एसएस बीएफ एसएस बीएफ एसएस बीएफ

छवि स्रोत,அப்பா மகள் செஸ்

तस्वीर का शीर्षक ,

देसी खुला सेक्स: एसएस बीएफ एसएस बीएफ एसएस बीएफ, फिर मैंने भाभी को लिटा आकार उनकी चुत में लंड पेला और धकापेल चुदाई करना चालू कर दी.

सेक्सी ट्रिपल सेक्स

अब मेरे लिए टास्क ये था कि तीसरी बार भाभी को बिना चोदे ऑर्गेज्म करवाना था. भोजपुरी एक्स एक्स वीडियोमेरा लंड ढाई इंच मोटा होने की वजह से इसको निगलने के लिए अनुष्का शर्मा जितना बड़ा मुँह होना जरूरी है, वरना चूसने वाली के मुँह में जल्दी ही दर्द होने लगता है.

चलो देख ही आते हैं, यहां आकर भी ताजमहल नहीं देखा तो एक पछतावा सा होता रहेगा. एक्स एक्स एक्स मूवी ब्लूकमरे का दरवाजा और खिड़की बंद थी, तो मैं पीछे वाले खिड़की के पास गया.

नहा ले बारिश में।वो बोला- दीदी, सारे कपड़े गीले हो जायेंगे।मैं बोली- तो क्या हुआ? बाद में धुल भी जाएँगे; तू आ जा!अब वो भी बारिश में आ गया।हम दोनों नहाने लगे।वो लगातार मेरे वक्षों को निहार रहा था। मैंने भी उसको नहीं टोका और अपने उरोज़ सही से दिखाने लगी।कुछ देर बाद वो बोला- दीदी, मैं नहाने जा रहा हूँ.एसएस बीएफ एसएस बीएफ एसएस बीएफ: वो बोले- जान … गंदी गंदी बातें कर। बोल कि मुकेश मेरी चूत की चुदाई करो … मेरी चूत फाड़ दो, मेरी चूत रगड़ कर चोद दो.

ये सब करने से बहू की आंखें आनंद से मुंद सी गयीं और इधर मेरा लंड भी तन कर खड़ा हो गया जिससे मेरी लुंगी उठ गयी और लंड उभार जैसे टेंट के पोल जैसा दिखने लगा.इससे प्रभा मदहोश हुई जा रही थी और उसके मुँह से मादक सिसकारियां निकलने लगी थीं.

xxx देसी भाभी - एसएस बीएफ एसएस बीएफ एसएस बीएफ

थोड़ी देर बाद वो सहज हुई उसकी चीखें अब लम्बी लम्बी सांसों में बदल गयी.क्योंकि मैं अपनी खुशी के लिए अपनी बेटी की खुशियां नहीं छीन सकती हूं.

मुझे तो वे विदेशी सुंदरियां लुभा रहीं थीं जो किसी पोर्न स्टार की तरह चड्डी नुमा निक्कर और टॉप पहने हुए अपने जिस्म की नुमाइश करती डोलतीं फिर रहीं थीं. एसएस बीएफ एसएस बीएफ एसएस बीएफ मैंने भी उसे बांहों में भर लिया और उसके चुंबन का जवाब उसके बालों में उंगलियां घुमा कर देने लगी।जब जतिन ने अपनी जुबान मेरी नाभि में डाली तो मैं जैसे कामवश में होकर मदमस्त हो गई।जतिन ने पूरी मेहनत से मेरे पूरे शरीर को चूमा।अब जतिन अपने लंड पर कंडोम चढ़ा कर मेरी टांगों के बीच में आकर बैठ गया। मेरी दोनों टांगें फैला कर जतिन ने अपना लंड मेरी चूत के छेद पर रखा कर धक्का लगाया.

धकापेल चुदाई होने लगी और अब उसकी सिसकारियां और थपाथप की आवाज़ से पूरा कमरा गूँज रहा था.

एसएस बीएफ एसएस बीएफ एसएस बीएफ?

मेरे पूछने पर कि क्या हो गया?उसने पैथोलॉजी की रिपोर्ट मेरे हाथ में थमा दी कि मैं तुम्हारे बच्चे की माँ बनने वाली हूँ. फिर मेरा गला छोड़ मेरा मुँह पिचका दिया और जोर जोर से लंड धकेल कर मेरी चुत चोदने लगा. मैंने भी अपने लौड़े की रफ्तार बढ़ा दी और तेज़ी से अन्दर-बाहर करने लगा.

दोस्तो, हॉट गर्ल्स सेक्सी कहानी के पिछले भागसहेली और उसके पति की लाइव चुदाई देखीमें आपने पढ़ा कि एक सहेली अपनी कॉलेज के समय की सहेली के घर आयी हुई थी. एक बार तो गांड चुदाई के दौरान ही मेरा निकलने वाला था लेकिन रह गया था. इससे वो चिल्लाने लगी- आह … और तेज चोदो … और फ़ास्ट और जोर से!वो चरम पर आ गई थी और झड़ने लगी.

अब मुझे फिर से नहाना पड़ेगा और तूने मुझे इतना थका दिया है कि मुझसे उठ कर नहाने जाना भी नहीं हो पा रहा है. मुझे उनकी यह हरकत बहुत ही अच्छी लगी, मैं काफी दिनों बाद किसी मर्द से अपने दूध चुसवा रही थी. ममता- इसका मतलब आप बहुत सी औरतों के साथ कर चुके हो?अभय- सही पकड़ी हो.

वो लड़का मेरे बदन पर धीरे-धीरे किस करते हुए मेरी नाभि तक चला गया; मेरे सारे जिस्म को चूमने और चाटने लगा. चित्रा की चूत की सारी गर्मी दो साल में निकल गई थी, उसकी चुदास खत्म हो गई थी.

अब ये सब बातें मेरी कहानी का विषय तो हैं नहीं तो चलो मुद्दे की बात पर आते हैं.

जैसा कि मेरी इस सेक्स कहानी के पहले भागलैब में चुद रही दो लड़कियों को देखामें आपने अब तक पढ़ा था कि हम तीन दोस्त कॉलेज की लैब में उधर हो रही ग्रुप चुदाई को देखने का मजा ले रहे थे.

उसने ये देखकर अपने एक हाथ से मेरा लंड पकड़ लिया और ऊपर से ही उसे सहलाने लगी. थकान के कारण हम तीनों, नंगे ही एक दूसरे को लिपटे हुए पलंग पर लेट गए. शन्नो की कामुक आवाजें बढ़ने लगीं और वो उम्म आह उह करके गांड आगे पीछे करने लगी.

उसने पास आकर मुझे भी ताल में खींच लिया और हम दोनों एक दूसरे पर पानी उछालने लगे. उस औरत ने मेरा स्वागत किया और मुझसे कहा- वेलकम टू माय क्लब … मैं सिर्फ तुम लोगों का परिचय करवा कर यहां से चली जाऊंगी. मुझे खुद पर गुस्सा आ रहा था कि चोदने में तो नहीं शर्माया और अब शर्मा रहा हूँ.

देरी के कारण तो तमाम हैं पर मन में हमेशा यही अभिलाषा रही कि आप सब के लिए कोई नयी रचना लिखूं; पर ऐसा हो न सका.

आप लोगों को मैं बता दूं कि इस समय हम दोनों की उम्र केवल 19 साल की थी और हम दोनों अपनी-अपनी जिंदगी में पहली बार सेक्स कर रहे थे. फिर भाभी ने मेरे अंडरवियर से मेरा लन्ड निकाला और लंड को मुंह में लेकर जोर जोर से चूसने लगी. मेरे प्यारे दोस्तो और भाभियो, आप सभी को मेरा प्यार भरा कामुक नमस्कार.

फिर मैं शीना की दोनों टांगों के बीच आ गया और पहले मैंने उसकी बुर को बाहर से चाटना शुरू किया. उनकी चूचियां एकदम तनी हुई हैं और पीछे से उनकी गांड का उभार भी काफी मस्त दिखता है. लखनऊ से आगे हम लोग ट्रेन से जाने वाले थे, जिसके लिए हमारा रिजर्वेशन हो गया था.

वो बोला- हां मेरी रंडी, अभी तेरी गांड भी मारना चाहता था, पर थक गया हूँ.

चाची- अच्छा वाहह … कहां थी?मैं- अरे ऐसे ही हाथ से कर रही थीं … बस्स …चाची- एक बात बता, सच बोलना. वो बार बार अपने लंड को खुजला रहे थे और मुझे दिखाने की कोशिश कर रहे थे.

एसएस बीएफ एसएस बीएफ एसएस बीएफ मैं- सिर्फ खुद ही इस अहसास का मज़ा लोगी … या मुझे भी थोड़ा मज़ा दोगी जानेमन!मेरा इतना कहना था कि पूनम ने अपने पैर मेरी कमर के ऊपर आपस में बांध लिए और अपने पैरों पर ज़ोर देते हुए मुझे ऊपर से अपनी चुत के अन्दर को धकेलने लगीं. मेरा शरीर मानो आग में तप रहा था और मैं बस चुदाई का मजा लेना चाहता था.

एसएस बीएफ एसएस बीएफ एसएस बीएफ इसके बाद हर हफ्ते शबनम चाची मेरी पढ़ाई देखने के बहाने सर से मिलने आतीं और हम दोनों के लंड से चुदाई करवा लेतीं. कुछ पल बाद मैंने भाभी की पैंटी उतार फैंकी और उनकी चूत में उंगली डाल कर अन्दर बाहर करने लगा.

मिहिका मुँह साफ करके रसोई में चली गई और थोड़ी देर में गर्म दूध लेकर आई.

नंगी वीडियोस

फिर भाभी ने मुझसे कहा- जोर जोर से झटके मार!मैंने ऐसा ही किया और जोर जोर से धक्के लगाने लगा. चूंकि एक बार मैं उसकी चूत में खाली हो चुका था तो अबकी बार मुझे माल छूट जाने का भी ज्यादा डर नहीं था. मैंने कहा- साली छिनाल आज इतना क्यों चिल्ला रही है … साहिल आ गया तो तेरी बदनामी हो जाएगी.

उसके लौड़े पर लाल लंगोट देख कर सुम्मी उसके लंड की लम्बाई मोटाई का अंदाजा करने लगी. जमीन पर लेट कर चुदाई करने वाले लड़के ने अपना ब्लेजर जमीन पर बिछाया हुआ था और उसके साथ की लड़की उसके लंड पर बैठ कर उछल रही थी. मेरा पूरा लौड़ा अन्दर तक जाने से शन्नो रंडी की तरह खुश हो रही थी और आहहहह आहहहहह करके अपनी गांड पटक रही थी.

यह बात तब की है, जब अमित ने बोला था कि चलो डॉक्टर से सलाह ले लेते हैं कि तुम अभी मां बनने के लिए तैयार हो या नहीं.

दोस्तो, लॉकडाउन के बाद ज़िंदगी की गाड़ी वापस पटरी पर आ ही रही थी कि एक बार फिर से कोरोना ने इस गाड़ी पर ब्रेक लगाने शुरू कर दिये हैं. फिर मैंने उससे उसकी सेक्स लाइफ के बारे में पूछा, तो वो बोली कि यार अब तुमसे क्या छुपाना … मैं पिछले 3 सालों से सेक्स कर रही हूँ. भाभी का वो बला का हुस्न सिर्फ ब्रा और पैंटी में मेरे सामने महक रहा था.

बस दीदी के ब्वॉयफ्रेंड ने उन्हें घोड़ी स्टाइल में खड़ा किया और दीदी के पीछे से लंड चुत में पेल दिया. एक फिट बॉडी के साथ ही मैं हैंडसम भी हूँ।मेरे घर में मेरी शादी की बात हो रही थी. यामिना ने जल्दी से मेरे लण्ड को दो तीन बार फैंटा और बोली- सर, बस, मैं बाहर जा रही हूँ, आज फ़लक ने अपनी जॉब की एप्पलीकेशन देने आना है.

एक पैग के बाद दूसरा पैग भी इसी तरह से चला और अब उसने बोतल उठाई और मेरे मम्मों पर वोडका गिरा कर पीना शुरू कर दिया. उसकी नजरें कुछ कहना चाहती थीं और मैं वही समझने की कोशिश भी कर रहा था.

प्रिंसिपल सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं लौड़ों की प्यासी हो गयी थी। स्कूल के प्रिंसिपल ने कैसे मुझे होटल में लेजाकर चोदा. वो बड़े आराम आराम से अपना लंड अन्दर घुसाता गया और पूरा लंड गांड में पेलकर रुक गया. मेरा दिमाग कुछ सोचने लगा कि घर पर मेहमान आ चुके थे, चाची उनके लिए खाना बना रही थी.

मैंने कहा- ऐसे कैसे मालूम पड़ेगा भाभी … कि मैं आपको टैं बुलवा देता हूँ कि आप मुझे टैं बुलवा दोगी.

बाकी बचा सेक्स हम दोनों शादी के बाद किसी होटल में या कहीं और अच्छे से कर लेंगे. एक मिनट बाद उसने लंड पर कूदना बंद कर दिया, तो मैं समझ गया कि ये झड़ गई है. मैं ये नई ब्रा लाई थी, इसका हुक पीछे से लगा दे … मुझसे लग नहीं रहा है.

सभी टीचर्स छात्रों को बसों में बिठाने में व्यस्त थे क्योंकि बस में जितनी सीट थीं, उतने ही छात्र बैठे जा सकते थे. मैंने कहा- एक बार इधर ही आपके ऊपर चढ़ जाता हूँ … मुझे एक बार और चोदना है.

पीछे से रोहन अंकल आए और उन्होंने बिस्तर पर बैठ कर मेरी मॉम का घूँघट उठाया. दूर से तो मैं चुदाई का मजा ले रहा था पर जब मैं पास गया तो देखा कि जो लड़का हरीश जमीन लेटा था, उसके सिक्स पैक थे और बॉडी भी बड़ी दमदार लग रही थी. फिर आंटी की दोनों टांगें फैलाकर अपना लंड चुत पर घिसने लगा और एक ही झटके में आंटी की चुत में लंड पेल दिया.

भोजपुरी में नंगा नाच

भाभी भी मस्त होने लगीं और अपने दोनों दूध मेरे मुँह में बारी बारी से देने लगीं.

लंड को ऐसे लग रहा था, जैसे चूत की फांकों से उसे प्यार किया जा रहा हो. फिर मैंने अपने लंड को मां की चूत पर सैट किया और एक ही बार में पूरा लंड अन्दर डाल दिया जिससे मां की कामुक सिसकारी निकल गयी. अब उस लड़के ने मेरी मम्मी की जांघ पर हाथ रख दिया और मम्मी की जांघ दबाने सहलाने लगा.

अन्वेषा- तुम काफी क्यूट और स्वीट हो!उसने अपने रसीले होंठों पर मुस्कान लिए मेरी ओर आंख मार दी. इधर मेरी सगी भाभी भी बेड पर आ गयी थीं; हमारे दृश्य देखकर भाभी की चुत भी गीली हो गयी थी. ब्लू फिल्म देखने वालाउसकी छोटी सी सुर्ख गुलाबी चूत को देखकर मेरा लंड अकड़ गया और मेरे शार्ट में ही फुंफकारने लगा.

वो बोलती रही- रही बात इस समय के सेक्स की, तो तुमको याद होगा कि मैं और तुम आने वाले समय में पति-पत्नी होंगे. तो तोमर साब ने भी अपना पाजामा उतार दिया।नीचे से चड्डी में उनका लंड अकड़ा हुआ दिख रहा था।चाची खुद ब खुद घुटनों के बल बैठ गई और उसने तोमर साब का कड़क लंड अपने हाथ में पकड़ा और उसे पीछे को खींचा.

सुम्मी ने भी न जाने क्या सोचा और हरीश के साथ जाने के लिए बेहद नजाकत से तैयार होकर बाहर आ गई. दूर से तो मैं चुदाई का मजा ले रहा था पर जब मैं पास गया तो देखा कि जो लड़का हरीश जमीन लेटा था, उसके सिक्स पैक थे और बॉडी भी बड़ी दमदार लग रही थी. मेरे लंड को इस वक्त न जाने क्या हुआ था कि मैंने वहीं पर उसकी चुत में गधे की तरह लंड पेल कर उसे चोदता रहा.

हिना मेरे पास आई और उसने मेरा लंड पकड़ कर अपनी बहन की गांड से बाहर निकाला और चाटने लगी. मैं फिर से रुक गया और जब वो सामान्य हुई तो मैंने अपने लंड को धीरे धीरे अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया. इसके साथ ही न जाने कब हमारे फ़ोन की बातें फ़ोन सेक्स में बदल गईं, कुछ होश ही नहीं रहा.

अब शीना ने लन्ड चूसने में बिल्कुल अपनी माँ की नकल की, उसने पहले जीभ से मेरे सुपारे को चाटा फिर लन्ड को मुंह में लेकर चूसने लगी.

”दस मिनट में ही एक लम्बी सी मर्सिडीज कार में पंप मालिक सुधीर आ गये और बोले- मैं अपनी वाइफ के साथ एक पार्टी में जा रहा था. Xxx ब्रदर एंड सिस्टर स्टोरी में पढ़ें कि दो बहनें आपस में गन्दी बातें कर रही हैं.

मैं कराहते हुए बोली- आह्ह … ईईई … आआईई मां … दर्द हो रहा है … आह्ह … आआयय नहीं … रोक लो … लंड को रोक लो. वो अपनी ससुराल का घर छोड़ कर गांव में ही रहने लगी थी क्यूंकि उसके पति नशा बहुत करता था. की बात भी करनी थी।जिस दुकान पर मैं गयी वो इत्तेफाक से उनकी ही दुकान निकली जिनके लड़के को मैं ट्यूशन पढ़ाती थी।वो मुझे देखकर एकदम चौंक गए और बोले- अरे मैडम, कैसे आना हुआ?मैंने उनको सारी बात बतायी।मैंने चूल्हा तो ले लिया मगर ए.

उसका लंड कड़ा हो गया था और वह अपनी जांघों के बीच मेरे चूतड़ों को जकड़े था. सेम हियर बेटा … मुझे भी लग रहा था कि मैं जैसे तेरे कॉलेज में प्रोफेसर हूं और तू मेरी क्लास में कोई कमसिन सी स्टूडेंट है और मैं तुझे क्लास में मेज पर झुका कर तुझे चोद रहा हूं. कुछ ही दिनों में ऐसा कुछ भी नहीं बचा था जो मैंने उन्हें नहीं दिया हो.

एसएस बीएफ एसएस बीएफ एसएस बीएफ बस जैसे सुई लगवाते समय हल्का सा दर्द होता है, वैसे ही थोड़ा सा लगेगा. रमेश- आह साली, रंडी बन गई है तू और अब तेरी सील फट गई है तू मस्त औरत बन गई है.

आदिवासी पोर्न

मैं अब गांव में रहने लगी थी और मेरे चाचा ससुर इस समय गांव में नहीं थे. मामी जी ने जब मुझे अपने चूचियों को घूरते हुए देखा तो मुस्कराते हुए मेरे सर पर हाथ ले जाकर मेरे बालों को सहलाते हुए मेरे चेहरे को अपनी बड़ी बड़ी चूचियों से सटा लिया. मैंने उसे छेड़ा- क्या रात वाली बात याद आ रही है अफ़रोज़?अफ़रोज़- आपा रात की तो बात ही मत करो.

एक दिन उन्होंने कहा- अब बस मुझे नहीं पता कि हम कैसे मिलेंगे, लेकिन हम मिलेंगे और मुझे तुमसे चुदना है बस. मैंने उसकी चूचियों की सख्ती को अपने सीने पर महसूस करना शुरू कर दिया. ट्रिपल एक्स सेक्सी फिल्मवो ऊईई ऊईई ऊईई करने लगी और उसके आंसू निकलने लगे।मैंने अपने लौड़े को आगे पीछे करना शुरू कर दिया और धीरे धीरे झटकों की रफ्तार बढ़ा दी।‘ऊईई ऊईई ऊईई ऊईई ऊईई’ की आवाज आहह आहह आहह में आने लगी और वो धीरे धीरे गांड चलाने लगी.

रमेश को दीदी से कुछ कहना ही नहीं पड़ रहा था, वो खुद अपनी मादक अदाओं के साथ अपनी नंगी जवानी का का फोटो शूट करवा रही थीं.

मैं 69 की पोजीशन में आकर चित्रा की चूत चाटने लगा तो उसने मेरी चड्डी उतार दी और मेरा लण्ड पकड़कर चूसने लगी. फिर उन्होंने मेरे दोस्त से कहा- तुम जाओ, मुझे राजेश से कुछ अकेले में बात करनी है.

इतनी गदराई हुई गांड थी कि उसकी गांड मारने में बिस्तर की जरूरत ही नहीं पड़ने वाली लग रही थी. उस दिन जब मैंने तुम्हें गे पोर्न देखते हुए पाया तो फिर मैं बहुत खुश हो गया. देख लिया आपका प्यार … लो कर लो अपनी मनमानी और मार ही डालो मुझे!” बहूरानी पूरी मस्ती में मेरे धक्कों से ताल में ताल मिलाती हुई कुंवारी चुदने की गजब की एक्टिंग कर रहीं थीं.

उसने मेरी बात का कोई जवाब नहीं दिया और उठ कर सामने पड़े दूसरे सोफे पर बैठ गई.

पूनम बुआ का रंग यूँ तो साफ़ था … तो छोटे से गोरे चुचे पर हल्के भूरे रंग का उनका निप्पल तन्नाया सा खड़ा था. उसी समय उनका लड़का वीरू सिर्फ कच्छे में आ गया और चाची की चूचियां हाथ में लेकर मसलने लगा; फ़िर एक चूची को मुँह में भरकर चूसने लगा. वह अपनी यूनिफार्म चेंज करने गया और मैंने भी प्लान के मुताबिक़ अपनी सलवार कमीज़ उतार दी.

चाची भतीजे की चुदाई वीडियोभाभी मुझसे बोलीं- हां हां क्यों नहीं मेरी रानी … जैसा तुम चाहो, वैसा ही होगा. जैसे ही लंड ने चूत में स्थान बना लिया तो उसने ऊपर नीचे होना शुरू कर दिया.

हिंदी ब्लू फिल्म दिखाएं

मैं उन दिनों की बात कर रहा हूं, जब मेरे दोस्तों का मेरे पास बहुत आना जाना था. मैंने भी उसकी बात मान ली और अपनी तौलिया बाँध कर अपने कमरे में चला गया. उनके जिस्म में कोई हरकत नहीं हुई तो मैंने दीदी के ब्रेस्ट मिल्क को पीना शुरू कर दिया.

एक दिन मैंने उससे मिलने की इच्छा जाहिर की तो उसने मुझे हां बोल दिया. शीना जोर जोर से सिसकारियां भरने लगी और अपनी गांड को बेड पर पटकने लगी और आह … आह … ओह … ओह … हम्म … ह्म्म… याह याह करने लगी. बहुत ज़बर्दस्त मौका था। एक डर भी था कि पता नहीं सुनील कितनी जल्दी डॉक्टर को दिखा लौट आएगा।गुलाब बोला- जी मोहतरमा, मैं काम करने लगा हूँ ज़रूरत हो तो बुला लेना।मैं बोली- जी ठीक है।वो बोला- थोड़ा पानी पिला दीजिये.

अपने बेडरूम से अटैच टॉयलेट से मैं नहाकर निकला तो बहार जूस का गिलास पकड़े खड़ी थी. मैंने उन्हें किस किया और उनकी चुत का थोड़ा सा रस, उनके मुँह में दे दिया. शराब बहुत महंगी थी तो तुरंत कोई असर नहीं करती।नवी ने एक लंबा घूंट भर कर रूपा को घोड़ी बनाया और पीछे से उसकी गांड में घुसने की नाकाम कोशिश की.

भाभी ने भी अपनी चुत के बाल एक हफ्ते पहले ही काटे होंगे, तो बाल अभी निकल ही रहे थे. इस बार मेरा पूरा 7 इंच का लंड मीना की छोटी सी चूत को चीरते हुए बच्चेदानी के अन्दर तक पहुंच चुका था.

हमारे ग्रुप में कुछ सीनियर्स भी थे, जिनका फायदा हम सभी जूनियर्स को मिलता था.

फिर मैंने उससे पूछा- ये बताओ आप तो इतनी बार सेक्स कर चुकी हो, तो आज आपको इतना दर्द क्यों हुआ!तब उसने बताया- एक तो अभी मेरे पीरियड अभी नहीं हुए हैं … और दूसरा कारण, अभी जो भी बॉयफ्रेंड बने हैं, मैं बस उनसे पैसों के लिए सेक्स करती हूँ. பெரிய ஆன்ட்டிमैं भाभी को तौलिया से पौंछ कर रूम में लेकर गया और बेड पर लेटा दिया. सेक्सी ब्लू फिल्में दिखाएंमेरे ममेरे ससुर ने बहु को चोदा सात दिन तक! मेरी चुत को चोद कर उसका भोसड़ा बना दिया. टीटीई इस कमरे के बाहर वाले लाउंज में पड़े सोफे पर बैठा था और वो माल भुनभुनाती हुई बाथरूम में घुस गई थी.

इतना कहते ही सागर ने एक झटके के साथ आधा लंड मेरी चूत में उतार दिया।लंड घुसते ही मैं एकदम से चिल्ला उठीं। ऐसा लग रहा था कि किसी ने मेरी चूत चीर डाली हो!मैं- आई मर गई … आह निकाल लो इसे.

जैसे ही मैं अन्दर आया तो बोलने लगी- बात क्यों नहीं कर रहे हो?मैंने जबाब दिया- मैं अपना रूम शिफ़्ट करने वाला हूँ … इसलिए टाइम नहीं मिला. मैंने उसके मस्तक पर चुम्बन करते हुए उससे कहा- तुम अपने भगवान को याद कर लो, मेरे प्यार की निशानी तुम्हारे शरीर में जाने वाली है. अब हम दोनों मां बेटी एक ही लंड से बदल बदल कर चुद रही थी लेकिन हमने उस कमरे की लाइट बन्द रखी थी.

और फिर दोनों ही साथ में वापस आ जाएंगे।मैं इसके लिए तैयार हो गया और मैं और भाभी दोनों मुंबई के लिए निकल पड़े. दादा जी- सुन बहू, अब ये शर्म छोड़ दे और जो रोहन बोल रहा है, वो ही कर. वो डर के मारे मुझसे दूर हो गयी और उसने मुझे हिदायत दी- अब बस बहुत हुआ, आज के लिए इतना काफी है … अब मुझमें और हिम्मत नहीं है.

हिंदी चूत सेक्सी

अब मेरा शरीर भी अकड़ने लगा था और मैंने अपने लौड़े को तेजी से अन्दर-बाहर करना चालू कर दिया. वो मानी नहीं और मुझसे बोली- मुझे पता है कि मैं तुमको पसंद नहीं हूँ. मां की चूत थोड़ी देर के लिए टाइट हो गयी थी, पर मेरे 4-5 धक्के मारने के बाद मां के मुँह से आवाज आई- आंह बस कर … मेरा हो गया.

उसने अपनी धुन में आगे कहा- तो भाभी, चलिए हमें अपना दूध निकाल कर दे दीजिए.

दोस्तो ये मेरी रियल पुलिस गर्ल Xxx कहानी है कि कैसे मुझे एक पुलिस वाली वो भी हरियाणा पुलिस को चोदने का मौका मिला।अब मैं सीधा कहानी पर आता हूं।मैं गुड़गांव में रहता हूं।एक दिन रात को मैं ड्यूटी से रूम आ रहा था.

हम दोनों की मादक सिसकारियों की आवाज आ रही थी।जब किस हो गयी तो मैंने कहा- अंदर चलते है ना!कुणाल बोला- नहीं, अंदर नहीं जा सकते, तुम्हारी भाभी को पता चल जाएगा।मैंने कहा- तो फिर?कुणाल बोला- यहीं कर लेते है, किसी को पता नहीं चलेगा।मैंने कहा- यहाँ खुले में? नहीं नहीं।कुणाल बोला- यहाँ कोई नहीं है देखने वाला, हम शहर से बहुत दूर है, और जंगल में हैं, कुछ नहीं होगा. चाची आंह आंह करती हुई मेरा सर दबा रही थीं और मैं अपनी जीभ से चुत संग चटाई का खेल खेल रहा था. गांव की ब्लू फिल्ममेरे शौहर ने आज तक कभी भी मेरे तलुवे नहीं चाटे थे, क्योंकि वो दस बारह धक्के पेल कर झड़ जाते थे.

और वो आहह उम्मह आहह करके आंख बंद किए हुए मजे ले रही थी।अब मैंने उसकी निप्पल को मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया. प्राची अक्सर राजू से मिलने उसके गांव जाया करती थी और मुझे उस बारे में पता था. भाभी भी सिसकारियां और तेज हो गईं- ओह्ह ओह्ह यस्स ओह्ह!वे जोर जोर से चिल्लाने लगी थीं कि पूरे घर में उनकी आवाज गूंज रही थी.

इससे पहले कि वह कुछ बोलती, मैंने उसका मुँह हाथ से बंद कर लिया और उसके कान में कहा- ये मैं हूं. मैंने बिना देरी किए अपने लंड पर थूक लगाया और थोड़ा थूक अपनी उंगलियों पर लेकर मां की चूत पर लगाने लगा.

राजेश ने मेरी चूत को पीना शुरू किया तो मेरी आवाजें और तेज हो गईं ‘ओओ … ऊह ऊम्म.

गोविन्द ने बिंदु के बूब्स ओर जांघों पर गले पर शरीर पर जगह जगह काट कर निशान कर रखे थे. फिर शीला आंटी उससे बोलीं- पूरी रात यही करना है या तुम दोनों और भी कुछ आगे करोगे. जब भी चूत में घुसता है तो पूरी तरह संतुष्टि करवा के ही बाहर आता है.

देहाती एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो अब हमारे दूल्हे यानि मुझे राजेश ओर बिंदु को गोविन्द हाथ पकड़ कर बेडरूम में ले जाने लगे. मैं जब तक कुछ समझ पाती कि वो अपने दूसरे हाथ से मेरी चूचियों को दबाने लगा.

आप कहानी पर कमेंट्स में भी लिख सकते हैं और अपनी राय को अपने मैसेज द्वारा भी भेज सकते हैं. उसके बाद मैडम के साथ मेरी दोस्ती हो गयी और उन्होंने मुझे अपने घर बुलाकर मेरे साथ जिस्मानी रिश्ते कायम कर लिये थे. वो मेरी तरफ आंख मार कर उठी और जैसे ही उसने एक कदम आगे रखा, वो लड़खड़ाने लगी.

বিবি কি চুদাই

मेरी मौसी का काफी बड़ा सिलाई सेंटर है, जिससे उनकी काफी अच्छी कमाई हो जाती है. अब मैंने उसे व्हॉट्सैप्प मैसेज किया- आप ही ने फेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी थी न … मैंने आपकी फ्रेंड्स रिक्वेस्ट एक्सेप्ट कर ली है. दुबई में सारे भारतीय धर्म आदि को भूलकर मिल कर हर त्यौहार मनाते हैं.

और वो दूसरे कमरे में चली गई।उसने आवाज लगाई- चाय/कोल्ड ड्रिंक क्या लोगे?मैंने कहा- मैडम, आप परेशान न हों. मैंने दरवाज़ा बंद किया और गुलाब भी ऊपर जाने लगा।उसने मुझे देखा तो मैं मुस्करा दी.

कॉलेज के तीसरे फ्लोर में बहुत कम क्लास ही खुली थीं, लैब तो सब बंद ही थीं.

मैं हंसने लगा और बोला- चल भोसड़ी के … तू भी क्या याद करेगा कि कोई चेला मिला था. मेरे लंड को खड़ा होते देख कर मामी मेरी गोद से उठीं और अपनी सलवार का नाड़ा खोलने लगीं. दोस्तो, मेरा नाम राज शर्मा है और मैं मूलत: दिल्ली का रहने वाला हूँ.

कुच्ची हंसते हुए बोला- चुप रह भोसड़ी वाले … पहले मेरी तो बात सुन कमीन. वो जोर जोर से सिसकारियां लेती हुई झड़ने लगी- आह मर गई रे … आह मैं कट गई आह. मैं थोड़ा रुका, फिर मैंने वापस अपने हाथों को मां के दूध से हटा कर उनकी जांघों पर रख दिया और उनकी जांघों को मसलने लगा.

जब चाची मेरी जांघों तक मालिश करतीं तो उनके बड़े बड़े दूध देखने से मेरा लंड चड्डी में खड़ा होने लगता था.

एसएस बीएफ एसएस बीएफ एसएस बीएफ: मां बोली- तेरे पिताजी तो बस आकर मेरे अन्दर अपना हथियार डालते थे और पानी छोड़ कर सो जाते थे. कुछ देर उसने फंसा रहने दिया और फिर हिलाने लगा।जब उसको लगा कि मैं ठीक हूँ तो उसने हाथ हटा दिया।उसकी पीठ पर नाखून खुबो कर मैं बोली- इतने बेरहम क्यों हो तुम?वो बोला- साली औरत को मजा ही असली ऐसे आता है, जब कोई जल्लाद की तरह चोद डाले।उसने झटके तेज़ कर दिये.

दूल्हा बनने से पहले क्या हुआ, इसकी सेक्स कहानी का मजा लेते हैं, तैयार हो जाइए. लंड गांड में घुसा, तो चाची कराहते हुए बोलीं- आहहह आह आह ओह … कितना मोटा लंड है मजाहह आ गया आहह ओह. मैं तुम्हें साफ साफ बताऊँ कि सुधीर के साथ मेरा जिस्मानी रिश्ता पिछले चार पाँच साल से न के बराबर है.

जब बिस्तर पर लेटो, तो पेटीकोट अपने आप आसानी से घुटनों तक आ जाता है और थोड़ी कोशिश से ही और ऊपर आ जाता है.

शन्नो बोली- राज, क्या सच में मैं साहिल के जवान लंड से चुद पाऊंगी … क्या सच में मेरा बेटा अपनी अम्मी की चूत और गांड की प्यास मिटाएगा. कुलदीप बाहर गया था और सोनिया भाभी को डॉक्टर को दिखाने जाना था क्योंकि उनका डॉक्टर से अपॉइंटमेंट था. हम दोनों ने भरपूर किस किया और एक दूसरे के मुँह में जीभ डालकर एक दूसरे की लार को पिया.