भोजपुरी सेक्सी बीएफ ओपन

छवि स्रोत,एक्स एक्स एक्स बीएफ वाली

तस्वीर का शीर्षक ,

ग्रुप सेक्स एचडी वीडियो: भोजपुरी सेक्सी बीएफ ओपन, ये सुन कर दिल को तसल्ली हुई कि चलो कल भी इस खूबसूरत हसीना का दीदार करने का मौका मिलेगा.

बीएफ खेसारी लाल

उधर पहुंचा तो जानकारी हुई कि अभी पहली पाली वालों का एग्जाम चल रहा है. लड़की का चोदा चोदी बीएफपाटिल जी का और मेरा लौड़ा सरपट रेशमा की चूत और गांड फाड़ने में व्यस्त हो गया.

मेरे लंड का गुलाबी कलर का मोटा सा सुपारा देख कर मॉम के मुँह से पानी आने लगा. सेक्सी बीएफ ब्लू फिल्म इंग्लिशजबकि मैं अगर आपसे करूं, तो किसी को पता भी नहीं चलेगा और हम रोज रोज मज़े भी ले सकेंगे.

मेरा लंड चुदाई के टाइम बहुत सख्त हो जाता है और उसकी नसें उभर कर साफ़ नजर आती हैं.भोजपुरी सेक्सी बीएफ ओपन: निधि अब एक पोर्न स्टार की तरह मेरे लन्ड को आराम से अपनी चूत में ले रही थी और अपने मुंह से आहच … आह … आऊच … आह … आहच … प्लीज और जोर से चोद … चोद … चोद … बहन के लन्ड … आह … बहुत मजा आ रहा है.

दरअसल मेरे पास उनका मोबाइल नंबर था क्योंकि मेनगेट को रात बिरात खोलने हेतु हम सबने एक दूसरे का नंबर ले रखा था.क्या मुझे आपके नमकीन जूस का स्वाद मिल सकता है?अजय ने एक बार मेरी तरफ देखा और मुस्कुराते हुए मेरी तरफ आते हुए बोला- अरे मेरी चिकनी मनीषा, चल तैयार हो जा.

अंग्रेजी बीएफ फुल मूवी - भोजपुरी सेक्सी बीएफ ओपन

गर्मी की छुट्टी खत्म होने के बाद पापा ने मेरा एडमिशन गांव के ही एक स्कूल में करवा दिया.मैंने कहा- आपको किस करना आता नहीं है या करना नहीं चाहती हो?वो बोलीं- मुझे नहीं आता है.

अब दोनों अपनी अपनी रफ़्तार से अपनी कमर चलाने लगे और चुदाई का भरपूर आनन्द ले रहे थे. भोजपुरी सेक्सी बीएफ ओपन सबको चाय देकर देविका ने मुझे भी चाय दी और खुद लेकर मेरे पास बैठ गयी.

उसके बाद हमने दिन भर में 3 राउंड चुदाई की जिसमें उन्होंने मुझे अलग अलग पोजीशन में चोदा.

भोजपुरी सेक्सी बीएफ ओपन?

मतलब दोनों साथ में ही नहा रहे होंगे और शायद वहां भी चुदाई हुई होगी. अब आगे न्यू रण्डी सेक्स कहानी:काफी समय बीत गया और रूपा बाहर नहीं आई. मैं भी अपने घुटनों के बल आ गया और लंड बाहर निकालकर अन्दर डालने लगा.

देसी गर्लफ्रेंड रोमांटिक कहानी में पढ़ें कि हल्के फुल्के चुम्बन के बाद हम दोनों की कामेच्छा सर उठाने लगी थी. शादी के कुछ दिन बाद मैंने घर से बाहर निकलते समय उस नई भाभी को देखा, तो मैं देखता ही रह गया. मैं बोला- साली कुतिया … लगता है बहुत दिनों से तेरी नदी का नक्का नहीं खुला.

उसका बदन भरा हुआ था और जब वह नंगी हो जाती थी तो उसे देखते ही लंड खड़ा हो जाता था. उसने मुझे अपने ऊपर जकड़ कर कस सा लिया और अपने पैरों से मेरी गांड को जकड़ लिया. पर अब शायद पाटिल जी अपने आपको रोक नहीं पा रहे थे, उन्होंने वैसे ही नीचे लेटी रेशमा के भोसड़े से किरण का मुँह ऊपर उठाया और एक ही झटके में उन्होंने अपना पूरा लौड़ा रेशमा की चूत में आर-पार कर दिया.

फिर बॉस उठ कर मेघना के पैरों के पास बैठ गया और उसकी दोनों टांगें फैला दीं. मैंने कहा- ठीक है भाभी जी, पर कुछ देर आराम कर लेते हैं, फिर चलेंगे.

भाभी गाड़ी से उतरी और मुस्कुराते हुए गाड़ी खड़ी करके मुझे भी उतरने के लिए कहा।मैं गया तो वहां भाभी की मां और बाबू थे.

इस बीच भाभी दो बार झड़ चुकी थीं और उनकी चूत में अब जलन होने लगी थी.

लेकिन मेघना ने मुझ पर बिल्कुल भी गुस्सा नहीं किया और हम दोनों सो गए. मेरी पिछली सेक्स कहानीराजेश से शिवानी रंडी बनने तक का सफरके बाद मुझे काफी सारे ईमेल आए, कईयों ने प्रपोज किया, जिससे मेरी ईमेल बॉक्स भर गया. आज तो तुझे ऐसी सज़ा दूंगी कि तू फिर वैसे करने से हजार बार सोचेगा, समझा?शिराज को थोड़ा सुकून सा मिला कि उसकी बहन ने उसे माफ करने की बात तो की, पर वो मेरी गोदी में बैठी अपनी बहन की तरफ देखे बिना वैसे ही खड़ा रहा.

मैं ये बिल्कुल नहीं चाहता था कि मेघना को ये पता चले कि मुझे उस पर शक हो गया है. तू जितना बुड्ढा है तेरा लण्ड उतना ही जवान है। साला बिना रुके चोदे जा रहा है. दोस्तो, मैं आपका साथी हर्षद मोटे, एक बार फिर से आपको सेक्स कहानी की दुनिया में सैर कराने हाजिर हूँ.

रूना उसी पोजीशन में मुझसे लिपटी हुई थी और मैंने उसके होंठों को चूमना शुरू कर दिया.

मैं- ओह सॉरी!कोमल- वैसे तुम मेरी बेटी को घूर क्यों रहे थे?मैं- इतनी सुंदर जिसकी बेटी हो, उसको तो सभी घूरेंगे ही. तुमने जिस तरह आज मेरी चुदाई की है, आज पहली बार चुदाई का असली मजा मुझे मिला है. ‘उफ़्फ़ अंकल … प्लीज ऐसा मत करो आह प्लीज यस्स … अन्दर तक करो अंकल बड़ा मजा आ रहा है.

अब धीरे धीरे जैसे जैसे चूत खुलने लगी, तो लंड तेज़ी से अन्दर बाहर अन्दर बाहर होने लगा. मैंने अपने एक हाथ से लंड को पकड़ कर उसकी चूत पर ऊपर नीचे रगड़ना शुरू कर दिया. उसने नीचे शॉर्ट्स और ऊपर टी-शर्ट पहनी हुई थी, जिसमें उसका गदराया हुआ 36-30-38 का फिगर कातिलाना लग रहा था.

वो कमरे का दरवाजा बंद करके बिस्तर पर आ गईं और बोलीं- तनु लो दूध पी लो.

मैंने चूचियों को पीना शुरू कर दिया और एक हाथ उसकी सलवार में डाल कर उसकी चूत टटोलने लगा. नमस्कार दोस्तो, सेक्स कहानी के अगले भाग में आप सभी पाठकों का नैना की तरफ से स्वागत है.

भोजपुरी सेक्सी बीएफ ओपन उसे शायद पता था कि उसकी Xxx बहन इतनी ज्यादा नशे में है कि पता ही नहीं चलेगा. फुल सेक्स विद फादर इन लॉ का मजा लिया मैंने! ससुर जी का लंड बहुत बड़ा था.

भोजपुरी सेक्सी बीएफ ओपन फिर अपनी जीभ से उसकी चूत, नीचे से ऊपर तक चाटकर पूरी जीभ उसकी चूत में डाल दीं. जैसे हमने पक्का किया था कि मैं ऑफिस से जल्दी निकल जाऊंगा और बियर खरीद लूंगा.

मेरी चूत में बहुत दर्द हुआ लेकिन मैं भी सारा दर्द झेल कर चुदती रही.

बीएफ सेक्सी वीडियो चालू

दोस्तो, जब किसी लंड को एक बार Xxx फ्री सेक्स का स्वाद लग जाता है, तो फिर लंड चूत के लिए पागल हो जाता है. मैंने अपने एक हाथ में लंड पकड़कर गीता के एक दूध के निप्पल पर गोल गोल घुमाने लगा. ललिता भाभी की सिसकारियां तेज़ होने लगीं और वो खुद से कमर दबाती हुई मेरे लंड पर चूत का दबाव डालने लगीं.

वो वासना में पूरी तरह से मदहोश हो गयी थी और उसके मुँह से गर्म सिसकारियां निकलने लगी थीं. मैंने उससे पूछा- लंड चूसना किधर से सीखा?वो खिलखिला कर बोली- साब, आप तो आम खाओ, गुठलियां चूस कर क्या करोगे. उसने मेरे लंड में अपनी चूत फंसाई और अब वह भी अपनी गांड उठा उठा कर मेरा साथ देने लगी थी.

थोड़ी देर बाद मैंने आंटी को घोड़ी बनाया और चूत में लंड डालकर चोदने लगा.

खैर … मैडम फिर से अन्दर आ गयी और बोली- माशाल्ला … इतनी सुंदर लग रही हो, तुम्हें तो लड़की ही होना चाहिए था. साबिरा ने मेरे होंठों पर चुम्मी देते हुए कहा- आज आप जो कहे वो सब करूंगी बाबू, आज से ये साबिरा आपकी हुई. अभी 4:30 हो रहे थे और सड़क पर जैसे लग रहा था कि रात के 2 बज रहे हैं, इतना सन्नाटा और अंधेरा हो रहा था.

कमरे का दरवाजा बंद करके लाइट का स्विच ऑफ किया और मैं अपने भाई के साथ सो गई. मैं उसके गालों को चूमते हुए उसके कानों में जाकर बोला- कैसा लग रहा है?वो- बहुत अच्छा लग रहा है. मेरे टट्टों में उबलता हुआ मेरा सफ़ेद वीर्य किरण के मुँह में भरने लगा और मेरी गांड रेशमा के मुँह पर रख कर मैं किरण के गले तक अपना लौड़ा पेल कर उसे अपना वीर्य पिलाता रहा.

वो मेरे मम्मों को देख कर आह आह कर उठी और बोली- अरे वाह … तेरे आम तो बहुत बड़े बड़े हैं. मैंने उससे कहा- तुम रूपा को मेरे कमरे में भेज दो और दरवाजा लॉक करके चले जाओ.

उसने थोड़ा सा पानी पीकर गिलास मुझे पकड़ा दिया और बाकी बचा पानी मैं पी गया. जब भी मैं कोमल के पास जाता तो मैं भाभी की बात शुरू कर देता और भाभी की तारीफ भी खूब करता. उसकी चूत बहुत कसी हुई थी क्योंकि बेटी ऑपरेशन से हुई थी और बहुत महीनों से उसके पति ने भी उसे नहीं चोदा था.

दर्द तो हुआ लेकिन आज पहली बार तुम्हारे लंड ने मेरी चूत को बुरी तरह से रगड़ कर चोदा है.

भाभी को हाईट छोटी होने की वजह से उन्हें किस करने में दिक्कत हो रही थी. भाभी- क्या आप अभी सिंगल हो?मैं- हां, क्यों क्या हुआ?भाभी ने हल्की स्माइल देते हुए कहा- क्यों कोई जीएफ नहीं है क्या?मैं- नहीं भाभी जी. अब मैं आपके साथ मेरे और मेरे साले की बीवी के बीच हुई सेक्स कहानी को साझा कर रहा हूँ.

मैं भी उठकर दारू का जाम भरने लगा और रेशमा का ये नया रूप देख कर मजे लेने लगा. मौसी ने मेरी तरफ देखा और धीरे से कहा- इसके आगे भी कुछ करोगे?मैं मौसी की इस अदा को देख कर चौंक गया था.

मैंने चूसा और हमने बहुत फोरप्ले किया पर उसका लंड टस से मस नहीं हुआ।मैं गर्म थी और लंड मेरे सामने होते हुए भी मेरे अंदर नहीं जा रहा था. दो बार चुदने के कारण रूना बिल्कुल सुस्त पड़ गई और कुछ बोल भी नहीं रही थी. मेरा दिमाग बस फैशन, मोबाइल और घूमने में रहता था, जिसके चलते मैं स्कूल में दो बार फेल भी हो गयी थी.

सुहागरात बीएफ एचडी

अब वो अपनी कमर को आगे पीछे करती हुई हिलाने लगी और लंड उसकी चूत में अन्दर बाहर होने लगा.

उसने कहा- दीदी, आपको मुझसे चूत गांड चटवाने से ज्यादा मजा मिलता है या चुदवाने से ज्यादा मजा मिलता है?मैंने कहा- अब कैसे बताऊं बेटा, बस तू चूत चूस और अपनी दीदी को मजा दे. मैंने कहा- गीता, तुम्हारे पति तुम्हें पूरी तरह से संतुष्ट नहीं कर पाते हैं क्या?इस पर गीता बोली- मेरे पति अच्छे हैं, उन्होंने बहुत धन दौलत कमाई है, लेकिन उनके पास मेरे लिए समय नहीं है. साथ ही अपनी गांड ऊपर नीचे करती हुई कहने लगी- हर्षद, तुम्हारा लंड कितना फिट बैठा है मेरी चूत में … बहुत दर्द हो रहा है, लेकिन मजा भी आ रहा है.

’मैंने अब लगातार धक्के लगाना शुरू किए और वो ‘उउउई आ आह्हह मम्मीई ईई आआ आआ …’ चिल्लाती रही. फिर हम दोनों ने कुछ मिनट किस किया और मैंने उनके दूध चूसना शुरू कर दिए. बीएफ सेक्सी डाउनलोड करेंXxx जीजा साली सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि दो बार मेरी चूत चोदने के बाद मेरा जीजा मेरी गांड मारना चाहता था.

मैं अपने बिस्तर पर लेटी हुई ही थी कि तभी अचानक से पीछे से सुजय सर ने आकर अपने दोनों हाथों से मेरे मम्मों को पकड़ लिया. अब शेखर को यह यक़ीन हो चला था कि शायद आज उसका लंड अपनी ख्वाहिश पूरी कर सकेगा.

वो बोली- मैंने सोनी और सपना को भी बता दिया कि तुम्हारा बड़ा है तो ज्यादा मजा आएगा. वो दरवाजा लगा रही थी तो मैंने मना किया, बोला- अब सब कुछ तो देख लिया है तो अब क्या छुपा रही हो? मुझे तुम्हें पेशाब करते हुए देखना है. चुद चुद कर पकौड़े की तरफ फूली हुई साबिरा की चूत से अब धीरे धीरे मेरा गाढ़ा वीर्य बाहर आने लगा.

उसके बाद मैं और ससुर जी फिर से अकेले हो गए और अब मैं रात में उनके साथ ही सोती हूँ. उसकी चीख निकलने को हुई मगर निकल ना सकी क्योंकि मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से लॉक कर लिया था. मैंने अपना लोअर निकाला और अपना लंड भाभी की चूत पर टिका दिया और उसकी चूत पर रगड़ने लगा.

मेरी पति को गुजरे हुए बहुत साल हो गए, तब से मैं तड़प रही थी इसलिए समाज के डर से मैं खुद को ऐसे शांत कर लेती हूं.

उनकी तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं हुई तो मैंने अपना लंड अपने पैंट के बाहर निकाला और उनकी गांड की दरार पर रगड़ने लगा. अब आगे डबल सेक्स का मजा:रात में घर वालों के होने की वजह से भाई मुझे ट्रेन में चोद तो नहीं पाया, पर वो कभी मेरे मम्मे सहलाता रहा तो कभी चूत में और गांड में उंगली करता रहा.

दर्द की लक़ीर उसके चेहरे पर अब भी थी, पर साली चूत चुदवाने के लिए साबिरा सारा दर्द सह गयी. कुछ देर बाद हम दोनों नहा कर बाहर निकलने लगे, तो पहले मैंने रुचिका को कमरे से बाहर भेजा. भाभी भी काफी मजाकिया थी, उन्हें मैं रोजाना बाजार से लाकर कुछ न कुछ खाने की चीज देता रहता था.

धीरे धीरे उसको चूमते हुए मैंने उसका ड्रेस नीचे की तरफ खींचना चालू कर दिया. फिर उसके ऊपर आकर दोनों चूचियों को चूसने लगा और होंठों को चूमने लगा. मुझे तो अपने से 18 साल बड़े मर्द को चोदने का भी अनुभव था।और दूसरा दोस्त नीरज का हम उम्र लग रहा था, उसका नाम विजय था.

भोजपुरी सेक्सी बीएफ ओपन दोस्तो, मेरा कम्प्यूटर सर्विस का छोटा सा बिजनेस है और मेरी यह कॉलेज सेक्सी गर्ल देसी कहानी भी मेरे बिजनेस की वजह से ही शुरू हुई. उन दिनों कुछ ऐसा हुआ कि मेरे पास बाहर जाने का कोई काम ही नहीं निकला और मैं समय से घर आने लगा.

बीएफ बीपी हिंदी में

मैंने कहा- आंटी, आपकी चूत बहुत मस्त है … कब से नहीं चुदवाई?वो बोलीं- अब मेरे बुड्डे से कुछ नहीं होता, बहुत दिनों बाद तेरा जवान लंड मिला है. उसे शायद पता था कि उसकी Xxx बहन इतनी ज्यादा नशे में है कि पता ही नहीं चलेगा. ऐसा ही कुछ दिनों तक चला, फिर अचानक से समय ने करवट बदली और यशवंत भैया को किसी कारण से समस्तीपुर छोड़कर अपने गांव जाना पड़ा.

दिल्ली की हॉट मॉडल अनुश्री की प्रोफाइल औरहॉट नंगी फोटोदेखने के लिए यहां क्लिक करें।https://www. ताकि जब तुम ना हो तो मैं उसको चूस के उसका रस पी सकूं!मैंने प्रिया को बोला कि वह खुद ही नए बॉयफ्रेंड बना ले ताकि उनका लन्ड चूस सके. सबसे कम उम्र के बीएफसाबिरा के जाते ही मैं शिराज को फिर से ताकीद देने लगा कि वो आज चुपचाप अपनी बहन और मेरा कुत्ता बन के हमारी सेवा करेगा … और अगर उसने ऐसा नहीं किया, तो इसका नतीजा बहुत बुरा होगा.

मेरा लौड़ा अब टाइट होकर जींस फाड़कर कोमल की चूत के अन्दर तक जाने को बेकरार था.

यही मजा चुत गांड Xxx सैंडविच सेक्स कहानी के अभी आने वाले भागों में मिलेगा. मैं उनके करीब गया तो भाभी बोलीं- तुम जल्दी से मेरे घर में आ जाओ, आज घर में कोई नहीं है.

अपनी जीभ से रेशमा की गर्दन को चाटते हुए मैंने दो उंगलियां उसकी चूत में फिर से नचानी चालू कर दीं. रुचिका वन्दना से बोली- अभी तो कुछ नहीं है, जब ये वापिस मुम्बई जाएंगे, तब तुम रोकर विश करोगी. मैंने कहा- हां आयशा … वैसे तुम्हारे शौहर का क्या नाम है?वो बोली- अभी उस बकचोद का नाम मत लो.

मैंने कहा- ये क्या है?वो हंस कर बोली- साली तुझे मालूम नहीं है कि ये क्या है.

फिर मैंने लंड के सुपारे पर क्रीम लगाई और उसके मुँह पर एक पट्टी बांध दी. उन्होंने मुझे बुरी तरह से जकड़ लिया और अपनी पूरी ताकत से मुझे चोदने में लगे थे. अब हमेशा ही जब मैं घर से बाहर रहता हूं या नाइट ड्यूटी पर जाता हूं, तो बॉस और मेघना चुदाई करते हैं और मैं फोन पर उन्हें देखता हूं.

हिंदी बीएफ बच्चा वालादोनों ने लंड पकड़ा हुआ था और दोनों मिलकर मेरे लंड को सहलाने लगी थीं. ललिता भाभी बाथरूम चली गईं और वहां से आते समय मेरे लिए बादाम वाला दूध लेकर आ गईं.

अंग्रेजी बीएफ पिक्चर दिखाइए

उसकी चूचियां मेरे सीने से मसली जा रही थीं, उसके होंठ मेरे होंठों का रस पी रहे थे. आज के इस सीन से एक बात तो साफ़ हो गई थी कि डैड, मॉम की प्यास सही से नहीं बुझा पाते हैं. इस समय मौसी की उछलती हुई चूचियां देख कर मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा था.

मेरा भाई टीवी देख रहा था, जिसमें खबर आ रही थी कि अगले 3 दिन मूसलाधार बारिश होगी. पाटिल किसी कुत्ते की तरह झुका हुआ था और Xxx डर्टी गर्ल रेशमा का मुँह उसकी गांड में घुसा हुआ था. ऐसे में धीरे-धीरे चुदायी को लगातार जारी रखते हुए जगह बनाते हुए आगे बढ़ना पड़ता है.

कुछ देर तक गांड चोदने के बाद मैंने लंड निकाला और चादर से पौंछ कर चाची के मुँह में डाल दिया. पर तभी रेशमा ने मेरे हाथ से मोबाइल लेते हुए पाटिल साहब को अपनी शर्तें बता दीं और ये चेतावनी भी दी कि इसके बाद वो हमारी निजी जिंदगी में कभी दखलअंदाजी नहीं करेंगे. अगले दिन मैं फिर उसी तरह पहुंची लेकिन आज मुझे पहुंचने में थोड़ी देर हो गयी.

कुछ देर बाद अजय मेरे मुँह में ही झड़ गया, उसकी मलाई जैसा वीर्य अब मेरे मुँह में था. यही सब सोचते हुए और धड़कते दिल के साथ मैंने दरवाजा खोल कर देखा कि कोई है तो नहीं बाहर.

उसकी छोटी सी बुर से बेहद मादक और उत्तेजक गंध आ रही थी जिससे मेरा रोम रोम खड़ा हो गया.

रूना को इतना ज्यादा मजा आ रहा था कि वो बिल्कुल बेसुध हो गई मानो हवा में उड़ रही हो. देसी देहाती सेक्सी वीडियो बीएफXxx जीजा सेक्स कहानी में मैं एक बार अपनी छोटी बहन के पति से चुद कर मजा ले चुकी थी. बीएफ ब्लू पिक्चर बीएफ पिक्चरमैंने ऐसा इसलिए किया था ताकि मौसी उठ कर मेरा मोटा लंड देख लें और उन्हें ऐसा लगे कि मैंने नींद में ऐसा किया. सुबह उठ कर मैं भाभी के लिए मैं गर्भनिरोधक गोली ले आया और उनको दे दी जिससे अब प्रेग्नेंसी का कोई डर नहीं था.

वो नाश्ता करने भी नंगे ही आते थे, बस आफिस जाते समय ही कपड़े पहनते थे.

फिर उन्होंने धीरे धीरे मेरे हाथों पैरों और छाती के सारे बाल साफ कर दिए; मेरे शरीर को बिल्कुल चिकना बना दिया. भाभी चिल्लाने लगीं- उई मार डाला … आह फट गई मेरी!उन्हें दर्द होने लगा. चूत के पानी की मदद से मेरा लंड लौड़ा अब साबिरा की फुद्दी की तंग दीवारों से रगड़ने लगा और पहली बार चुदाई का मजा लेती साबिरा की चूत ने भी अब खुलना चालू कर दिया.

मैंने भी मेरे आखिरी धक्के पूरे जोर जोर से देते हुए दोनों भाई-बहन को जमके गालियां दीं. मैंने कहा- कोई भी ले लो, सभी तो अच्छी हैं।भाभी ने दो पैंटी और दो ही ब्रा ले ली. अब वो दोनों ही पूरी तरह से नंगे हो चुके थे और मेघना बॉस के लंड को पकड़ कर आगे पीछे करती हुई कुछ बोल रही थी लेकिन मुझे कुछ सुनाई नहीं दे रहा था क्योंकि कैमरे में आडियो था ही नहीं.

बीएफ पिक्चर वीडियो चालू

फच्ह्ह … फच्ह्ह्ह … फ़च … धारा की गीली चूत का संगीत शेखर के लंड से मिलकर एक मादक धुन बजाने लगा. ये कहती हुई वो मेरे होंठों को चूसने लगी और उसने अपने पैरों से मुझे जकड़ लिया था. मैंने मम्मी की बात सुन कर एकदम से बोल दिया- हां जरूर भाभी जी, आपको कभी भी किसी भी चीज की जरूरत हो तो बेहिचक बोल दीजिएगा.

भाभी बोलीं- जब छाती मसल रहे थे तब नहीं लगा डर?मैं बोला- तब आप नींद में थीं.

मैंने सर से पास होने के लिए नकल की जुगाड़ के लिए पूछा, तो सर ने उस दूसरे आदमी की तरफ इशारा करते हुए कहा- अरे तुम चिंता मत करो, यही सर सब करवा देंगे.

अपनी जीभ कुतिया की तरह बाहर निकालते हुए उसने मेरे टट्टों को चाटना चालू किया और धीरे धीरे अब उसकी जीभ मेरे गेंदों से लेकर मेरे सुपारे तक घूमने लगी. पहले तो मैंने इसे नजरअंदाज किया लेकिन बाद में मैंने इसे अपनी जिंदगी का एक हिस्सा बना लिया. तमिलनाडु की बीएफउसकी पसीने से भीगी चूचियां मेरे गालों में घिस रही थीं, मुझे मजा आ रहा था.

एक हाथ से उसके बाल और खींचते हुए मैंने दूसरे हाथ से उसकी कमर पकड़ी और पूरी ताकत से उसकी गांड में लौड़े को पेलने लगा. मैं- हां भाभी क्या हुआ?भाभी- बाबू, वो जो वीडियो तुम्हारे वॉट्सएप ग्रुप में आया था, मुझे भी सेंड करो न!मैं- क्या बात है भाभी, लगता है आज आपको भैया की कुछ ज्यादा ही याद आ रही है. लम्बी-लम्बी साँसें लेती हुई धारा यह सोचने लगी कि कहीं जोश में आकर जल्दबाज़ी तो नहीं कर दी.

सेक्सी हॉट गर्ल फक़ स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपने दोस्त की चचेरी बहन को उसी के घर में चोदा. मैं निराश होकर बाहर मेहमानों का स्वागत करने चला गया था और सारे काम संभाल आने के बाद मैं अन्दर हॉल में आकर बैठ गया था.

देर से दाखिला लेने की वजह से वो पाठ्यक्रम में मुझसे थोड़ा पीछे थी, इस हिसाब से मैं उसका सीनियर हुआ.

मैंने भी कहा- हैलो जी कौन?भाभी हंस कर बोलीं- आपको नहीं पता है क्या?मैं- नहीं, वैसे कौन बोल रही हो?भाभी- पहचानो, कौन बोल रही हूं?मैं- आप रेखा भाभी बोल रही हो ना!भाभी- हां, मैं ही बोल रही हूं लेकिन अपने मुझे पहचाना कैसे?मैं- जिसकी याद रात दिन आती हो, उसे कैसे नहीं पहचान सकता. चुदूंगी नहीं।मैंने वेटर को जैसे ही मेरी बीवी का ऑफर बताया वो झट से तैयार हो गया।भला कोई क्यों मना करेगा।वो हमारे कमरे में हमारे पीछे पीछे आ गया।प्रिया– जाओ जाकर अच्छे से धो कर आ जाओ लन्ड को. उसकी चीखें रोकने के लिए शातिर किरण ने भी अपनी गांड उसके मुँह पर दबा दी.

जपानी बीएफ जपानी बीएफ यही मजा चुत गांड Xxx सैंडविच सेक्स कहानी के अभी आने वाले भागों में मिलेगा. मैंने पूनम से पूछा- तुमको कैसे पता लगा कि लंड से अब पानी निकालने वाला है?उसने जवाब दिया कि मैं शादीशुदा हूँ … मैंने अपने पति का लंड बहुत चूसा है.

मैंने भी मेरी दोनों टांगें खोल दीं ताकि किरण आराम से मेरे लौड़े को चूस सके. आसिफ बोला- सॉरी यार, तेरी चिकनी गोरी गांड देख कर मैं खुद को रोक नहीं पाया. एक दिन में सबसे ज्यादा 7 बार मैंने उसे चोदा बाकी दिन कभी 3 बार तो कभी 4 बार ही चुदाई होती थी.

सेक्सी इंग्लिश बीएफ ओपन

उसके कुछ देर बाद मैं भी उसकी चूत में झड़ कर उसके ऊपर लेट गया, उसके होंठों को चूसने लगा. किरण को वहीं पर छोड़ कर मैंने अपना मोर्चा रेशमा की तरफ बढ़ाया और छलांग लगा कर बिस्तर पर चढ़ गया. आंटी छटपटाने लगी थीं और उनके बंद होंठों से घूघू घूघू की आवाज़ आ रही थी.

ऐसे ही एक दिन मेरी नजर उसके टी-शर्ट के अन्दर गयी तो उसके निप्पल नजर आ गए. कोमल ने भी खुद को ठीक करते हुए कहा- नितिन, घर यहां से थोड़ी ही दूर है.

उन्होंने एक रात मुझे अपने घर में रात को रूकने को बोला, फिर वो फोन में पोर्न मूवी चलाने लगीं और मेरे सामने बिल्कुल नंगी हो गईं.

कभी मैं उसकी चूत में उंगली करता और जीभ अन्दर ठांस कर उसकी चूत का रस पीने लगता. अब आगे टीचर स्टूडेंट Xxx कहानी:फिर उन्होंने मुझे एक गिफ्ट पैक देते हुए कहा- इसको खोलकर देखो. अजय के हाथ मेरी कमर पर लगातार चल रहे थे और उसका कड़क होता लंड मुझे मेरी लुल्ली पर रगड़ता हुआ सा महसूस होने लगा था.

वो लड़की बहुत ज्यादा सुंदर थी … या यूं कहिए कि अगर वो किसी हीरो या हीरोइन की बेटी होती, तो पक्का हीरोइन ही बन जाती. उसकी मक्खन जैसी गोरी गोरी गांड मेरे सामने थी, जिसे देख मेरा लंड फिर से टाइट होने लगा. तुम्हारा लंड भी इतना गोरा है कि मुँह से निकालने को भी दिल नहीं करता.

बहन ने कहा- भैया मेरी उम्र तुमको मालूम है?मैंने बोला- हां 19 साल है.

भोजपुरी सेक्सी बीएफ ओपन: मेरा लंड एक कड़क लोहे की रॉड की तरह टाइट था और इस वक्त उसके हाथों में था. उन्होंने अपने पति से इस बारे में बात की और अपने पति को लखनऊ आने के लिए मनाया भी.

पहले तो मैं ज्यादा उसके घर पर नहीं जाता था पर चूत का स्वाद मुझे भी उनके घर खींच कर ले गया. भाभी मंद मंद मुस्कुरा रही थी, पैर दबाते हुए कभी कभी वो अपना हाथ का स्पर्श मेरे लंड पे पंहुचा देती थी. हार्ड फक़ नेक्स्ट डोर गर्ल का मजा मुझे दिया पड़ोस की लड़की ने मेरे कमरे में आधी रात को आकर! हम दोनों पहेल ही दोस्त बन चुके थे, सेक्स की बातें भी कर लेते थे.

सरिता मेरी पीठ और गांड को सहलाकर बोली- हां हर्ष,द मैं तुम्हारी मजबूरी समझती हूँ … लेकिन तुम्हारा मूसल इतना बड़ा है तो तकलीफ तो मेरी चूत को ही होगी ना जान.

मेरी जिंदगी का सबसे अहम लड़की इस वक़्त मेरे साथ थी और हम ऐसी जगह पर थे, जहां अब हमें कोई टेन्शन भी नहीं थी. उनकी बात से और दबती हुई आंख से मुझे कुछ कुछ समझ आने लगा था और मेरे चेहरे का रंग उड़ने लगा था. नीता बोली- आज किसी भी तरह से पूरी रात गीता को चोदकर उसके माँ बनने का सपना पूरा कर दो ना.