हो सके तो मुझे माफ़ कर दीजियेगा!उम्मीद है आप मेरी भावनाओं को समझेंगे और मुझे माफ़ करने की कोशिश करेंगे. तुम तो मेरी ब्रा को ऐसा चूस रहे थे जैसे किसी औरत के निप्पल चूस रहे हो।यह सब सुनकर मैं शर्मा गया, तभी मौसी बोलीं- अरे तुम तो शर्मा गए.

मैं पायल आंटी की कभी एक चूची को निचोड़ता तो कभी दूसरी चूची को निचोड़ता। पायल आंटी की चूचियाँ भी बहुत नरम थीं और उन्हें दबाने में बहुत मज़ा आ रहा था।पायल आंटी- इनका दूध पियेगा?मैं- क्या इनमें दूध आता है?पायल आंटी- हाँ थोड़ा-थोड़ा दूध निकल आएगा. इसलिए तुम्हें आदत नहीं है, कल से तुम रेखा व सुमन के कमरे में सो जाना। वो दोनों उठ गई हैं. पंजाबी भाषा में बीएफ वीडियोमैं कभी उनके निप्पलों को जोर से काटता और कभी पूरा चूचा अपने मुँह में भर कर अपने दांतों से काटता।मामी को जबरदस्त मजा आ रहा था.

जिससे मेरा ध्यान भंग हो गया।शाम को जब मैं छत पर गया तो वो भी थोड़ी देर में आ गई.

जो आज पूरी हुई। तुम्हें चोदने के चक्कर में ही मैं अपने साथ कंडोम ले कर आया था।उसने तब हँस कर इतना ही कहा- मैं भी यही चाहती थी।यह बात सुन कर मैंने अपनी स्पीड दोगुनी कर दी। मस्त चुदाई के बाद जब मेरा माल छूटने वाला था. उसने तुरंत गद्दे के नीचे हाथ डाला और एक साफ कपड़ा निकल लिया और बड़े ही प्रेम से पहले मेरा लिंग साफ किया और फिर अपनी योनि से बहता हुआ हम दोनों का रस भी साफ करा।मैं उठा और बाथरूम जाने लगा तो वो बोली- रूको, मैं भी चल रही हूँ!हम दोनों एक साथ ही बाथरूम में गये, पेशाब किया, उसके बाद उसने मग में पानी लिया और पहले अपनी योनि को धोया फिर पानी लेकर मेरे लिंग को भी बड़े प्यार से धोया.

फिर मेरे मनाने पर वो मान गई और मेरे लंड को कुल्फी की तरह चूसने लगी।कुछ ही पलों में बोली- अह. मैंने तुरंत कहा- तूने तो सात इंच बताया था, ये लिंग तो आठ इंच का दिखता है?रेशमा ने लिंग मुंह से निकाला और कहा- अब आठ हो या सात… मुझे नहीं पता, मैंने कोई टेप ले कर नहीं नापा था, हाँ लेकिन इतना जरूर है कि ये तगड़ा और सुंदर लिंग जब तेरे अंदर घुसेगा ना तो हजार गुना ज्यादा मजा आयेगा!उसकी इस बात से मैं शरमा गई और मेरा ध्यान लिंग पर केन्द्रित हो गया. मैं बता नहीं सकता। इससे पहले मैंने कभी किसी लड़की को छुआ भी नहीं था।अब वो भी मेरा साथ खुल कर दे रही थी।मैंने उसके कपड़े उतार दिए और एकदम नंगी कर दिया। सच में वो बड़ी जबरदस्त माल लग रही थी.

मेरे साथ चलोगे?मैं मान गया और हम दोनों मार्केट आ गए।उसने लेडीज मार्केट से अपने लिए सामान खरीदा.

’मैंने कहा- आपको मूवी कैसी लगी?वो बोलीं- ये बड़ों के लिए है।मैंने कहा- मजा आ रहा था. अन्तर्वासना के पाठकों को मेरा सादर प्रणाम!मैं दिव्यम शर्मा जयपुर से हूँ, मेरी उम्र 21 साल, कद 5 फुट 10 इंच दिखने में एकदम फिट हूँ। मैं अन्तर्वासना का एक नियमित पाठक हूँ। यह मेरी पहली कहानी है।बात उन दिनों की है. फिर 3 दिन बाद हम दोनों के मोबाइल नंबर एक्सचेंज हुए। अब हम दोनों कॉलेज समय से पहले पहुँच जाते और क्लास रूम में रोमांस करते।दोस्तो, मैं आपको कैसे बताऊँ.

xxx बीएफ सेक्सी वीडियोमेरी बुआ की तबियत ठीक नहीं थी और मेरी माँ, बुआ और फूफाजी घर में नहीं थे, वे सभी उनके इलाज के लिए बाहर गए हुए थे। उस दौरान घर में हम 4 लोग थे, मेरे बड़े भैया. रगड़ ना।’‘मुझे भी तेरी चस-चस चूत मारने में बहुत मज़ा आता है रानी।’कमल उसके ऊपर झुक कर चूची चूसते हुए दोनों हाथ से उसके चूतड़ ऊपर उठा कर धीरे-धीरे धक्के मारने लगा, गीता अपनी मस्ती में झूम रही थी और अपनी कमर हिला कर उसका साथ दे रही थी- हां.

मीनाक्षी सेक्सी वीडियो

नहीं तो मैं अपने मामा के घर घूम आता हूँ।मैं ये मौका कहाँ छोड़ने वाला था. दिल्ली में अपने पेरेंट्स के साथ रहता हूँ। मेरी आयु बेशक 18 साल की है. ओपनिंग हुई ही थी। इस कारण से कुछ दिन बाद ही चुदाई हो पाई।यह मेरी उसके साथ पहली चुदाई की कहानी थी.

मैंने अगली चुदाई कब और कैसे की, अगली बार बताऊंगा।आप सबको ये हिंदी सेक्स कहानी कैसी लगी. जीजू भोसड़ी के मादरचोद अब डालेगा भी या रगड़ता ही रहेगा?उन्होंने बोला- रुक भैन की लौड़ी. ’मैं लौड़े का उसकी बुर पर दबाव बनाते हुए उसकी तंग बुर के अन्दर अपना पूरा लंड घुसाने लगा, उसकी बुर की गर्मी को मैं अपने लंड पर महसूस कर रहा था, मुझे लग रहा था जैसे लौड़ा गर्म भट्टी में डाल दिया हो।उसने चादर को मुट्ठियों में कस कर पकड़ लिया.

उसने मुझे बेड पैर लिटा दिया और मेरी चुची मसलने लगा, किस करते हुए मेरे निप्पल मसल रहा था. ज़रूर!उस वक़्त तक मौसम भी थोड़ा ठंडा हो गया था, वो भी कुछ ठंडक महसूस कर रही थीं, उन्होंने अपने बैग से एक शॉल निकाली और अपने जिस्म पर लपेट ली। इस वजह से जो मुझे उनकी सेक्सी बॉडी दिख रही थी. तो कुछ ही देर में उनकी बाँहों के आग़ोश में सो गया।अभी नींद लगे हुए कुछ ही समय हुआ था कि मेरी आँख खुल गई.

अभी नहीं बाद में करेंगे।मैंने ‘ओके’ कहा।अब आंटी टॉप और जीन्स पहनने लगीं।हम लोग बाहर चले गए. और हुआ भी यही।अब देखते हैं कि रोमा रानी कब तक मेरे लंड की गर्मी से खुद को बचाती है।आपके मेल के इन्तजार में हूँ।[emailprotected]जवान लड़की के बुर चोदन की कहानी जारी है।.

उनकी चूचियां बाहर निकल पड़ीं, क्योंकि उन्होंने अन्दर ब्रा नहीं पहन रखी थी। मैंने रेखा आंटी की दोनों चूचियों को मुँह में भर के चूसना शुरू कर दिया। मैं आंटी के मम्मों को ऐसे चूस रहा था.

तो रंडी ही रहेगी ना!मैं ज़ोर ज़ोर से चुदने लगी। उन्होंने कुछ देर बाद बुर में से लंड निकाला और मेरी गांड में डालने लगे। मुझे कुछ दर्द हुआ. सनी लियोन का बीएफ बीएफ बीएफचाची के मुँह से उनकी लिपस्टिक की खुशबू और हम दोनों की गरम साँसें आपस में टकरा रही थीं।धीरे-धीरे हम दोनों ने एक दूसरे को किस करना शुरू कर दिया।मैं चाची को बुरी तरह से किस किए जा रहा था. भोजपुरी बीएफ चोदा चोदी वीडियोपर वासना के कारण शरीर का पानी भाप बन कर उड़ने लगा।अब निशा रोने लगी और मैंने भावना से कहा- भावना, अगर तुम कालीचरण से अपनी गांड नहीं फड़वाना चाहती तो चुपचाप वैभव का लंड गांड में डलवा लो. तुम्हें समझना चाहिए था कि हमारा रिश्ता क्या है।मैंने फिर फोन पर उससे माफी माँग ली।वो हँस दी और मुझसे बोली- मुझे तुमसे मिलना है.

बताओ चोट किधर लगी है?तो उसने कहा- मेरी कमर में दवा लगा दो।वो उलटी हो गई.

लेकिन मेरी चुदास तो और ज़्यादा हो चुकी थी।भाभी बाथरूम से बाहर आईं और मुझसे कहा- सैंडी जाओ तुम भी नहा लो. मेरा तो मुँह खुला का खुला रह गया। वो शादी से होकर आई थी इसलिए उसने मेकअप भी वैसा ही किया था। एकदम सुर्ख लाल होंठ, कजरारी आँखें. उसी दोपहर को मैंने अपना दूसरा दांव खेल दिया। घर में मैं और रोशनी अकेले थे.

मैं चुत को चाटने लगा।उसकी चिकनी चुत पर पहली बार किसी ने किस किया था. जो सिर्फ अपने आप में ही व्यस्त रहती थी, न किसी से ज्यादा बातें करना और न ही उसे लड़कों से दोस्ती करना पसंद था।मुझे वो लड़की कुछ ज्यादा ही पसन्द थी।एकाएक मेरे दिमाग में आया कि क्यूँ न उससे भी पूछ लूं कि पिकनिक में आएगी या नहीं, मैंने जाकर उससे पूछा- क्या तुम भी हमारे साथ पिकनिक के लिए चलोगी?फिर किसी तरह वो तैयार हो गई।शनिवार का दिन आ गया. !’मैंने बहुत जोर का धक्का चाची की चुत में लगा दिया। अब तो चाची की चुत भी बहुत बड़ी हो गई थी, इसलिए मेरा लंड एक ही बार में पूरा अन्दर चला गया।चाची ने धीरे से सिसकारी भरी- उम्म्म्म.

लड़की और कुत्ता का सेक्सी वीडियो

मैंने गिड़गड़ाते हुए कहा- आप लोग जो कहोगे, मैं वो करूंगी बस मेरी दीदी को कुछ मत करो. तो मैंने फिर से उसके बोबे दबाना शुरू कर दिए और उसे नीचे लेटा कर खुद उसके ऊपर चढ़ गया। उसने भी अपनी बुर चोदन के लिए खोल दी।मैं अपने लंड को उसकी बुर पर रगड़ने लगा. तू भी साथ में मजा ले ले।मैंने संध्या को पलट दिया और उसकी चूत चाटने लगा और मैंने कोमल के मुँह में अपना लंड लगा दिया। कोमल मेरे लंड को चूसने लगी।फिर जैसा कि पोर्न फिल्मों में भी देखने को मिलता है.

मैं तुम्हारी चूत से खेलता हूँ।मैं 69 में उल्टा लेट गया और अब उसने भी मेरा अंडरवियर उतार दिया और मेरे लंड को चूसने लगी, मैं भी उसकी चूत चाटने में शुरू हो गया।अभी हम दोनों चुसाई का मजा ले ही रहे थे कि इतने में किसी की आवाज़ आई.

जो कि मुझे चुभते से महसूस हो रहे थे।भाभी ने फिर से अपनी नंगी जाँघ मेरी जाँघों पर घिसना शुरू कर दिया और साथ ही वो मेरे गालों पर भी हल्के-हल्के चूमने लगी थीं।मेरे लिंग में अब कठोरता आने लगी थी, मैंने अपनी गर्दन घुमाकर भाभी की तरफ चेहरा कर लिया.

हैलो, मैं राज गुजरात के एक छोटे से शहर से हूँ। मेरी शादी को 8 साल हो चुके हैं और मैं दो बच्चों का बाप हूँ। वैसे तो मैं अपनी सेक्स लाइफ से संतुष्ट हूँ. आँखों पर गॉगल पहनकर आई थी।मुझे लगा कि शायद ये वही है। अब मन में जो हलचल चल रही थी. बीएफ सेक्सी वीडियो पिक्चर हिंदी मेंभाभी को देते हुए बोला- मैं इस कम्पनी में सेल्स डिपार्टमेंट में काम करता हूँ।फिर भाभी ने पूछा- और वाईफ?मैंने कहा- मैंने अभी शादी नहीं की है।भाभी हँसते हुए बोलीं- आपके लिए शादी करना बहुत जरूरी है।फिर मैंने हिम्मत करके कहा- जिस दिन आपके जैसी लड़की मिल जाएगी.

फिर मुँह पर अपने होंठ जमा कर दूसरा धक्का लगा दिया। इस बार वो चिल्ला ही नहीं पाई और मेरा पूरा लंड उसकी चुत में जड़ तक घुस गया।वो अभी तक वर्जिन थी. मैं उसकी चिकनी चूत पर हाथ फेरने लगान उसके दोनों होंठों को दबा दबा कर देखें लगा. क्या हसीन मोटे-मोटे मम्मे थे, मेरे तो हाथ में ही नहीं आ रहे थे। मैंने मम्मों को पकड़ कर जोर-जोर से चूसना शुरू किया और बोला- इनको तो बचपन में चूसता था.

लेकिन शालू की भी बदनामी होगी, इतना याद रखना।ये सुनकर वो सोचने लगीं और बोलीं- रुक तू. फिर एक दिन आप आये और पता नहीं क्या हुआ, मेरी आँखें न चाहते हुए भी आपकी तरफ उठने लगीं और मैं धीरे-धीरे आप में अपनी ख़ुशी तलाश करने लगी.

इसी तरह पहली बार गांड में लेने में थोड़ा सा दर्द होगा, पर उसके बाद जो मजा आएगा.

पर वायदा कर कि आज की बात किसी को नहीं बताएगा!मैंने कहा- ये तो आपके और मेरे बीच की बात है।फ़िर मैंने कहा- जल्दी करो. तो क्या आप उसे कुछ दिन तक सुबह तैयार करके स्कूल भिजवा सकती हो? और एक और रिक्वेस्ट है कि क्या आप मेरे और अमित के लिए खाना बना सकती हो? क्योंकि मैं तो हॉस्पिटल में ही रहूँगा और अमित मेरे घर मेरे बेटे को लेकर रात में रहेगा।रितु ने कहा- हाँ ठीक है आप परेशान मत हो. सुबह आँख खुली तो मैं बिस्तर में था, मेरी बगल में मेरे हुस्न की मल्लिका हिना बिल्कुल नंगी सो रही थी।फिर हमने दो दिन बहुत चुदाई की और कुछ पिक्स भी ली जो मेरे फेसबुक पर हैं.

कुंवार लड़की का बीएफ बस मुझे धकापेल चोदे जा रहे थे। संजू कह रहा था- कई दिनों से तुझे चोदने का दिल में तमन्ना थी. कुशल बातचीत का तरीका भी है, जो बहुत जल्दी किसी को आकर्षित करने के लिए काफी है।इन सभी गुणों के कारण कई बंदियों से मुझे बचना भी पड़ता है क्योंकि मुझे डर लगता है कि इस चक्कर में कहीं मेरा भविष्य न बिगड़ जाए।तो यह घटना कुछ यूं घटी कि सन 2012 में एक रात को मैं फेसबुक पर ऑनलाइन था, तभी मेरे पास एक लड़की की फ्रेंड रिक्वेस्ट आई।चूंकि वीणा नाम से रिक्वेस्ट थी.

जरा आराम से!मैं तेज़-तेज़ चोदने लगा और दोनों हाथों से आंटी के मम्मों को भी दबा रहा था।वो भी गांड आगे-पीछे करके चुदवा रही थीं।वो बहुत ही अनुभवी चुदक्कड़ लग रही थीं. बड़े-बड़े मम्मे और उनकी उठी हुई गांड देख कर कोई भी उसका दीवाना हो सकता था। इस वक्त मामी एक जवान लड़की की तरह दिख रही थीं।बस इसी समय से मैंने मामी को चोदने का मन में ठान लिया।मामा के घर का माहौल कुछ ऐसा था कि मामी को चोदने की मेरी मनोकामना जल्द ही पूरी हो सकती थी। मेरे मामा बिज़नेस मैन थे और बिज़नेस के सिलसिले में उन्हें कई दिनों बाहर जाना पड़ता था।दो दिन बाद मामा को जरूरी काम से जाना पड़ा. और न ही मेरे शरीर में! मैं भी वहीं सोफे पर गिर गया।अब नींद के आगोश में जा रहा था मैं.

सेक्स करने का फोटो

तो उसने नहीं दिया।ऐसे ही कुछ दिन बीतने के बाद एक मेल में उसने मुझे मिलने की बात कही। मैंने कहा- क्या सच में तुम मुझसे मिलना चाहती हो. ’ वो झड़ गई और ढीली हो गई, उसकी चुत रस से सराबोर हो गई थी। मैं फिर धीरे-धीरे चोदने लगा।अभी मस्त मजा आ ही रहा था कि तभी दरवाजे की बेल बज उठी। मेरी तो गांड फट गई. मैंने धीरे-धीरे उसके विशाल गोलाकार नितम्बों को अपनी हथेलियों में भरकर मसलना शुरू किया मानो मैदे को मथ रहा हूँ.

वर्षा मेरे गांव की देसी सी लड़की है जो पास ही के मोहल्ले में रहती है। वो मेरे गांव की सबसे सुंदर लड़की है, उसे सब लड़के अपनी बनाना चाहते थे, पर वो किसी को ज्यादा भाव नहीं देती थी।मैं पढ़ाई के कारण हमेशा ही गाँव से बाहर रहा था, कभी-कभी ही गांव आ पाता था।जिस वक्त की यह घटना है. उन्हें सूंघने लगा। फिर धीरे से मैंने उसके बालों को पूरा खोल दिया।उसकी मुस्कराहट कह रही थी कि मानो वो ये सब वो खुद चाहती हो।वो नीचे मुँह कर क़रके मुझसे बात कर रही थी.

सुबह के वक्त आ जाना, उस वक्त घर पर कोई नहीं होता।मैंने कहा- ठीक है।मैं समझ गया था कि भाभी को मेरा साथ पसंद आ गया था। अब मुझे भी सुबह का बेसब्री से इन्तजार था क्योंकि भाभी की चुदाई का मौका मिलना था।फिर सुबह उसका फोन आया कि आ जाओ.

फिर रेडी हो जाएगी।अब दोस्त की शादी होने के बाद मैंने भी उसकी वाइफ की चूत की चुदाई की है. एक बार ये गाजर निकाल दो फिर आप जो कहोगी मैं करूँगी।उसने कहा- सोच ले. तू यार खामखां मुझपर शक कर रही है। अगर कोई होता तो पगली मैं तुझे न बताती? तुझसे मेरी कोई बात छिपी है क्या??सरोज- साली.

उसकी वजह से उसकी जवानी एकदम मस्त दिख रही थी।अब मैंने उसकी चूत के ऊपर अपनी जीभ को भिड़ाया और अपनी जीभ से उसको नीचे से ऊपर तक सहलाता चला गया। सारिका की चूत एकदम से सिहर उठी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’उसकी सिहरन से मुझे मजा आया तो मैंने दुबारा फिर से वैसे ही उसकी चूत को नीचे से ऊपर तक जीभ से सहला दिया. तो मुझे समझ में आ गया कि वो जगह तो ठीक मेरे ऑफिस के सामने ही थी।फिर मैंने उनको उस जगह का सही पता बताते हुए पूछा कि मतलब आपको इधर जाना हैं?तो वो बोलीं- हाँ वहीं!मैंने उन्हें अपने साथ आने को बोला. तो इतने फूल देख कर वो हैरान रह गई। मैंने उसकी कमर पर हाथ रख कर उसके कान में ‘आई लव यू.

तो अभी काव्या की गांड बाकी है सील तुड़वाने के लिए।काली चरण सील तोड़ने के लालच में काव्या की ओर बढ़ने लगा, मैंने कालीचरण से कहा- रुको.

बीएफ वीडियो स्टेटस डाउनलोड: जबकि काव्या बाहर से आई थी। इसलिए वो और उसकी एक सहेली हमारी तरह ही रूम लेकर रहती थीं।भावना के जाने के बाद मैंने चिट्ठी खोली चिट्ठी जो आपके सामने पेश है।‘हाय संदीप. ’मैं उसकी पेंटी के ऊपर से ही उसकी चुत की महक लेने लगा और पेंटी को ऊपर से ही चाटने लगा। उसकी चुत फड़क रही थी। मैं इसी के साथ अपने दोनों हाथों से उसके मम्मों को भी दबा रहा था।फिर मैंने उसकी ब्रा खोल दी और उसकी चुची को आज़ाद कर दिया। उसकी चुची एकदम से उछल कर मेरे हाथों का शुक्रिया अदा करते हुए मेरे सामने नाचने सी लगीं।मैं प्रिया की चुची को चूसने लगा.

लेकिन मुझसे रहा नहीं गया और मैंने बाथरूम में जा कर मुठ मार ली।अब वो जब भी मुझे मिलती तो मैं धीरे से उसके मम्मों को दबा देता लेकिन उसे चोदने का मौका नहीं मिल रहा था। हम दोनों अपनी प्यास मोबाइल पर बात करके मिटा लेते।लेकिन कहते है ना ऊपर वाले के घर में देर है. जब वो ज़िद करने लगी, तो मैं उठ कर बाथरूम में घुस गया और फ्रेश होकर बाहर निकला।अब तक वो मेरे रूम में ही थी, आज रोमा कुछ बदली-बदली सी लग रही थी।रोमा कुछ ही देर बाद मेरी गोद में बैठेगी. आपको कैसा लगा दोस्तो, जैसा हुआ था मैंने वैसा ही लिख दिया है। तब से अब तक बहुत चुदाई कर चुका हूँ।दूसरी कहानी फिर कभी बताऊँगा कि कैसे मोहसिन की बहन सना को पटा कर चोदा।प्लीज़ मुझे मेल करके बताएं कि मेरी सेक्स स्टोरी आपको कैसी लगी।[emailprotected].

उम्म्ह… अहह… हय… याह… वाह!’कैलाश भी जोरदार झटके दे रहा था, वो लंड आधा निकाल कर.

’उसने हँसते हुए मुझे लेटा दिया और अपना निप्पल मेरे मुँह में दे दिया। मैं बारी-बारी से उसके दोनों लाल निप्पलों को मस्ती से चूसे जा रहा था और साथ ही पेंटी के अन्दर हाथ डाल कर उसकी चुत में भी उंगली कर रहा था।उसने मुझसे विपरीत दिशा में घूमने को कहा। जैसे ही में 69 वाली पोज़िशन में आया. अगर इतनी जल्दी पापा बन जाओगे तो फिर वो सब करने में अच्छा नहीं लगेगा ना. आह उफ्फ उफ्फ्फ उफ्फ य या या या आह्ह्ह!मेरा जिस्म तड़प रहा था और वो शैतान मुझे तड़पा तड़पा कर मजा ले रहा था, मेरे हाथ उसकी बालों को सहला रहे थे, मेरी मादक सिसकारियां ‘आआआ आआऐईईई ईईईई… आआह्ह ऊऊ… ऊऊह्ह्ह ऊओफ…!उसके हाथ मेरी ब्रा के ऊपर से ही चूची को सहला रहे थे, मेरे निप्पल उत्तेज़ना में खड़े हो गए.