अंग्रेजी बीएफ अंग्रेजी में

छवि स्रोत,सेक्सी लुगाई की

तस्वीर का शीर्षक ,

ತಮಿಳ್ ಸೆಕ್ಸ್ ವೀಡಿಯೋಸ್: अंग्रेजी बीएफ अंग्रेजी में, मैंने धीरे धीरे अपना हाथ ब्लाउज के अन्दर डालने की कोशिश की तो चाची जाग गईं और उन्होंने मेरे हाथ को हटा दिया.

देसी सेक्सी वीडियो ऑडियो

मॉम हंस कर बोलीं- इतनी उम्र के बाद औरत प्रेग्नेंट नहीं होती है समझे. डिजे का फोटोउसकी गोरी गोरी जांघें पतले कपड़े की इस मैक्सी में से आर-पार दिख रही थीं.

तब से हॉस्टल में किसी का भी बर्थडे होता था तो केक के साथ मुझे भी एन्जॉय किया जाता था. அனிமல்ஸ் எக்ஸ் மூவிஸ்उसको जलालुद्दीन आलिम इसलिए कहा जाता था क्यूंकि वो जिन्न पकड़ने में माहिर था.

नहीं नहीं झूठ नहीं बोलूंगा … मैं सिर्फ उसे देख रहा था कि चलने से उसके गोल स्तन ऊपर नीचे थिरक रहे थे, जो पल भर में ही किसी का भी मन डोला दे.अंग्रेजी बीएफ अंग्रेजी में: कुछ उन्हीं किस्म के ख्यालों में मैं खोया जा रहा था कि एक बंदा दिखा जो लिफ्ट लेने के लिए हाथ दिखा रहा था.

हॉट टीचर कॉलेज सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं एक कॉलेज में पढ़ने लगी तो मुझे कॉलेज के लड़कों के लंड लेने की तमन्ना होने लगी.मेरी गलती न होने पर भी, मैं जब तक बीवी के पाँव पकड़कर माफ़ी नहीं मांग लेता, उसका गुस्सा शांत नहीं होता.

अनुष्का शेट्टी नंगी - अंग्रेजी बीएफ अंग्रेजी में

हम ये दिखाना चाहते हैं कि उस दिन हम सबको कितना मज़ा आया था और खासतौर से फेहमिना को तो बहुत ज्यादा मज़ा आया था … है ना मोहित?ये सुनकर मोहित ने नेहा की तरफ ऐसे देखा, जैसे वो उसे ये सब याद दिलाने के लिए मना कर रहा हो.ऐसे ही मैंने चाची के दोनों छेदों की क़रीब 2:30 बजे तक मस्त ठुकाई की और चाची की चूत के साथ साथ गांड की सील तोड़कर गांड को भी अच्छे से शांत कर दिया.

आलिम साहब ने घबराते हुए पूछा- क्या हुआ नगमा जान, सब ठीक तो है? किसी ने कुछ कहा क्या?मैं सुबकते हुए बोली- आलिम साहब, मैं ये जगह छोड़ कर नहीं जाऊंगी, मेरे घर पैगाम भिजवा दीजिये कि मेरे अम्मी अब्बू मुझे लेने ना आएं. अंग्रेजी बीएफ अंग्रेजी में वो अगले दिन से अपने कमरे में ही रहने लगी और उसने मुझसे सेक्स के लिए मना कर दिया.

पैंटी का सामने का हिस्सा इतना छोटा सा था कि मेरी चूत पूरी तरह से ढक भी नहीं पा रही थी और बगल से चूत का हिस्सा बाहर दिख रहा था.

अंग्रेजी बीएफ अंग्रेजी में?

मैंने उनका दर्द समझा और थोड़ा रुक गया लेकिन मेरा लंड अभी भी उनकी चूत में आधा घुसा हुआ था. तभी मॉम बोलीं- आदर्श मेरे कमरे में बेड के नीचे कुछ रखा है, पहले उसे लेकर आ. मैंने कहा- तो अभी क्या हो गया, मैं अब से तुम्हारी रंडी बन गई हूँ, रख ले मुझे!उसने मुझे खड़ा किया और मेरे कपड़े उतारने लगा.

अब मैं बिस्तर पर लेटी थी तो जलालुद्दीन साहब मेरे ऊपर चढ़ गए और मेरी चूत में अपना लण्ड घुसा कर एक बार फिर धक्के मारने लगे. जॉब लगने के बाद हर शनिवार मैं घर आता था तो यार दोस्तों के साथ बीयर पीता था. अब उनसे यह तो नहीं कह सकता ना कि इसको ठीक करने के लिए तुम्हारी बच्ची को चोदना पड़ेगा.

कुंवारे होने का मतलब ये कि अभी तक तुम्हारे लंड ने किसी को चोदा नहीं है. वो दिन भी अब करीब आ रहा था जब वो दोनों एक दूसरे के साथ संभोग सुख ले लेते. देसी सेक्सी गर्ल हिंदी कहानी लाहौर की एक ताजी खिली लड़की की है जिसे अभी माहवारी शुरू हुई थी.

कुछ पांच मिनट में ही हम लोग थक गए थे क्योंकि हलासन में पीठ पर पूरा खिंचाव होता है और पेट पूरा दबा हुआ होता है. मैंने धीरे धीरे अपना हाथ ब्लाउज के अन्दर डालने की कोशिश की तो चाची जाग गईं और उन्होंने मेरे हाथ को हटा दिया.

जैसे ही उसने साथ देना शुरू किया, मैंने उसकी गांड के नीचे हाथ लगाया और उसे अपने ऊपर ले लिया.

आंटी- घर से मुझे लेने मेरे शौहर आ रहे हैं यहां, वो आने वाले हैं, यह बताने के लिए कॉल किया है.

हमने कोचिंग संस्थान शिफ्ट तो कर लिया पर दिक्कत ये थी कि गेट पर थोड़ी मिट्टी जमा थी जिसको हटाने के लिए बोला था. मैं सीढ़ियों से ऊपर गया और दुकान के बाहर पहुंचा तो देखा कि अन्दर माधुरी कुर्सी पर बैठी मोबाइल में कुछ देख रही थी. मैं तड़पती रहती हूँ पर अब नहीं तड़पूँगी, अब तो मैं तेरे से ही मजे लूँगी.

वो मेरा लंड चूसने लगीं और अपनी गोरी चूत से मेरे मुँह पर चाशनी टपकाने लगीं. तय किये गए दिन पर मैं घर से अम्मी अब्बू की इजाजत लेकर स्टेशन की तरफ निकली. जैसे ही मैंने उसकी पैंटी पर हाथ लगाया, उसने झटके से मेरा हाथ जींस से निकालकर बाहर कर दिया.

रोहित अपना लंड मंजू के चूतड़ों के पीछे ले गया और लंड पेल कर जोरदार धक्का लगा दिया.

मैंने पहले उसकी बगल को सूंघा, उसके पसीने और परफ्यूम की खुशबू से उसकी बगल की खुशबू कहीं अधिक मस्त थी. लेकिन इससे पहले कि मैं अपने मुंह में भरा सारा वीर्य ख़त्म कर पाती, जलालुद्दीन के लण्ड ने और पांच छह पिचकारियां मार दीं. खाना खाने के बाद चाची ने अपने कपड़े पहन लिए, पर मैं अभी भी नंगा ही था.

एक दिन मेरी यह तमन्ना कैसे पूरी हुई?नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम अमित है और मेरी उम्र 21 साल की है. कोमल के हाथ मेरे बालों में थे और कोमल मुझे प्यार से बच्चे की तरह दूध पिला रही थी- आह मेरे राजा, चूस ले मेरा सारा दूध … जल्दी से चोद दो मुझे … मेरी चूत लंड की प्यासी है … आह आह ओह्ह मर गई!मगर मैं अभी कहां चुदाई को राजी था. साक्षी ने मुझसे कहा- आह इस्स … थोड़ा धीरे … मैं कहां भागी जा रही हूँ.

सेक्स के मजे लेने के लिए उसने अपने घर पर एक नौकरानी रखी और उसके साथ बिंदास चुदाई करता है और उसे पैसों कपड़ों हर तरह से खुश रखता है.

खाला की वासना भरी सिसकारियां बढ़ गई थीं और वो जोर जोर से ‘आहह आहह या अम्मी बहुत अच्छे … और जोर से दबाओ … पूरा रस निकाल दो मेरी चूचियों का … आह…’ कर रही थीं. नंगी मॉम को देख कर बहन ने आंख बंद कर ली … क्योंकि मैं और मॉम दोनों नंगे थे.

अंग्रेजी बीएफ अंग्रेजी में com/antarvasna/x-bhabhi-ki-hindi-kahani/में आपने पढ़ा कि मैं भाभी की जवानी को लेकर उसे चोदने का सपना देखने लगा था. बुआ ‘आहह आहह ओह राज चोद दे मुझे …’ चिल्लाने लगीं और मैं झटके पर झटके लगाने लगा.

अंग्रेजी बीएफ अंग्रेजी में मैं- क्या आपकी वाइफ को पता है कि आप उसको मुझसे चुदते हुए देखना चाहते हो?अमन- हां, मैंने उससे बात कर रखी है और वो भी लगभग मानी हुई है. दोस्तो, मैं अपने खुद के तजुर्बे से बोलता हूँ कि जब भी रात को आप मुठ मारकर या चुदाई करके सोते हो, तो बड़ी चैन की गहरी नींद आती है.

उसके ब्लाउज का एक बटन शायद टूटा हुआ था जिस वजह से उसके मम्मे काफी ज्यादा दिखने लगे थे.

न्यू सेक्सी व्हिडिओ हिंदी

मैंने आखिरकार एक दिन उसे मिलने के लिए राजी कर ही लिया लेकिन इस शर्त पर कि हमारे बीच सेक्स जैसा कुछ नहीं होगा. मेरा हाथ कोमल की बंद आंखों से होता हुआ नीचे सरका और उसके चिकने गालों पर अपना स्पर्श करता हुआ कोमल के थरथराते हुए सेक्सी होंठों पर आ गया. आंटी हाउसवाइफ थी।अंकल बाहर जॉब करते थे इसलिए 2 महीने में कभी-कभी आते रहते थे.

धीरे धीरे मेरे ऊपर भी नशा छाने लगा और उनके लगातार चूमने सहलाने से उत्तेजित भी होने लगी थी. इस वर्जिन ऐस फक़ के मिल रहे आनन्द में साक्षी और भी ज्यादा आहें भरने लगी. मेरा पति तो भोसड़ है साला … भैन का लंड बस पॉर्न देखेगा और मुठ मारता रहेगा.

आह ले लंड खा आह …’मैंने दवा ली हुई थी तो मेरा लंड सिकन्दर बना हुआ था.

अब अगले आठ दस घंटों तक मुझ पर जिन्न का हमला नहीं हुआ और मुझे कोई दौरे नहीं पड़े. भाभी के होंठों के ऊपर जयाप्रदा जैसा तिल, सुराही सी गर्दन, रसीले होंठ, झील सी नीली आंखें और कसे हुए चूचों के बीच की दरार मुझे और ज्यादा उत्तेजित कर रही थी. वो बिस्तर पर इतना मस्त खेलने लगी थी कि कभी कभी तो मुझे खुद भी लगने लगता था कि ये साली मुझे पूरा खा जाएगी.

सुरेंद्र जी उस लाइन को देखते हुए बात कर रहे थे और मैं उनकी नजरों को भांप रही थी. वो चिल्लाने लगी- आ आह मर गयी निकालो इसे … फट गई मेरी चूत बचा लो … मुझे कोई. मैं- शश्श … इतने अंधेरे में कोई कुछ नहीं देख पाएगा, तुम बस एंजॉय करो.

उसके 32 इंच के भरे हुए दूध मस्ती से उछाल भर रहे थे और उनमें से हल्का-हल्का दूध रिस रहा था जिसे देख कर बहुत मज़ा आ रहा था. मेरी चूत से ढेर सारा खून निकला हुआ था और जीजू के लंड का माल मेरी चूत से बहता हुआ मेरे घुटनों तक जा रहा था.

इस बीच मैंने न जाने कितनी दफा माधुरी के होंठों को चूस चूस कर दांतों से काटा होगा, मुझे पता ही नहीं है. उसके चूचों को दबाने से मुझे जो मज़ा मिल रहा था, वो लिख पाना मुश्किल है. मेरे अंदर हवस उठने लगी तो मैंने भी अपनी सलवार खोल दी और शेखर ने अपना हाथ अंदर डाल दिया.

हम तब तक एक दूसरे के होंठ चूसते रहे जब तक कि मेरे होंठों में जलन नहीं होने लग गई.

जब पुलकित ने ये कहा कि तुम लड़कियां तो हो ही गांड में लंड लेने के लिए, तो ये बात मेरी झांट में आग लगा गयी. कुछ देर में मेरा दर्द कम हो गया तो जीजू ने एक बार फिर जोरदार धक्का मारा और अपना सारा लंड मेरी चूत में उतार दिया. माधुरी गांड की गोलाई इतनी ज्यादा भरी हुई थी मानो उसकी लेगिंग्स में दो गुब्बारे के आकार के पहाड़ हों.

मैंने देखा कि मेरी पूरी उंगली चूत में जा चुकी है और वह एक बार झड़ कर फ्री हो चुकी है. मैंने उसके बूब्स दबाए और उसका हाथ उसकी बुर पर से हटा दिया, अपना लंड की उसकी बुर के ऊपर रखा और धीरे-धीरे उसको अन्दर करने लगा.

जैसे ही मैं स्टेशन पहुंची, वैसे ही मेरी ट्रेन छूट गई और मैं उदास मन से उधर खड़ी खड़ी जाती हुई ट्रेन को देखती रही और मेरे आंसू निकल आये. मैं उनकी पूरी बॉडी को चूम रहा था और वो कामुक सिसकारियां ले रही थीं- आह … उम्म!उनकी मादक आवाजें मुझे और ज्यादा उत्तेजित कर रही थीं. कॉलेज सेक्स Xxx कहानी में मैंने कॉलेज में दोस्तों के उकसाने पर मस्त माल लड़की को पटाया और उसकी चूत और गांड की चुदाई उसी के घर में की.

ससुर जी की सेक्सी वीडियो

माधुरी ने कहा- मैं हमेशा चूत साफ रखती हूँ, पर इस शॉप की भागदौड़ में वक़्त नहीं मिला.

’बस ये सुनकर मैंने एक ज़ोर के झटके के साथ अपना पूरा गर्म लंड पूनम आंटी की चूत में पेल दिया और बम्पर चुदाई चालू कर दी. ये मैं आपको शब्दों में नहीं बता सकता कि मैं उनकी गांड का कितना बड़ा फैन था. मैंने नीना का सर सहलाकर पुचकाकर कर कहा- गांड ढीली छोड़ो, विश्वास करो उंगली से भी मजा आएगा.

मैंने देखा तो वहां कोने में पहली मंजिल पर माधुरी की शॉप का बोर्ड दिख गया. मामी ने अपनी चूत में मेरे लंड को फिट करवा लिया और गांड उठा कर मुझे चूत चुदाई का मजा देने लगीं. 2020 की हिंदी सेक्सी वीडियोऐसे ही मैं अपने बिस्तर पर लेटे लेटे माधुरी के कामुक बदन के बारे में सोचने लगा कि साली क्या दिखती है.

मेरी बुरी तरह फट चुकी गांड अभी भी दुःख रही थी लेकिन गांड के अंदर बाहर हो रहे लण्ड का अहसास इस दर्द को काफी हद तक कम कर रहा था. फिर जब तक घर वाले गांव से वापस नहीं आ गए, तब तक हम दोनों ऐसे ही रहने लगे और घर में नंगे घूमते रहे.

मैं एक चूची को मुँह में लेकर किस कर रहा था और वो पैंट के ऊपर से मेरा लौड़ा पकड़ रही थी. अब मुझे दर्द के साथ मजा भी आ रहा था और मैं भी अपनी गांड हिला हिला कर जलालुद्दीन साहब का साथ दे रही थी. फिर एक दिन आंटी ने बताया कि उनकी सास बीमार हैं जिस वजह से उनके पति रात में और वो दिन में हॉस्पिटल में रहेंगी.

उसके मुँह से ये सुनकर मेरी बांछें खिल गईं और मरी हुई उम्मीद ज़िंदा होने लगी. उसकी आंखों में देखा और चेहरा हाथ में भरते हुए उसके होंठों पर फिर एक किस कर दी. उन्हें कोई नहीं देख रहा है, इस विश्वास के साथ दोनों एक बार आलिंगन बद्ध हुए और थोड़ी देर एक दूसरे से चिपके रहे.

डिंपी- फिर भी देखो मेरी किस्मत में कोई नहीं है, क्या फायदा ऐसी हॉटनेस का?मैं- फिर तो सिंगल रह कर ही मजे करो.

उसके तने हुए बड़े बड़े बूब्स, छोटी सी चूत देख कर मैं पागल हो रहा था. थोड़ी देर बाद मैंने अपना लंड उसकी चूत से निकाला और उसके मुँह में डाल दिया.

उन दोनों की धकापेल चुदाई और गालीगलौच से मुझे भी अपनी चूत में सुरसुरी होने लगी. पैग लगाते हुए उन दोनों ने अपनी अपनी जिपें खोल दीं और लंड निकालकर मेरे दोनों हाथों में दे दिए. तभी आंटी ने एकदम से मुझे उनके‌ दूध देखते हुए देखा और उन्होंने ये भी देखा कि बिना‌ ब्रा के उनके निप्पल ऊपर से ही दिख रहे हैं.

अपने हाथों से उसकी जांघों को पकड़ कर थोड़ा खोला और उसके नीचे को आ गया. मेरठ पहुंचकर मैंने उनको फोन लगाया तो उन्होंने पता भेजा और ऑटो में आने के लिए बोला. इसके लिए आप मेरी इन्फैचुएशन सेक्स कहानी से जुड़े रहें और मुझे अपनी राय बताएं.

अंग्रेजी बीएफ अंग्रेजी में मैंने कहा- चाची मैं कुछ मदद कर दूँ?चाची ने मुझे देख कर मुँह फेर लिया और हुंह बोल कर मुँह बना लिया और अपने ऊपर का कम्बल चेहरे तक ओढ़ लिया. शायद वो भी इस बात को जानती थी कि जब भी शॉप के बाहर झाड़ू लगाने या रंगोली बनाने के लिए झुकती है, तो आजू-बाजू की दुकान वाले और बहुत सारे लोग उसकी मोटी गांड देख कर अपनी आंखें सेंक रहे हैं.

सेक्सी विडियो चोदने

थोड़ा मक्खन अपने लंड के सुपारे पर लगाया और लंड को भाभी की फुद्दी पर टिका दिया. उसी समय मैंने नोट किया कि आंटी के चेहरे पर हल्की सी मुस्कान फैल गयी. मैंने सबसे पहले जाकर मोहित को पकड़ा क्यूंकि असली बदला तो मुझे मोहित से ही लेना था और ये बात मैंने पहले ही सारी लड़कियों को बोल दी थी.

‘क्या बात है शबाना?’शबाना- जी कुछ नहीं बस आपको बताना था कि आज मेरा जन्मदिन है और आप शाम को थोड़ा जल्दी आएं … और हां खाना यहीं हमारे साथ खाएं. अब जलालुद्दीन बोले- मैं तुम्हारी गांड में लण्ड घुसाऊँगा, शोर मत मचाना. sexவிடியோஸ்उनकी कामुक आवाजें धीरे धीरे आ रही थीं- आ उ आई आम उई … और चोदो आह चोदो.

दो साल पहले उसके पति का देहांत हो गया और वो अपने माता पिता के साथ रहती है.

जलालुद्दीन साहब बोले- हाँ जान, आज की चुदाई तुम सारी जिंदगी नहीं भूलोगी. वो सिर्फ कहे जा रही थी- आ उ आई अउ अउ सर सीई सीई ई फाड़ो मेरी चूत … आंह रखैल बना लो मुझको अपनी … रोज़ फाड़ना मेरी चूत.

कुछ देर बाद मैंने सामने रखी टेबल पर बुआ को उल्टा लिटा दिया और उनकी गांड में लंड घुसा कर चोदने लगा. ये मेरी चूत में कैसे जाएगा?मैंने कहा- सब चला जाएगा बस इसको जरा प्यार करो. मैंने उससे कहा कि मैं वादा करता हूँ तुम जो भी बोलोगी, मैं वो करूँगा.

उसने मेरी गर्दन पर चूमा और फिर मेरे गले से नीचे होते हुए मेरी चूचियों के बीच में खाली जगह पर चूम लिया.

जाते जाते उन्होंने बोला- जब जरूरत हो याद कर लेना अपनी आंटी को!मुस्कुराती हुई वो निकल गयीं. बाकी लड़कों को यही लग रहा था कि अब उनके साथ भी ऐसा होने वाला है, तो उस चीज़ का खौफ उनके चेहरे पर साफ़ नज़र आ रहा था. वो मुझे मना करने लगी- राहुल, ये क्या कर रहे हो? कोई आ गया तो गड़बड़ हो जाएगी।मैं बोला- गेट बंद कर लो जाकर पहले!तो उसने मना किया.

फनी पहेलीजीजू मेरे सामने पलंग पर बैठ गए और उन्होंने मुझसे अपने बदन के साथ खेलने को कहा. मैंने कहा कि ठीक है, लेकिन कितने बजे आना है … और तुम्हारी नयी शॉप मुझे नहीं पता है.

बढ़िया में सेक्सी वीडियो

अगली कहानी में आपको बताऊंगी कि कैसे मेरी खुशियां गम में बदल गईं और कैसे मुझे जलालुद्दीन साहब को छोड़ कर जाने के लिए मजबूर होना पड़ा. दरअसल जब मेरी मॉम नहाने के बाद अपनी कच्छी सूखने के लिए डालती थीं तो मैं छुप कर अपनी मॉम की कच्छी उठा लाता था. मैंने अपना लंड ज़ोरदार झटके के साथ मामी की गांड में पेला और एक बार में ही पूरा लौड़ा गांड में डाल दिया.

चाचा जी थक कर वापस आते थे और दारू पीकर आते थे, तो बस खाना खाया और सो जाते थे. यह काम एक फील्ड वर्क वाला काम है, मुझे कस्टमर के घर जाकर काम करना होता है. देसी सेक्सी गर्ल हिंदी कहानी लाहौर की एक ताजी खिली लड़की की है जिसे अभी माहवारी शुरू हुई थी.

और आंटी की चूत ऐसी, जैसे कटे सेब पर मीठा जैम लगा हो, ऐसी चूत थी उनकी!आंटी- मेरी जान रुक क्यों गए, तड़पा कर ही जान ले लोगे क्या?ये सुनकर मैं उनकी चूत में लगा सारा मीठा जैम चाटने लगा. मेरे हाथ कोमल की कमर पर टिके थे और मैं कोमल के सूट को हटाकर उसकी चिकनी कमर को पकड़े हुए था. मैं धीरे से उसके लोअर को पैंटी समेत नीचे करने लगा तो वो सेक्स के लिए ना बोलने लगी.

मैंने चाची की चूचियों को जोर जोर से मसलना शुरू कर दिया और झटके पर झटके मारने लगा. चूत खुल कर सामने आई तो मैंने उसकी चूत को अपनी उंगलियों से सहलाना शुरू कर दिया.

मैं अपने बारे में बताऊं, मैं किसी भी लड़की को देख कर अपने दिमाग में उसकी स्कैनिंग कर लेता हूं कि उसमें कैसे बदलाव किए जाएं तो वो कैसी माल दिखेगी.

अब्दुल हँसते हुए बोला- जब चुदाई शुरू की थी तो चूत थी लेकिन अब साली भोसड़ा बन चुकी है. अरे सेक्सी वीडियो सेक्सीअब मैं जा रहा हूँ और आप चुदाई शो का आनंद लीजिये।प्रिय पाठको, आपको मेरी वाइफ चीटिंग सेक्स कहानी अवश्य रुचिकर लग रही होगी. गांवों की wife toilet xxxसकीना तू चिंता मत कर, मैंने तेरे जीजू को पहले ही बता दिया था कि तुझे सेक्स के बारे में सीखना है. ये देख कर पहले तो मेरी झांटें सुलग गईं कि दूसरी खटिया की क्या जरूरत थी.

तो आलिम साहब ने बड़े ही प्यार से एक पान मेरे मुंह में डाल दिया और बोले- आज तो हम अपनी बेगम के मुंह से पान खाएंगे.

कालू के दोनों बेटे स्कूल की पढ़ाई के बाद फार्म में काम करने लगे, उनको अच्छी तनख्वाह मिलने लगी. चाची चुपचाप जाकर तेल की डिब्बी उठा लाईं और मुझे देकर बोलीं- ले कर ले अपने मन की … और आज जमकर चोद डाल साली मेरी गांड को भी … बहुत कुलबुलाती है. मैं और जोर जोर से साक्षी की चूची को अपने मुँह में और अन्दर तक खींच लेता और जोर जोर से निप्पल को अपने होंठों में दबा कर अन्दर भींच लेता.

इतना कह कर उसने मेरी आंखें बंद कर दीं और मेरे हाथ और पैर बेड से बांध दिए. मैंने सिर्फ इन सभी को यही कहा कि मैं पहले आपको नहलाता हूँ, साफ़ करता हूँ. एक बार उसने कहा- मैं तुम्हारी बच्ची की मां बन गयी हूँ तो अब मैं पूरी तरह से तुम्हारी हूँ.

हिंदी सेक्सी प्लेयर

मगर भईया को लग रहा था कि मैं उनके लंड को मुँह में अन्दर तक लेकर चूस लूं. डिंपी- गुड बॉय, वैसे भी तुम तो इतने फिट हो, रोज जिम में इससे ज्यादा ही करते होगे. पिछले भाग8 जवानियों की खुल्लम खुल्ला चुदाईअब तक आपने पढ़ा था कि मोहित ने मुझे झाड़ दिया था और उसने मेरी चुत का रस अपने मुँह में भरकर मेरे मुँह में छोड़ दिया.

अब मैं बस ऐसे मौके की तलाश में था, जब उन्हें अकेले में पकड़ कर चोद दूँ.

कुछ ही देर में आग बढ़ गई और मैंने मीना की एक टांग को कंधे पर रख लिया.

कुछ देर बाद उसका फ़ोन आया- क्या कर रहा है?उसने पूछा, तो मैंने कहा- कुछ नहीं तेरे ही फ़ोन का इंतजार कर रहा था, कहां है तू? जल्दी आ. तभी अचानक से सामने गाय आ गई और मौसा जी ने अचानक ब्रेक मारा जिससे मैं एक झटके में आगे खिसक आया और मेरा लंड डिंपी की गांड से चिपक गया. ನ್ಯೂ ಕನ್ನಡ ಸೆಕ್ಸ್मैंने कहा- अरे उसमें क्या है … मैं कर देता हूँ न!कुछ देर की मान मनौव्वल के बाद उन्होंने हां कर दिया.

तो दोस्तो, मेरे ब्वॉयफ्रेंड और मेरे पति के साथ की कहानियां तो आप लोगों ने पहले ही पढ़ ली हैं. व्हिस्की के नशे में बीवी भी जोश में आ गयी और उसने फटाक से ब्लाउज उतार कर फेंक दिया. उसके कराहने के साथ मैंने उसके होंठों पर चुम्मी करना शुरू कर दिया जिससे उसकी आवाज़ दब गयी.

तभी मेरी चीख के साथ लंड ने ज्वालामुखी छोड़ दिया और वीर्य से बुआ की चूत भर गई. तुमको अपनी ननद का दुःख कहां देखा जाता है?वो बोली- आप क्या चाहती हो दीदी?मैंने कहा- वो सब बाद में बताती हूँ.

माधुरी भी मेरे मुँह अपनी पूरी जीभ डालती, तो मैं उसकी जीभ को आइसक्रीम की तरह जोर जोर से अन्दर तक खींच लेता.

काफी देर तक जलालुद्दीन साहब मुझे पीछे से चोदते रहे, मुझे हल्का हल्का दर्द तो हो रहा था लेकिन पहली चुदाई वाले दर्द के आगे तो ये कुछ भी नहीं था. उन्होंने एक हाथ मेरे गालों पर लगाया और दूसरा हाथ मेरी कमर पर डालते हुए मुझे अपनी ओर खींच कर अपने से चिपका लिया. मुझे औरत के साथ सेक्स में सबसे ज्यादा मजा उसकी गहरी नाभि के साथ खेलने में और चूचियों के साथ खेलने में आता है.

ब्लू सेक्सी भेजो हिंदी एक दिन मैंने अपने दोस्तों को ऐसे ही बातों बातों में बोल दिया कि मैं किसी भी लड़की को पटा सकता हूँ. उसे आगोश में भरकर मुझे ऐसा लग रहा था कि जैसे सारी कायनात मेरी बांहों में हो.

कुछ देर बाद मैं महसूस कर सकता था कि उसका बायां हाथ मेरे लंड की तरफ बढ़ रहा है. थोड़ी देर बाद जब वो वापस आया, तो मैंने पूछा- अब ठीक है न तू?उसने गाली देते हुए कहा- बहनचोद, गांड फाड़ने के बाद पूछ रही है कि ठीक हूँ या नहीं. उसकी मादक सिसकारियां मुझमें जोश भर रही थीं ‘उम्म्म आ आ आ उऊँ आह …’दस मिनट की चुदाई के बाद मैंने उसको घोड़ी बनने को कहा.

योगा टीचर सेक्सी व्हिडीओ

फिर वो मेरे ऊपर से उठ गयी और उसने मेरी तरफ देखा, तो मेरे मुँह पर बहुत जगह पर उसका गाढ़ा सफ़ेद चूत रस लगा हुआ था. माधुरी ने अपना नम्बर मुझे दिया और मेरा मोबाइल नंबर आपने मोबाइल में आयशा के नाम से सेव कर लिया. कि तभी दरवाजे पर दस्तक हुई और मेरे सरताज दरवाजा खोल कर अंदर आये और अंदर से दरवाजा बंद कर लिया.

कुछ पल दर्द के बीते, उसके बाद आंटी कूद कूद कर मेरे लंड को अन्दर लेने लगी थीं. कुछ देर में उसने अपनी पोजीशन चेंज करते हुए पेट के बल लेटकर कोहनी बेड पर टिका अपना चेहरा हाथों के बीच भरकर लेट गयी.

अगले दिन सुबह फिर से चाची ने मुझसे कहा- राकेश साथ चलो, आज खेत में जाना है.

गरिमा उसकी बात से कुछ ग़ुस्सा भी हुई पर वो ज़्यादा कुछ कह नहीं सकती थी क्योंकि वो सोच रही थी कि कहीं ये उसके काम में कोई परेशानी खड़ी ना कर दे. मैंने भी अपने लिए एक पटियाला पैग बनाया और एक ही सांस में खाली कर दिया. शाम को फ्री होकर मैंने बुआ को फोन किया तो बुआ बोलीं- हां, छोटी का फोन आया था.

यह Xxx हिंदी कॉम हॉट कहानी मुझे गाँव में मिली दो भाभियों की है जो शादी में खाना पकाने का काम करती थी. नितिन ने अपनी नौकरानी से इस विषय में बात की और उसकी नौकरानी ने मेरे घर पर काम करने के लिए एक लड़की की तलाश शुरू कर दी. मैंने हंसते हुए कहा- अरे बहनचोद … इन चूतियों में तो दर्द बर्दाश्त करने की गजब की क्षमता है.

उस दौरान जाने अंजाने में मैंने पड़ोस में रह रही भाभी के साथ अपनी फंतासी पूरी किस तरह से की थी, यह उसकी सेक्स कहानी है.

अंग्रेजी बीएफ अंग्रेजी में: मैं यही तो चाहता था कि कैसे भी करके उसका मोबाइल नंबर मुझे मिल जाए और बातों बातों में मैं उसे चुदाई के लिए पटा सकूँ. कुछ देर बाद मैं फिर से नीचे आया और चाची की जांघों को फैला कर चुदाई की पोजीशन में आ गया.

यह सामान्य बात थी अक़्सर ही मैं इस तरह मित्र के घर चला जाता था तथा यदि मित्र घर पर न भी हो तो कोई भी मिल जाए, उससे बतियाता रहता था. बाद में कुमकुम मेरे दोस्तों के सामने टेबल पर बैठ गई और बोलने लगी कि निकालो अपना हथियार और पेल दो मुझे. सोनी की बीवी अपना फिगर अच्छा रखने के चक्कर में वह बहुत कम ही अपने चूचे दबाने देती थी, चूचे चूसने तो देती ही नहीं थी.

मैं अपनी जीभ बाहर निकाल रही थी और सुरेंद्र जी मेरी जीभ को अपने मुँह में भरकर चूसते जा रहे थे.

कुछ देर बाद मेरा जोश फिर से जाग गया और मैं अपनी मॉम के बड़े बड़े चूतड़ों पर हाथ फेरते हुए उनकी गांड के छेद को सहलाने लगा. अर्चना अभी भी रोए जा रही थी वह मुझसे मिन्नते कर रही थी- लंड बाहर निकालो, मुझे बहुत दर्द हो रहा है. जीजू मेरे सामने पलंग पर बैठ गए और उन्होंने मुझसे अपने बदन के साथ खेलने को कहा.