देसी बीएफ सेक्सी हिंदी

छवि स्रोत,भाभी की एक्स एक्स एक्स सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

दादा पोती की सेक्सी बीएफ: देसी बीएफ सेक्सी हिंदी, वो मेरी फ्रेंची के ऊपर से ही मेरे लंड को पकड़ कर ऊपर नीचे करती हुई फेंटने लगी.

सेक्सी वीडियो वाईफाई

उसके स्तन को पीते हुए मेरा एक हाथ अब नेहा की पैंटी की ओर जा रहा था. कैटरीना कैफ की नंगी सेक्सी फोटोऐसा करते हुए मैंने उससे बोला- मेरी उंगली तो तेरी छोटी सी चूत में इतनी टाइट जा रही है … तू क्या सनी जैसा लंड लेगी.

उसने एक हाथ से मेरी दोनों गोलियों को पकड़ा और दूसरे हाथ से मेरे लंड के सुपारे की खाल को पीछे की तरफ खिसका कर गुलाबी सुपाड़े को खोल दिया और अपनी जीभ मेरे लंड के गुलाबी सुपारे पर फिराने लगी. हिना की सेक्सीयह मेरी फ्री हिंदी सेक्स कथा थी जो मैंने अन्तर्वासना के पाठकों के लिए लिखी थी.

फिर मैंने लाइट बंद की और कम्बल में घुस गया।मैंने उसके कान में कहा- आई लव यू कविता।ये सुनकर वो मुझसे चिपक गई।3 बज चुके थे। उसके बाद हम सो गए।तो दोस्तो, ये थी मेरी सच्ची कहानी। आप यकीन कीजिये इसमें सिर्फ नाम बदले है। बाकी सब कुछ रियल है।अगले दिन मैं अपने हॉस्टल चला गया.देसी बीएफ सेक्सी हिंदी: अंजलि फिर से गर्म हो गयी और मेरा लंड पकड़कर अपनी चूत के दाने पर फेरने लगी और मुझसे चोदने के लिए कहने लगी। मैंने अंजलि को उठाया और उसे सोफे पर ले गया।सोफे पर बैठकर मैंने अंजलि की टांगों को दोनों तरफ किया.

सर ने चकित होकर कहा- आह्ह … मेरी नीता रानी, क्या लग रही हो आज तुम!ये कहकर मेरे माथे पर किस किया.वो हंस दिया और बोला- शुक्ला जी, आज किधर झंडा गाड़ना है?मैंने कहा- अभी तो डंडा मजबूत करने का विचार है बेटा … यदि कोई फील्ड न मिली तो तेरे पास ही आ जाऊंगा.

मोर की दुल्हन - देसी बीएफ सेक्सी हिंदी

बाल बिखरे हुए थे और सांसें तेजी से चल रही थीं। मैं कुछ बोलती इससे पहले ही उसने मेरा हाथ पकड़ा और घर की ओर चल दी।घर पहुंचकर हम दोनों ने राहत की सांस ली। तब मैनें आश्चर्य जनक तरीके से रूपा से पूछा- क्या हुआ बता? तेरे बालों को क्या हुआ? तू हांफ क्यों रही थी? तुझे इतना ज्यादा पसीना क्यों आ रहा है?वो बोली- चुदाई की है इसलिए पसीना आ रहा है.आपको मैंने पिछली सेक्स कहानी में बताया था कि मैं अपनी दीदी के घर जाती रहती थी.

तभी चम्पा ने पीछे से आकर सुंदर के गालों पर अपने हाथ रख दिए और सुंदर के गालों को अपने लाल रंग से रंगे हाथों से रंगने लगी. देसी बीएफ सेक्सी हिंदी कभी वो मेरे ऊपर तो कभी आजू-बाजू लेट कर चुदाई करते हुए हमें काफ़ी देर हो चुकी थी.

तभी अम्मी मेरे पास आई, तो मेरी फट गई कि कहीं दीदी ने अम्मी को तो कुछ नहीं बता दिया है.

देसी बीएफ सेक्सी हिंदी?

नेहा- मुझे नंगी कर दीजिये और जो देखना हो देख लीजिये … मेरा सब आपका है जान. वो जाने लगी और बोल कर गई कि जब तक मैं आपको आवाज़ देकर न बुलाऊँ तब तक आप यहाँ बैठिये. मैंने उसके मोबाइल को देखने के बहाने उसके अब्बू का और उसकी अम्मी का whatsapp नम्बर अपने मोबाइल में ट्रान्सफर कर लिया.

उसको पढ़ कर मुझे उम्मीद है कि सब भाई लोग हाथ से लंड हिलाना शुरू कर देंगे. चूत तो चुद ही चुकी थी इसलिए गांड चुदाई से भी परहेज नहीं किया मैंने।होटल के मैनेजर ने मेरी चूत और गांड को एक एक बार अच्छे से कूटा और फिर मेरे ऊपर लेटे लेटे मेरे बदन से खेलता रहा. पापा को ये बात जंच गई और मेरे ना नुकुर करने के बावजूद मुझे जबरदस्ती तैयार करवा कर अंकल के साथ में भेज दिया.

पर इसलिए कि अव्वल तो 35-40 अलग अलग आदमियों ने उसका भरपूर इस्तेमाल किया था. दरअसल उस दिन के बाद से मैं सर से ज्यादा बात नहीं करता था क्योंकि मेरी हिम्मत नहीं होती थी. सनी मुझसे मिलने की मिन्नतें कर रहा है … और कुछ मैसेज में वो तेरी ही तारीफ कर रहा था.

जल्दी से अपनी बेटी की चूत दिला नहीं तो मैं तेरा वीडियो इंटरनेट पर डाल दूंगा. जब मैं कुछ नहीं बोला तो उसे लगा कि शायद मेरा लंड नींद में ही खड़ा हो गया.

मैंने भी भाभी को गाली देते हुए कहा- हां ले न भैन की लौड़ी … ले चुद मादरचोदी … भोसड़ी की … आह खा मेरा लंड.

इस पर दीपक जी बोले- अरे भाभी मैंने कई बार रिया से बात की, लेकिन वो नहीं मानी.

मैं शाम को बाइक लेकर चाची के घर चला गया और वहां से उन्हें मेहँदी के कार्यक्रम में ले गया. मैं उसके ऊपर वाले होंठ को अपने मुंह में लेकर चूस रहा था। एक हाथ से मैं उसकी चूचियों को उसके सूट के ऊपर से ही दबा रहा था।लगभग 5 मिनट तक उसके होंठों को मैं चूसता रहा। उसके होंठों को चूसने के कारण उसके होंठ इतने लाल हो चुके थे कि लगने लगा अब इनमें से खून ही निकल आयेगा. एक मिनट बाद आंटी भी मेरे लौड़े को लोअर के ऊपर से फिर से दबाने लगी थीं.

उसने मुझे जोर से जकड़ लिया और फिर आँखें बंद करके सिसकारियां लेते हुए झड़ गयी. रवि एकदम से हड़बड़ा गया और उसके मुँह से निकला- ये क्या कर रही हो भाभी?जेठानी जी- कुछ नहीं देवर जी, तुम बस मुझ पर विश्वास रखो और जब तब लंड से पानी ना निकल जाए, तब तक कुछ मत बोलो प्लीज़. मैंने आधा दूध उसे भी पिलाया और उसके माथे पर किस करके उसके साथ फिर से चुदाई करने का वादा किया.

तीस सेकंड बाद मैं ऐश्वर्या के ऊपर से हट गया और कंडोम को डस्टबिन में फेंककर उनके पास लेट गया.

वो मेरी नाभि में जीभ घुसा रहे थे और उनकी कोहनी मेरे स्तनों को दबा रही थी. लंड का माल पीने के बाद मैं उठकर सोफे पर बैठ गई।हम दोनों एक-एक बार झड़ चुके थे और सोफे पर निढाल होकर पड़े थे।आपको कहानी कैसी लग रही है? आप मुझे ईमेल करके बता सकते हैं. उस वक्त तक काफी शाम हो चुकी थी।वह नीचे अपने कमरे में चली गई और मैं फ्रेश होकर बाजार घूमने के लिए निकल गया। दोस्तो, इसके बाद जब तक मेरे घर वाले नहीं आये तब तक रोज मैंने उसकी चूत मारी.

अंजलि मदहोश होकर बड़बड़ा रही थी- आह्ह … जोर से दबाओ … आह्ह जान … बहुत मजा आ रहा है, चूस लो आज इनका पूरा रस।अब एक हाथ मैंने अंजलि की लोवर में डाल दिया और उसकी चूत को सहलाने लगा. इस काल्पनिक कहानी के पहले भागहाई प्रोफाइल लेडी की सेक्स कहानी- 1में अब तक आपने पढ़ा था कि ससुर जी अपनी बहू ऐश्वर्या को चोदने की तैयारी कर रहे थे. मैं- मम्मी आज के बाद कभी भी मैं आपको चोद सकता हूँ न!मम्मी बोलीं- हां मेरे राजा … तू जब चाहे चोद लेना, मैं तो तेरे लंड की दीवानी हो चुकी हूँ.

कुछ देर ऐसे करने के बाद मैंने उनकी ब्रा और पैंटी दोनों को खोल दिया.

मैं नीचे से उसका लंड अपनी चूत की फांकों में फिट करवा रही थी और वो मेरी एक चूची को अपने होंठों में दबा कर चूस रहा था. मैं भी शांत हो गयी थी और बाबूजी मेरी चूचियों में मुंह देकर लेटे हुए थे.

देसी बीएफ सेक्सी हिंदी मैं जितना उठने का कोशिश करती, वो उतना जोर से मेरे चुचों को कस कर पकड़ लेते और नीचे से जोरदार धक्का लगा देते. चुदाई के बाद हम दोनों ऐसे सामान्य व्यवहार कर रहे थे … मानो हमारे बीच कुछ नहीं हुआ था.

देसी बीएफ सेक्सी हिंदी उसको पागल कर दिया मैंने चुदने के लिए।वो चूमते हुए मेरे पेट तक पहुंची और फिर नीचे मेरे लंड को मुंह में लेकर जोर जोर से चूसने लगी. वो हां करने लगीं, तो वे दोनों मेरी मां को गर्मी के मौसम होने के कारण अपने खेत में ले गए.

मैं वादा करता हूं कि आप और जिया मेम के बीच में जो पति पत्नी का रिश्ता है उस पर भी कोई असर नहीं आयेगा.

হিন্দি বিএফ হিন্দি বিএফ হিন্দি বিএফ

जैसे ही ब्रा उसके सीने से अलग हुई तो उसके बूब्स एकदम से बाहर आकर चमकने लगे. उस रात विशाल घर आया, तो मैंने उससे कहा- विशाल मुझे अकेले सोने में डर लगेगा. सुपारा अन्दर होते ही शैली चिहुंकी जरूर लेकिन उसके होंठ मेरे होंठों में फँसे हुए थे और कमर को मैंने जकड़ रखा था इसलिए वो कसमसा कर रह गई.

योगेश जी को भी पता चल गया और उन्होंने हंसते हुए मुझे कार के लिए बधाई दी. मैंने बोला- और नजमी?जुबैदा से पता चला कि नजमी को बुखार है और वो दवाई खा कर सो रही है. तो मैं चाहती थी कि हम कई बाहर ही किसी होटल में मिलें जहां मैं पति के डर के बिना खुलकर गैर मर्द के लंड से अपनी चूत की प्यास बुझा सकूं!मैं और अजय कैब से होटल की और चल दिये.

मैंने कहा- बिना कपड़ों के ही?वो बोली- अब कपड़े डालने के लिये बचा ही क्या है, सब तो कर लिया तूने।फिर मैं बोला- कुछ तो पहन लो.

पूरे रास्ते में आकाश मेरी गांड पर लंड सटाये रहा और शेखर मेरी चूचियों पर अपनी पीठ को रगड़ता रहा. उसने पहली बार मना किया, मगर मैंने लंड घुसाए रखा, तो वो धीरे-धीरे लंड चूसने लगी. फिर जीजा जी ने जैसे ही अपना मूसल लंड चुत पर रखा तो स्नेहा ने कमर हिला दी और निशाना चूक गया.

उसके बाद अजय ने बाथरूम में ले जाकर नहाते हुए मेरी एक बार चूत और एक बार गांड मारी. फिर मेरे पूछने पर वो शादीशुदा लड़की बोली- मेरा बेटा एक साल का ही हुआ है और वो अभी मेरे पति के पास है. सुनीता ने बताया कि उसकी ननद ट्यूशन के लिए गई है और उसे आने में 2 घंटे लगेंगे.

फिर माया दीदी मेरे भाई का लंड चूसते हुए ऊपर आ गईं और वो राज के निप्पल चूसने लगीं. एक साथ उंगलियां चूसते हुए हम दोनों के होंठ आपस में टकरा रहे थे और हम एक दूसरे के होंठों को भी चूस लेते थे.

इतनी उत्तेजना बहुत दिनों के बाद महसूस की थी मैंने। बस अब मेरा पानी निकालने ही वाला था। उतने में मेरा संतुलन बिगड़ गया और मेरा हाथ धाड़ से बेड पर लगा. अब इतने लम्बे चौड़े हब्शी से चुदवाने के लिए दारू का सहारा तो जरूरी था ही. आखिरी में तो बहुत जल्दी मेरा लौड़ा ढीला हो गया था, लेकिन इस बार करीब 5-7 मिनट मेरा लौड़ा हार्ड रहा और फिर धीरे-धीरे मेरा लंड एक तरफ लुढ़क गया.

मैंने उनकी चिकनी चुत पर लंड रगड़ दिया, चुत की फांकों में सुपारे ने अपनी हनक दिखा दी थी.

जिस दिन वो मेरे गांव आया, उस दिन मैंने कॉलेज की छुट्टी मार दी और उसके साथ चली गयी. यह सब सुनकर मैं और एग्ज़ाइटेड हो रही थी और उनके चुचों में दांत भी काट रही थी. फिर तुरंत प्रभाव से मैंने मामी जी के ब्लाउज के हुक खोल दिए। मामी जी ने अंदर ब्रा भी पहन रखी थी.

मैंने उनसे पूछा- क्या आप भी क्या उंगली करती हो … क्या मौसा जी आपको संतुष्ट नहीं करते हैं?तो उन्होंने कहा- वो करते तो हैं … पर 6 महीने में एक बार घर आते हैं. जैसे ही मैं गली में चलने लगा तो थोड़ी दूर चलने के बाद मुझे आंटी दिखाई दे गईं.

मैं मुम्बई में एक कॉल सेंटर में काम करता हूँ। मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूं. मेरी बेटी का फिगर 34 – 30 – 36 का है और वो बहुत ही ज्यादा सेक्सी दिखती है. मगर दिक्कत ये थी कि वो ऐसी जगह रहता था जहां पर केवल ऑटो ही जाते थे.

वीडियो सेक्सी वीडियो में

उसने मुझे फोर्स करके पलटा और मुझे पेट के बल कर दिया और मेरे चूतड़ों पर हेयर रिमूवर क्रीम लगाने लगा.

उसके पापा सब्जी बेचा करते थे और उसका भाई अपने पैसों से उसकी पढ़ाई का खर्च उठाता था. कांति को मैंने कार में ही छिपा रखा था। प्लान के मुताबिक वो अपने घर ये बोल कर आई थी कि वो किसी सहेली के यहाँ जा रही है और अगले दिन आएगी।ऑफिस खाली हो गया. सर बोले- ठीक है, लेकिन फिर मुझे क्या मिलेगा?मैंने कहा- जो आप कहोगे वो मैं सब कुछ करूंगी.

अब अविकार से माँ बेटा सेक्स स्टोरी जानिए:दोस्तो, मेरा नाम अविकार है. एक तरह से अगर देखा जाए, तो मोहित अंकल को लग रहा था कि मुझे गांड मरवाना पसंद आ रहा है … और मैं उनके लंड को पसंद करने लगा हूँ. मां बेटे की नंगी सेक्सीलेकिन मैंने थोड़ी सब्र किया जिससे उनमें से कोई पहल करे!और ऐसा ही हुआ।कुछ ही देर में पीछे से मास्टर ने मुझे छोड़ कर अपना लंड सहलाने लगा। प्रिंसीपल भी मेरे जिस्म के साथ बहुत खेल चुका था.

मैंने उसके कमरे में झांक कर देखा तो पाया कि सलमा पूरी तरह से नंगी थी. जिससे ऐश्वर्या की सांसें तेज होने लगीं और वो भी मेरा साथ देने लगीं.

चाची ने मुझे कई बार चूमा और मैंने भी बदले में उन्हें कई बार चूमा। चाची की चुदाई के बाद हम दोनों बहुत खुश थे. मेरी फिर समझ में नहीं आया कि ये सब जेठानी जी को क्यों याद कर रहे हैं?मैंने उन दोनों को भी स्नेहा के रूम में बैठा दिया और उन्हें भी चाय-नाश्ता दिया. इंडियन चुदाई गर्ल स्टोरी में पढ़ें कि मैं अपने बॉयफ्रेंड से चुद कर चुदाई का मजा ले चुकी थी.

उसकी नंगी पीठ को रगड़ते हुए उसके मुँह के अमृत को चाट रहा था और होंठों को चूस रहा था. दीपक जी के पास एक स्लिम सा लड़का बैठा था, वो रवि की उम्र का ही लग रहा था. चाचा ने मां के सूट को ऊपर उठा दिया और मां की मोटी भारी भरकम गोरी गांड मुझे दिखने लगी.

मेरी सब सहेलियां अपने बॉयफ्रेंड के लंड की तारीफ किया करती थी और मैंने कभी किसी लड़के का लंड देखा तक नहीं था.

वैसे अनु की ओर से भी यही लग रहा था कि वो भी अब आगे बढ़ना चाह रही थी लेकिन मेरा यह पहली बार था इसलिए मैं बहुत फूंक फूंक कर कदम रख रहा था. अब मेरे हाथ मामी के ब्लाउज पर पहुंच गये जिसमें उनके रसदार, शानदार, यौवन से भरपूर स्तन दबे हुए थे.

मैंने तुरंत उनकी गर्दन में हाथ डाला और उनके होंठों को चूसना शुरू कर दिया. इस तरह से उसने मुझे अपने ऊपर खींच लिया और मेरे होंठों को जोर से चूसने लगी. इतने में आकाश बोला- कल रात तो बहुत नाटक कर रही थी।सास बोली- कल तुम दोनों जबरदस्ती कर रहे थे तो गुस्सा आ रहा था इसलिए भगा दिया तुम्हें.

मगर अभी भी लंड जब अंदर तक जाता तो मेरी जान निकल जाती।अब कुछ कुछ मुझे अच्छा लगने लगा और मैं अपने बदन को ढीला छोड़ने लगी थी. मुकेश ने क्रीम मेरी जांघों और पैरों पर डाल दी और तेल की तरह मालिश करके लगा. शिप्रा जैसे ही रॉड नीचे करती, तो मेरे हाथ की उंगलियां उसके बूब्स से टच हो जाती थीं.

देसी बीएफ सेक्सी हिंदी उससे बात किये बिना ऐसा लग रहा था जैसे कि मेरी चुदाई खाली ही रह गयी हो।तो दोस्तो, प्रिया से आपने सुना कि उसने कैसे अपने बॉयफ्रेंड से चुदवाई. अगर मैं अपने बारे में बात करूं तो मेरी शादी के समय मैं काफी स्लिम थी.

एक्स एक्स एक्स एक्स वीडियो चुदाई

मैं- मैं आपसे कुछ जाती सवाल करूंगा … इससे आपको कोई आपत्ति तो नहीं है न!नताशा- अगर आपत्ति होती तो में यहां पर कभी नहीं आती. रवीन्द्रनाथ ने घर में आते ही मेरी मां को अपनी गोद में बैठाया और उसके होंठों को चूसने लगे. फिर रंग लगाने के बहाने से चाचा ने मेरी मां के स्तनों को भी दबा दिया.

मैं और आकाश सर आपस में एक दूसरे के साथ बातें कर रहे थे कि इतने में ही जिया मेम भी बाहर आ गयीं. मैंने उससे कहा- रस्तोगी साहब मुझे आप अपने 10-12 दोस्तों के नाम और नम्बर दे दीजिए. स्कूल सेक्सी गर्ल्सवो झिझकते हुए बोल रही थी- भाईजान, आप प्लीज़ इस वीडियो को किसी को मत दीजिए.

वो बोला- तू भी चल ना?मैं बोला- मैं क्या करूंगा? मुझे पेशाब नहीं लगी है, मैं नहीं चल रहा.

मैंने मुंह के वीर्य को साइड में थूक दिया और गांड में फिर से वीर्य भर गया. हमारे बीच में सिर्फ एक लड़का अरबाज था और बाकी बहुत सारी लड़कियां थीं.

अगले दिन मैंने योगेश जी से कह दिया कि मैं होटल पूनम में नहीं जाऊंगी दोबारा. तो ध्यान रहे कि तुम्हें सावधानी के साथ ही टाइम का ख्याल भी रखना है जो तुम्हारे पास केवल 9 मिनट के रूप में है. जीजा जी ने विशाल से कहा- विशाल, जाओ डिम्पल के साथ चले जाओ और इसे इसके हॉस्टल तक छोड़ आओ.

मैंने पूछा कि कोई कॉन्डम तो इस्तेमाल कर ही नहीं रहा था, किसी को गर्भ ठहर गया तो?उसने बताया कि जूस में गर्भ न ठहरने की दवा मिली होती है.

आखिर में उन्होंने अगले दिन फिर जाने को कहा और मुझे योगेश जी की हर बात मानने को कहा. कुछ धक्कों के बाद उसने अपने एक हाथ को आगे बढ़ाकर रानी की एक चुची को लपक लिया और दबाने लगा. अब मेरी बीवी ने धीरे धीरे अपनी आंखों को खोला और मुझे देख कर मुस्कुराई.

जीने की सेक्सीतभी कुछ देर बाद अंजलि ने मुझसे पूछा- जब मैं घर आई थी, तब तू मुझे घूर घूर कर क्यों देख रहा था. और मैं भी यही चाहती थी कि कोई मर्द हो जिस पर मैं दिल से भरोसा कर सकूं.

क्सक्सक्सन वीडियो

मुझसे रहा नहीं गया और मैंने एक स्टूल लगाकर उनके कमरे के रोशनदान से अन्दर झांकने की कोशिश की. जब आएंगे तो तेरे को फोन करेंगे, तू अमिता को सुबह हमारे होटल पहुंचा देना और शाम को आकर ले जाना. जब उन्होंने मेरा नाम लिया और पूछा- आप वही हो?मैंने उनसे बोला- आंटी मुझे उन्होंने भेजा है.

मैंने अंतिम क्षणों में अपना लंड बहन की चूत से एकदम से बाहर निकाल लिया और अंजलि के पेट पर अपना माल निकाल दिया. मैं बहुत गर्म हो गई थी। मुझे फिर उसके लंड को चूसने-चाटने की तलब लगी। मैंने खुद को उससे छुड़ाया और उसे सोफे पर पटक दिया। वो सोफे पर जा गिरा और मैं नीचे बैठ गई. आपको यहां बता दूँ कि लड़की को ज्यादा मज़ा तब आता है, जब उसकी चूत के क्लाइटोरिस को जीभ से छेड़ा जाए.

मां ने उनसे बड़ी निडरता से कहा- अब ऐसा दोबारा हरकत करने आओगे, तो पापा से बताकर पिटवाऊंगी. माया दीदी ने हंसते हुए मेरे भाई का लौड़ा पकड़ा और बोलीं- क्या मस्त लौड़ा है तेरा. जिससे उसकी चूत खुलकर मेरे सामने आ गई और मैंने अपनी जीभ सीधे उसके छेद में डाल दी.

एक तो दिव्या के बारे में मैं पूरा आश्वस्त नहीं था कि कब उसको कुछ बुरा लग जाये और वो कहीं मेरी मां को इस बारे में न बोल दे. थोड़ी देर में जब जेठानी जी आ गईं तो उनके हाथ में एक बड़ा सा बैग था.

स्वीट Xxx गर्ल स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैंने पड़ोस की कमसिन लड़की की अन्तर्वासना को जगाकर उसे चुदाई के लिए तैयार किया, फिर उसकी सील तोड़ी.

ये हमारे लिये सब कुछ करेगा लेकिन इसकी शर्त है कि ये तेरे साथ सुहागरात मनायेगा. ससुर बहू की सेक्सी वीडियोसमैं शाम को बाइक लेकर चाची के घर चला गया और वहां से उन्हें मेहँदी के कार्यक्रम में ले गया. घोड़ी बनाकर चोदने वाली सेक्सी वीडियोउन दोनों के घर से निकलते ही मैंने देखा कि कुछ देर बाद एक लड़का धीरे से सलमा के घर में घुस रहा था और उसने अन्दर जाते ही गेट बंद कर दिया. वो जाने लगी और बोल कर गई कि जब तक मैं आपको आवाज़ देकर न बुलाऊँ तब तक आप यहाँ बैठिये.

पहले ही दिन मुझे कोचिंग में एक कॉलेज गर्ल मिली, जिसका नाम नम्रता था.

उसके बाद कई बार मैंने उसको अपने रूम पर बुलाया और बिना कॉन्डम लगाये हर पोज में कई बार पेला. मेरी बेटी आगे को आई तो उसने मेरी बेटी की गांड पर हाथ घुमाते हुए बोला- सब चाहिए … ठंडा गर्म नमकीन सब. यह एक बहुत बड़ी कहानी है जिसमें आपको बहुत सारे ट्विस्ट देखने को मिलेंगे.

मैंने उनको पहन लिया और मेरे बदन में बहुत ही खुशनुमा अहसास होने लगा. मैं काम से घर लौटता था और खाना खाने के बाद जब बेड पर पहुंचता तो मेरी बीवी राहुल को फोन करने के लिए बोलती. मैंने पहले कभी किसी लड़की या महिला के साथ सेक्स नहीं किया था इसलिए समझ नहीं आ रहा था कि अपने बारे में क्या बताऊं.

चूत मारते हुए सेक्सी वीडियो

तभी चम्पा मस्ती करने लगी और बोली- क्यों हीरो … नीचे रंग नहीं लगाएगा. उसके बाद क्या था … दीदी भी सोच मैं पड़ गईं कि मैं उनके बारे में क्या सोचता हूं. और वो अपने दोनों हाथों से मेरी चूत के फलकों को फैलाते हुए अपनी नुकीली जीभ को चूत के अंदर बाहर करने लगा.

तब तक तुम अच्छे से काम समझ लेना। ठीक है?मैंने हां में सिर हिला दिया।उसने आगे कहा- तो आज फिर एक बार तुम्हें प्यार करना है।मैंने पूछा- तो कब आऊं?उसने कहा- नहीं, मुझे यहीं करना है। अभी 3 घंटे बाद मेरी फ्लाईट है.

इस बार मम्मी अपनी गांड उठा उठा कर मेरा साथ दे रही थीं, साथ ही गाली भी दे रही थीं.

तभी मौसी ने मुझे बीच में ही रोका और वो जल्दी से किचन में नंगे ही जाकर एक खीरा ले आईं. जेठानी जी की चुत तो देवर जी ने ही मारी, लेकिन गांड के छेद को तो सभी ने बारी बारी से चोदा. वीडियो सेक्सी वीडियो सेक्सी हिंदीआपको मेरी ये कहानी कैसी लगी, मुझे ज़रूर बताएं। सेक्सी देसी आंटी स्टोरी पर कमेंट्स में अपने विचार बतायें या फिर मुझे मेरी ईमेल पर मैसेज करें.

नजमी खाना खा कर किचन में बर्तन रखने गयी थी और मैं अभी कोई रिस्क नहीं लेना चाह रहा था. पीछे दीवार से गुदा टकराने के कारण पट-पट की आवाज बाथरूम को गुंजा रही थी. मैंने कहा- जब तेरी अम्मी रजामंद थी, तो उसे भगाया क्यों था?सलमा बोली- शायद वो अम्मी को खुश नहीं कर पाया था.

नजमी ने मेरे पूरे वीर्य को पीने के बाद मेरे लंड को मुँह में लेकर चाट चाट कर साफ़ कर दिया. उनका लंड पूरी तरह से खड़ा था और लंड का सुपाड़ा सांप के फ़न की तरह फुंकार मार रहा था। मैं भी अपना सपना पूरा होते देख बहुत खुश हो रही थी.

जेठानी जी की चुत तो देवर जी ने ही मारी, लेकिन गांड के छेद को तो सभी ने बारी बारी से चोदा.

उसका नाम गुड़िया (बदला हुआ) था।दिखने में वो थोड़ी सांवली सी थी लेकिन अगर उसका फिगर कोई देख ले तो बस मुठ मारे बिना नहीं रह पाये. अगर पता होता तुम्हारा इतना तगड़ा लंड है, तो तुमसे ही चक्कर चला कर शादी कर लेती. लंड घुसवाते ही नम्रता चिल्लाने लगी- आंह … मेरी फट गई … मुझे दर्द हो रहा है … जल्दी बाहर निकालो.

बिहार की लड़की का सेक्सी अब मुझे थोड़ा अच्छा लगने लगा था और आराम के साथ साथ मजा भी आने लगा था. और जब फिल्म की शूटिंग शुरू हुई तो मुझे पता चला कि यह तो …कैसे हो साथियो? मैं पदमा मैत्री अपने हिरोइन बनने की कहानी का अंतिम भाग आपको बताने आई हूं.

कुछ देर ऐसे ही मेरे चूचे और चूत सहलाने के बाद उसने फिर पेटीकोट के अंदर-ही-अंदर मेरी पैंटी को थोड़ा साइड में कर दिया. मैं भी शांत हो गयी थी और बाबूजी मेरी चूचियों में मुंह देकर लेटे हुए थे. मीना ने अपनी सासु मां से कहना शुरू किया- मम्मी जी, मुझे भी इनके लंड से चुदाई करवा दो.

सेक्सी वीडियोएक्सएक्सएक्स

मामी के जिस्म की गर्मी लगातार बढ़ रही थी और उसके हाथ मेरे लंड को ढूंढने लगे थे. अगर ऐसा हो गया, तो हम इन दोनों बहनों स्नेहा और रिया को गांड चुदाई का मजा भी दे सकते हैं. अंकल ने तुरंत ही पापा को हां कह दिया और फिर अपने घर चले गए।अगले दिन फिर जल्दी सुबह होते ही पापा चले गए और मैं घर पर अकेली रह गई। सुबह 9 बजे से बार बार मैं आंगन में जाकर अंकल के दरवाजे की तरफ देखती रही।उसके कुछ देर के बाद अंकल बाहर आये और मुस्कराते हुए मुझसे बोले- सोनम, अब तो तुम्हारे घर पर कोई नहीं है और तुम बिल्कुल अकेली हो.

जब तक मैं उन दोनों के पहुंचा, तब तक शुभम नम्रता को नंगी कर चुका था और वह उसे किस कर रहा था. उसके बाद हम दोनों साथ में नहाए और बाथरूम में भी एक जल्दी वाला राउंड खेला.

रजनी ने भी अपनी चूत में उंगली करना शुरू कर दिया और हम दोनों बहुत गर्म हो गये.

मैंने वो प्रेम पत्र उनके हाथ में थमा दिया और उन्होंने वो बिना पढ़े ही अपनी शर्ट की जेब में रख लिया. उस वक़्त उसने एक महरूम कलर की नाइटी पहनी हुई थी, जिसमें से उसके मम्मों की लकीर साफ दिख रही थी. मैंने उसको अपने पैरों के पास बैठा कर अपने लंड उसके मुँह में डाल दिया और बोला- लंड चूसो.

उसकी टांगों को फैला कर मैंने उसकी चूत पर मुंह रख दिया और उसकी कमसिन कुंवारी चूत को चूसने लगा. किंतु ये मज़े के आँसू थे। फिर वीर्य निगलने के बाद दीदी ने लंड को बाहर निकाल दिया. और एक औरत करे तो समाज उसे रंडी कहकर बुलाता है?ऐसा क्यों???यह समाज का दोगलापन कब तक सहन करेगी हम औरतें?क्या कभी किसी सेक्सी औरत के पति ने उसकी पत्नी के दिल की बात जानने की कोशिश की है कि उसकी क्या ख्वाहिश है?खैर मैं अपनी भाभी की जवानी की कहानी पर आती हूँ.

उसके मुंह से सिसकारियां निकलने लगीं- आह्ह … आह्ह … ऊंह्ह … आह्ह … आराम से … दर्द हो रहा है जान।मैं एक हाथ से उसके बूब्स दबा रहा था और उसके निप्पल को मुँह में लेकर चूस रहा था.

देसी बीएफ सेक्सी हिंदी: दीदी ने मुझे फोन किया और बोलीं कि मुझे डॉक्टर एडमिट होने के लिए कह रही हैं. आपको भी अजय जैसा कोई और अच्छा लड़का मिल सकता है जिस पर आप भरोसा कर सकती हो!और मेरे बाकी प्रशंसकों को मेरी भाभी की जवानी की कहानी कैसी लगी मुझे ईमेल करके जरूर बताना.

इन सब बातों से मेरे लंड का तनाव बढ़ता ही जा रहा था और मुझे अब हर हाल में दीदी की चुत में अपना लंड पेलना ही था. फिर वो भी आगे खिसक कर अपने लंड को मेरी चूत के सामने ले आये।उन्होंने अपने लंड को हाथ में लेकर मेरी गीली चूत के मुँह पर रखा और अपने बड़े सुपाड़े को चूत की फांक में ऊपर नीचे करके रगड़ने लगे।मैं सिहर उठी और मैंने अपने दाहिने हाथ को नीचे ले जाकर भैया के लंड को पकड़ कर अपनी चूत के मुँह पर रखा और खुद ही नीचे सरक गयी. सर बेड से बाहर था। उसने इस पोजिशन में लंड डालना शुरू किया और मेरे निप्पल चूसने लगा।वो मेरा निप्पल चूसने लगा और अपना लंड मेरे मुंह में पेलने लगा.

सुबह बीवी से फ़ोन पर बात करने के बाद मैंने बोल दिया कि मैं थक गया हूँ, इसलिए अब सोने वाला हूँ.

रात को मैंने ससुर जी को खाना दिया और फिर नहाने के लिए मैं बाथरूम में घुस गयी. मैंने फिर से पूछा- और दारू?वो हंस कर बोली- नीचे मामू का दारू का गोदाम है … जब अम्मी का मन होता है तो मैं अम्मी के लिए ले आती हूँ. कमरे में पहुंच कर रूपा ने मुझे एक क्रीम दी जिससे चूत के बाल साफ करते हैं.