बीएफ पिक्चर बीएफ एचडी

छवि स्रोत,मदर्स+डे+

तस्वीर का शीर्षक ,

चूत चोदने वाला बीएफ: बीएफ पिक्चर बीएफ एचडी, ऐसे जवान मर्द बड़ी मुश्किल से मिलते हैं और वह तो किसी गांव का ठाकुर लग रहा था… उन्हें तो लड़कियाँ ही आसानी से मिल जाती हैं, फिर लड़कों की क्या जरूरत… और वह लड़के से सेक्स करना गांडूपन भी मानते है इसलिए मुझे जो मौका मिला था उसे मैं सौभाग्य मान रहा था और उसे भी पूरा मजा देना चाहता था.

साड़ी वाली चुदाई वाली

मामा ने मुझसे पूछा- क्या सरप्राइज़ है?तो मैं बोली- आपको अपने आप पता चल जाएगा. सेक्स विद्या बालननताशा मेरे और स्वान के बीच अपनी दाईं करवट लेट गई और बायाँ पैर थोड़ा सा फैला दिया जिससे कि मुझे उसकी चूत में धक्के लगाने में आसानी हो.

अगले 9 दिनों तक मैंने चाची को किचन में, बाथरूम में, छत में, टायलेट में… हर जगह चोदा. डोली में गोली मार देमैंने अपने पुराने फोर्मूले अपनाए, और 10 दिन बाद वो लड़की मुझे होटल में मिलने आई, जहां मैंने उसकी अच्छी ठुकाई की.

मैंने कहा- मैंने तुम्हारे साथ सपने में और क्या किया?तो उसने कहा कि तुम बहुत सेक्सी हो.बीएफ पिक्चर बीएफ एचडी: गुलशन जी वहां से चले गए और दुकान से अपना काम निपटा कर वो घर चले गए.

फिर मेरी बहन और पूजा दोनों मेरे रूम में आ गई और हम सब टी वी देखने लगे, पूजा और मेरी बहन बेड में लेट गई और मैं साइड में बैठ गया.मैंने उसके मम्मे चूसने शुरू कर दिए और एक हाथ से उसकी गांड सहलानी शुरू कर दी.

यूट्यूब स्टूडियो डॉट कॉम - बीएफ पिक्चर बीएफ एचडी

प्राची भाभी ने कहा- पूरे खानदान की छोड़ … पहले मुझे तो संतुष्ट करके बता.हो सकता है ये असली कालगर्ल्स के नंबर हों या किसी ने किसी लड़की को परेशान करने के लिए उसके असली नम्बर शहर के नाम के साथ लिख दिए हों.

मैंने अपना मास्टर स्ट्रोक खेला और उसको बोला- चल अब बहुत देर हो गई है. बीएफ पिक्चर बीएफ एचडी चलिये अब कहानी पर चलते हैं, जैसा कि शीर्षक से ही लग रहा है कि चूत की भरमार है इस कहानी में.

कुछ देर यूँ ही चोदते हुए उन्होंने कहा- अब मैं तुम पर सवारी करना चाहती हूँ.

बीएफ पिक्चर बीएफ एचडी?

फिर मैंने एक और ज़ोर का धक्का दिया और मेरा आधा लंड उसकी चूत में समा गया. सविता भाभी ने जब ये कहा तो प्रेम ने सविता भाभी की जांघ पर हाथ रखते हुए उन्हें समझने की कोशिश की कि ये माल किस हद तक पट सकता है. मैं- ठीक है मेरी जान… अह्ह्ह अह्हह्ह!फिर चाची बोली- इतनी देर हो गई… जल्दी कर, मैं थक गई… साले पर तेरा लंड अभी तक नहीं थका है.

अब आगे:उस दिन सुबह आठ बजे मेरी नींद खुली तो देखा नग्न माला मेरी ओर करवट किये मेरी बाएं बाजू पर सिर रखे सो रही थी और उसके दोनों उरोज मेरे सीने से चिपके हुए थे. पल भर मुझे लगा कि इस नीग्रो से चुदवा कर मैंने जिंदगी की सबसे बड़ी गलती कर दी. सविता को प्रेम के बारे में मालूम था कि वो ख़ास उनकी शादी के लिए विदेश से भारत आया है.

मैं उनकी चूत को चूसते चूसते इस तरह हो गया कि 69 पोजीशन में आ गया अब उनका जादू शुरू हो गया।उन्होंने मेरे लंड को पहले सहलाया, उसके बाद उस पर पता नहीं कुछ लगाया, शायद शहद ही होगा. सब के सब फिर पूल में दाखिल हुए और वहाँ चुदाई का एक और आखरी दौर चला!जब हम दोनों ने तैयार होकर चलने की सोची तो लड़कों के चहरे पे ऐसे भाव थे कि उनकी पसंदीदा चीज कोई उनसे दूर ले जा रहा था. यहाँ मैं आपको थोड़ा रुक कर नताशा के एक शानदार जिमनास्ट होने के बारे में बताना चाहूँगा… मेरी पत्नी बचपन से ही जिम्नास्टिक की खिलाड़िन रही है और स्कूल में पढ़ते हुए उसने जिम्नास्टिक में पारंगता हासिल कर ली है.

उसका एक हाथ अपनी चूत की मालिश कर रहा था और वो अपने होंठों पर अपनी लाल जीभ फिरा रही थी जैसे वो मेरा लंड चूसना चाहती हो. जाने से पहले एक दिन दोनों ने करीब आधा दिन ब्यूटी पार्लर में बिताया, बदन को चमकाया, घर आकर चुत को चिकना बनाया और फिर रात के दो बजे की फ्लाईट से हम दोनों कोह फांगान के लिए रवाना हो गयी.

फिर वो दोनों आगे आये और बेड पर नंगी लेटी हुई पूजा की तरफ देखने लगे.

फिर मैंने भाभी के होंठों को चूसना शुरू किया और उनकी चुची को दबाने लगा.

अचानक उन्होंने खूब जोर से मुझे नीचे को दबाकर अपना लिंग मेरी योनि में अन्दर तक ठूंस दिया और फिर रुक गए. वो भी गांड उछाल-उछाल कर चुदाई में साथ दे रही थी।करीब 15 मिनट बाद वो झड़ गई और मुझसे लिपट गई, अब वो मुझसे कहने लगी- ऐसा मेरे साथ पहली बार हुआ है. वो आते ही बेड पर मेरे ऊपर लेट गई और मुझे जोर से बाहों में भींच लिया.

तो अब बोल तू क्या बोल रहा था?मॉंटी- दीदी अपने बताया नहीं, उस रात दीदी नंगी क्यों थीं और वो रस क्या था?टीना- मेरे सोना. अब मैंने उसके एक चूचे को अपने मुँह में भर लिया और चूसने लगा और एक हाथ से उसके दूसरे चूचे को पकड़ कर दबाने और मसलने लगा. ये तुम क्या कह रही हो मोना?मोना- देखो गोपाल तुम जो कर रहे थे वो ग़लत है और कोई औरत ये नहीं चाहती कि उसका पति किसी और के साथ सेक्स करे.

हम हांफते-हांफते एक दूसरे की बगल में पड़े हुए थे कब नींद आ गई पता ही नहीं चला.

एक पुरानी कहानी का सम्पादन करके पुनः प्रकाशनहैलो फ्रेंड्स, मेरा नाम राहुल है और मैं जयपुर का रहने वाला हूँ. मेरी कोई अपनी साली नहीं है, लेकिन मेरी मौसी सास की लड़कियां हैं जो कि मेरी सालियां हैं, दोनों मस्त माल हैं. उसकी तो साँस ही अटक गई थी वो मुझे ऊपर धकेलने की कोशिश करने के साथ बोली- आह्ह्ह माँ मार डालेगा क्या, उम्म उईई कैसे पेल रहा है उईईई इऊउइ ईउइओईउ ईईई उक्क्क्क उफ़ उफ़ मर जाउंगी रे मादरचोद…मैं अब लंड को आगे पीछे करने लगा और आगे झुक कर उसकी कांख को चूमने लगा और मस्त चूचियों को दबाने लगा.

लड़की ने बताया:देखो, मैं बेड के ऊपर झुक जाऊं, बेड पे अपने हाथ रख के ना दोनों, अपनी कमर झुका लूँ, और आप मेरी कमर को पकड़ो, और अपना वो जो है ना… मेरे फ्रंट में डालो. मैं बता नहीं सकती, मुझे कितनी खुशी हुई है।गुलशन- बस मेरी बेटी ऐसे ही खुश रहा कर. पापा के लंड का हर झटका मुझको मजा दे रहा था, मैं सिसकारियां ले रही थी.

मेरी गर्दन नीचे झुकने से जैसे ही मेरा चेहरा उसके पास आया उसने अपना सिर ऊँचा करते हुए मेरे होंठों को चूम मुझे कस कर जकड़ लिया.

थोड़ी देर तक बैंगन को मैंने चूत के अन्दर ही घुसे रहने दिया और फिर से वीडियो देखने लगी. मैं- प्लीज भाभी खुद को ऐसा मत बोलिए, वो भी अपने चाहने वालों के सामने.

बीएफ पिक्चर बीएफ एचडी क्यों बार-बार खड़ा हो रहा है। कहीं मेरे दिल में सुमन के लिए तो कुछ. मैं- ओह! ये बात थी, वैसे जमीला ने तुझे बस अपनी ही चूत की कहानी सुनाई.

बीएफ पिक्चर बीएफ एचडी मैं एक हाथ से उसके मम्मों को मसलने लगा और साथ ही साथ अपनी बहन की चुत चूसने लगा. उसने अपने पैर फैला दिए और मैंने उसके पैरों के बीच ठीक चुत के नीचे अपना लंड लगा दिया.

मैंने अपना मास्टर स्ट्रोक खेला और उसको बोला- चल अब बहुत देर हो गई है.

अक्षरा सिंह का सेक्सी वीडियो बीएफ

नीचे गिरे हुए वीर्य को भी भाभी ने अपनी उंगली पर लगाया और अपनी उंगली को चाटने लगी. मैं आपकी नाइटी खोलता हूँ।भाभी भी मान गईं और उन्होंने मेरी शर्ट को खोल दिया और साथ ही साथ मेरे पैंट और चड्डी को भी उतार दिया।उसके बाद मैंने नाइटी खोली।ओह माय गॉड. कुछ देर लंड चुसवाने के बाद मैंने भी जल्दी से उनके पेटीकोट को उतार दिया और उनकी चुत को पैंटी के ऊपर से ही सहलाने लगा.

फिर मैंने लंड उसकी चुत में थोड़ा और अन्दर डाला तो खून निकालने लगा वो चिल्लाने लगी. मेरे पापा गरीब हैं न, दहेज़ तो दे नहीं सकते थे… खैर जाने दो इन बातों को!’रानी के मुंह से चूत शब्द सुनकर मुझे आनन्द आ गया. उनके विवादास्पद व्यवहार ने मुझे यह मानने को प्रेरित किया था कि भाई बहन के बीच भी यह सब हो सकता है.

अब जैसे-जैसे मेरी उंगली उसकी चूत पर घूमती गई, वैसे-वैसे दीदी भी पागल होती जा रही थी.

इधर जीजाजी दीदी को चित लिटाकर उनके ऊपर चढ़ चुके थे और हुमच हुमच कर चोद रहे थे. उनके लिंगमुंड का गर्मागर्म स्पर्श जब मेरी योनि पर हुआ तो मेरे शरीर में सुरसुरी दौड़ गयी. फिर पीछे मुड़कर देखा तो उसकी पैन्ट आगे से गीली हो गई थी और वो बहुत घबरा गया था.

उनका लिंग बहुत विकराल था लेकिन उन्होंने अनुभवी प्रेमी की तरह प्यार करते हुए उसे मेरी योनि में घुसा ही दिया. हमारे घर में जॉइंट फैमिली के कारण सभी कमरों में हम लोग बिना बेझिझक चले जाते थे. मुझे जॉब के सिलसिले में कई बार बाहर जाना पड़ता है तो एक बार करीब एक वर्ष पहले मैं मध्यप्रदेश के एक छोटे से शहर नीमच 15 दिन के लिये गया.

मैं किचन में जाकर खाना परोसने लगी, तब तक मामा जी भी फ्रेश हो कर बाहर आ गये, हम दोनों साथ में खाना खाने बैठ गये, मैं ठीक से बैठ नहीं पा रही थी, कुर्सी पर गांड रखते ही दर्द सी होने लगती थी, फिर भी मैं बर्दाश्त कर रही थी क्योंकि यह हमारी आखिरी रात थी और मामा को मैं निराश नहीं करना चाहती थी. इतनी देर शर्माने वाली पूजा मेरी जुबान को अपनी जुबान से चूस कर मेरा साथ देने लगी.

सभी रिश्ते बड़े होते हैं, इनको गंदा मत करना, बाकी ऊपर वाला आपको समझ देता ही है. अब ऋतु का शरीर भी गर्म होने लगा था, उसकी मादक सिसकारियाँ उसके शरीर में होने वाली बेचैनी को ब्यान कर रही थी. पर एक दिन वो खुद फिर से नहाने गईं और हर बार की तरह आज भी चाची ने दरवाजा खुला छोड़ा था.

मैं बिल्कुल मदहोश हो गया था, मेरे दिमाग ने काम करना बंद कर दिया था.

बहूरानी जी बेझिझक मेरी आँखों में आँखे डाल के मुस्कुरा मुस्कुरा के लंड चूसती फिर अपनी चूत में लंड लेकर लाज शर्म त्याग कर मेरी नज़र से नज़र मिलाते हुए उछल उछल कर लंड का मज़ा लेती और अपनी चूत का मज़ा लंड को देती और झड़ते ही मुझसे कस के लिपट जाती, अपने हाथ पैरों से मुझे जकड़ लेती, अपनी चूत मेरे लंड पर चिपका देती और जैसे सशरीर ही मुझमें समा जाने का प्रयत्न करती. अगले दिन मैं प्रिया के घर पढ़ने चला गया तो वो अकेली थी तो मैंने उससे पूछा- नेहा कहाँ है?तो वो बोली- वो अपने घर पर होगी. अब आते हैं आज की कहानी पर!वैसे तो चुदाई की घटनाएं बहुत हो चुकी हैं.

और आप तो जानते हैं हम लड़कियाँ एक बार जो चुद गई, तो उसकी कामुकता पर ब्रेक नहीं लग सकती, फिर वो कभी चुत चुदाई से परहेज नहीं करती।मेरी जॉब की वजह से मेरा पहला पोस्टिंग दिल्ली हो गया और मैं सब कुछ पीछे छोड़ के दिल्ली आ धमकी।मुझे भी घर से थोड़ा दूर ही रहना था. अगर आप लोगों के पास गांड चुदाई के दौरान होने वाले दर्द का कुछ इलाज हो तो मुझे जरूर बताना.

क्रीम वहां पहले से रखी थी।मैंने एक टॉवेल ली और भाई साहब से कहा- मैं जल्दी से नहा कर आता हूँ। भाई साहब- ऐसी सर्दी में. पूजा की बात से संजय भी जोश में आ गया और उसने पूजा की चुत रेल बना दी। अब चुदाई का तूफान जोरों पर था। पूरे कमरे में बस दोनों की मिली-जुली आवाजें और ठप-ठप की मिक्स आवाज़ गूँजने लगी थीं।पूजा- आह गुड मामू. ”आआअ स्स्स्स तेज तेज करो नआआआअ आआआ स्सस्स स्स्स्स…”नहीं, तुमने मेरा मजा ख़राब किया था न, अब तुम भी तड़पो!”आआ… आआअह समीर… आआआ आआआ प्लीज तेज चोदो… आआ आआअ… मैं मर जाऊँगी आआ आआआआ!”मैंने एक उंगली गांड में डाल के चोदना शुरू किया.

देसी इंडियन सेक्सी बीएफ वीडियो

मोना ने उसकी जाँघों को कस कर पकड़ लिया ताकि वो उठ ना सके और उसकी चुत को तेज़ी से चाटने लगी.

मैंने देखा कि लगभग आधे से ज्यादा बैंगन मेरी चूत में अन्दर जाने लगा था. जब सब सो गए तो संजय ने पूजा को दवा दे दी और अपने हाथ से उसकी सूजी हुई चुत पे मलहम लगा दी. इम्तहान के दिनों में जल्दी उठने के लिये हम लोग दूसरे की मदद करते थे.

तभी उसने बेड स्विच से लाइट ऑन कर दी, मैंने घबरा कर अपनी आँखें बंद कर की और अपने हाथों से अपने बूब्स को ढक लिया, अपनी दोनों टांगों को एक दूसरे से क्रॉस करवा कर अपनी चूत को भी ढक लिया. मगर जॉन को इसकी क्या परवाह थी, उसको तो बस कच्ची बुर चोदने से मतलब था. सेक्स वीडियो करीना कपूर कीलंड को देखते ही उसकी चीख निकल गई, उसने पूछा- ये क्या है?मैंने कहा- जो तुम्हारे हस्बैंड के पास है, वही है.

फिर सुबह-सुबहपापा का लंडखड़ा करने की क्या वजह थी?सुमन- दीदी में बस चैक करना चाहती थी कि मेरे ऐसा करने से पापा का रिएक्शन क्या होता है?टीना- अच्छा तो तूने अपनी करनी का नतीजा देख लिया ना. ऋतु और पूजा ने देखा कि मैं रूम में पहुंचकर नंगा हो गया हूँ और मेरा लंड खड़ा हुआ है.

मैंने पूछा- वैशाली, तुमने लास्ट टाइम सेक्स कब किया था?तो उसने बताया- पता नहीं कब किया था, शायद साल से ऊपर हो गया है, अब मेरे हस्बैंड इस मामले में मुझसे कतराने लगे हैं, उनमें काम्प्लेक्स आ गया है कि वे नामर्द हैं, इसलिए नहीं करते. और आप इतनी ज्यादा प्यारी और सुन्दर हैं, ऐसा न कहिए कि आप सुन्दर नहीं है. उसी दौरान मेरे घर पर बहुत बड़ा हादसा हुआ, जिससे मैं पूरी तरह टूट गया था.

भाभी कुलवंत के रूप के बारे में बताऊँ तो वो एक 25 साल के करीब की हॉट औरत है. अब जब अदिति को तो पता चल ही चुका है कि मैं उसके पास परसों सुबह पहुंच जाऊंगा; तो क्या वो भी अभी मेरी ही तरह ही सोच रही होगी इस टाइम, क्या उसकी चूत भी मेरे लंड की याद में रसीली हो उठी होगी और उसकी पैंटी गीली हो गई होगी?पर इन सवालों का फिलहाल मेरे पास कोई जवाब नहीं था. मैंने धीरे से अपनी कमर उठाई और उनका लिंग पकड़कर अपनी योनि के मुंह पर सेट किया और धीरे धीरे उस पर बैठने लगी.

एक रात सुधीर ने भी ज़िद की क्योंकि वो कुछ महीनों के लिए इंडिया से बाहर जा रहा था तो मोना ने उसके साथ भी मज़ा किया था और उस रात नीतू ने भी चुदाई देख कर खूब मज़े लिए थे.

राहुल बोला- साली रंडी, बातों से लग रहा था कि तू बहुत चोदा हुआ माल है पर तेरी गांड तो बड़ी टाइट दिख रही है. सबीना बोली- भाभीजी, मैं राजेश की तेल मालिश कर देती हूँ, आप खाना बना लो!मैंने बताया कि सब घर में नंगे ही रहेंगे और जमीला की किचन में सभी मदद करेंगे जिससे हम फिर से मिलकर मस्ती कर सकें.

और आज पहली बार मुझे मेरे लंड पर गुस्सा आया कि आख़िर ये इतनी जल्दी क्यों खड़ा हो रहा है. तुम ठीक तो हो?बस सविता भाभी भड़क गईं- ये अशोक भी न जाने कैसे पति हैं, इनको मुझसे ज्यादा ऑफिस पसंद है. आज सविता भाभी के मदमस्त जीवन की रंगीन कड़ियों में एक ऐसी कड़ी पेश है, जिसमें सविता भाभी ने अपने विवाह के बाद अपनी कुंवारे जीवन में की गई चुदाई की स्वीकार किया.

जब सुमन को इस बात का अहसास हुआ उसकी तो जान ही निकल गई कि अचानक ये क्या हो गया?साथियो, आप मुझे मेरी गर्म कहानी पर मर्यादित भाषा में ही कमेंट्स करें. तो मैंने उनको पूछा- क्या मैं आपकी हेल्प कर सकता हूँ?उसने मुझे कहा- मुझे बहुत दूर जाना है. ‘बस आप पूछिए मत तिवारी जी, वो पल कितने रंगीन थे, मानो जैसे मैं मेरी पुरानी ज़िन्दगी में लौट गई थी.

बीएफ पिक्चर बीएफ एचडी मैंने उसकी आँखों को पौंछा और उसे धीरज बँधाया तो वो मुझसे गले लग गई और फिर हम कब एक दूसरे में खो गये, हमें पता ही नहीं चला. ’‘यह आप का कह रही हो अम्माजी, आपका मतबल है कि हमको उस भरभूती जी के साथ सॉक्स करना पड़ेगा?’ अंगूरी थोड़ा घबराते हुए बोली.

खलीफा बीएफ वीडियो

फिर उन्होंने धीरे से अपने हाथ को आगे बढ़ाते हुए मेरे हाफ पैंट के अन्दर डाल कर मेरे लंड को छुआ. मौका देख मैंने भी जल्दी-जल्दी अपने कपड़े खोल लिए और अब मैं उसे चोदने के लिए पूरा तैयार था. एक दिन की बात है सुबह का टाइम था कोई आठ बजने वाले होंगे कि वाइफ के फोन की घंटी बजी.

दूसरी तरफ मेरा लौड़ा उनकी चूत की दीवारों को कुचलते हुए उनकी तलहटी तक पहुँच जाता था. तुम बहुत बेताब होने लगे तो मैंने कहा कि मेरे राजा अब तो दिखा दे अपनी रानी की चुत पर अपने लंड का कमाल. मेरी बहन को चोदा‘सहेलियाँ नहीं तिवारी जी, बेस्ट फ्रेंड बोलिए, कॉलेज के दिनों में हमारी बहुत बनती थी, और उस वक़्त हम साथ में लेस्बियन…’ लेस्बियन शब्द अपने मुंह से निकलते ही अनीता ने अपने मुंह पे हाथ रख दिया और शर्मिंदगी महसूस करने लगी.

उसने मोना को बड़े प्यार से विश्वास दिलाया कि ये सब आजकल फैशन बन गया है, कुछ औरतें तो बस शौकिया ये सब करती हैं, तेरी तो मजबूरी है.

इतने में ही उसने अपने झटके थोड़े तेज कर दिए और तेजी से आह आह करने लगा. लटकने की वजह से उसके मम्मे काफी बड़े लग रहे थे और मेरी हथेली में भी नहीं आ रहे थे.

com/RasiyaRohitईमेल पर[emailprotected]मैं किसी से किसी की पर्सनल जानकारी ना माँगता हूँ न ही किसी को देता हूँ. मैंने अनुराधा के मम्मे दबाते हुए कहा- तेरे भी तो ये बड़े हो गए है ना. मैं लण्ड को पूरा चूत में ठोक कर उसके ऊपर पसर गया और सोनू को अपनी बाहों में जकड़ लिया.

दस दिन बाद भाभी जालंधर आ गई और मेरी उनसे फोन पर मिलने की बात हो गई.

मैंने ध्यान से देखा कि मैंने तो पतला वाला कॉटन का गाउन पहना है, जिससे छत की लाइट में मेरे मम्मों का आकार थोड़ा थोड़ा समझ आ रहा है. सुमन की आत्मा- ऐसे क्या सोच रही है? तू खुद क्यों नहीं लंड चूस कर उन्हें सुकून दे देती, ऐसे तो बाहर उस मॉंटी का और संजय का चूस चुकी है. मैंने उसकी तरफ देखा तो वो नजदीक आकर कुछ बोला मगर म्यूजिक इतना तेज था कि मैं कुछ सुन नहीं पाई.

70 साल की औरत की चुदाईथोड़ा खून निकालेगा लेकिन पेन किलर लेने से तुझे दर्द नहीं होगा।उसने कहा- अच्छा ठीक है।मैंने कहा- आई लव यू!उसने भी कहा- आई लव यू टू. उसके मुँह से हल्की सी दर्द भरी सिसकारी निकली, जो शायद उसके मम्मे दबाने के दर्द से निकली थी, मगर वो सिसकारी मेरे मुँह में ही दफन हो कर रह गई.

बीएफ फिल्म देखना है हिंदी में

उन दोनों को भी चूत चूसवाने में बड़ा मजा आ रहा था, दोनों अब साथ में बैठी थी तो एक दूसरे को भी किस कर रही थी. इस बात को सविता ने भी ताड़ लिया था कि प्रेम मेरी चूचियों में खो रहा है. ‘लेकिन जहाँ तक मुझे मालूम है, ये तो एक बहुत ही इंटिमेट गेम है… एक-दूसरे के बहुत ही नजदीकी व्यक्ति ही आपस में इसे खेल सकते हैं क्योंकि लोगों को एक दूसरे के ऊपर नीचे होना पड़ता है!’ वगैरह-2 मैंने अपना ज्ञान बखारा.

केवल यह सोचने मात्र से कि मैं अपनी माँ को चोद रहा हूँ मेरे लंड को मोटाई शायद बढ़ गई थी, मैं अपने लंड को पूरा बाहर निकाल कर फिर से उनकी गीली चूत में पेल देता, माँ की चूचियों को दबाते हुए उनके चूतड़ों पर हाथ फेरते और मसलते हुए मैं बहुत तेज़ी के साथ उसे चोद रहा था. मेरी शानदार पत्नी ने उनके लौड़ों को अपने हाथों में पकड़ कर चूसना शुरू कर दिया. जब भी मुझे घर से बाहर जाना होता है मैं ज्यादातर मिनी, मिडी, स्कर्ट, जीन्स, टॉप ही पहनती हूँ.

तो उसने मुझे जोर का झापड़ मारा और इसके बाद मुझसे सॉरी बोलते हुए कहा- तू देख मैं क्या कर सकती हूँ. उसने झट से मेरे लंड को मुँह में लिया, उसको अपने थूक से लबेड़ा और बोली- डालो. फिर जैसे ही मैंने एक उंगली को बुर में डाला, वो ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ की आवाज के साथ उछल पड़ी.

मैंने कुर्ती के पीछे की ज़िप खोलना चालू की, लेकिन टाइट थी तो थोड़े झटके लगे लेकिन ज़िप खुल गई. सुमन- तो क्या पापा मेरे जिस्म को टच करके बेचैन हो गए थे, तभी आज उनके मन में इतनी वासना आ रही थी.

चूत का चीरा, आकार भी सामान्य से बड़ा था जो उसके डील डौल के अनुसार ही मनोरम था.

अब मैं उसे उस हद तक प्यार करना चाहता था, जिसे आजकल के लोग चुदाई का नाम दे चुके हैं. इंग्लिश नंगा पिक्चरसुमन- क्या बात है दीदी, आज आप इतनी जल्दी बाहर निकल आईं, सब ठीक तो है ना?टीना- अरे हाँ यार, सब ठीक है, शाम को संजय का फ़ोन आया था, उसने जल्दी आने को कहा था. घड़ी लंड की चुदाईप्रिय अन्तर्वासना पाठको, मेरा नाम मनोज है, मैं आगरा का रहने वाला हूँ. उस दिन मैं उनके घर कुछ सामान देने के लिए गया था और अहोभाग्य कि आंटी जी घर पर नहीं थीं.

पर सोनू बोली- नहीं जीजी, मैं ही बैड पर सो जाऊँगी, आप तकलीफ मत लो।बेचारी मीना और मेरे अरमानों पर पानी फिर गया।देर रात तक वे दोनों दूसरे कमरे में बात करती रही और मैं आप के कमरे में आकर सो गया।रात को मैं भी मुठ मार के सो गया तो कुछ देर बाद मुझे महसूस हुआ कि कोई मेरे लंड को सहला रहा है।मैंने सोचा कि मीना है शायद… पर मैं गलत था, ये तो कामदेव मुझ पर मेहरबान हो गए।मेरे लंड पे सोनू का हाथ था.

मेरा लंड तो कई दिनों से मेरे काबू में नहीं था और अब जब मानसी ने मेरे लंड को पकड़ा तो मेरे लंड में खून दुगनी तेज़ी से दौड़ने लगा. फिर मैंने बाथरूम में आकर ब्रा-पैंटी उतारी और ब्लैक वाली ट्रांसपेरेंट ब्रा-पैंटी पहनी. तभी मैंने देखा कि मेरी बहन उठ गई है, और पूजा को आवाज दे रही है, मैं तुरंत अपने बिस्तर पर आकर लेट गया.

वो खुद भी पीछे की तरफ चूतड़ों को हिला-हिला कर चुदाई में साथ दे रही थी।मैंने उसको गोद में उठा लिया और खड़ा होकर अपना लंड उसकी चुत में डाल दिया। वो मुझसे लिपटी हुई थी. फिर चाची बोलीं- चल ठीक है… ला मैं हाथ से करके तेरा वीर्य निकाल देती हूं. आनन-फानन में सब रेडी हुए, फ्लॉरा और टीना ने नाश्ता तैयार किया और सबने साथ नाश्ता किया.

हिंदी बीएफ सेक्सी एचडी बीएफ सेक्सी

?टीना- वो तेरी लूली से निकला था मगर ये बात तू किसी को बताना मत, नहीं सब तेरा मजाक उड़ाएंगे समझे. पहले तो उतना कुछ नहीं था लेकिन उसमें इतने बदलाव की वजह से मैं हैरान था. अब मैंने अपनी जीभ को उनकी चुत के बिल्कुल पास ले गया और चुत को सहलाते हुए बड़े प्यार से होंठों से चुत पर एक चुम्मा धर दिया.

प्रेम ने सविता भाभी की छलकती जवानी का रस कैसे पिया और सविता भाभी ने अपने रूपजाल में प्रेम के लंड को कैसे अपनी चुत में लिया.

अब मैंने धीरे से उसे अपने पास आने को कहा, वह समझ गई कि अब खेल शुरू होने वाला है.

टीना- यार अब वक़्त आ गया है, सबको दिखाने का कि तू सारे टास्क को पूरा करके एकदम फास्ट बन गई है. उन्होंने कहा- आप सारी पिक्चर मेरे मोबाइल पे भेज दें!मैं बोला- मेरे पास तो आपका नंबर नहीं है?तो उन्होंने मुझे अपना नंबर दिया और सारे पिक्चर सेंड करने बोला. रेखा की सेक्सीबिल्डिंग में सभी लोग निखिल से नाराज थे, दोनों का प्रेम प्रकरण एक बड़ी चर्चा का विषय बन गया था.

वो बोलने लगी- उफ्फ्फ आह्ह्ह्ह सी सी मज़ा बास चोदो चोदो अब चोद दो चोदो… उफ़ अहह अहह ई उई… उफ़ फाक फ़क मी… साले लंड में दम नहीं. ये सुनते ही मैंने स्कूटी पे उसके पीछे बैठे बैठे उसे अपनी जफ्फी में ले लिया और उसके गालों और कान पर किस करने लगा, साथ ही उसके टॉप के अंदर हाथ डाल कर उसके मम्मों को मसलने लगा. पर मैंने स्पीड बढ़ा दी, सबीना बोली- साले कमीने, जलन हो रही है चूत में! रुक जा, थोड़ी देर फिर चोद लेना!लेकिन मेरी स्पीड बढ़ती गई, आखिर सबीना पलट गई और मस्ताना चूत से बाहर आ गया पर तुरंत ही जमीला ने मेरे लंड को मुँह में लेकर चूसना शुरू किया और शॉवर बन्द कर दिया.

मैंने फोन जमीला को दे दिया तो सबीना ने जमीला को स्पीकर ओपन करके बात करने का इशारा किया. तो मैंने भी कह दिया- तो ठीक है मैं भी तुम्हारे और सुमित के बारे में सब बता दूंगा.

एक बारगी तो वह सकपकाया मगर जल्दी ही उसके हाथ मेरे मम्मों पे चले गए.

मॉर्निंग से अभी तक लंड में बहुत सारा रस भर चुका है इसलिए लंड बहुत ज़्यादा कड़ा और तना हुआ जो आसानी से तुम्हारी गांड का छेद में घुस पाएगा. तू कह तो रहा है उन्होंने तेरी भी मारी। चलो मेरी भी मार दी कोई बात नहीं।फिर वह- बोला सर, पर मुझे चैन नहीं पड़ेगा. मेरे पापा और उसके पापा दोनों एक ही कम्पनी में नाईट ड्यूटी का काम करते थे.

रोमांटिक सेक्सी वीडियो हॉट भाभी ने मुझे 1000 रूपए दिए और मुझे वापिस मेट्रो स्टेशन पर छोड़ आईं. फ्लॉरा- यार ये क्या बात हुई, आख़िर तुझे किस बात का डर है?सुमन- व्व.

प्राची भाभी जब मेरा स्वागत कर रही थीं और जब मेरा नम्बर मांग रही थीं, तब मैंने गौर किया था कि उनकी हाइट मेरे कानों तक रही होगी. मैंने खाना बनाया और इन्होंने परीक्षा के बाद घूमने का भी कार्यक्रम तय कर लिया, कहा- शाम को बाहर चलेंगे और रात का खाना बाहर ही खायेंगे!11. अरे भैया, क्या बताऊँ? बहुत बुरा हाल है! बहुत मन करता है! आप तो बहुत किस्मत वाले हो जो आपको भाभी जैसे सुंदर पत्नी मिली! भाभी के साथ सेक्स करके आपको बहुत मजा आता होगा न?हाँ यार! बहुत सुंदर है नीता! और इसकी चूचियाँ! बहुत अच्छी हैं, कितनी सख्त हैं आज भी!भैया, सच में?हाथ लगा कर देखना है क्या? ये बोले.

स्कूल के बच्चों की बीएफ

मैं इस उम्मीद के साथ थोड़ा आगे गया कि इन मशीनों की देखरेख के लिए यहाँ कोई तो मर्द होगा ही, जहाँ पर एक छोटी लाइट चल रही थी. फिर मैंने सन्नी और विकास को इशारे से अंदर आने के लिए कहा तो ऋतु दरवाजे के पास खड़ी हुई नंगी ही उनका वेट कर रही थी. वो बोली- अरे आपको हिम्मत की ज़रूरत, आप चार हो, हिम्मत तो मुझे चाहिए, मैं तो अकेली हूँ.

भाभी ने बताया कि उनका बूब साइज़ 36 इंच का है, इसको सुनते ही मेरा 7 इंच का लंड खड़ा हो गया था. मेरी इस हरक़त से उसकी बुर से पानी निकलने लगा, जो मेरे हाथ में मुझे महसूस हो रहा था.

जब हालात बर्दाश्त से बाहर हो गए तो कविता ने अपनी चूत से वाईब्रेटर निकाल दिया और रीना के चूत से भी बाहर करके उसके ऊपर 69 की मुद्रा में लेट गई और अपनी जीभ से रीना की चूत को चूसने लगी.

सुमन कुछ बोल पाती, तभी वहाँ कोई सर आ गए और उन्होंने कहा कि क्लास में जाओ. मेरी आँखों के सामने मेरा पसंदीदा चित्र उभर आया था… मेरी प्राणप्यारी बीवी एक हाथ से मेरा लंड सहला रही थी तो अपने दूसरे हाथ में एंड्रयू का मोटा लंड थामे उसे अपने मुंह में अन्दर-बाहर करते हुए चूस रही थी. क्या लंड था मादरचोद का… नौ इंच लम्बा और 3 इंच मोटा (ये मैंने बाद मैं नापा).

16 दिन बाद अंकल का कॉल आया कि मैं पूजा को ट्रेन में बैठा रहा हूँ, तुम जाकर स्टेशन से ले लेना. उस समय मुझे कुछ कुछ होने लगा और मैंने अपनी उंगली चड्डी के अन्दर चुत में घुसेड़ दी और अन्दर बाहर करने लगी. तो बस गुलशन जी आपे से बाहर हो गए। ना जाने क्या सोच कर उनका लंड पेंट में तन गया। उनके दिमाग़ में सुमन को लेकर कुछ नहीं था मगर वो कपड़े देख कर वो उत्तेजित हो गए। इधर बेचारी सुमन का शर्म से बुरा हाल था.

सुधीर- चुप कर साली छिनाल, कब से सेक्सी बातें करके मेरे लंड को उकसा रही है और चुदने का टाइम आया तो तूने फिर से नाटक शुरू कर दिया।मोना- आह यही सुनना चाहती थी मैं.

बीएफ पिक्चर बीएफ एचडी: उधर दूसरी तरफ अलग ही नजारा था, रिया झुक कर अलट पलट कर राजीव और राहुल के लंड चूस रही थी और मॉन्टी ने शायद पीछे से उसकी चूत में अपना लंड पेलकर दनादन चुदाई शुरू कर दी थी. भाभी ने अपना पल्लू ठीक किया और कुछ शर्माते हुए धीरे से बोली- सॉरी!मैंने भाभी से कहा- एक बार मैं भैया को देख आऊं, आप जागती रहना.

वो जाग गईं और उन्होंने मुझे देख कर मुस्कुराते हुए बड़े आराम से अपने मम्मों को और ठीक से पकड़वा लिया. और आप इतनी ज्यादा प्यारी और सुन्दर हैं, ऐसा न कहिए कि आप सुन्दर नहीं है. इनकी बुआ का लड़का मनोज जो अभी 25 साल का है, उसकी अभी शादी नहीं हुई है, हमारे यहाँ अकसर आता जाता रहता है क्योंकि बुआ का गाँव पास ही है और मनोज भैया अभी पढ़ाई कर रहे हैं.

पूजा ने देखा कि ऋतु बड़े मजे से अपना मुंह खोलकर मेरी धारें अपने चेहरे और मुंह पर मरवा रही है और बड़े मजे से पी भी रही है.

मुझे जल्दी से चोद दो।यह सुनते ही मैंने उसकी चुत में मेरा लंड डाल दिया और ज़ोर से धक्का लगाने लगा।उसकी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ निकल गई, उसे थोड़ा दर्द हुआ।उसने बोला- अह. जब एक दिन जब मैं कॉलेज से घर आया तो मेरी दीदी सपना किसी से बात कर रही थी. अब गुलशन जी ये बात फ्लॉरा को बताते हैं या नहीं… ये तो आपको अगले पार्ट में ही पता लगेगा.